माता-पिता से बच्चे का ब्लड ग्रुप अलग क्यों होता है ?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण तरल खून है। इसके बिना हमारा शरीर शून्य है। ब्लड शरीर में ऑक्सिजन की सप्लाई करता है। हर व्यक्ति के शरीर में मौजूद ब्लड का एक खास ग्रुप होता है। लेकिन, क्या आपने कभी सोचा है माता-पिता के ब्लड ग्रुप से हमार ब्लड ग्रुप अलग क्यों होता है?। अगर नहीं, तो जानें इस आर्टिकल में इसके पीछे की वजह।

और पढ़ेंः Uric Acid Blood Test : यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

ब्लड टाइप के बारे में जानने वाली बातें

मानव शरीर में लगभग 8 से 10 पिन रक्त होता है जो व्यक्ति के आकार के आधार पर होता है। हालांकि प्रत्येक व्यक्ति में रक्त की संरचना समान नहीं होती है। यह वही है जो व्यक्ति के खून के प्रकार को बनाता है। एक व्यक्ति का रक्त प्रकार इस बात पर निर्भर करता है कि उसकी मां या पिता ने किस जीन को पारित किया था। रक्त के प्रकारों के ग्रुपिंग के बारे में जानने का सबसे अच्छा तरीका एबीओ प्रणाली है हालांकि दूसरे ग्रुप भी  हैं।

एबीओ समूह के अंदर चार प्रमुख श्रेणियों को आठ सामान्य ब्लड टाइप में बांटा गया है: ए, बी, ओ, और एबी। एक रोगी को ट्रांसफ्यूजन में सही ब्लड देना महत्वपूर्ण है। गलत प्रकार एक प्रतिकूल और संभावित घातक प्रतिक्रिया को ट्रिगर कर सकता है।

और पढ़ेंः HCG Blood Test: जानें क्या है एचसीजी ब्लड टेस्ट?

ब्लड टाईप कैसे बनता है

खून में कोशिकाएं और प्लाज्मा के रूप में जाना जाने वाला एक पीला पानी होता है। रक्त समूह इस बात पर निर्भर करता है कि रक्त के प्रत्येक भाग में क्या है। दो मुख्य ब्लड ग्रुप सिस्टम ABO एंटीजन और Rhesus एंटीजन (RhD एंटीजन सहित) हैं। इन दो प्रतिजनों का उपयोग रक्त के प्रकारों को वर्गीकृत करने के लिए किया जाता है।

बैक्टीरिया और वायरस आमतौर पर एक एंटीजन ले जाते हैं। एक संक्रमण के दौरान उनका एंटीजन उन्हें कुछ ऐसी चीज के रूप में चिह्नित करता है जो शरीर के लिए बाहरी है या आमतौर पर शरीर में नहीं पाई जाती है। अधिकांश रेड ब्लड सेल प्रतिजन लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर पाए जाने वाले प्रोटीन मॉलिक्यूल होते हैं।

वाइट ब्लड सेल इम्यून डिफेंस के रूप में एंटीबॉडी का उत्पादन करती हैं। ये एंटीबॉडी एंटीजन को टार्गेट करते हैं और बाहरी वस्तु पर हमला करते हैं उदाहरण के लिए बैक्टीरिया।

और पढ़ेंः Allergy Blood Test : एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

ब्लड ग्रुप कब जरूरी है?

किसी व्यक्ति के ब्लड टाइप की पुष्टि करना महत्वपूर्ण है जब वे रक्त दान कर रहे हैं या एक ट्रांसफ्यूजन ले रहे हैं। अगर ग्रुप बी एंटीजन वाले किसी व्यक्ति को ग्रुप ए एंटीजन वाले रेड ब्लड सेल को प्राप्त होता है तो उनका शरीर ट्रांसफ्यूजन को अस्वीकार कर देगा।

ऐसा इसलिए है क्योंकि लाल रक्त कोशिकाओं पर बी एंटीजन वाले रोगियों के प्लाज्मा में एंटी-ए एंटीबॉडी है। प्लाज्मा में एंटी-ए एंटीबॉडी तब हमला करता है और ए एंटीजन डोनर लाल रक्त कोशिकाओं को नष्ट कर देता है। यह घातक हो सकता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

क्यों कोई बच्चा अपने माता-पिता के ब्लड ग्रुप से अलग होता है ?

मूल रूप से देखें तो 4 ब्लड ग्रुप AB, B, A और O होते हैं। बच्चा अपने माता-पिता के ब्लड ग्रुप से अलग हो भी सकता है और नहीं भी। उदाहरण के तौर पर AB और O ब्लड टाइप वाले माता-पिता के बच्चों के ब्लड टाइप A या B हो सकते हैं। कई बार बच्चे का ब्लड ग्रुप अपने माता-पिता से मिल सकता है। ब्लड ग्रुप में बदलाव जेनेटिक्स की वजह से भी होता है।

और पढ़ें : Blood Test : ब्लड टेस्ट क्या है?

बच्चों में ब्लड ग्रुप कैसे बनता है ?

  • अगर माता-पिता दोनों का ही ब्लड ग्रुप O है, ऐसी स्थिति में जन्म लेने वाले शिशु का ब्लड ग्रुप भी O ही होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप O और A है तो ऐसे में बच्चे का ब्लड ग्रुप O और A दोनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप O और B है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप O और B दोनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप O और AB है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A और B दोनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप O और O है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप भी O हो होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप A और A है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A और O दोनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप A और B है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप O-A-B-AB चरों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप A और AB है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A-B-AB तीनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप A और O है तो तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A और O हो सकता है।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप B और B है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप O-B दोनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप B और AB है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप B-A-AB तीनों में से कोई एक होगा।
  • माता पिता का ब्लड ग्रुप B  और A है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A, B, AB और O हो सकता है।
  • माता पिता का ब्लड ग्रुप B और O है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप B या O हो सकता है।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप AB और AB है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप B-A-AB तीनों में से कोई एक होगा।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप AB+A है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A, B और AB हो सकता है।
  •  माता-पिता का ब्लड ग्रुप AB+B है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A, B और AB हो सकता है।
  • माता-पिता का ब्लड ग्रुप अगर AB +O है तो बच्चे का ब्लड ग्रुप A या B हो सकता है।

और पढ़ेंः Dragon’s Blood: ड्रैगन ब्लड क्या है?

क्या ब्लड टाइप आहार वास्तव में काम करता है?

पिछले कुछ सालों में “ब्लड टाइप डायट” के बारे में कई दावे किए गए हैं जिसमें आप अपने रक्त प्रकार के लिए विशिष्ट खाद्य पदार्थ खाते हैं ताकि कुछ बीमारियों के जोखिम को कम किया जा सके और आपके समग्र स्वास्थ्य में सुधार हो सके। इसका कोई वैज्ञानिक शोध नहीं है कि आपके रक्त प्रकार के लिए खाने के प्रमाण आपको स्वस्थ बनाते हैं। ब्लड ग्रुप के बारे में किसी भी तरह की जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

और पढ़ें – ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के साथ जानुशीर्षासन के और अनजाने फायदें और करने का सही तरीका जानिए

अपना ब्लड ग्रुप कैसे पहचाने?

अगर आप माता-पिता बनने वाले हैं और अपने बच्चे का ब्लड ग्रुप जानना चाहते हैं तो आपको उसके लिए अपना ब्लड ग्रुप भी जानना होगा। ऐसे में आप चाहें तो डॉक्टर के पास जाकर अपना ब्लड ग्रुप जान सकते हैं या घर पर ही ब्लड टेस्टिंग किट की मदद से इसका पता लगा सकते हैं।

हालांकि, आप चाहें तो एक बेहतर और मुफ्त विकल्प भी चुन सकते हैं जैसे की ब्लड डोनेशन। रक्तदान करते समय आपको अपने ब्लड ग्रुप के बारे में जानकारी मिल जाएगी। लेकिन अगर आप गर्भवती हैं तो ऐसा न करें।

इसके साथ ही ध्यान रखें की ब्लड ग्रुप की जानकारी आने में कुछ दिनों या हफ्तों का समय लग सकता है। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Monospot Test : मोनोस्पॉट टेस्ट क्या है?

मोनोस्पॉट टेस्ट (Monospot) की जानकारी, टेस्ट कराने से पहले जानने योग्य बातें, Monospot क्या होता है, मोनोस्पॉट टेस्ट के रिजल्ट और परिणामों को समझें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z दिसम्बर 27, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Phlebitis : फिलीबाइटिस क्या है?

क्या आपने कभी किसी की त्वचा में ऊभरी हुई नसों पर गौर किया है? अगर हां, तो बता दें कि इसे फिलीबाइटिस (Phlebitis) कहा जाता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z नवम्बर 23, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Haematocrit Test : जानें क्या है हिमाटोक्रिट टेस्ट?

जानिए हिमाटोक्रिट टेस्ट की जानकारी मूल बातें, टेस्ट कराने से पहले जानने योग्य बातें, Haematocrit Test क्या होता है, हिमाटोक्रिट टेस्ट के रिजल्ट और परिणामों को समझें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z सितम्बर 20, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

HCG Blood Test: जानें क्या है एचसीजी ब्लड टेस्ट?

जानिए ह्यूमन कोरियोनिक गॉनाडोट्रोपिन ब्लड टेस्ट की जानकारी मूल बातें, टेस्ट कराने से पहले जानने योग्य बातें, Human Chorionic Gonadotropin Blood test क्या होता है, ह्यूमन कोरियोनिक गॉनाडोट्रोपिन ब्लड टेस्ट के रिजल्ट और परिणामों को समझें ।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z सितम्बर 19, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

घर पर डायबिटीज टेस्ट

घर पर डायबिटीज टेस्ट कैसे करें?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
ग्लूकोज चैलेंज टेस्ट- glucose challenge test)

ग्लूकोज चैलेंज टेस्ट क्यों किया जाता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मार्च 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कोरोना वायरस से ब्लड ग्रुप

कोरोना वायरस से ब्लड ग्रुप का है कनेक्शन, रिसर्च में हुआ खुलासा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mona narang
प्रकाशित हुआ मार्च 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
एंटी ग्लोमेरूलर बेसमेंट मेंब्रेन टेस्ट - Anti-Glomerular Basement Membrane

Anti-Glomerular Basement Membrane: एंटी ग्लोमेरूलर बेसमेंट मेंब्रेन टेस्ट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 27, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें