सेक्स हाइजीन टिप्स : यौन संबंध बनाने से पहले और बाद में जरूर करें इन नियमों का पालन

Medically reviewed by | By

Update Date फ़रवरी 4, 2020
Share now

साफ-सफाई हर जगह जरूरी है। फिर चाहे वो शरीर की सफाई हो या घर की। आपको हर चीज में साफ सफाई और हाइजीन का ध्यान रखना होगा। आपको घरेलू स्वच्छता और उससे जुड़े उपायों के बारे में बहुत से लोगों ने बताया होगा, लेकिन क्या आपको सेक्स हाइजीन के बारे में पता है? सेक्स से जुड़े कुछ ऐसे शारीरिक स्वच्छता के नियम हैं जिनका आप अगर पालन करें तो आपको किसी भी संक्रमण या शर्मिंदगी से नहीं गुजरना पड़ेगा और आपकी शारीरिक अतरंगता भी बढ़ेगी। अगर आपको भी सेक्स हाइजीन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, तो हैलो हेल्थ का ये आर्टिकल खास आपके लिए है। इस आर्टिकल में हम आपको सेक्स हाइजीन टिप्स देंगे, जो आपकी सेक्शुअल लाइफ को और भी बेहतर बनाने में मदद करेंगे।

यह भी पढ़ें : Gourd : लौकी क्या है?

सेक्स हाइजीन टिप्स : सेक्स के पहले और बाद में हाइजीन कैसे बनाएं?

 जेनिटल हाइजीन:

अगर आप एनल सेक्स में संलिप्त हैं तो आपको अपनी वजाइना और एनस को सेक्स के बाद जरूर साफ करना चाहिए। ऐसा करने से आपके जेनिटल से खराब गंध नहीं आयेगी। किसी भी संक्रमण को रोकने के लिए सेक्स से पहले और बाद में अपने गुप्तांगो को जरूर साफ करें। तौलिया के साथ रगड़कर साफ़ करने की बजाय कोमलता से साबुन और पानी से, या तो गुनगुने पानी से साफ करें।

सेक्स हाइजीन टिप्स : अंडरगार्मेंट और पैड की स्वच्छता:

कसरत करने के बाद जैसे आप अपने कपड़े बदलते हैं उसी तरह सेक्स करने के बाद भी आपको अपने अंडरगार्मेंट बदलने चाहिए। पसीने से आपके फंगल और बैक्टीरीयल इंफेक्शन होने की संभावना रहती है। लंबे समय तक टाइट अंडरवियर या टाइट फिटिंग जीन्स न पहनें क्योंकि इस वजह से पसीना आता है और बैक्टीरिया का इंफेक्शन बढ़ता हैं। अपने इनरवियर के लिये सुती और कॉटन कपड़ों को सिंथेटिक के ऊपर प्राथमिकता दें। आप अपने पिरीयड्स के दिनों में हर तीन से छह घंटे में अपने सैनिटरी पैड को बदलें। लंबे समय तक इन्हें पहने से बैक्टीरिया, बुरी गंध और संक्रमण होने की आशंका रहती है। 

यह भी पढ़ें : Grapefruit : चकोतरा क्या है?

सेक्स हाइजीन टिप्स : यूरिन को मत रोकें:

सेक्स के दौरान कभी भी पेशाब करने के लिये वॉशरूम जाने के लिए कतरायें नही। खासकर सेक्स करने से पहले। पेशाब करने से आपका ब्लैडर बैक्टीरिया और टाक्सिक पदार्थों से मुक्त होता है। पेशाब रोकने से बैक्टीरिया के प्रजनन में तेजी आती है, जिससे संक्रमण हो सकता है। 

सेक्स हाइजीन टिप्स : फैंसी लोशन और परफ्यूम से बचें:

अक्सर महिलाएं शारीरिक संबंध से पहले खास तरह के परफ्यूम और लोशन का प्रयोग करती हैं। ये आपको क्षण भर के लिये बहुत सुगंधित लगेगा पर इस प्रकार के रसायनिक पदार्थ का प्रयोग आपकी संवेदनशील त्वचा के लिए हानिकारक हो सकता हैं। ऐसे लोशन और इत्र से आपके गुप्तांगो को जलन और खुजली की समस्या हो सकती है। इसके आलावा, आप इसे साफ करने के लिए किसी हल्के साबुन और पानी का उपयोग कर सकते हैं।

पाइवेट पार्ट के बालों को साफ करना

महिलाओं और पुरुषों के लिए यह बहुत जरूरी है कि वो अपने प्यूबिक हेयर को ट्रिम करके रखें या वैक्सिंग कराएं। यह जरूरी नहीं कि प्यूबिक हेयर सिर्फ सेक्स के दौरान ही साफ करें। बल्कि, आपको अपने शरीर को स्वस्थ्य और स्वच्छ रखने के लिए भी इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए। खासतौर पर गर्मियों और सर्दियों के दिनों में। गर्मियों के दिनों में जहां अत्यधिक पसीना होने के कारण खुजली और दाने की समस्या हो सकती है, वहीं सर्दियों के दिनों में अगर बाल अधिक बड़े हैं, तो प्यूबिक हेयर में भी डैंड्रफ की समस्या हो सकती है। जो कई तरह के स्किन प्रॉब्लम्स का कारण भी बन सकता है।

सेक्स हाइजीन टिप्स : योनि से पहले एनल सेक्स न करें

कई कपल्स योनि सेक्स से पहले एनल सेक्स करते हैं, जो स्वास्थ्य के लिहाज और सेक्स के दौरान हाइजीन के नियमों के लिए खतरनाक होता है। इसलिए, पहले योनि सेक्स उसके बाद ही गुदा सेक्स करना चाहिए क्योंकि, मलाशय के बहुत से कीटाणु योनि में प्रवेश कर सकते हैं।

सेक्स हाइजीन टिप्स : अपनी एक्सेसरीज को साबुन से धोलें:

यदि आपने सेक्स के दौरान लुब्रिकैंट या किसी खिलौने का उपयोग किया है, तो रोगाणु और बैक्टीरिया से बचने के लिये  आपको तुरंत सफाई करनी चाहिए। कई सेक्स रोग विशेषज्ञों के अनुसार, “खिलौनों को गर्म पानी और साबुन से साफ करना ज्यादातर परिस्थितियों में बचाव का सही और सटीक उपाय है।

सेक्स हाइजीन टिप्स : पेनिस की सफाई भी है जरूरी

सेक्स हाइजीन के लिए केवल महिलाओं को ही सतर्क रहने की जरूरत नहीं होती। पुरुषों को भी सेक्स हाइजीन का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। उन्हें भी सेक्स से पहले और बाद में अपने प्राइवेट पार्ट की सही से सफाई करने की जरूरत होती है। अपने निजी अंगों को साफ करने के लिए सबसे पहले ऊपरी त्वचा को पीछे की तरफ खींचे फिर हल्के गुनगुने पानी से अंदर लिंग के अंदर की स्किन को साफ करें। फिर ऊपर की त्वचा को भी साफ करें। ऐसा करने से फोरस्किन या उसके अंदर की त्वचा में जो भी बैक्टीरिया या मृत कोशिका या शरीर के तरल पदार्थ होते हैं वो साफ हो जाता हैं। अगर ऐसा नहीं करते हैं, तो ये बैक्टीरिया किसी तरह के एलर्जी या यौन संचारित रोगों का भी कारण बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Oral Sex: ओरल सेक्स के दौरान इन सावधानियों को नजरअंदाज करने से हो सकती है मुश्किल

सेक्स हाइजीन टिप्स : माउथवॉश का करें इस्तेमाल

अगर आप फोरप्ले करना चाहते हैं तो माउथवॉश पहले करें। जैसे सेक्स करने से पहले हाथों को धोना जरूरी है, वैसे ही फोरप्ले करने या किस करने से पहले दोनों साथी को माउथवॉश करना चाहिए।

सेक्स से पहले और बाद में सफाई रखना उतना ही जरूरी है जितना सर्दियों में स्वेटर पहनना। आप एक-दो दिन के लिए इससे बच सकते हैं पर लंबे समय को ध्यान में रखकर ये हानिकारक हो सकता है। इसलिए ये आवश्यक है कि आप पहले से ही सावधानी रखें और हर तरह से  तैयार रहें।

सेक्स के बाद हाथ अच्छे से धोएं

सेक्स के बाद आप हमेशा हाथों को अच्छी तरह से धोएं। चूंकि इस दौरान निजी अंगों में हाथ लग सकते हैं, जिससे बाद होथों को अच्छी तरह से साफ करना जरूरी हो जाता है। इसके लिए आप हैंड वॉश से अपने हाथों को अच्छी तरह धोएं।

आप सेक्स के पहले और सेक्स के बाद इन हाइजीन टिप्स का खास ध्यान रखें। उम्मीद है कि सेक्स हाइजीन टिप्स आपके लिए काफी काम आएंगे।

और पढ़ें :-

Green Coffee : ग्रीन कॉफी क्या है?

Oral Sex: ओरल सेक्स के दौरान इन सावधानियों को नजरअंदाज करने से हो सकती है मुश्किल

प्रेग्नेंसी में सेक्स: क्या आखिरी तीन महीनों में सेक्स करना हानिकारक है?

प्रेग्नेंसी और सेक्स: प्रेग्नेंसी में सेक्स को लेकर हैं सवाल तो पढ़ें ये आर्टिकल

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    शावर सेक्स टिप्स : ऐसे करें तैयारी, ताकि भारी न पड़े रोमांस

    आपको जानकर हैरानी होगी कि शावर सेक्स टिप्स महिलाओं के मुकाबले पुरुषों को अधिक पसंद आता है। आप भी अपने बोरिंग हो रहे सेक्स लाइफ में शावर सेक्स टिप्स की मदद से रोमांच ला सकते हैं। Shower Sex Tips in HIndi.

    Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
    Written by Hema Dhoulakhandi

    गंभीर स्थिति में मरीज को आईसीयू में वेंटीलेटर पर क्यों रखा जाता है?

    किन किन बीमारियों में मरीज को पढ़ती है आईसीयू में वेंटीलेटर की जरूरत, क्या है इसके फायदे और क्या कुछ हो सकता है नुकसान जानें इस रिपोर्ट में।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Satish Singh

    क्या है सेक्शुअल ट्रांसमिटेड डिजीज, कैसे करें एसटीडी से बचाव?

    सुरक्षित यौन संबंध बनाकर एसटीडी से बचाव कर सकते हैं. इस आर्टिकल में एक्सपर्ट से जानिए एसटीडी से बचाव के तरीके, रोग के लक्षण और कारणों के बारे में जानकारी। STD के प्रकार भी हैं। उनके बारे में भी जानिए।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Satish Singh

    सेक्स और जेंडर में अंतर क्या है जानते हैं आप?

    सेक्स और जेंडर में अंतर क्या है, सेक्स और जेंडर में अंतर in Hindi, सेक्स क्या है, जेंडर क्या है, Difference in sex and gender.

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha