home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्वीट कोकोनट पोंगल है एक लजीज पकवान, जानिए इसकी आसान रेसिपी

स्वीट कोकोनट पोंगल है एक लजीज पकवान, जानिए इसकी आसान रेसिपी

स्वीट कोकोनट पोंगल दक्षिण भारत के साथ-साथ अब देश भर में पसंद किया जाने लगा है। आमतौर पर यह डिश साउथ इंडिया में किसी खास अवसर या शुभ कार्यक्रमों के दौरान बनाई जाती है। स्वीट कोकोनट पोंगल की एक सर्विंग में 272 कैलोरीज पाई जाती हैं। उसमें से 195 कैलोरीज कार्बोहाइड्रेट्स के कारण होती हैं। इसमें 15 कैलोरीज प्रोटीन्स और इसके अलावा बची हुई कैलोरीज फैट के कारण होती हैं। एक सर्विंग स्वीट पोंगल से दिन की 14 फीसदी कैलोरीज ली जा सकती है। दिन भर में एक व्यस्क को लगभग 2000 कैलोरीज की जरूरत होती है। हम स्वीट पोंगल बनाने की विधि को आप सभी के साथ शेयर कर रहे हैं ताकि, आप भी इस लाजवाब रेसिपी का लुत्फ उठा सकें।

क्या स्वास्थ्य के लिए हेल्दी होता है स्वीट कोकोनट पोंगल

स्वीट पोंगल सभी के लिए हेल्दी नहीं हो सकता है। पोंगल को चावल, मूंग की दाल, गुड़, नारियल, काजू, घी और इलायची का उपयोग होता है। पोंगल में इस्तेमाल होने वाली सामग्री के बारे में जानें कितनी लाभकारी है ये आपके स्वास्थ्य के लिए।

स्वीट कोकोनट पोंगल में इस्तेमाल होती है पीली मूंग दाल

पीली मूंग दाल में पाया जाने वाला फाइबर बुरे कॉलेस्ट्रॉल को धमनियों में इकट्ठा होने से रोकता है। इसके कारण शख्स को एक हेल्दी हार्ट मिलता है। मूंग दाल में जिंक, प्रोटीन और आयरन होता है। पीली मूंग दाल इंसान की स्किन को लचीला बनाए रखने में मदद करती है। पीली मूंग दाल में पाए जाने वाले फाइबर, पौटेशियम और मैग्नीशियम ब्लड प्रेशर को ठीक बनाएं रखने में मदद करते हैं। साथ ही पीली मूंग दाल डायबिटीज के पीड़ित लोगों के लिए बहुत लाभकारी है।

चावल का इस्तेमाल कर बनाया जाता है स्वीट कोकोनट पोंगल

चावल कॉम्पलेक्स कार्बोहाइड्रेट्स का एक अच्छा सोर्स माना जाता है। यह हमारे शरीर में एनर्जी का एक महत्वपूर्ण स्त्रोत भी है। चावल में कम मात्रा में फाइबर होता है, इस कारण इसे डायरिया में खाने की सलाह दी जाती है। चावल वजन कम करने की कोशिश कर रहे लोगो के लिए हार्ट की समस्या से जूझ रहे लोगों और डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है। चावल ब्लड शुगर को कंट्रोल रखने में मदद करते हैं।

गुड़

शक्कर से तुलना करने पर गुड़ को एक बेहतरीन प्राकृतिक स्वीटनर माना जाता है। शक्कर कई गंभीर बीमारियों का कारण बनती है। साथ ही गुड़ का इस्तेमाल भी सही मात्रा में ही करना चाहिए। हार्ट की समस्या से जूझ रहे लोगों और वजन कम करने की कोशिश कर रहे लोग गुड़ से बनी स्वीट डिश का मजा ले सकते हैं।

नारियल

नारियल को कई अलग-अलग नामों से जाना जाता है। इसी में से एक श्रीफल भी है। इसके अलावा हिन्दू धर्म में नारियल को पवित्र माना गया है। साथ ही हिंदू के सभी पूजा और अनुष्ठानों में नारियल का इस्तेमाल किया जाता है। पूजा के बाद नारियल को प्रसाद के रूप में भी बांटा जाता है। इसके अलावा नारियल को एक औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। प्रचीन काल से नारियल का इस्तेमाल कई रोगों से निपटने के लिए भी किया जाता रहा है। नारियल का सेवन याददाश्त कमजोर होने, नींद की कमी, डैंड्रफ, नाक से खून आना, मुहांसों, सिरदर्द, पेट के कीड़े आदि परिस्थितियों में किया जाता है।

गर्भावस्था में नारियल के फायदे- सुबह-सुबह रेगुलर 50 ग्राम नारियल की गिरी को चबाने से प्रेग्नेंट महिलाओं को हेल्थ बेनिफिट्स तो होते ही है। साथ ही पेट में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य पर ही सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। नारियल पानी भी प्रेग्नेंसी में काफी फायदेमंद माना जाता है, इससे उल्टी की समस्या में राहत मिलती है।

नाक से खून बहना – नाक से खून बहने पर कच्चे नारियल का पानी नियमित रूप से पीना चाहिए। साथ ही खाली पेट नारियल के सेवन से भी ब्लड फ्लो ठीक रहता है।

नींद की कमी – डिनर के बाद रेगुलर नारियल पानी पीने से डाइजेशन में फायदा होता है और नींद न आने की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

मुहांसे होने पर – नारियल पानी में खीरे का रस मिलाकर दिन में दो बार लगाने से चेहरे के दाग साफ होते हैं। इसके अलावा नारियल तेल में नींबू का रस और ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर लगाने से भी मुहांसे दूर होते हैं।

पेट के कीड़े – पेट में कीड़े होने पर हर दिन नाश्ते के समय एक चम्मच पिसा हुआ नारियल खाने से पेट के कीड़ों से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा नारियल और पुदीने की चटनी खाने से पेट से जुड़े कई रोगों में राहत मिलती है।

स्वीट कोकोनट पोंगल बनाने के लिए सामग्री

  • चावल – ½ कप (100 ग्राम)
  • मूंग दाल – तीन टेबल स्पून (25 ग्राम)
  • गुड़ – ½ कप (125 ग्राम)
  • घी – दो से तीन टेबल स्पून
  • किशमिश – एक टेबल स्पून
  • काजू – आठ से दस
  • हरी इलायची – दो
  • लौंग – दो
  • जायफल पाउडर – एक पिंच
  • नमक – एक पिंच

स्वीट कोकोनट पोंगल बनाने से पहले की जाने वाली तैयारी

  • चावल और मूंग दाल को लेकर उसे साफ करें और धो लें।
  • चावल को लगभग 20 मिनट साफ पानी में भिगों लें और इसके बाद पानी छान कर अलग रख लें।

स्वीट कोकोनट पोंगल बनाने की विधि

पहला चरण

  • कुकर या किसी भी पैन में थोड़ा घी डालकर उसे गर्म होने दें।
  • आपके घर में काजू के साथ जो भी ड्राई फ्रूट हैं उन्हें गर्म घी में लाइट ब्राउन होने तक फ्राई करें।
  • फ्राइड ड्राई फ्रूट को किसी अलग बर्तन में रख लें।
  • बचे हुए घी में दाल डाल कर भून लीजिए। दाल को हल्का-सा भून लेने के बाद, इसमें चावल डाल दीजिए और इसे भी थोड़ा-सा भून लीजिए।
  • अब 1-½ कप पानी डालकर मिक्स कर लीजिए। लौंग, जायफल पाउडर और थोड़ा नमक डालकर, दाल-चावल अच्छी तरह मिला दें। एक सीटी लगने के बाद गैस की फ्लेम लो कर दें और उसे दो से तीन मिनट के लिए धीमी आंच में पकने दें। फिर गैस बंद कर दीजिए।

दूसरा चरण

  • गुड़ को कई टुकड़ों में तोड़कर, एक गहरे पैन में एक कप पानी में भिगो दें। फिर दोबारा गैस ऑन करें। गुड़ और पानी को तब तक गरम करें जब तक पानी में गुड़ पूरी तरह से घुल न जाए।
  • प्रेशर रिलीज होने के बाद कुकर का ढक्कन खोलिए और गुड़ और पानी से तैयार सिरप को पके हुए दाल-चावल में डालकर दो या तीन मिनट के लिए और पका लीजिए।

और पढ़ें : स्किन से लेकर डायबिटीज तक के उपचार में लाभकारी है हींग

तीसरा चरण

स्वीट कोकोनट पोंगल को भूनकर रखें। ड्राई फ्रूट और इलाइची पाउडर के साथ अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिए। स्वीट मीठा पोंगल बनकर रेडी टू सर्व है, इसे बर्तन में निकाल लीजिए।

परोसिए

स्वीट कोकोनट पोंगल को बचाए हुए ड्राई फ्रूट्स डाल कर सर्व कीजिए।

आपके लिए खास एडवाइस

ठंडा होने पर स्वीट कोकनट पोंगल सख्त और टाइट हो जाता है। इस कडिंशन से पोंगल को बचाने के लिए उसमे दूध डालकर मिक्स कर दीजिए और फिर सर्व कीजिए।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sakkarai Pongal (Sweet Pongal) https://www.whiskaffair.com/sakkarai-pongal-sweet-pongal/ Accessed on 11/12/2019

Havva Chakkara Pongal Recipe https://recipes.timesofindia.com/recipes/havva-chakkara-pongal/rs55834141.cms Accessed on 11/12/2019

Sakkarai pongal recipe, Temple style sweet pongal recipe https://www.padhuskitchen.com/2010/12/sweet-pongal-recipe-sakkarai-pongal.html  Accessed on 11/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
23/08/2019 पर Smrit Singh के द्वारा लिखा
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
x