क्या बच्चे क्या बूढ़े, सबके लिए जीवनरक्षक है यह, जानें घर पर कैसे बनाएं ओआरएस का घोल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

World ORS Day : डब्ल्यूएचओ के अनुसार, पांच साल से कम उम्र के बच्चों में डायरिया मौत का दूसरा प्रमुख कारण है। डायरिया, अक्सर खराब हाइजीन के कारण होता है। यह विशेष रूप से शिशुओं, बच्चों और बुजुर्गों को प्रभावित करता है। इसकी वजह से आमतौर पर डिहाइड्रेशन होता है।

कभी-कभी यह इतना गंभीर होता है कि व्यक्ति की मौत भी हो जाती है। ऐसे में डिहाइड्रेशन से बचाव के लिए ओआरएस पाउडर पीने की सलाह दी जाती है। शरीर के लिए ओआरएस पाउडर के लाभ कई तरीके से महत्वपूर्ण हैं।

ओआरएस के महत्व के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोग समझ सके, इसके लिए 29 जुलाई को पूरी दुनिया में ओआरएस डे (World ORS Day) मनाया जाता है। आइए जानते हैं कि ओआरएस का फुल फॉर्म क्या है, इसके लाभ क्या हैं और ओआरएस को घर पर कैसे बनाएं।

और पढ़ें – यूरिक एसिड डाइट लिस्ट से इन फूड्स को कहें हाय, तो हाई-प्यूरीन फूड्स को कहें बाय-बाय

ओआरएस क्या है? (What is ORS)

ओआरएस का फुल फॉर्म ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्ट (oral re-hydration salt) है। ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्ट में कई प्रकार के साल्ट्स (इलेक्ट्रोलाइट्स) और शुगर मिली होती है। इलेक्ट्रोलाइट्स और चीनी का मिश्रण आंत से पानी और इलेक्ट्रोलाइट के अब्सॉर्प्शन को उत्तेजित करता है।

इसलिए, यह डिहाइड्रेशन (dehydration) को रोकने में मददगार होता है। साथ ही दस्त और उल्टी जैसी स्थितियों में हुई नमक की कमी को पूरा करता है। ओआरएस घोल बनाने के लिए आप इसे बाजार से खरीद सकते हैं या आप घर पर भी ओआरएस घोल बना सकते हैं।

और पढ़ें : वाटर इंटॉक्सिकेशन : क्या ज्यादा पानी पीना हो सकता है नुकसानदेह?

ओआरएस के लाभ क्या हैं? (ORS benefits)

ओआरएस घोल पीने के कई लाभ होते हैं। जैसे-

निर्जलीकरण के रोगियों के लिए है उत्तम

ओआरएस घोल नमक, चीनी और पानी से तैयार किया जाता है। इसलिए, अधिक पसीने की वजह से शरीर से बहुत अधिक ग्लूकोज या सॉल्ट बाहर निकल जाते हैं, ओआरएस का उपयोग करके इसे फिर से वापस लाया जा सकता है। अध्ययनों की माने तो ओआरएस को पीने से आवश्यक मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट्स ब्लड में फिर से पूरे हो जाते हैं, जो किसी बीमारी के दौरान शरीर से निकल जाते हैं।

और पढ़ें – अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस: क्यों भारतीय बच्चों और युवाओं को स्वास्थ्य साक्षरता की शिक्षा देना है जरूरी?

ओआरएस के लाभ : डायरिया के इलाज में मददगार

शिशुओं या कम उम्र के बच्चे डायरिया जैसी स्थितियों के प्रति अतिसंवेदनशील होते हैं। ऐसे में घर पर ओआरएस पाउडर होना जरूरी है। इसकी अनुशंसित मात्रा को पानी में मिलाकर रोगी को देने से दस्त की वजह से हुए डिहाइड्रेशन में आराम मिलता है।

ओआरएस को अक्सर प्राथमिक या अतिसार जैसी कई बिमारियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण दवाओं में से एक माना  जाता है क्योंकि यह शरीर में पानी और मिनरल्स को संतुलित रखता है। ओआरएस तीन से चार दिनों के लिए रोगियों को दिया जा सकता है। फिर भी, आपको हमेशा इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

और पढ़ें : स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिहाज से लंबे समय तक बैठ कर काम करना है खतरनाक

ओआरएस के लाभ : एथलिट्स और ट्रेनर्स के लिए जरूरी

एथलीटों और ट्रेनर्स के लिए यह काफी अच्छा माना जाता है। जिम या ट्रैक्स पर बहुत ज्यादा पसीना बहने की वजह से डिहाइड्रेशन होने की संभावना ज्यादा रहती है। ऐसे में एथलिट्स और ट्रेनर्स सुनिश्चित करें कि उनके पास ओआरएस का घोल मौजूद रहे, खासकर प्रैक्टिस के दौरान। यह प्रैक्टिस के बाद भी आपको एक्टिव रखने में मदद करेगा।

और पढ़ें : बचे हुए खाने से घर पर ऐसे बनाएं ऑर्गेनिक कंपोस्ट (जैविक खाद), हेल्थ को भी होंगे फायदे

ओआरएस का घोल कब लेना चाहिए?

डायरिया शुरू होते ही एक्स्ट्रा फ्लूइड की आवश्यकता होती है। ऐसे में आपके शरीर को ओआरएस का लाभ मिलेगा।
ज्यादातर हेल्दी एडल्ट्स को ट्रेवलिंग के दौरान डिहाइड्रेशन का सामना करना पड़ता है। ऐसे में खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए वे ओआरएस पाउडर को अपने साथ रख सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें – किन कारणों से हो सकती है खुजली की समस्या? जानिए क्या हैं इसे दूर करने के घरेलू उपाय

घर पर ओआरएस कैसे बनाएं?

घर पर ओआरएस बनाने की विधि बेहद आसान है। इसे मिनटों में तैयार किया जा सकता है। इसके लिए आपको चाहिए-

  • साफ पानी – 1 लीटर
  • चीनी – छह चम्मच (1 चम्मच = 5 ग्राम)
  • नमक – आधा चम्मच

विधि : पानी में चीनी और नमक को मिलाएं घुलने तक मिश्रण को हिलाएं। घुल जाने के बाद ओआरएस घोल को निश्चित अंतराल पर लेते रहें।

और पढ़ें – मच्छरों के काटने से हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां, बचाव के लिए जानें एक्सपर्ट की राय

घर पर ओआरएस बनाते समय बरतें सावधानी

घर का बना घोल ज्यादातर मामलों में प्रभावकारी होता है और रिहायड्रेशन के लिए अच्छा काम करता है। घर पर ओआरएस का घोल बनाते समय मिश्रण की सही मात्रा पर ध्यान दें। बहुत अधिक चीनी दस्त को बदतर बना सकती है और बहुत अधिक नमक बच्चे के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है। ओआरएस के लाभ की जगह ओआरएस के नुकसान न आपको झेलने पड़े, इसके लिए इसके मिश्रण को लेकर सावधानी बरतें।

और पढ़ें : कहीं आपके पसीने से लथपथ कपड़े और जिम बैग से तो नहीं आता बदबू, जानें जिम किट की स्मेल कैसे करें कम

ओआरएस के साथ रिएक्शन

ओआरएस के साथ दूसरी दवाओं का इस्तेमाल करने से ड्रग रिएक्शन होने की बेहद कम आशंका रहती है। लेकिन फिर भी किसी भी तरह के दुष्प्रभावों से बचने के लिए आपको उन सभी दवाओं की एक लिस्ट रखनी चाहिए जिनका आप उपयोग कर रहे हैं (जिसमें डॉक्टर के पर्चे वाली दवाएं, गैर-पर्चे वाली दवाएं और हर्बल प्रोडक्ट्स शामिल होने चाहिए) और इसे डॉक्टर या फार्मासिस्ट को दिखाएं।

बिना डॉक्टरी सलाह के ओआरएस का सेवन करने की सलाह नहीं दी जाती है।

ओआरएस के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या ओआरएस घोल को स्टोर किया जा सकता है?

बैक्टीरियल संदूषण (bacterial contamination) के खतरे के कारण ओआरएस घोल को 24 घंटे से अधिक समय तक स्टोर करके नहीं रखना चाहिए। साथ ही इसे हमेशा ढककर रखना चाहिए।

क्या ओआरएस (ORS) का उपयोग सभी के लिए किया जा सकता है?

ओआरएस सुरक्षित है और इसका उपयोग दस्त से पीड़ित किसी भी व्यक्ति के प्राथमिक इलाज के लिए किया जा सकता है। बच्चों और वयस्कों में डिहाइड्रेशन की वजह से ओआरएस घोल की जरूरत ज्यादा होती है। हालांकि, बच्चों को हमेशा तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि बच्चे तेजी से डिहायड्रेट हो जाते हैं।

और पढ़ें – BHRT: बायो-आइडेंटिकल हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी क्या होता है? क्या यह सेफ है?

अगर ओआरएस घोल बनाने में दूषित पानी का इस्तेमाल हुआ है तो क्या होगा?

यदि आप दूषित पानी का उपयोग करते हैं तो फ्लूइड रिप्लेसमेंट (fluid replacement) का लाभ नहीं मिल पाएगा। अगर पानी दूषित है तो उसे उपयोग में लाने से पहले उबालें और ठंडा करें। ऐसी स्थितियों में जहां पानी को उबालना मुश्किल है, फिल्टर किए गए पानी का उपयोग करें।

शिशु और छोटे बच्चे को ओआरएस कब दें?

अगर बच्चे को डायरिया है जिससे उसे दिन में तीन से ज्यादा बार दस्त आ रहे हों, तो ऐसे में बच्चे को ओआरएस का घोल दिया जा सकता है।

और पढ़ें – ईएसआर(एरिथ्रोसाइट सेडीमेंटेशन रेट) लेवल को कम करने के लिए कौन से घरेलू उपाय हैं प्रभावी?

शिशु और बच्चे को ओआरएस कितनी मात्रा में दें?

विश्व स्वास्थ्य संगठन डायरिया के दौरान ओआरएस की निम्नलिखित मात्रा पीने की सलाह देता है: 

  • 2 साल से कम उम्र : हर दस्त के बाद 50-100 एमएल (¼ से ½ cup)
  • 2 से 9 साल : हर दस्त के बाद 100-200 एमएल (½ से 1 कप)
  • 10 साल या उससे अधिक उम्र : एक दिन में लगभग दो लीटर (8½) कप) तक

गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान ओआरएस का सेवन करना चाहिए या नहीं?

गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान महिलाओं को किसी भी प्रकार की दवा का बिना डॉक्टरी सलाह के इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। हालांकि, प्रेग्नेंसी व ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ओआरएस का इस्तेमाल ज्यादातर मामलों में सुरक्षित माना जाता है, लेकिन कुछ मामलें ऐसे भी पाए गए हैं जिनमें प्रेग्नेंसी के दौरान दुष्प्रभाव हो सकते हैं। ऐसे में बिना डॉक्टर की सलाह लिए ओआरएस का इस्तेमाल न करें।

रखें इन बातों का भी ध्यान :

  • डायरिया के घरेलू उपाय के रूप में ओआरएस का इस्तेमाल किया जा सकता है। शिशुओं को ओआरएस के अलावा स्तनपान कराना जारी रखना चाहिए।
  • वयस्कों को ओआरएस घोल के अलावा ठोस भोजन करना जारी रखना चाहिए।
  • कॉफी, एनर्जी ड्रिंक्स, मीठे फलों के रस, चाय, कैफीनयुक्त या शर्करा युक्त पेय से बचें। शराब और कैफीन डिहाइड्रेशन को खराब कर सकते हैं।
  • यदि दस्त खूनी होने के साथ फीवर हाई, पीलिया (पीली त्वचा) या लगातार उल्टी हो रही है, तो तुंरत डॉक्टर को दिखाएं।
  • ओआरएस के उपयोग के बावजूद डिहायड्रेशन या दस्त में सुधार नहीं होता है, तो डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें – पानी को लुटाएं नहीं, बचाएं : नेचर कंजर्वेशन डे पर जानिए घर में पानी की बर्बादी रोकने के टिप्स

निष्कर्ष

ओआरएस को इलेक्ट्रोलाइट वाटर भी कहा जाता है क्योंकि यह शरीर को जरूरी पोषक तत्व पहुंचाता है जिससे वह सही तरह से कार्य कर पाए। इसमें मुख्य रूप से सोडियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम और क्लोराइड मौजूद होता है।

भले ही हर समय इलेक्ट्रोलाइट युक्त तरल पदार्थ पीने को मना किया जाता हो लेकिन कभी-कबार इसका सेवन करना सेहत कर लिए फायदेमंद होता है। आप इसका सेवन बीमारी, लंबे समय तक व्यायाम और उल्टी व डायरिया के समय कर सकते हैं।

अन्य इलेक्ट्रोलाइट वाटर जैसे स्पोर्ट्स ड्रिंक बेहद महंगी होती हैं जिसके कारण हर कोई इनका सेवन नहीं कर सकता है। ऐसे में घर पर बनाए गए ओआरएस की मदद से आप अपने शरीर की पूर्ति कर सकते हैं।

ओआरएस न केवल सस्ते होते हैं बल्कि यह बिना आर्टिफीसियल फ्लेवर के इलेक्ट्रोलाइट प्रदान करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Sweet Woodruff: स्वीट वुडरफ क्या है?

जानिए स्वीट वुडरफ की जानकारी in Hindi, फायदे, लाभ, स्वीट वुडरफ उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Sweet Woodruff डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Mona narang
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल नवम्बर 22, 2019 . 5 मिनट में पढ़ें

कहीं नींद न आने का कारण स्लीप डिहाइड्रेशन (Sleep Dehydration) तो नहीं?

स्लीप डिहाइड्रेशन, पानी और नींद के बीच के संबंध को दर्शाती एक समस्या है। स्लीप डिहाइड्रेशन(Sleep Dehydration) में पानी की कमी की वजह से नींद प्रभावित हो सकती है या इसका उल्टा भी हो सकता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
स्लीप, स्वस्थ जीवन नवम्बर 15, 2019 . 6 मिनट में पढ़ें

जीभ से जुड़े तथ्य नहीं जानते होंगे आप

जीभ से जुड़े तथ्य जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे। जीभ से जुड़े तथ्य में से एक यह है कि फिंगर प्रिंट की ही तरह टंग प्रिंट भी होता है और यह हर इंसान में अलग-अलग ही होता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
फन फैक्ट्स, स्वस्थ जीवन नवम्बर 12, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Dehydration: डिहाइड्रेशन क्या है?

जानिए डिहाइड्रेशन की जानकारी in hindi,निदान और उपचार, डिहाइड्रेशन के क्या कारण हैं, लक्षण क्या हैं, घरेलू उपचार, जोखिम फैक्टर, Dehydration का खतरा, जानिए जरूरी बातें |

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अक्टूबर 9, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

बुजुर्गों में डिहाइड्रेशन-bujurgo me dehydration

बुजुर्गों में डिहाइड्रेशन होने पर करें ये उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shilpa Khopade
प्रकाशित हुआ मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
प्रेग्नेंसी में संतरा- pregnancy-me-santra

प्रेग्नेंसी में संतरा खाना कितना सुरक्षित है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ अप्रैल 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सोनिया गांधी अस्पताल में भर्ती

सोनिया गांधी की बिगड़ी तबियत, श्री गंगा राम हॉस्पिटल में हुईं भर्ती

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ फ़रवरी 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सर्दियों में बच्चों की स्किन केयर टिप्स/winter skin care tips for baby

सर्दियों में बच्चों की स्किन केयर टिप्स से रखें, उनका खास ख्याल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh
प्रकाशित हुआ नवम्बर 25, 2019 . 7 मिनट में पढ़ें