home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Jet Lag : जेट लेग क्या है?

परिचय|लक्षण|कारण|जोखिम|निदान और उपचार| घरेलू उपाय
Jet Lag : जेट लेग क्या है?

परिचय

जेट लेग (Jet Lag) क्या है?

जेट लेग (Jet Lag) को जेट लेग डिसऑर्डर भी कहा जाता है। यह नींद से जुड़ी एक अस्थायी समस्या है जो बहुत जल्दी कई अलग-अलग टाइम जोन में यात्रा करने वाले किसी को भी व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है।

हमारे शरीर की अपनी आंतरिक घड़ी या सर्कैडियन लय होती है, जो शरीर को यह संकेत देती है कि कब जागना है और कब सोना है। जेट लेग इसलिए होता है क्योंकि हमारे शरीर की घड़ी अभी भी मूल समय क्षेत्र से सिंक करती होती है, बजाय उस समय क्षेत्र के जहां की यात्रा कर रहे हैं। आप जितने अलग-अलग वातावरण वाली जगह यात्रा करेंगे, आपको जेट लेग की समस्या उतनी ही हो सकती है।

जेट लेग दिन की थकान, अस्वस्थ भावना और पेट से संबंधित समस्याओं का कारण बन सकता है। जेट लेग अस्थायी है, लेकिन यह काफी तकलीफ भरा हो सकता है।

कितना सामान्य है जेट लेग होना?

जेट लेग की समस्या बहुत ही सामान्य है, अलग-अलग टाइम जोन में यात्रा करने वाले किसी भी व्यक्ति को यह हो सकती है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

यह भी पढ़ेंः पैरों को मजबूती देने के लिए करें प्लियोमेट्रिक एक्सरसाइज, कुछ इस तरह

लक्षण

जेट लेग होने के लक्षण क्या है?

जेट लेग होने के सामान्य लक्षण हैंः

जेट लेग होने के कई लक्षण होते हैं। जिनमें से आपको कोई एक या कई सारे लक्षणों का अनुभव हो सकता है।

अगर आपने बहुक ही कम समय में दो अलग-अलग टाइम जोन में यात्रा की है, तो जेट लेग के लक्षण आमतौर पर यात्रा के एक या दो दिन के अंदर दिखाई दे सकते हैं। लक्षण खराब होने या अधिक समय तक बने रह सकते हैं।

इसके सभी लक्षण ऊपर नहीं बताएं गए हैं। अगर इससे जुड़े किसी भी संभावित लक्षणों के बारे में आपका कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर ऊपर बताए गए किसी भी तरह के लक्षण आपमें या आपके किसी करीबी में दिखाई देते हैं या इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें। हर किसी का शरीर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया करता है।

यह भी पढ़ेंः Diarrohea : डायरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कारण

जेट लगे के क्या कारण हैं?

आमतौर पर हमारा शरीर किसी एक ही क्षेत्र के समय के अनुसार काम करता है। लेकिन अगल-अगल टाइम जोन के क्षेत्रों की यात्रा करेंगे, तो हमारा शरीर उस क्षेत्र के समय को तुरंत समायोजित करने की असक्षम हो सकता है, जो जेट लेग का कारण हो सकता है। उदाहरण के तौर पर मान लीजिए, कोई व्यक्ति न्यूयॉर्क की मध्यरात्रि पेरिस की यात्रा करता है, तो उसका शरीर न्यूयॉर्क के समय पर ही काम करता रहता है। हालांकि, जब वह पेरिस पहुंच जाएगा, तो शरीर पेरिस के नए शेड्यूल में खुद को ढ़ालने के लिए संघर्ष करता है, जिसके कारण अस्थायी अनिद्रा, थकान, चिड़चिड़ापन और ध्यान केंद्रित करने में परेशानी महसूस कर सकते हैं। इस परिवर्तित शेड्यूल के कारण कब्ज या दस्त भी हो सकता है और मस्तिष्क भ्रमित और भटका हुआ भी हो सकता है।

जोखिम

कैसी स्थितियां जेट लेग के जोखिम को बढ़ा सकती हैं?

ऐसी कई स्थितिया हैं जो जेट लेग के जोखिम को बढ़ा सकती हैंः

  • बहुत ही कम समय में अलग-अलग टाइम जोन वाली जगह पर यात्रा करना।
  • पूर्व दिशा की ओर उड़ान। पश्चिम दिशा में उड़ान भरने की तुलना में, पूर्व दिशा में उड़ान भरने में मुश्किल हो सकती है।
  • लगातार हवाई जहाज से यात्रा करना। पायलट, फ्लाइट अटेंडेंट और बिजनेस के सिलसिले में यात्रा करने वाले लोगों में इसकी समस्या सबसे ज्यादा होती है।
  • बुजुर्गों में भी जेट लेग की समस्या बहुत आम हो सकती है। इसके अलावा इनकी रिकरवी में भी युवाओं की तुलना से अधिक समय लगता है।

यह भी पढ़ेंः दोपहर में क्यों आती है नींद? क्या दोपहर में सोने के फायदे भी हैं?

निदान और उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

जेट लेग का निदान कैसे किया जाता है?

आमतौर पर, रोगी की प्राथमिक देखभाल उसके शुरूआती लक्षणों के आधार पर शुरू की जा सकती है। हालांकि, दुर्लभ स्थितियों में, अगर इसके लक्षण या समस्या गंभीर हो जाती है, तो डॉक्टर रोगी को नींद विशेषज्ञ से उपचार कराने की सलाह दे सकते हैं।

जेट लेग का इलाज कैसे होता है?

जेट लेग आमतौर पर अस्थायी होता है और इसके लिए उपचार की आवश्यकता भी नहीं होती है। इसके लक्षण कुछ दिनों में अपने ही ठीक होने लगते हैं, हालांकि वे कभी-कभी लंबे समय तक रह सकते हैं।

हालांकि, अगर आप लगातार यात्रा करते हैं और जेट लेग से परेशान हैं, तो आपका डॉक्टर आपके लिए कुछ दवाओं की खुराक तय कर सकते हैं या लाइट थेरेपी की सलाह दे सकते हैं।

दवाएं

  • नॉनबेंजोडायजेपींस, जैसे जोल्पिडेम (एंबियन), एस्जोपिकलोन (लुनस्टा) और जेलप्लॉन (सोनाटा)
  • बेंजोडायजेपींस, जैसे ट्राईएजोलम (हेल्सीअन)

इन दवाओं को नींद की दवाओं के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह आपकी उड़ान के दौरान और बाद में कई रातों तक सोने में मदद कर सकती हैं। इसके साइड इफेक्ट्स असामान्य हैं, लेकिन मतली, उल्टी, भूलने की बीमारी, नींद में चलना, भ्रम होना और सुबह नींद आने की समस्या हो सकती है।

हालांकि ये दवाएं नींद के समय और गुणवत्ता को बढ़ाने में मदद करती हैं। लेकिन, ये जेट लेग के लक्षणों को कम नहीं कर सकती हैं। इन दवाओं को आमतौर पर केवल उन लोगों के लिए अनुशंसित किया जाता है जिन्हें अन्य उपचारों द्वारा मदद नहीं मिली है।

लाइट थेरेपी

हमारे शरीर की आंतरिक घड़ी या सर्कैडियन लय अन्य कारकों के बीच सूर्य के प्रकाश के संपर्क से प्रभावित होते हैं। जब हम टाइम जोन में यात्रा करते हैं, तो हमारे शरीर को नए समय में ढ़लना होता है ताकि हम समय पर सो सकें।

लाइट थेरेपी उस संक्रमण को कम करने में मदद कर सकती है। इसकी प्रक्रिया के दौरान आपकी आंखों के सामने एक आर्टिफिशियल (कृत्रिम) ब्राइट लाइट या लैंप को जलाया जाता है जो उस समय के दौरान एक विशिष्ट और नियमित मात्रा में सूर्य के प्रकाश का जैसा अनुभव कराता हैं जब आप जागने वाले होते हैं।

उदाहरण के लिए, अगर आप एक व्यवसाय यात्री हैं और अक्सर नए टाइम जोन में दिन के दौरान प्राकृतिक धूप से दूर रहते हैं तो लाइट थेरेपी आपके लिए मददगार हो सकती है। लाइट थेरेपी कई प्रकार के रूपों में आती है, जिसमें एक लाइट बॉक्स शामिल है जिसे मेज पर रख सकते हैं, दूसका डेस्क लैंप जो ऑफिस में रख सकते हैं या एक टोपीनुमा जिसे आप सिर पर पहन सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः क्या आप जानते हैं कि महिलाओं और पुरुषों की नींद में अंतर होता है?

घरेलू उपाय

जीवनशैली में होने वाले बदलाव, जो मुझे जेट लेग को प्रबंधित रोकने में मदद कर सकते हैं?

लाइफ स्टाइल में बदलाव और घरेलू उपाय निम्न प्रकार से हैं जो जेट लेग को प्रबंधित करने में मददगार हो सकते हैं:

  • जल्दी जाएंः अगर किसी दूसरे टाइम जोन में आपको किसी काम से यात्रा करनी है, तो वहां कुछ दिन पहले ही जांए। ताकि आपका शरीर नए टाइम जोन में खुद को ढाल सके।
  • अपनी यात्रा से पहले भरपूर आराम करें।
  • अगर आप पूर्व की यात्रा कर रहे हैं, तो वापस जाने से पहले कुछ दिनों तक वहां पर रहें और रात को एक घंटे पहले सोने जाएं। अगर आप पश्चिम दिशा की ओर उड़ान भर रहे हैं तो कई रातों के लिए एक घंटे बाद सोने जाएं। अगर संभव हो, तो
    उसी समय पर खाना खाएं जिस समय में आप अपने गंतव्य स्थान पर खाना खाएंगे।
  • ब्राइट लाइट के जोखिमों को नियंत्रित करें। क्योंकि, लाइट एक्सपोजर शरीर के सर्कैडियन लय पर प्रमुख तौर पर प्रभावित कर सकती है और इसके जोखिम को निंयत्रित करके आप नए टाइम जोन में अपने शरीर के ढलने में मदद कर सकते हैं। सामान्य तौर पर, शाम को प्रकाश के संपर्क में आने से सामान्य टाइम जोन (पश्चिम की ओर यात्रा करने) आपको किसी नए टाइम जोन में ढलने में मदद करता है।
  • अगर आपने पूर्व में आठ से अधिक जोन की यात्रा की है, तो धूप का चश्मा पहनें और सुबह के समय में सूर्य के प्रकाश में जाने से बचें। हालांक, दोपहर ही रोशनी में आप घूम-फिर सकते हैं। अगर आपने आठ से टाइम जोन में पश्चिम की यात्रा की है, तो स्थानीय समय को समायोजित करने के लिए पहले कुछ दिनों के लिए शाम की धूप से बचें।
  • यात्रा पर जाने से पहले अपनी घड़ी को नए स्थान के समय पर सेट कर लें। जब आप वहां पर पहुंच जाएं तो वहां के समय के अनुसार अपने दैनिक कार्यों को करने का प्रयास करें।
  • यात्रा से पहले और बाद में उचित मात्रा में पानी पीएं। क्योंकि, डिहाइड्रेशन जेट लेग के जोखिमों को अधिक बढ़ा सकता है और आपकी नींद को भी प्रभावित कर सकता है।

अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो उसकी बेहतर समझ के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ेंः यात्रा करने के ये 9 कारण, जो आपके स्ट्रेस को कम करेंगे

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Jet lag disorder. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/jet-lag/basics/definition/con-20032662. Accessed November 07, 2019.

Jet Lag. https://www.medicinenet.com/jet_lag/article.htm#what_causes_jet_lag. Accessed November 07, 2019.

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/12/2019 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड