backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

इन तरीकों से कर सकते हैं आप प्रोस्टेट कैंसर की पहचान

के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड डॉ. पूजा दाफळ · Hello Swasthya


shalu द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/11/2021

 इन तरीकों से कर सकते हैं आप प्रोस्टेट कैंसर की पहचान

प्रोस्टेट कैंसर खासतौर पर पुरुषों में पाया जाने वाला कैंसर है। इसे आप पुरुषों में पाए जाने वाला एक आम कैंसर भी कह सकते है। आपको बता दें कि प्रोस्टेट क्या है।प्रोस्टेट अखरोट के आकार कि एक ग्रंथि है जो पुरुषों में पेनिस के नीचे पाई जाती है। इसे प्रोस्टेट कहते हैं, यह पुरुष शरीर में सेमिनल फ्लूइड बनाने का कार्य करती है जिसे वीर्य भी कहते हैं। प्रोस्टेट कैंसर इसी क्षेत्र को प्रभावित करता है। जिससे स्पर्म बनने की प्रक्रिया बहुत धीरे हो जाती है। यदि समय पर प्रोस्टेट कैंसर की पहचान हो तो इसका सफल इलाज किया जा सकता है। यदि यह समय पर पता नहीं चलता है तो इससे आपके जीवन खतरे के जोखिम बढ़ जाते हैं। कुछ प्रकार के प्रोस्टेट कैंसर धीरे-धीरे बढ़ते हैं। लेकिन कुछ प्रोस्टेट कैंसर आक्रामक होते हैं यह आपके शरीर में जल्दी फैल जाते हैं। इसीलिए इनका इलाज करना जरुरी होता है।

 प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) कैसे होता है?

Prostate cancer

जब पुरुष के प्रोस्टेट में कोशिकाओं की असामान्य बढ़ोत्तरी होती है तो यह प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) का रूप ले लेती है। कुछ लोग इसको ट्यूमर भी कहते हैं। कई बार यह कैंसर आपके शरीर के अन्य हिस्सों में भी फैल सकता है।यह अमेरिका में ज्यादातर लोगों को प्रभावित करता है।  यह अमेरिकियों में पाया जाने वाला तीसरा सबसे आम गैर-त्वचा वाला कैंसर है। अमेरिकन कैंसर सोसायटी का अनुमान है कि संयुक्त राज्य अमेरिका में 2020 में प्रोस्टेट कैंसर के लगभग 191,930 नए मामलों का निदान किया गया।

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) के लक्षण

आमतौर  पर जब प्रोस्टेट कैंसर कि शुरुआत होती है। तो आपके अंदर इसके शरुआती लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। जब इसके स्टेज बढ़ने लगते हैं तो आपको इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं। प्रोस्टेट कैंसर के लक्षणों में ज्यादातर आपको मूत्र संबंधी समस्याएं, यौन समस्याएं और दर्द और सुन्नता जैसी समस्या हो सकती है।

  • बार-बार पेशाब जाना
  • रात में ज्यादा पेशाब लगना
  • पेशाब शुरू करने या रोकने में कठिनाई
  • पेशाब करते समय रक्तस्राव होना
  • कमजोरी या मूत्रनली में रुकावट
  • पेशाब या स्खलन के दौरान दर्दनाक या जलन
  • मूत्र या वीर्य में रक्त (Blood in semen)
  • यौन समस्याएं (Sexual problems)
  • दर्द और सुन्नता होना

और पढ़ें – ये 5 संकेत इशारा करते हैं कि हो सकता है मुंह में कैंसर, अनदेखा न करें

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) के एडवांस लक्षण

एडवांस प्रोस्टेट कैंसर में निम्नलिखित लक्षण शामिल हो सकते हैं:

  • हड्डी का फ्रैक्चर या हड्डी का दर्द, 
  • कूल्हों, जांघों या कंधों में दर्द
  • एडिमा में सूजन
  • वजन घटना
  • इरेक्शन होने में कठिनाई
  • मलाशय में दबाव या दर्द
  • थकान
  • आंत्र में परिवर्तन होना
  • प्रोस्टेट कैंसर का संकेत में पीठ दर्द भी हो सकता है

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) के संकेत

आपके शरीर में कई ऐसे संकेत दिखाई देते हैं जिससे आप प्रोस्टेट कैंसर कि पहचान कर सकते हैं। इसके संकेत इस प्रकार हो  सकते हैं। जो लक्षण ऊपर दिए गए हैं उनमें से कोई भी आपका पहला संकेत हो सकता है। जिससे आप यह पता लगा सकते हैं कि आपको प्रोस्टेट कैंसर है। मूत्र के लक्षण अन्य लक्षणों की तुलना में जल्दी प्रकट होने की संभावना है।यदि आपके अंदर इससे जुड़े लक्षण दिखाई देते हैं तो अपने डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।

-आपके मूत्र में रक्त कैंसर के अलावा किसी अन्य चीज के कारण हो सकता है, लेकिन यह जल्द से जल्द निदान करने के लिए एक अच्छा विचार है। प्रोस्टेट कैंसर के संभावित शुरुआती लक्षणों के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें और अपने चिकित्सक को कब बुलाएं।

और पढ़ें – आपको जरूर पता होना चाहिए, प्रोस्टेट कैंसर के ये प्रभावकारी घरेलू इलाज

प्रोस्टेट कैंसर के लिए खतरा

ऐसे बहुत से कारण है जिनकी वजह से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। जब आपके अंदर प्रोस्टेट कैंसर के संकेत दिखाई दे तो उन्हें अंदेखा न करें। बल्कि प्रोस्टेट कैंसर की पहचान कराएं।प्रोस्टेट कैंसर के खतरे का कारण इस प्रकार हो सकता है।

डार्क कॉम्प्लेक्शन वाले लोगों को खतरा

बाकी पुरुषों के मामले में डार्क कॉम्प्लेक्शन वाले पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर का खतरा अधिक होता है।यदि डार्क कॉम्प्लेक्शन वाले व्यक्ति को अंदर प्रोस्टेट कैंसर के संकेत मिलते हैं। तो उन्हें इसका निदान जल्दी कराना चाहिए क्योंकि डार्क कॉम्प्लेक्शन के पुरुषों में, प्रोस्टेट कैंसर बहुत ज्यादा आक्रामक होता है। 

वृद्धावस्था (Old age)

कई शोध में यह देखा गया है कि उम्र के बढ़ने के साथ प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

प्रोस्टेट कैंसर का पारिवारिक इतिहास (Family history of prostate cancer)

आपका यह जानना जरुरी है कि क्या आपके परिवार में किसी को प्रोस्टेट कैंसर पहले हुआ है। यदि आपके परिवार में किसी पुरुष को प्रोस्टेट कैंसर पहले हुआ है तो आपको इस बीमारी के होने का खतरा बढ़ सकता है। 

ब्रेस्ट कैंसर का पारिवारिक इतिहास

यदि आपके परिवार में स्तन कैंसर कई लोगों को रहा हो , तो आपको प्रोस्टेट कैंसर का खतरा और भी अधिक हो सकता है।

मोटापा (Obesity)

आप जानते ही होंगे मोटापे के कारण कई बीमारियां आपके शरीर में घर बनाती है। प्रोस्टेट कैंसर भी उनमें से एक है। मोटापे से पीड़ित लोगो में प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा अधिक हो जाता है।मोटापा से हुए प्रोस्टेट कैंसर का इलाज करने में काफी असुविधा हो सकती है। 

और पढ़ें – Enlarged Prostate: प्रोस्टेट का बढ़ना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

प्रोस्टेट कैंसर की पहचान के लिए निदान (Diagnosis for Prostate Cancer Identification)

यदि आपके अंदर इनमें से किसी प्रकार के लक्षण दिखाई देते हैं। तो आपको बिना देरी किए अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर आपके अदंर दिखाई देने वाले  पुरुषों में होने वाला कैंसर के संंकेत से  प्रोस्टेट कैंसर कि पहचान करेगा। इसके बाद इसके सही इलाज कि सलाह देगा।

प्रोस्टेट बायोप्सी (Prostate biopsy)

यह एक मुख्य परीक्षण होता है। आपके प्रोस्टेट कैंसर की पहचान करने के लिए आपके डॉक्टर आपको बायोप्सी परीक्षण  करने की सलाह दे सकता है। बायोप्सी में, प्रोस्टेट ग्रंथि का एक छोटा-सा टुकड़ा सैंपल के तौर पर निकाल दिया जाता है और उसकी जांच की जाती है।

डिजिटल परीक्षा (DRE)

यह डिजिटल परीक्षा एक शारीरिक परीक्षण होता है। इस परीक्षण में प्रोस्टेट कैंसर की पहचान करने के लिए आपका डॉक्टर आपके प्रोस्टेट कि जांच करता है। इससे यह पता चलता है कि आपके शरीर में  प्रोस्टेट ग्रंथि में कोई गांठ है। यदि उसमें गांठ दिखाई देता है तो वह ट्यूमर हो सकता है। यह परीक्षण जरुरी होता है।

एमआरआई  (MRI)

प्रोस्टेट कैंसर की पहचान के लिए बोन स्कैन और सी टी स्कैन भी किया जाता है। आपको बता दें कि इस प्रक्रिया से कोई अधिक लाभ नहीं होता है।तो वहीं PSA ब्लड टेस्ट, प्रो प्रोस्टेट विशेष प्रकार के एंटीजन की मात्रा की जांच करता है जो आपके ब्लड में होता है। इस परीक्षण से कैंसर की अवस्था या ग्रेडिंग का पता चल सकता है।

पीएसए परीक्षण (PSA test)

पीएसए एक प्रकार का रक्त परीक्षण है। इसमें प्रोस्टेट कैंसर की पहचान करने के लिए प्रोस्टेट-विशिष्ट एंटीजन की मात्रा की जांच करता है जो आपके रक्त में है। यदि इसका लेवल हाई होता हैं, तो इसका मतलब है कि आपको प्रोस्टेट कैंसर हो सकता है।कई बार ऐसा भी होता है जब रक्त  में पीएसए की मात्रा अधिक हो सकती है। इस  कारण से डॉक्टर अब 55 से 69 वर्ष की आयु वाले लोगों से यह खुद तय करने कि सलाह देते हैं। क्या उन्हें इस परीक्षण से गुजरना है। इस परीक्षण को कराने से पहले अपने डॉक्टर से इसके बारें में अच्छी तरह से समझ लें।

अल्ट्रासाउंड (Ultrasound)

जब  प्रोस्टेट कैंसर का डायग्नोसिस या प्रोस्टेट कैंसर की पहचान के बाकी परीक्षण चिंता को बढ़ा देते हैं। तो ऐसे में आपका डॉक्टर आपके प्रोस्टेट कैंसर की पहचान करने के लिए ट्रांसरेक्टल अल्ट्रासाउंड का उपयोग कर सकता है।एक छोटा सा उपकरण जांच के लिए आपके मलाशय में डाला जाता है। इस जांच में आपके प्रोस्टेट ग्रंथि की एक तस्वीर बनाने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग करती है। यह बहुत उपयोगी जांच होती है।

और पढ़ें – Quiz: अगर आपका कॉम्प्लेक्शन डार्क है तो ध्यान में रखें प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण

प्रोस्टेट कैंसर का इलाज (Treatment for prostate cancer)

यदि आपके प्रोस्टेट कैंसर की पहचान हो गई है तो इसका इलाज किस प्रकार किया जाना है यह आपके कैंसर की गंभीरता पर निर्भर करता है। यदि यह आपके शरीर में फैल गया है, तो इसका इलाज चुनौतीभरा हो सकता है। यदि कैंसर ज्यादा फैलनेवाला नहीं है तो आपका डॉक्टर सावधानी से देखभाल की सलाह दे सकता है।इसके इलाज के लिए सर्जरी, रेडिएशन, कीमो थेरेपी और हार्मोन थेरेपी आदि के उपचार का विकल्प हैं। आपके स्वास्थ्य की स्थिति और आपके कैंसर के स्टेज के आधार पर ही आपके कैंसर का सही इलाज किया जा सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।



के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड

डॉ. पूजा दाफळ

· Hello Swasthya


shalu द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/11/2021

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement