यूरिक एसिड डाइट लिस्ट से इन फूड्स को कहें हाय, तो हाई-प्यूरीन फूड्स को कहें बाय-बाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

क्या आपके जॉइंट्स और बोन्स में दर्द है? इस दर्द की वजह से क्या आप ठीक तरीके से सो भी नहीं पाते हैं? क्या आपने अपना यूरिक एसिड टेस्ट कराया है? हो सकता है जोड़ों में दर्द का कारण आपकी बॉडी में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड हो। दरअसल, ज्यादातर गाउट से पीड़ित लोगों के ब्लड में यूरिक एसिड का उच्च स्तर पाया जाता है। बॉडी में इस यूरिक एसिड के लेवल को प्रबंधित करने से लक्षणों को रोकने में मदद मिल सकती है। इसे मैनेज करने का एक प्रभावी तरीका खानपान में बदलाव भी है। ऐसे में यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में कौन-से खाद्य पदार्थ शामिल किए जाने चाहिए और कौन-से नहीं? यह जानना आपके लिए जरूरी है। आइए जानते हैं ‘हैलो स्वास्थ्य’ के इस आर्टिकल में यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में किस फूड को करना है इन और किसे करना है आउट?

भोजन गाउट को कैसे प्रभावित करता है?

यदि आपको गाउट की समस्या है, तो कुछ खाद्य पदार्थ आपके यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ाकर इसे और ट्रिगर कर सकते हैं। इस स्थिति को बदतर करने वाले ज्यादातर खाद्य पदार्थ आमतौर पर प्यूरीन में उच्च होते हैं। प्यूरीन नैचुरली कई खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। इसके टूटने से बॉडी में यूरिक एसिड बनता है। यह यूरिक एसिड ज्यादातर यूरिन के जरिए बाहर निकल जाता है। लेकिन जिन लोगों की बॉडी यूरिक एसिड को बाहर निकालने में असक्षम होती है, उनके शरीर में एसिड का जमाव होने लगता है। नतीजन, गाउट की समस्या हो जाती है। इस प्रकार एक हाई-प्यूरीन आहार से यूरिक एसिड जमा हो सकता है और गाउट का कारण बन सकता है। स्टडीज से पता चलता है कि यूरिक एसिड डाइट लिस्ट से हाई-प्यूरीन खाद्य पदार्थों को हटाना और उचित दवा लेना गाउट अटैक (gout attack) को रोक सकता है।

और पढ़ें : यूरिक एसिड का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जानिए दवा और प्रभाव

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में शामिल करें इन्हें

हालांकि, एक गाउट-फ्रेंडली डाइट कई खाद्य पदार्थों को लिमिटेड कर देती है, फिर भी बहुत सारे लो-प्यूरीन खाद्य पदार्थ हैं, जिनका आप आनंद ले सकते हैं। ऐसे फूड्स जिनमें (प्रति 100 ग्राम में) 100 मिलीग्राम से कम प्यूरीन होता है, लो प्यूरीन फूड्स की गिनती में आते हैं। यहां कुछ कम प्यूरिन वाले खाद्य पदार्थ के बारे में बताया जा रहा है, जो आम तौर पर गाउट पीड़ित लोगों के लिए सुरक्षित हैं –

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में सब्जियां

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में आप आलू, मटर, मशरूम, बैंगन, पत्तागोभी और गहरे हरे पत्ते वाली सब्जियां शामिल करें। हालांकि, आपको पालक और शतावरी का इस्तेमाल बहुत कम या संतुलित मात्रा में ही करना चाहिए।

और पढ़ें : जोड़ो में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जॉइंट पेन में क्या करें और क्या नहीं?

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में फल

ज्यादातर सभी तरह के फल आमतौर पर गाउट के लिए ठीक रहते हैं। लेकिन शोध से पता चलता है कि चेरी यूरिक एसिड के स्तर को कम करने और गाउट में होने वाली सूजन को कम करने में भी मदद कर सकती है। इसके साथ ही स्ट्रॉबेरी और केले का भी सेवन किया जा सकता है।

और पढ़ें : शरीर में होने वाले दर्द और सूजन के इलाज के लिए फायदेमंद है फिजियोथेरिपी

डेयरी प्रोडक्ट्स

अगर आप दूध, दही जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स को खाना पसंद करते हैं तो यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में इन डेयरी प्रोडक्ट्स को शामिल कर सकते हैं। खासकर, कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट्स ज्यादा लाभकारी साबित होते हैं। दूध या दूध से बने उत्पादों में प्यूरीन बहुत कम मात्रा में होता है, इसलिए इनका सेवन गाउट के मरीज कर सकते हैं।

और पढ़ें : World Milk Day : कितनी तरह के होते हैं दूध, जानें इनके अलग-अलग फायदे

विटामिन सी

शोध से पता चलता है कि विटामिन-सी से भरपूर खाद्य पदार्थ यूरिक एसिड के स्तर को कम करके गाउट अटैक को रोकने में मदद कर सकते हैं। इसलिए यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में विटामिन सी की अधिकता वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें।

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में अंडे

अंडे में प्यूरीन की मात्रा न के बराबर होती है। इसलिए यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में अंडे को शामिल करें।

और पढ़ें : फैट बर्न करने वाले फूड: अंडे से लेकर उबले आलू तक हैं शामिल

प्लांट-बेस्ड ऑइल

कैनोला, नारियल, जैतून और फ्लैक्स ऑइल को यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में शामिल करें।

हाइड्रेटेड रहें

अर्थराइटिस फाउंडेशन की माने तो दिनभर में 6 से 8 गिलास पानी पीने वाले लोगों में गाउट अटैक की संभावना कम हो सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन रक्त से अतिरिक्त यूरिक एसिड को हटाने में मदद करता है। हालांकि, आपको एक दिन में कितना पानी पीने की जरूरत है? इस बारे में डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

और पढ़ें : इम्युनिटी बढ़ाने के साथ शहद नींबू के साथ गर्म पानी पीने के 9 फायदे

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट : आपको किन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए?

ऐसे खाद्य पदार्थ, जिनमें प्रति 100 ग्राम में 200 मिलीग्राम से अधिक प्यूरीन हो, उन्हें डाइट में शामिल करने से बचना चाहिए।

आपको हाई-फ्रुक्टोज खाद्य पदार्थों के साथ-साथ मीडियम-हाई-प्यूरीन खाद्य पदार्थों से भी बचना चाहिए, जिसमें 150-200 मिलीग्राम प्यूरीन प्रति 100 ग्राम होता है। ये गाउट की समस्या को ट्रिगर कर सकते हैं। यहां कुछ प्रमुख उच्च-प्यूरीन खाद्य पदार्थ, मीडियम-हाई-प्यूरीन खाद्य पदार्थ और हाई-फ्रुक्टोज खाद्य पदार्थ के बारे में बताया जा रहा है जिनसे बचना जरूरी है –

सभी ऑर्गन मीट

इनमें लिवर, किडनी, स्वीटब्रेड और ब्रेन शामिल हैं।

और पढ़ें : रेड मीट बन सकता है ब्रेस्ट कैंसर का कारण, खाने से पहले इन बातों का ख्याल रखना जरूरी

मछली

हेरिंग, ट्राउट, मैकेरल, टूना, सार्डिन, एन्कोविज, हैडॉक आदि।

और पढ़ें : स्पॉन्डिलाइटिस डाइट चार्ट को करें फॉलो और पाएं दर्द से राहत

अन्य सी-फूड्स

केकड़ा, झींगा आदि।

शुगरी पेय पदार्थ

विशेष रूप से फलों का रस और शर्करा युक्त सोडा को लेने से बचें।

एडेड शुगर

शहद, एगेव नेक्टर और हाई फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप को लेने से बचें।

और पढ़ें : पीठ के निचले हिस्से में दर्द से राहत पाने के घरेलू उपाय, आज ही से आजमाएं

यीस्ट

न्यूट्रिशनल यीस्ट, एल्कोहॉल बनाने वाला यीस्ट और अन्य खमीर सप्लीमेंट्स को लेने से बचें।

इसके अतिरिक्त, वाइट ब्रेड, केक और कुकीज जैसे रिफाइंड कार्ब्स से बचना चाहिए। हालांकि, ये प्यूरीन या फ्रुक्टोज में उच्च नहीं होते हैं। लेकिन ये पोषक तत्वों में कम होते हैं और आपके यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

यूरिक एसिड डाइट लिस्ट के ऐसे खाद्य पदार्थ जिनका सेवन मॉडरेशन में किया जा सकता है

ऑर्गन मीट और कुछ खास मछलियों के अलावा, ज्यादातर मीट का सेवन कम मात्रा में किया जा सकता है। 115–170 ग्राम तक प्रति सप्ताह इनका सेवन किया जा सकता है। चिकन, बीफ, पोर्क और लैम्ब को सीमित मात्रा में शामिल कर सकते हैं। अन्य मछलियों की तुलना में फ्रेश या डिब्बाबंद सैल्मन में प्यूरिन का स्तर कम होता है। इन्हें भी मॉडरेशन में लिया जा सकता है।

आशा करते हैं कि इस लेख से यूरिक एसिड डाइट लिस्ट में क्या शामिल करना चाहिए और क्या नहीं? यह समझ आ गया होगा। हमेशा याद रखें कि कुछ फूड्स यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं, तो कुछ इसे बढ़ा भी सकते हैं। इसलिए इसकी जानकारी जरूरी है। इसके साथ ही आप डॉक्टर की सलाह से एक हेल्दी लाइफस्टाइल भी मेंटेन करें जिसमें एक्सरसाइज और योग को भी शामिल करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Hyperuricemia : हाइपरयूरिसीमिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

हाइपरयूरिसीमिया क्या है? हाइपरयूरिसीमिया का इलाज, यूरिक एसिड की दवा, खून में यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण क्या है, How To Control Uric Acid In Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

यूरिक एसिड का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जानिए दवा और प्रभाव

यूरिक एसिड का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? बढ़े हुए यूरिक एसिड के लक्षण, यूरिक एसिड की आयुर्वेदिक दवा, गाउट के लिए आयुर्वेदिक थेरेपी, यूरिक एसिड बढ़ने पर क्या खाएं, क्या नहीं? गाउट का आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट....uric acid ayurvedic treatment in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन जून 1, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

लेमन यूकेलिप्टस के फायदे एंव नुकसान – Health Benefits of Lemon eucalyptus

जानिए लेमन यूकेलिप्टस की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, लेमन यूकेलिप्टस उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Lemon eucalyptus डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Gout : गठिया क्या है?

जानिए गठिया क्या है in hindi, गठिया के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, Gout को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anoop Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 20, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Junior Lanzol

Dolowin Plus Tablet : डोलोविन प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 5, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
जोड़ों का दर्द आर्थ्राल्जिया -joint pain

Joint Pain (Arthralgia) : जोड़ों का दर्द (आर्थ्राल्जिया) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ जून 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
जोड़ो में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज - ayurvedic treatment for joint pain

जोड़ो में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जॉइंट पेन में क्या करें और क्या नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ जून 9, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Enlarged Prostate : प्रोस्टेट का बढ़ना

Enlarged Prostate: प्रोस्टेट का बढ़ना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 3, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें