Umbilical Hernia Surgery: अम्बिलिकल हर्निया सर्जरी क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

MR DONE 

अम्बिलिकल हर्निया(Umbilical hernia)

सबसे पहले हम ये जानेंगे की अम्बिलिकल हर्निया क्या होता है, आपको बता दें कि जब कोई मसल्स या टिश्यू का छेद जो अम्बिलिकल्स के पास खुलता है उसके माध्यम से हमारे शरीर के अंदरुनी अंग से बाहर निकलने लगता है, इसे ही हम अम्बिलिकल हर्निया कहते हैं। दरअसल ये पेट की लेयर के कमजोरी कि निशानी होती है। जिसकी वजह से आंते बाहर आने लगती हैं। कभी-कभी तो आपके पेट की दीवारें इतनी कमजोर हो जाती है कि आंत इन दिवारों से बाहर की तरफ आ जाता है।आपको बता दें की साधारण रुप से हर्निया पेट में होता है लेकिन कभी-कभी ये नाभि,कमर और जांघ के उपरी हिस्से में हो जाता है। ज्यादातर हार्निया इतने गंभीर नहीं होते हैं लेकिन ये अपने आप ठीक भी नहीं होते हैं अगर कभी ये किसी तरह से गंभीर समझ में आने लगते है तो उस समय इसकी सर्जरी कराना अति आवश्यक हो जाता है। आपको बता दें की जो अण्डाकार हर्निया होते हैं वो आमतौर पर हानिकारक नहीं होते हैं इसमें बहुत ही कम खतरा होता है। इस तरह का हार्नियां शिशुओं में सबसे आम हैं, लेकिन वे वयस्कों को भी प्रभावित कर सकते हैं। एक शिशु में, एक नाभि हर्निया विशेष रूप से साफ हो सकता है जब कोई शिशु रोता है, जिससे बेलीबटन प्रोटीज हो जाता है। यह एक नाभि हर्निया का एक क्लासिक संकेत है। बच्चों के अम्बिलिकल हर्निया अक्सर जन्म के दो वर्ष में अपने आप बंद हो जाते हैं, कुछ मामले में यह पांचवें वर्ष या उससे अधिक समय तक खुले रहते हैं। वयस्कता (यंग) के दौरान दिखाई देने वाली अण्डाकार हर्निया में सर्जरी की संभावना ज्यादा होती है।

ये भी पढ़े World Immunisation Day: बच्चों का वैक्सीनेशन कब कराएं, इम्यून सिस्टम को करता है मजबूत

लक्षण

अम्बिलिकल हर्निया के लक्षण(Symptoms of umbilical hernia)

अम्बिलिकल हर्निया के लक्षण में नाभि के आस-पास के एरिया में सूजन आ जाती है। जिन शिशुओं में अम्बिलिकल हर्निया होता है, तो उनमें उभार केवल तभी दिखाई दे सकता है जब वे रोते हैं या खांसी करते हैं। बच्चों में अण्डाकार हर्निया आमतौर पर दर्द रहित होते हैं। वयस्कता के दौरान दिखाई देने वाली अम्बिलिकल हर्निया पेट की परेशानी का कारण हो सकती है।

जानिये जरूरी बातें

डॉक्टर को कब देखना है

यदि आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि आपके बच्चे को अम्बिलिकल हर्निया है, तो बच्चे के बाल रोग विशेषज्ञ से बात करें। अम्बिलिकल हर्निया के ये कुछ साधारण लक्षण होते हैं।

-दर्द होना

उल्टी होना

-कुछ भी डाइजेस्ट न होना

हर्निया के स्थल पर कोमलता, सूजन होना

इसी तरह के निर्देश वयस्कों पर भी लागू होते हैं। यदि आपके नाभि के पास एक उभार है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। अगर उभार दर्दनाक और सॉफ्ट हो जाए तो शीघ्र निदान और उपचार जटिलताओं को रोकने में मदद कर सकता है।आपको बता दें की हार्निया के लक्षण हार्निया के प्रकार पर निर्भर करता है की आपको कौन सा हार्निया हुआ है।

 इनगुईनल हार्निया-

इस हार्निया में आपको जल्द ही उस जगह पर उभार जैसा महसूस होगा। इसके साथ ही आपको जलन और दर्द महसूस होने लगेगा। अगर आपको इनगुईनल हार्निया दर्द के कारण हुआ है तो आपको दर्द जल्दी महसूस होने लगेगा। इसमें सबसे अधिक समस्या तब हो जाती है जब आपके आंत का टुकड़ा हार्निया में फंस जाता है इसको इनकारसेरेटेड कहते हैं। ऐसे में मरीज के हार्निया की सर्जरी करने की संभावना बढ़ जाती है। इसमें जब हार्निया स्ट्रांगुलेटेड हो जाता है जिससे मरीज को उल्टी,दर्द,बुखार बढ़ जाता है।

 हाइटल हार्निया-

आपको बता दें की हाइटल हार्निया ज्यादातर खुद इस इसके लक्षण पैदा नहीं करता है लेकिन जब स्लाइडिग हार्निया होता है तो इसमें आपके सीने में दर्द उठता है। गैस की समस्या होने के साथ-साथ गले में खट्टापन बना रहता है।

 स्पोर्ट्स हार्निया-

बता दें की स्पोर्ट्स हार्निया में पेट में टीशू में तनाव पैदा होता है। इससे प्रभावित अंग में और आस-पास के एरिया में आपको काफी दर्द महसूस होता है।

प्रक्रिया

अम्बिलिकल हर्निया की सर्जरी प्रक्रिया

सबसे पहला आपका सर्जन आपको एनेस्थेसिया देगा और आपको या आपके बच्चे के लिए निर्देश देगा। आपको या आपके बच्चे को सर्जरी से 6 घंटे पहले खाना-पीना बंद करने के लिए कहा जा सकता है। सबसे पहले आप अपने चल रही पुरानी दवा और इलाज के बारें में अपने सर्जन को सब बता दें ऐसा हो सकता है कि आपका सर्जन आपको सर्जरी से कई दिन पहले, आपको दवा लेने से रोके। इस सर्जरी को करने के लिए या तो ओपेन सर्जरी या लोप्रोस्कोपिक सर्जरी का प्रयोग किया जाता है।

लोप्रोस्कोपिक सर्जरी

लोप्रोस्कोपिक सर्जरी में एक छोटे से कैमरे और छोटे उपकरण का प्रयोग करके किया जाता है। इसमें बहुत छोटा-सा कट बनाने की जरूरत पड़ती है। इसमें रोगी को ठीक होने के लिए बहुत कम समय की आवश्यकता पड़ती है।

 ओपेन सर्जरी

ओपेन सर्जरी को एक बड़ा कट बनाकर किया जाता है। इसमें रोगी को ठीक होने के लिए लंबे समय की आवश्यकता पड़ती है। लोप्रोस्कोपिक सर्जरी में ठीक होने में काफी कम समय लगता है। लेकिन जब कभी आपके आंत का कुछ भाग आपके अंडकोष में फंस जाता है तो उस ऑपरेशन के लिए लोप्रोस्कोपिक सर्जरी को ठीक नहीं माना जाता है। ये थोड़ा जोखिम भरा होता है इसलिए इसमें ओपेन सर्जरी करना सही समझा जाता है।सबसे पहले आपको इस बात से अवगत करा दें की अडल्ट और बच्चों के हार्निया और उनके उपचार में थोड़ा अंतर स्पष्ट होता है।

बच्चों के हार्निया

बच्चों में नाभि संबंधी हर्निया होना काफी आम बात हैं। जन्म के समय हर्निया पेट के बटन को बाहर की तरफ निकालता है। यह तब अधिक दिखाई देता है जब एक बच्चा रोता है क्योंकि रोने से दबाव पड़ता है जो हर्निया को अधिक उभार देता है। शिशुओं में, इस समस्या का आमतौर पर सर्जरी से इलाज नहीं किया जाता है। अधिकांश समय, नाभि हर्निया सिकुड़ जाती है और जब बच्चा 3 या 4 साल का हो जाता है तब तक वह अपने आप बंद हो जाता है।

 बच्चों में हर्निया की सर्जरी इन कारणों से हो सकती है:

 हर्निया दर्दनाक हो और उभरा हुआ ही रह गया हो।

-आंत में रक्त की आपूर्ति पर असर।

-हर्निया 3 या 4 साल की उम्र तक बंद नहीं हुआ है।

 वयस्कों में हर्निया की सर्जरी प्रक्रिया

अम्बिलिकल हर्निया वयस्कों में भी काफी आम हैं। वे अधिक वजन वाले लोगों और महिलाओं में अधिक देखे जाते हैं, खासकर गर्भावस्था के बाद। वे समय के साथ बड़े होते जाते हैं। बिना किसी लक्षण के छोटी हर्निया को कभी-कभी देखा जा सकता है। सर्जरी गंभीर चिकित्सा समस्याओं वाले लोगों के लिए अधिक जोखिम पैदा कर सकती है। यह आमतौर पर दर्दनाक होता है। यदि इस एरिया में रक्त की आपूर्ति हो जाती है तो तत्काल सर्जरी की आवश्यकता होती है। इसमें आपको हर समय उल्टी का अनुभव होता रहेगा, और उभरा हुआ एरिया नीला या गहरा रंग बदल जाता है।

-इस समस्या से बचने के लिए, सर्जन अक्सर वयस्कों में गर्भनाल हर्निया की मरम्मत की सलाह देते हैं।

-सर्जरी का उपयोग हर्निया के लिए भी किया जाता है जो बड़े या दर्दनाक हो रहे हैं।

-सर्जरी कमजोर पेट की दीवार के टीशू (प्रावरणी) को सुरक्षित करती है और किसी भी छिद्र को बंद कर देती है।

जोखिम

 जोखिम

इंफेक्शन।

-अंग या टीशू में चोट।

-हर्निया की दोबारा वापसी।

-पेट की सर्जरी के कारण पेट में दर्द,सूजन,दबाव महसूस हो सकता है।

-लंबे समय के लिए कब्ज होना।

-पेशाब में कठिनाई।

-भारी सामान उठाने में समस्या।

पेट में चर्बी जमा होना।

-मोटापा बढ़ना।

रिजल्ट को समझें

 रिकवरी

आमतौर पर, चीरों को टांके के साथ बंद कर दिया जाएगा। इसका मतलब यह है कि आपको सावधान रहना चाहिए कि ऐसा कुछ भी न करें जिससे टांके खुल सकें। आपको वो सारे काम करने से बचना चाहिए जो टांके खोलने का कारण बन सकता है, और आपको चीरा लगे हुए एरिया को गीला होने से बचने की आवश्यकता है। आप आमतौर पर इसे बचाने के लिए चीरे के ऊपर एक पट्टी या ड्रेसिंग पहनेंगे। आपको समय-समय पर इस पट्टी को बदलना पड़ सकता है। आमतौर पर, सर्जरी के बाद तीन दिनों के भीतर पट्टी को हटाया जा सकता है। अधिकांश रोगी घर पर पट्टी को हटाने में सक्षम होते हैं, लेकिन आपका डॉक्टर यह सुनिश्चित करने के लिए इसे हटा सकता है कि चीरा ठीक से ठीक हो रहा है। सामान्य तौर पर, आप सर्जरी के बाद घर भेजे जाने के दो सप्ताह बाद अपनी रोज की गतिविधियों को करने में सक्षम होने की उम्मीद कर सकते हैं। एक बहुत ही सक्रिय जीवन शैली वाले व्यक्ति, जैसे कि एथलीट या तनावपूर्ण नौकरियों वाले व्यक्ति, ज़ोरदार गतिविधियों को करने से पहले पूरी तरह से ठीक हो जाने के बाद डॉक्टर के कहे अनुसार चार या पांच सप्ताह तक रुकने के बाद ही आपको ये सारे काम करने की छूट मिल सकती है। सर्जरी के बाद बहुत जल्दी पूरी गतिविधि में भाग लेना बहुत खतरनाक साबित हो सकता है और चीरा काटने से पहले भारी काम करना हानिकारक हो सकता यह आपके लिए महत्वपूर्ण है कि आप अपने शरीर को समझें और चीरे पर किसी भी तरह का जोर न डालें जिससे वो जल्दी ठीक हो सके।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

ये भी पढ़े जानिए किस तरह हेल्दी इम्यून सिस्टम के लिए जरूरी हैं प्रोबायोटिक्स

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Serum Glutamic Pyruvic Transaminase (SGPT): सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (एसजीपीटी) टेस्ट क्या है?

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस कैसे किया जाता है? सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस क्यों किया जाता है? एसजीपीटी परीक्षण क्या होता है। Serum glutamic pyruvic transaminase (SGPT) in hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
मेडिकल टेस्ट A-Z, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Cerebrospinal Fluid Test : सीएसएफ टेस्ट (CSF Test) क्या है?

सीएसएफ टेस्ट क्या होता है? सीएसएफ टेस्ट क्यों किया जाता है? Cerebrospinal fluid (CSF) test in hindi, इस टेस्ट को कैसे किया जाता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
मेडिकल टेस्ट A-Z मई 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Achilles Tendon Rupture: अकिलिस टेंडन सर्जरी क्या है?

The Achilles tendon injures the lower back behind your feet. This is mostly the problem for people who play Recreational Games.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
सर्जरी अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Laser Resurfacing Surgery : लेजर रिसर्फेसिंग क्या है?

लेजर रिसर्फेसिंग का उपयोग ज्यादातर महिलाएं करवाती हैं,यदि आप भी लेजर रिसर्फेसिंग कराने की सोच रहे हैं तो डॉक्टर से सलाह लें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
सर्जरी अप्रैल 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

एंडोस्कोपिक साइनस सर्जरी-Endoscopic Sinus Surgery

Endoscopic Sinus Surgery: एंडोस्कोपिक साइनस सर्जरी क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
ऑडिटरी ब्रेनस्टेम इम्प्लांट के जोखिम क्या है

Auditory Brainstem Implants : ऑडिटरी ब्रेनस्टेम इम्प्लांट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 10, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
लीकोरिस रुट

Licorice Root: लीकोरिस रुट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पेट कम करने के उपाय/Pet kam karne ka upay

पेट कम करने के इन उपायों को करें ट्राई और पाएं स्लिम लुक

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 8, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें