अब कोई छेड़े तो भागकर नहीं, मुंह तोड़ कर आना, जानें सेल्फ डिफेंस के टिप्स

Medically reviewed by | By

Update Date मई 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा, छेड़खानी और बुरा बर्ताव सालों से इस समाज का कड़वा सच बने हुए हैं और दुर्भाग्य से आज भी चिंता का विषय बना हुआ है। कुछ दिनों पहले मीटू मूवमेंट (#Metoo) ने पूरे विश्व को हिलाकर रख दिया था। इस मूवमेंट से पता चला कि, न सिर्फ आम व गरीब लड़कियों को छेड़खानी, यौन हिंसा, प्रताड़ना आदि से गुजरना पड़ता है, बल्कि इससे दुनिया की मशहूर व शक्तिशाली महिलाएं तक सुरक्षित नहीं रह पाई हैं। सभी को किसी न किसी मोड़ पर किसी तरह की हिंसाओं का सामना करना पड़ता है, जिसमें यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) व शारीरिक हिंसा (Physical Assault) काफी आम हैं। इस स्थिति से निकलने के लिए महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस काफी जरूरी हो जाता है।

महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस (Self Defence for Women) कैसे मददगार होगा?

न जाने कितनी लड़कियों और महिलाओं को रास्ते, बस, ऑफिस में गंदे कमेंट्स, ईव टीजिंग (Eve Teasing), शारीरिक हिंसा आदि का सामना करना पड़ता है। लेकिन, अधिकतर मामलों में वह ऐसा करने वाले अपराधियों का मुकाबला करने के बजाय बचकर चलना या नजरअंदाज करना शुरू कर देती हैं। लेकिन, सेल्फ डिफेंस की मदद से न सिर्फ लड़कियों और महिलाओं को मुकाबला करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है, बल्कि इसके साथ उन्हें आत्मरक्षा करने के ऐसे तरीके सीखाए जा सकते हैं, जिससे कोई भी अपराधी किसी और के साथ बदतमीजी या छेड़छाड़ करने से पहले कई बार सोचेगा।

यह भी पढ़ें : स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के दौरान सावधानी रखना है जरूरी, स्ट्रेच करने से पहले जानें ये बातें

लड़कियों को आत्मरक्षा सीखा रही है भारत सरकार

देश में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के बढ़ते हुए मामले देखकर सरकार ने महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग ‘रक्षा’ की शुरुआत की। इसमें सभी सरकारी स्कूलों व अन्य स्कूलों में छठी क्लास से लेकर 12वीं क्लास तक की लड़कियों को सेल्फ डिफेंस तकनीक सीखाई जा रही है। जिससे वह अपनी व्यक्तिगत चीजों, जैसे चाबी का गुच्छा, दुपट्टा, स्टॉल, मफलर, बैग, पेन-पेंसिल आदि को अपना हथियार बनाकर आत्मरक्षा कर सकती हैं और किसी भी प्रकार की हिंसा व छेड़खानी का मुंहतोड़ जवाब दे सकती हैं। राज्य सरकारें भी इस तरह कई प्रोग्रामों का आयोजन करती रहती हैं, जैसे- ओडिशा की 2013 में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, महिलाओं व लड़कियों को सशक्त करने, किसी भी प्रकार की शारीरिक हिंसा से आत्मरक्षा करने का तरीका सीखाने व उनमें आत्मनिर्भरता व समाज में अपनी पहचान खुद बनाने का साहस बढ़ाने के लिए एक यूथ पॉलिसी बनाई गई थी।

महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस टिप्स

अगर किसी महिला या लड़की के लिए कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की शारीरिक हिंसा का कारण बन रहा है, तो वह इन आसान, लेकिन खतरनाक टिप्स की मदद से उसको मुंहतोड़ जवाब देकर आत्मरक्षा कर सकती हैं। आइए, इन मददगार टिप्स के बारे में जानते हैं।

यह भी पढ़ें : ये स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज कमर दर्द से दिलाएंगी छुटकारा

ग्रोइन किक (Groin Kick)

अगर किसी महिला पर कोई व्यक्ति सामने से हमला करने की कोशिश करता है, तो ग्रोइन किक उसे धराशायी करने के लिए काफी है। इससे न सिर्फ आप उसके हमले से बच पाएंगी, बल्कि वहां से दूर भी जा पाएंगी। क्योंकि, इस तकनीक से वह कुछ सेकेंड तो उठ नहीं पाएगा। आत्मरक्षा के लिए इस टिप का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले खुद को जितना हो सके, स्थिर कर लें। अब जो पैर आपका डोमिनेंट है, उसके घुटने को ऊपर की तरफ उठाएं और तेजी से अपने पैर को आगे फैलाते हुए सामने वाले व्यक्ति के ग्रोइन एरिया पर मारें। ग्रोइन एरिया पेट और जांघों के बीच का हिस्सा होता है। ध्यान रखें, व्यक्ति आपके पैर के रडार में होना चाहिए और आपके पैर की गति तेज होनी चाहिए।

महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस टिप- एल्बो हिट (Elbow Hit)

अगर कोई हमलावर पीछे से आकर आपको दबोच लेता है, तो आप उसकी पकड़ से एल्बो हिट की मदद से निकल सकते हैं। यह टिप सामने वाले को बहुत दर्द दे सकती हैं, इसका नियमित अभ्यास इसे और भी घातक बना सकता है। इसे करने के लिए आपको सबसे पहले अपने पैरों और धड़ को स्थिर व मजबूत करना होगा। इसके बाद थोड़ा-सा आगे की तरफ कमर झुकाएं और घूमकर अपनी कोहनी से पीछे खड़े हमलावर के मुंह, गले या ठुड्डी पर हमला करें। इससे उसकी पकड़ ढीली होगी और उसके बाद उसके पेट में कोहनी मारें, इससे वह जमीन पर गिर पड़ेगा।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन में वजन नियंत्रण करने के लिए अपनाएं ये टिप्स 

फिंगर्स स्वोर्ड (Finger’s Sword)

यह टिप उस खतरनाक स्थिति में काफी मददगार साबित होता है, जब कोई हमलावर आपको किसी कोने में दबोच लेता है और आपके पास भागने या बचने के लिए कोई रास्ता नहीं बचता। लेकिन, आपको भागने या बचने की क्या जरूरत है, जब आप उसे उसकी भाषा में ही जवाब दे सकती हैं। इसके लिए सबसे पहले अपने शरीर को सीधा व बैलेंस्ड करें। अब अपनी इंडेक्स व मिडिल फिंगर से सामने वाले व्यक्ति की आंखों में सीधा मारें या फिर उसकी कॉलरबोन (collarbone) के बीचोबीच जहां दोनों कंधों की हड्डी मिलती है, वहां मारें। इससे वह अस्थिर हो जाएगा और फिर उसकी पसलियों या ग्रोइन एरिया में तेज और जोरदार मुक्का मारें।

आत्मरक्षा – हाथ कैसे छुड़ाएं

अगर कोई व्यक्ति आपका एक हाथ पकड़ लेता है और खींचने या रोकने की कोशिश करता है, तो आप इस तकनीक से आसानी से उससे अपना हाथ छुड़ा सकती हैं। इसके लिए आप अपने शरीर को सीधा करने की कोशिश करें और पूरा संतुलन अपने पैरों पर रखें। अब अपने हाथ की उंगलियों को कलाई की तरफ मोड़ें और फिर झटके से अपनी उंगलियों को सीधा करते हुए अपने हाथ को खीचें। इससे उसकी पकड़ ढीली हो जाएगी और इस आक्रामक जवाब के बाद वह आपके पास आने से पहले कई बार सोचेगा।

यह भी पढ़ें- ऑफिस में लगातार बैठकर काम करने से बढ़ता है वजन, फॉलों करें ये टिप्स

बोनस सेल्फ डिफेंस टिप्स

ध्यान रखें ऊपर बताई गई तकनीकें काफी सामान्य है और आत्मरक्षा के लिए इनका इस्तेमाल कोई भी आसानी से कर सकता है। इससे एडवांस आत्मरक्षा के टिप्स सीखने के लिए आप कोई क्लास भी ज्वाइन कर सकती हैं। लेकिन, इन तरीकों को ही प्रभावशाली बनाने के लिए आप निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें।

  1. आपका प्रहार जितना तेज और ताकतवर होगा, हमलावर को उतना ही नुकसान पहुंचाएगा।
  2. इस बात की चिंता न करें कि इससे आपके किसी मुकदमे या शिकायत में फंस सकती हैं, बल्कि भारतीय कानून के मुताबिक, कोई भी महिला ऐसी किसी खतरनाक स्थिति में अपनी आत्मरक्षा के लिए सामने वाले व्यक्ति पर प्रहार कर सकती है।
  3. अगर आपके हाथ में कोई सामान है, तो उसे हमलावर के चेहरे पर मारें।
  4. प्रहार करते हुए अपने शरीर को जितना हो सके स्थिर और शारीरिक भार अपने दोनों पैरों पर बराबर रखें
  5. महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस टिप्स का आप घर में जितना अभ्यास करेंगी, उतना प्रभावशाली प्रहार हो पाएगा।
  6. याद रखें, आप किसी भी मायने में किसी से कम नहीं है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें : 

इटली के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 वैक्सीन बनाने का किया दावाः जानिए इस खबर की पूरी सच्चाई

लॉकडाउन में दोस्ती पर क्या पड़ा है असर? कोई रूठा तो कोई आया पास

कोरोना महामारी में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग (Contact Tracing) कैसे कर रही है काम, जानिए

रमजान: कोविड-19 के खिलाफ वरदान साबित हो सकते हैं ये 7 ईटिंग हैक्स

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

टीवी देखते हुए भी कर सकते हैं बेस्ट एक्सरसाइज, जानिए कौन-कौन सी वर्कआउट है बेस्ट

बेस्ट एक्सरसाइज करने के लिए जिम जाने की जरूरी नहीं, टीवी देखते हुए समय निकाल करें कुछ एक्सरसाइज, जानें एक्सरसाइज टिप्स और उससे जुड़ी खास बातें।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
फिटनेस, स्वस्थ जीवन मई 20, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

जानें ऐसी 7 न्यूट्रिशन मिस्टेक जिनकी वजह से वेट लॉस डायट प्लान पर फिर रहा है पानी

क्या न्यूट्रिशन मिस्टेक आप कर रहे हैं? इन 7 न्यूट्रिशन मिस्टेक की वजह से ही आपका वजन कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। वेट लॉस के लिए सबसे सही यह है कि आप जब भूखे हों तभी भोजन करें। nutrition mistakes in hindi

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
फिटनेस, स्वस्थ जीवन मई 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिहाज से लंबे समय तक बैठ कर काम करना है खतरनाक

स्वास्थ्य और सुरक्षा की दृष्टि से ऑफिस में लगातार बैठकर काम करने से कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यहां ऑफिस में स्वास्थ्य और सुरक्षा से जुड़े कुछ टिप्स बताए जा रहे हैं।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए जानें मैराथन दौड़ के फायदे

मैराथन दौड़ के फायदे क्या हैं, मैराथन दौड़ के फायदे इन हिंदी, दौड़ने का सेहत पर असर, लंबी उम्र के लिए दौड़ना, Benefits of Marathon run in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
फिटनेस, रनिंग, स्वस्थ जीवन मई 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

इम्यूनिटी बूस्टर क्विज immunity booster quiz

Quiz: इम्यूनिटी बूस्टिंग के लिए क्या करना चाहिए क्या नहीं , जानने के लिए यह क्विज खेलें

Written by Mousumi Dutta
Published on जून 17, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
रेकी

रेकी क्या है? जानिए इसके फायदे और प्रॉसेस

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Manjari Khare
Published on जून 1, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हेल्दी लंग्स

लंग्स को हेल्दी रखने में मदद कर सकती हैं ये आसान ब्रीदिंग एक्सरसाइज

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Manjari Khare
Published on मई 21, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Cycling Benefits - साइकलिंग बेनिफिट्स

एक साधारण-सी साइकिल से मिल सकते हैं कई फायदे, जानें

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Surender Aggarwal
Published on मई 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें