backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

स्टीविया चॉकलेट्स : डायबिटिक्स के लिए मीठे का बेस्ट ऑप्शन!

Written by डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


अपडेटेड 05/05/2022

स्टीविया चॉकलेट्स : डायबिटिक्स के लिए मीठे का बेस्ट ऑप्शन!

डायबिटीज के मरीजों के लिए स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) एक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकती है। क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level) को बढ़ाए बिना मीठे की कमी को पूरा कर सकती हैं। इनमें शुगर की जगह स्टीविया (Stevia) का उपयोग किया जाता है। स्टीविया एक पौधा है जिसकी पत्तियों का इस्तेमाल प्राकृतिक स्वीटनर के तौर पर किया जाता है। यह मीठे के प्राकृतिक विकल्प के तौर पर मशहूर है।

बता दें कि इस गुण के अलावा स्टीविया में फायबर, प्रोटीन, आयरन, पोटैशियम, सोडियम, विटामिन ए (Vitamin A) और विटामिन सी (Vitamin C) की अच्छी मात्रा मौजूद होती है। साथ ही एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant) जैसे कि फ्लेवोनोइड्स (Flavonoids), ट्राइटरपेनोईड (Triterpenoid), टैनिन, कैफिक एसिड, कैफीनोल और क्वेरसेटिन जैसे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। इतने सारे गुणों से भरपूर होने के साथ ही डायबिटीज के मरीजों के लिए शुगर का बेस्ट ऑप्शन होता है। इसके अर्क और पत्तियों का उपयोग मिठाई, चॉकलेट्स और सप्लिमेंट्स में किया जाता है। स्टीविया पाउडर का उपयोग चाय, कॉफी, शिकंजी, दूध, दही आदि में किया जाता सकता है। इसके अलावा मार्केट में स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) भी उपलब्ध हैं। जिनका मजा भी डायबिटीज के मरीज ले सकते हैं। चलिए उनके बारे में जान लेते हैं।

स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates)

ये तो आप समझ ही गए होंगे कि स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) में शुगर की जगह स्टीविया का उपयोग किया जाता है। इसके साथ ही ये भी जान लीजिए स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) के टेस्ट में आपको नॉर्मल चॉकलेट्स की तुलना में अंतर महसूस हो सकता है। स्टीविया का उपयोग करने से चॉकलेट के टेक्स्चर और फ्लेवर की इंटेसिटी में भी फर्क हो सकता है, लेकिन जो डायबिटिक मरीज ब्लड शुगर को प्रभावित किए बिना चॉकलेट का मजा लेना चाहते हैं उनके के लिए स्टीविया चॉकलेट्स बेस्ट ऑप्शन हो सकती हैं, लेकिन डायबिटीज के मरीज किसी भी प्रकार के फूड का सेवन डॉक्टर की सलाह के बिना ना करें।

यहां हम आपको स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) के कुछ ब्रांड्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं। बता दें कि हमारा उद्देश्य किसी ब्रांड का प्रचार करना नहीं बल्कि पाठकों तक जानकारी पहुंचाना है। इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि यहां बताई कीमतों और जहां से आप स्टीविया चॉकलेट्स खरीदते हैं उनकी कीमतों में अंतर हो सकता है। चलिए अब जान लेते हैं स्टीविया चॉकलेट्स के बारे में।

और पढ़ें : डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन से जुड़ी जानकरी!

जेविक क्लासिक स्टीविया चॉकलेट (Zevic Classic Stevia Chocolate)

स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) सर्च कर रहे हैं तो जेविक की यह स्टीविया चॉकलेट अच्छा ऑप्शन साबित हो सकती है। कंपनी का दावा है कि यह ग्लूटेन फ्री है और उसमें रिच कोको के साथ ही जीरो कैलोरी स्वीटनर स्टीविया के अर्क का उपयोग किया गया है। इसमें कोको और स्टीविया के साथ ही एंटीऑक्सिडेंट्स, इडिबल वेजिटेबल फैट का उपयोग भी हुआ है। यह चॉकलेट वेनिला फ्लेवर में उपलब्ध है। इसके 40 ग्राम के पैक की कीमत 145 रुपए है।

चॉकलेट एंड मी चॉकलेट बार (Chocolate & me Chocolate Bar)

चॉकलेट और मी की शुगर फ्री चॉकलेट बार में भी स्टीविया का उपयोग मीठेपन के लिए किया गया है। स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) की लिस्ट में इसको भी शामिल किया जा सकता है। यह डार्क चॉकलेट है। कंपनी का दावा है कि यह हाय क्वालिटी के फ्रेश कोको से बनी है। यह वीगन और डेयरी फ्री चॉकलेट है। जो लोग लैक्टोज इंटॉलरेंस से पीड़ित है वे भी इसका उपयोग कर सकते हैं। इसके 10 चॉकलेट वाले एक पैक की कीमत 1120 रुपए है।

एम्ब्रिओना कीटो चॉकलेट (Ambriona keto chocolate)

स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) सर्च कर रहे हैं तो यह चॉकलेट भी अच्छा ऑप्शन साबित हो सकती है। क्योंकि इसमें स्टीविया के साथ ही हेजलनट्स और आलमंड् का उपयोग किया गया है। यह डॉर्क चॉकलेट है जिसमें व्हे प्रोटीन और लो कार्ब्स हैं। यह चॉकलेट लैक्टोज फ्री है। कीटो डायट फॉलो करने वाले लोग भी इसका उपयोग कर सकते हैं। 50 ग्राम के पांच चॉकलेट वाले पैक की कीमत 1,219 रुपए के लगभग है। यह पूरी तरह वीगन प्रोडक्ट है।

और पढ़ें : डायबिटीज के 3पीs यानी कि डायबिटीज के तीन प्रमुख लक्षण, क्या हैं जानते हैं?

कीटो कल्चर हेजलनट डार्क चॉकलेट (Keto Culture Hazelnut Dark Chocolate)

स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) में यह ऑप्शन बेस्ट हो सकता है। कीटो कल्चर की इस चॉकलेट में कोको बीन्स कोको बटर के साथ ही स्टीविया की स्वीटनेस मिलाई गई है। साथ ही क्रंची फ्लेवर देने के लिए इसमें हेजलनट्स को मिलाया गया है। यह एक सिल्की डार्क चॉकलेट है। कंपनी का दावा है कि वीगन और कीटो सर्टिफाइड है। यह ग्लूटेन फ्री होने के साथ ही हाय प्रोटीन और लो कार्ब से युक्त है। इसमें जिंक, मैग्नीशियम, मैंगनीज़, आयरन और कैल्शियम भी पाया जाता है। इस 100 ग्राम के स्टीविया चॉकलेट्स की कीमत 180 रुपए है।

वैकाओ मिल्क चॉकलेट (Wacao milk chocolate)

यह क्रीमी मिल्क चॉकलेट है इसे भी स्टीविया चॉकलेट्स की लिस्ट में एड किया जा सकता है। यह पूरी तरह वीगन प्रोडक्ट है जिसमें हेजलनट्स का उपयोग होता है। इसमें एडेड शुगर की जगह स्टीविया के अर्क का उपयोग किया जाता है। जिन लोगों को नट्स और डेयरी से एलर्जी होती हैं उन्हें इस चॉकलेट का उपयोग सावधानी पूर्वक करना चाहिए। यह डार्क चॉकलेट पसंद करने वाले लोगों की बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकती है। इसके 80 ग्राम के कॉम्बो की कीमत 399 रुपए के लगभग है।

और पढ़ें: डायबिटीज में पोहा हो सकता है बेस्ट ब्रेकफास्ट ऑप्शन, लेकिन

स्टीविया के अन्य फायदे क्या हैं? (Benefits of stevia)

स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates)

डायबिटीज के मरीज के लिए स्टीविया शुगर का ऑल्टरनेटिव है। इसके साथ ही इसके अन्य फायदे भी हैं। जो निम्न है।

डायबिटीज में ना करें इन चीजों का सेवन (Do not consume these food items in diabetes)

डायबिटीज के मरीज स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) का लुत्फ उठा सकते हैं, लेकिन उन्हें कुछ चीजों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। जो निम्न हैं।

  • डायबिटीज पेशेंट्स के लिए शुगर स्वीट बेवरेज सबसे खराब ड्रिंक चॉइस है। इनसे दूर रहना ही बेहतर है। इन ड्रिंक्स में फ्रक्टोज भरपूर पाया जाता है जिसका संबंध इंसुलिन रेजिस्टेंस और डायबिटीज से है।
  • पैक्ड फूड्स स्नैक के अच्छे ऑप्शन नहीं हैं। आम तौर ये रिफाइंड आटे से बने होते हैं। इनमें फास्ट-डायजेस्टिंग कार्ब्स होते हैं जो ब्लड शुगर को तेजी से बढ़ा सकते हैं। इनमें से कुछ खाद्य पदार्थों में उनके न्यूट्रिशन लेबल पर बताए गए से अधिक कार्ब्स हो सकते हैं।
  • पीनट बटर, स्प्रेड, बेकरी प्रोडक्ट्स और फ्रोजन फूड्स आदि में ट्रांस फैट पाया जाता हैं। हालांकि, ट्रांस फैट (Trans fat) डायरेक्ट ब्लड शुगर के लेवल को नहीं बढ़ाता है, लेकिन ये बढ़े हुए इंफ्लामेशन, इंसुलिन रेजिस्टेंस (Insulin resistance) और बेली फैट के साथ-साथ लो एचडीएल (अच्छे) कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ा सकते हैं। इसलिए इन प्रोडक्ट्स को कंज्यूम करने से बचें।

और पढ़ें: लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड्स : क्या डायबिटीज में इस डायट के बारे में जानते हैं आप?

उम्मीद करते हैं कि आपको स्टीविया चॉकलेट्स और डायबिटीज में स्टीविया चॉकलेट्स (Stevia chocolates) के फायदे क्या हैं इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

Written by

डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


अपडेटेड 05/05/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement