चेहरे और बालों से होली का रंग हटाने के आसान टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

Happy Holi 2020: होली का त्योहार आ गया है। रंगों का ये त्योहार है, हमें जीवन को रंग-बिरंगा रखने यानी खुशी से जीने की प्रेरणा देता है। लेकिन खुशी के इस त्यौहार में केमिकल युक्त रंग आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं, इतना ही नहीं ये शरीर पर जिंद्ददी दाग भी छोड़ सकते हैं। ऐसे में कुछ आसान तरीकों से आप होली का रंग आसानी से हटा सकते हैं और इन समस्याओं से बच सकते हैं। इस आर्टिकल में जानें चेहरे, बाल और त्वचा से होली का रंग हटाने के घरेलू उपाय क्या हैं और स्वस्थ व सुरक्षित होली मनाएं।

यह भी पढ़ें – प्रेग्नेंसी के समय खाएं ये चीजें, प्रोटीन की नहीं होगी कमी

होली का रंग लगाने से होने वाली शारीरिक समस्याएं क्या हैं?

होली का रंग हटाने के लिए आसान तरीके या उपाय जानने से पहले, जानते हैं होली का रंग रह जाने या शरीर, त्वचा, बाल या चेहरे पर लग जाने से होने वाली शारीरिक समस्याएं क्या हैं। दरअसल, बाजार में उपलब्ध अधिकतर रंगों में कुछ न कुछ केमिकल की मात्रा होती है। जिससे, आपको इन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि, अच्छी सलाह यही है कि आप हर्बल रंगों का इस्तेमाल करें।

होली के रंग

आपको होली का रंग लगाने से कई प्रकार की एलर्जी हो सकती हैं। जैसे-

  • एग्जिमा एक स्किन एलर्जी है, जो कि आर्टिफिशियल रंग से हो सकती है। इससे त्वचा पर रैशेज और जलन होने लगती है। इसके साथ ही इस समस्या में दाने भी हो सकते हैं। जिससे आपको काफी खुजली की समस्या हो सकती है।
  • होली का रंग लगाने से या नाक में जाने से नाक में होने वाली एलर्जी को राइनाइटिस कहा जाता है। इसमें नेजल मेंब्रेन में सूजन आ जाती है, जिससे नेजल डिस्चार्ज, कंजेशन, खुजली और छींक आने की समस्या हो सकती है।
  • नाक के द्वारा शरीर के अंदर केमिकल वाला होली का रंग जाने से निमोनाइटिस एलर्जी की समस्या हो सकती है। इस समस्या में बुखार, छाती में कसाव, थकान और सांस लेने में दिक्कत हो सकती है।
  • इसके अलावा, होली के रंगों से अस्थमा एलर्जी के मरीज लोगों को और समस्या हो सकती है। जिससे काफी खतरनाक स्थिति बन सकती है।
  • होली के रंगों से आपको त्वचा की एक और एलर्जी यानि डर्माटाइटिस हो सकती है। जिससे त्वचा में खुजली, लालपन और दाने हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें- एक्सरसाइज से पहले खाएं ये चीजें, बढ़ेगी ताकत और दमदार होंगे मसल्स

अन्य शारीरिक समस्याएं…

  • होली के रंग में केमिकल की मात्रा होने से उससे आपको बाल झड़ने या रूखे बालों की समस्या हो सकती है।
  • आंखों में रंग जाने की वजह से आपको आंख में दर्द, आंख से पानी आने की समस्या या एलर्जी हो सकती है।
  • इसके अलावा, चेहरे की त्वचा काफी संवेदनशील होती है, जिसे होली का रंग नुकसान पहुंचा सकता है।

केमिकल युक्त होली का रंग कितना खतरनाक है?

केमिकल युक्त होली का रंग इस्तेमाल करने से आपको कई जानलेवा शारीरिक बीमारियों या समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आइए, कौन-से होली के रंग में कौन-सा केमिकल हो सकता है और उससे होने वाली खतरनाक समस्या।

  1. काले रंग में लीड ऑक्साइड होता है, जिससे रीनल फैल्यिर हो सकता है।
  2. हरे रंग में कॉपर सल्फेट होता है, जिससे आंख में एलर्जी, सूजन और अस्थाई अंधापन आ सकता है।
  3. सिल्वर रंग में एलुमिनयम ब्रोमाइड होता है, जिससे कार्सिनोजेनिक की समस्या हो सकती है।
  4. नीले रंग में प्रूसियन ब्लू कैमिकल होता है, जिससे कॉन्ट्रैक्ट डर्माटाइटिस हो सकता है।
  5. लाल रंग में मरक्युरी सल्फाइट केमिकल होता है, जिससे स्किन कैंसर जैसी समस्या हो सकती है, जो कि काफी खतरनाक व जानलेवा हो सकती है।

यह भी पढ़ें – मसल्स ग्रोथ कैसे हो? क्विज में छिपा है इसका आंसर

होली का रंग हटाने के लिए आसान टिप्स

Removing Holi Colour- होली का रंग

होली का रंग आसानी से हटाने के लिए आपको होली खेलने के बाद या पहले कुछ सावधानियां अपनानी होती हैं, ताकि होली का रंग त्वचा या बालों की जड़ों तक न जा पाए। आइए, इन टिप्स के बारे में जानते हैं।

  1. होली खेलने से पहले बालों में कैस्टर ऑइल या ऑलिव ऑइल का इस्तेमाल करें। इसके लिए, आपको कैस्टर ऑयल या ऑलिव ऑयल से बालों और बालों की जड़ों पर मसाज करनी होती है, यह तेल आपकी स्कैल्प और बालों को सुरक्षा प्रदान करते हैं और रंग इन तक पहुंच नहीं पाता है। इन तेल की जगह आप नारियल तेल का भी उपयोग कर सकते हैं।
  2. बालों से होली का रंग निकालने के लिए होली खेलने के तुरंत बाद शैंपू न करें। बल्कि शैंपू से पहले करीब 45 मिनट तक अपने बालों पर अंडे का पीला हिस्सा और दही का मास्क लगाकर रखें। इससे बालों को पहुंचने वाला नुकसान कम होगा और बालों को पोषण मिलेगा।
  3. बालों को होने वाले डैमेज को कम करने के लिए कोकोनट मिल्क भी फायदेमंद तरीका है। होली खेलने से पहले अपने बालों पर कोकोनट मिल्क लगाएं और शैंपू से पहले भी एक घंटे कोकोनट मिल्क लगा रहने दें। इसके बाद शैंपू करें।
  4. चेहरे, हाथ, पैरों की त्वचा को सही रखने के लिए होली खेलने से पहले ही अपनी त्वचा पर मॉश्चराइजर का इस्तेमाल करें।
  5. इसके अलावा, नाखूनों पर होली का रंग रह जाना सबसे आम समस्या है और वह नाखूनों की सुंदरता को भी कम करता है। इसके लिए, होली खेलने से पहले ही नाखूनों पर डार्क नेल पेंट करें। इससे नाखूनों पर निशान नहीं पड़ेगा।
  6. होली खेलने से पहले चेहरे पर फाउंडेशन का इस्तेमाल करने से ड्राई कलर से त्वचा को सुरक्षा मिलती है और नमी बनी रहती है।
  7. होली खेलने जाने से पहले होठों पर वैसलीन का इस्तेमाल करें। इससे आपके होठों की केयर होगी और उनमें मॉश्चर बना रहेगा।

यह भी पढ़ें – C Reactive Protein Test : सी रिएक्टिव प्रोटीन टेस्ट क्या है?

होली का रंग हटाने के लिए इन टिप्स का भी रखें ध्यान

  1. होली का रंग हटाने के लिए ठंडे पानी का इस्तेमाल करें, क्योंकि गर्म पानी से रंग हटाना मुश्किल होता है।
  2. चेहरे से रंग हटाने के लिए रुई को नारियल तेल में भिगोकर रखें और फिर चेहरे पर मौजूद रंग को उससे हटाएं।
  3. होली खेलने के एक हफ्ते बाद ही फेशियल, ब्लीच, हेयर कलर आदि करवाएं।
  4. भीगे हुए अमचूर पाउडर से भी होली का रंग बटाया जा सकता है।
  5. त्वचा पर कैलामाइन लोशन का इस्तेमाल करें, इससे त्वचा पर होने वाली खुजली आदि से छुटकारा मिलता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ेंः

Holi Special : घर पर ही तैयार ऐसे तैयार करें होली के हेल्दी रंग, मजा हो जाएगा दोगुना

फिट रहने के लिए कितना % प्रोटीन रोजाना लेना है जरूरी?

इन हेल्दी फूड्स की मदद से प्रेग्नेंसी के बाद बालों का झड़ना कम करें

जानिए कितनी मात्रा में लेना चाहिए प्रोटीन

प्रोटीन सप्लीमेंट (Protein Supplement) क्या है? क्या यह सुरक्षित है?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या परफ्यूम आपकी सेहत के लिए हानिकारक है?

परफ्यूम के नुकसान की बात करें तो इसमें इतने कैमिकल्स होते हैं कि उससे शारीरिक परेशानी हो सकती है, वहीं कंपनियां तमाम कैमिकल्स की जानकारी भी नहीं देती। इस आर्टिकल में जानिए परफ्यूम के नुकसान।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

आपकी खूबसूरती को बिगाड़ सकते हैं स्ट्रॉबेरी लेग्स, जानें इसे दूर करने के घरेलू उपाय

जानिए स्ट्रॉबेरी लेग्स क्या है? स्ट्रॉबेरी लेग्स के घरेलू उपाय क्या हैं, strawberry legs ko kaise thik karein, strawberry legs ke gharelu ilaaj, केराटोसिस पिलैरिस का इलाज क्या है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सनस्क्रीन लोशन क्यों है जरूरी?

जानिए सनस्क्रीन लोशन से जुड़ी जानकारी in hindi. सनस्क्रीन लोशन इस्तेमाल से पहले किन तीन बातों का रखें ख्याल?इसके फायदे क्या-क्या हैं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Pinworms : पिनवॉर्म क्या है?

जानिए पिनवॉर्म क्या है in hindi, पिनवॉर्म के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, Pinworms को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

विटिलिगो के घरेलू उपाय

क्या सफेद दाग का इलाज संभव है, जानें विटिलिगो के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 12, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
डर्मिकेम ओसी क्रीम

Dermikem OC Cream : डर्मिकेम ओसी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
क्लोबेन जी क्रीम

Cloben G Cream : क्लोबेन जी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 10, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
रूखी त्वचा के लिए/ diet for dry skin

ड्राई स्किन से हैं परेशान? तुरंत फॉलो करें रूखी त्वचा के लिए ये डाइट

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जुलाई 22, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें