विटामिन-बी की कमी होने पर खाएं ये चीजें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हमारे शरीर को सही ढंग से काम करने के लिए कई विशेष प्रकार के विटामिंस और मिनरल्स की जरूरत होती है। ऐसे में शरीर को चलाने के लिए विटामिट-बी सबसे जरूरी तत्वों में से एक है। भूख न लगना या कुछ भी खा लो लेकिन, शरीर को न लगना, इन सारी समस्याओं की जड़ है, शरीर में विटामिन-बी की कमी का होना। यह हमारे शरीर के लिए उतना ही जरूरी है, जितना प्रोटीन और वसा। इसकी कमी कई कारणों में से एक है, आपके खाने में विटामिन-बी से भरपूर तत्वों का न होना। अगर आपके खानपान में इसकी कमी होगी, तो इसका सीधा असर शरीर के कार्य क्षेत्र पर पड़ेगा और बीमारिया होने की संभावना बढे़गी।

यदि आप विटामिन-बी की कमी की समस्या से जुझ रहे हैं, तो ये लेख खासतौर पर आपके लिए है। हम आपको विटामिन-बी से भरपूर खाने पीने की चीजों के बारे में बताएंगे, जिनका सेवन करके आप शरीर में इसकी कमी को पूरा कर सकते है। कुछ फल, सब्जियों और आनाज के सेवन के बारे में हम आपको बताएंगे, जिनके नियमित सेवन से आप शरीर में इसकी कमी को पूरा कर सकते हैं। डॉक्टरी सलाह से आप इसके लिए बाजार में मौजूद इसकी गोलिया या सप्लिमेंट भी ले सकते हैं। यह विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों जैसे मांस, साबुत अनाज और फलों में पाया जाता है। आप अपनी डायट में थोड़ा सा बदलाव करके भी इसकी कमी को दूर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : 7 फूड्स, जो विटामिन ‘के’ की कमी को पूरा करते हैं

आठ प्रकार के विटामिन-बी मौजूद  हैं, इन्हें सामूहिक रूप से बी कॉम्प्लेक्स विटामिन कहा जाता है। वे थायमिन (बी 1), राइबोफ्लेविन (बी 2), नियासिन (बी 3), पैंटोथेनिक एसिड (बी 5), पायरीडॉक्सिन (बी 6), बायोटिन (बी 7), फोलेट (बी 9) और कोबालामिन (बी 12) हैं। हालांकि, इनमें से हर विटामिन के अपने अपने अद्वितीय कार्य हैं। वे आमतौर पर आपके शरीर को ऊर्जा का उत्पादन करते है साथ ही आपकी कोशिकाओं में महत्वपूर्ण अणु बनाने में मदद करते हैं।

“विटामिन-बी के विषय में हैलो स्वास्थ्य से बात करने के दौरान डॉ. श्रुति श्रीधर (एम.डी. होम्योपैथी, क्लिनिकल न्यूट्रिशिनिस्ट) ने बताया कि यह पानी में घुलनशील होने के कारण इसकी अधिक मात्रा से भी शरीर को कोई विशेष नुकसान नहीं पहुंचता। ध्यान देने वाली बात है कि  बी 12 के अलावा, आपका शरीर बाकी विटामिनों को लंबे समय तक स्टोर नहीं कर सकता है। इसलिए, आपको खाने के अलावा विटामिन-बी के सप्लिमेंट भी लेते रहना चाहिए। डॉक्टरी सलाह से आप विटामिन-बी के सप्लिमेंट ले सकते हैं,ताकी शरीर को विटामिन-बी की पूरी खुराक मिलती रहे”।

और पढ़ें : Thiamine : थायमिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

विटामिन-बी की कमी से होने वाली समस्या

विटामिन-बी हमारे पाचन तंत्र को सुचारू रूप से चलाने में एक ईंधन का काम करता है। इसकी कमी से आपको खून की कमी, त्वचा के विकार जैसे कि सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस, मुंह की सूजन, मुंह के छाले, हाथ और पैर में झुनझुनी या सुन्न हो जाना, चिड़चिड़ापन, भ्रम और अवसाद जैसी कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप ऐसी किसी भी समस्या या स्थिति का सामना कर रहे हैं, तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से सलाह लें।

यह भी पढ़ें : विटामिन ए के लिए करें इन 7 चीजों का सेवन

विटामिन-बी से भरपूर खाद्य पदार्थ

सालमन मछली
सालमन मछली विटामिन-बी का अच्छा स्त्रोत है। इसमें टमाइलीसाइड के रूप में ओमेगा-3 जैसे फैटी एसिड भी मौजूद होते हैं। 100 ग्राम सालमन मछली में 18% थायमिन (बी 1), 29% राइबोफ्लेविन (बी 2), 50% नियासिन (बी 3), 19% पैंटोथेनिक एसिड (बी 5), 47% पायरीडॉक्सिन (बी 6) और 51% कोबालामिन (बी 12) होता है।

लिवर
यदि आप बीफ, पॉर्क, लैम्ब या चिकन खाते हैं तो बता दें इनके लिवर में विटामिन-बी की खान होती है। 100 ग्राम बीफ लिवर में 12% थायमिन (बी 1), 201% राइबोफ्लेविन (बी 2), 87% नियासिन (बी 3), 69% पैंटोथेनिक एसिड (बी 5), 51% पायरीडॉक्सिन (बी 6), 138% बायोटिन (बी 7), 65% फोलेट (बी 9) और 1386% कोबालामिन (बी 12) हैं।

दूध
दूध भी विटामिन-बी का अच्छा स्त्रोत है। 240 मिलीलीटर दूध में 7% थायमिन (बी 1), 26% राइबोफ्लेविन (बी 2), 9% पैंटोथेनिक एसिड (बी 5), 18% कोबालामिन (बी 12) होता है।

अंडे
अंडों में भी छोटी मात्रा में विटामिन-बी पाया जाता है। 50 ग्राम पके हुए अंडे में 15% राइबोफ्लेविन (बी 2), 7% पैंटोथेनिक एसिड (बी 5), 33% बायोटिन (बी 7), 5% फोलेट (बी 9) और 9% कोबालामिन (बी 12) होता है।

फलियां (Legumes)
फलियां फोलेट से भरपूर होती हैं। इसमें कम मात्रा में विटामिन-बी भी होता है। आधे कप फलियों में इस प्रकार फोलेट होता है।
ब्लैक बीन्स: आरडीआई का 32%
चिकपीस: आरडीआई का 35%
हरी मटर: आरडीआई का 12%
राजमा: आरडीआई का 29%
दाल: आरडीआई का 45%
भुना हुआ सोया नट: आरडीआई का 44%

ये भी पढ़े Osteomalacia : ओस्टियोमलेशिया क्या है ?

विटामिन-बी की कमी को दूर करने के डायट में शामिल करें ये चीजें:

  • साबुत अनाज (Whole Grain)
  • ब्राउन चावल (Brown Rice)
  • जौ (Barley)
  • बाजरा (Millet)
  • लाल मांस (Red Meat)
  • मुर्गी (Chicken)
  • मछली (Fish)
  • अंडे और डेयरी उत्पाद (Egg or dairy products)
  • दूध (Milk)
  • पनीर (Cheese)
  • फलियां (बींस, दाल) Legumes (beans, lentils)
  • बीज और नट्स (सूरजमुखी के बीज, बादाम) Seeds and nuts (sunflower seeds, almonds)
  • डार्क, पत्तेदार सब्जियां (ब्रोकली, पालक) Dark, leafy vegetables (broccoli, spinach)
  • फल (खट्टे फल, एवोकाडो, केले) Fruits (Citrus, Avocado, Banana)
  • ठोस अनाज (Solid Grain)

ब्राउन चावल, जाै, बाजरा, मांस, अंडे का सेवन कर आप अपने शरीर नें इस खास विटामिन की कमी को पूरा कर सकते हैं। अगर आप शाकाहारी हैं, तो आप पत्तेदार सब्जियां, खट्टे फल जैसे संतरा, नींबू आदि का सेवन कर सकते हैं।

विटामिन-बी हमारे शरीर के लिए एक ईंधन के रूप में कार्य करता है। ये जरूरी है कि हम शरीर को उचित मात्रा में विटामिन-बी की खुराक देते रहें। अच्छी सेहत का राज यही है कि शरीर को सही मात्रा में खनिज और पोषक तत्व मिलते रहे। विटामिन-बी की कमी को कभी भी अनदेखा न करें और जब भी आपके शरीर में विटामिन-बी की कमी हो, तो तुरंत ही न्यूट्रिशिनिस्ट से मिलें या डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें : 

बेली फैट कम करने के लिए करें ये 5 एक्सरसाइज

विटामिन-सी कितना फायदेमंद, जानिए पूरा ज्ञान

विटामिन-ई की कमी को न करें नजरअंदाज, डायट में शामिल करें ये चीजें

विटामिन डी की कमी को कैसे ठीक करें?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Becosules z: बीकासूल जेड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए बीकासूल जेड की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Becosules z डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by shalu
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Nurokind Od: न्यूरोकाइंड ओडी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

न्यूरोकाइंड ओडी टैबलेट की जानकारी in hindi. इस दवा का किस बीमारी में होता है इस्तेमाल, इसके साइड इफेक्ट्स, डोज, सावधानियां-चेतावनी को जानने के लिए पढ़ें ये लेख।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 22, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Benadon: बेनाडोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

बेनाडोन दवा की जानकारी in hindi. दवा के साइड इफेक्ट्स, डोज, उपयोग, सावधानी और चेतावनी और यह दवा किन दवाइयों और बीमारियों के साथ कर सकती है रिएक्शन जानने के लिए पढ़ें।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

उम्र की लंबी पारी खेलने के लिए, करें योगर्ट का सेवन जरूर

दही के लाभ, दही रोटी खाने के फायदे, दही खाने के फायदे, योगर्ट खाने से एजिंग कम होती है तो नियमित रूप से दही का सेवन आपको स्ट्रेस से भी दूर रखता है, जानिए आसान योगर्ट रेसिपी...yogurt health benefits in hindi

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन जून 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें