ड्राई ऑर्गैज्म : क्यों कुछ पुरुषों को होती है ऑर्गैज्म में दिक्कत?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जनवरी 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सेक्शुअल डिसऑर्डर किसी भी महिला या पुरुष में हो सकता है। इसके लिए ऑर्गैज्‍म डिसऑर्डर सबसे बड़ा कारण हो सकता है, जिसमें ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या भी एक बड़ी समस्या हो सकती है। ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या से अधिकतर पुरुष इससे अंजान भी हो सकते हैं। लेकिन, यह समस्या उनकी सेक्स लाइफ को सबसे ज्यादा प्रभावित कर सकती है।

क्या है ड्राई ऑर्गैज्म?

ड्राई ऑर्गैज्म वो स्थिति होती है, जब संभोग के बाद स्पर्म (स्खलन) नहीं निकल पाता। इसके अलावा, अगर मास्टरबेशन के दौरान भी ऑर्गैज्म पर पहुंच तो जाते हैं लेकिन, स्पर्म नहीं आता, तो भी इस स्थिति को ड्राई ऑर्गैज्म कहा जाता है।

यह भी पढ़ें – महिलाओं को ऑर्गैजम न होने के मुख्य कारण क्या है?

ड्राई ऑर्गैज्म के कारण क्या हो सकते हैं?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, पुरुषों में ऑर्गैज्म ड्राई होने के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें दवाइयों के साइड इफेक्‍ट्स, बहुत देर तक सेक्स करना, गलत खानपान, डिप्रेशन में रहना, कम समय में कई बार ऑर्गैज्‍म का अनुभव करना हो सकता है। कई बार ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या अपने-आप ही ठीक हो जाती है लेकिन, कई मामलों में यह अस्थायी समय के लिए हो सकती है, जो जन्म दर को प्रभावित कर सकती है।

इसके अलावा, अधिकांश मामलों में यह भी देखा जाता है कि मूत्राशय या प्रोस्टेट हटाने की सर्जरी के बाद भी इसकी समस्या हो सकती है। साथ ही, कुछ और स्थितियां भी हैं जो इसे गंभीर बना सकती हैं, जैसेः

  • डायबिटीज होना
  • रीढ़ की हड्डी में चोट लगना
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • टेस्टोस्टेरोन की कमी
  • सर्जरी
  • आनुवंशिक असामान्यताएं
  • मल्टिपल स्केलेरोसिस
  • टीयूआईपी (TUIP) (transurethral incision of the prostate)
  • टीयूएमटी (TUMT) (transurethral microwave therapy)
  • टीयूआरपी (TURP) (transurethral resection of the prostate)
  • मूत्रमार्ग या स्खलन की नलियों में रुकावटों की वजह से भी ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या देखी जा सकती है।
  • ड्राई ऑर्गैज्म और रेट्रोग्रेड ऑर्गैज्म को लेकर लोगों में कंफ्यूजन है। दोनों का परिणाम तकरीबन एक है कि व्यक्ति संभोग (सेक्स) के दौरान स्पर्म इजैक्यूलेट नहीं कर पाता है। हालांकि, रेट्रोग्रेड ऑर्गैज्म होने पर स्थिति थोड़ी-सी अलग होती है। इसमें स्पर्म बनता तो है लेकिन, वो पेनिस से बाहर न आकर सीधे ब्लैडर में पहुंच जाता है।

यह भी पढ़ेंः जानें मेडिटेशन से जुड़े रोचक तथ्य : एक ऐसा मेडिटेशन जो बेहतर बना सकता है सेक्स लाइफ

इसके अलवा दूसरे कारण जिसकी वजह से ड्राई ऑर्गेज्म की समस्या हो सकती है

  • ब्लॉक्ड स्पर्म डक्ट
  • सेमिनल वेसिकल रूकावट
  • जन्मजात (जन्म के समय विद्यमान) प्रजनन प्रणाली की असामान्यताएं
  • उच्च रक्तचाप के लिए कुछ दवाएं
  • प्रोस्टेटिक इनलार्जमेंट
  • मूड डिसऑर्डर
  • रीड़ की हड्डी में चोट

आपको किन स्थितियों में लेनी चाहिए डॉक्टर की सलाह?

ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या, सही खानपान और सेहतमंद आदतों से दूर की जा सकती है। हालांकि, यह कभी-कभी ही गंभीर मामला बन सकता है लेकिन, अगर आपको ड्राई ऑर्गैज्म से जुड़े किसी भी समस्या के लक्षण दिखाई दें, तो इसे नजरअंदाज न करें। जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करें।

उदाहरण के तौर पर, अगर आप टेम्सुलोसिन (Tamsulosin) दवा का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या हो सकती है। दवा का उपयोग बंद करने के बाद, आपकी स्खलन करने की क्षमता सामान्य रूप से वापस आनी चाहिए। अगर ड्राई ऑर्गैज्म सिच्युएशनल हैं और मनोवैज्ञानिक तनाव से संबंधित हैं, तो काउंसलिंग आपकी समस्याओं को ठीक करने में मददगार हो सकती है। अगर आपके ड्राई ऑर्गैज्म शीघ्रपतन के कारण होते हैं, तो आपका डॉक्टर चरमोत्कर्ष के दौरान मूत्राशय की गर्दन की मांसपेशियों को बंद रखने में मदद करने के लिए आपके दवा की सलाह दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें – पुरुष इन 6 तरीकों से महिला साथी को पहुंचा सकते हैं महिला ऑर्गेज्म तक

क्या खाएं? जानिए एक्सपर्ट की राय

इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर शरयु माकणीकर, जो काउंसलिंग भी करती हैं, उन्होंनें हैलो स्वास्थ्य के फॉलोवर्स के लिए डायट शेयर किया है। उनका कहना है कि ऐसे पुरुष जिन्हें ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या है, वो अपने भोजन में प्याज, बेरीज, हरी सब्जियां और डार्क चॉकलेट शामिल कर सकते हैं। क्योंकि, इन सभी खाद्य पदार्थों में वीर्यवर्धक गुण पाए जाते हैं। प्याज में सल्फर की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो एंटीऑक्सिडेंट को बढ़ाता है। साथ ही, यह पुरुषों में फर्टीलिटी को भी बढ़ाता है।

जानिए ड्राई ऑर्गैज्म का आपकी सेक्स लाइफ पर प्रभाव

इसमें कोई दोराय नहीं कि इसकी समस्या आपकी प्रजनन क्षमता के लिए नुकसानदेह हो सकती है। अगर पिता बनने की योजना है और इसके लक्षण दिखाई दें, तो डॉक्टर की मदद आवश्यक हो सकती है। इस समस्या के निदान के लिए, डॉक्टर आपका उपचार वाइब्रेटर थेरिपी के जरिए कर सकते हैं।

ड्राई ऑर्गैज्म की समस्या के निदान के लिए अभी तक किसी सटीक उपचार के बारे में नहीं बताया जा सकता है। हालांकि, अपने डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशों के पालन से इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है। इसके लिए आपको ऐसी दवाइयों का सेवन भी बंद करना पड़ा सकता है, जो इस समस्या का कारण बन सकते हैं।

यह भी पढ़ेः बेहतर सेक्स के लिए फोरप्ले (Foreplay) करने के जानें कुछ खास टिप्स

ड्राई ऑर्गैज्म का इलाज कैसे करें

ड्राई ऑर्गैज्म का उपचार खुद से करना संभव नहीं है। हालांकि कुछ मामलों में इसके कारण का इलाज करने से भविष्य के ड्राई ऑर्गैज्म को रोका जा सकेगा। उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति कुछ ऐसी दवाएं लेता है जो ड्राई ऑर्गैज्म का कारण बनती हैं तो डॉक्टर एक अलग दवा पर स्विच करने की सलाह दे सकते हैं जो इस लक्षण को हल कर सकती है।ड्राई ऑर्गैज्म अन्य मामलों में उपचार योग्य नहीं होते हैं जैसे कि प्रोस्टेट का हिस्सा हटाने वाली सर्जरी।

हालांकि ड्राई ऑर्गैज्म स्वास्थ्य को प्रभावित नहीं करते हैं, वे किसी व्यक्ति की प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं। गर्भ धारण करने की कोशिश करने वाले किसी भी डॉक्टर से बात करनी चाहिए, जो ड्राई ऑर्गैज्म की क्षमता को ठीक  करने में मदद करने के लिए उपचार और उपचारों पर चर्चा करने के लिए प्रजनन विशेषज्ञ के लिए एक रेफरल बना सकता है। यहां तक ​​कि अगर व्यक्ति सेक्स के माध्यम से गर्भ धारण नहीं कर सकता है, तो शुक्राणु को पुनः प्राप्त करने और एक अंडे को निषेचित करने के लिए अन्य विकल्प हैं। ड्राई ऑर्गैज्म के लिए हमेशा डॉक्टर से बात करें। डॉक्टर इसका सही इलाज बताएंगे। हमेशा ध्यान रखें कि इस बीमारी का इलाज खुद करने की कोशिश ना करें। डॉक्टर से संकोच आपकी परेशानी बढ़ा सकता है।

यह भी पढ़ेंः

एक्‍सिडेंटल ऑर्गैज्म: कितना जानते हैं आप इसके बारे में ?

चरमसुख यानी ऑर्गेज्म के बारे में जानिए क्विज से

अब वो कॉन्डम के लिए खुद कहेंगे हां, जरा उन्हें भी ये आर्टिकल पढ़ाइए

पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दिला सकता है मास्टरबेशन, जानें पूरा सच

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    अपने बच्चे या किशोर को सेक्स के बारे में कैसे बताएं, जानिए यहाँ

    जानिए किशोर सेक्स क्या है, बच्चों को सेक्स के बारे में कैसे बताएं, कब बताएं, इस बारे में पाइये टिप्स, teen sex tips , teen sex

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Anu Sharma
    सेक्शुअल हेल्थ और रिलेशनशिप जून 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    पावर प्ले में रखते हैं इंटरेस्ट तो ट्राई करें सबमिसिव सेक्स

    सबमिसिव सेक्स क्या है, बीडीएसएम सेक्स क्या है, बॉन्डेज सेक्स कैसे करें, सेक्स के दौरान कौन सी सावधानियां बरतें, BDSM Sex Submissive sex

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha
    सेक्शुअल हेल्थ और रिलेशनशिप जून 30, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

    सेक्स के बाद कितनी जल्दी हो सकती हैं प्रेग्नेंट? जानें यहां

    सेक्स के बाद गर्भावस्था के लक्षण इन हिंदी, सेक्स के बाद गर्भावस्था के लक्षण कैसे पहचानें, कैसे पता करें कि गर्भवती हैं, Symptoms Of Pregnancy After Sex.

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha

    सेक्स ड्राइव हो गई है कमजोर, इन तरीकों से करें बूस्ट

    सेक्स ड्राइव में हो रही है समस्या? अपने पार्टनर को सेटिस्फाई करना चाहते हैं? इस लेख में जानते हैं कैसे बढ़ाएं सेक्स टाइम...

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Mona Narang