home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन से जुड़ी जानकरी!

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन से जुड़ी जानकरी!

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार भारत में पिछले कुछ सालों में डायबिटीज टाइप 2 के पेशेंट्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है। हालांकि कहते हैं डायबिटीज की परेशानी से बचने के लिए इस बीमारी के बारे में जानना बेहद जरूरी और बीमारी को हारने का पहला कदम है। इसलिए आज इस आर्टिकल में डायबिटीज टाइप 2 (Diabetes type 2) क्या है? डायबिटीज टाइप 2 के लक्षण और कारण क्या हैं? और डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) से जुड़ी खास जानकारी आपसे साझा करेंगे।

और पढ़ें : डायबिटीज टाइप 1 की रिवर्स वैक्सीन क्यों मानी जाती है असरदार?

डायबिटीज टाइप 2 (Diabetes type 2) क्या है?

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2)

डायबिटीज टाइप 2 एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है, जिसमें ब्लड में शुगर या ग्लूकोज लेवल जरूरत से ज्यादा बनने लगता है। इंसुलिन हॉर्मोन ब्लड से ग्लूकोज को सेल्स में पहुंचाने में सहायक होती है, जो ह्यूमन बॉडी को एनर्जी देने में मददगार है। डायबिटीज टाइप 2 की समस्या शुरू होने पर बॉडी में मौजूद सेल्स इंसुलिन से रिएक्ट करना बंद कर देती हैं और ऐसी स्थिति होने पर इंसुलिन लेवल बढ़ने लगता है। वहीं जब सेल्स को इंसुलिन की आवश्यकता होती है, तो अग्नाशय उन्हें इंसुलिन नहीं भेज पाता है और काम करना बंद कर देता है, जिसे इंसुलिन रेजिस्टेंस (Insulin Resistance) कहते हैं। ऐसा नहीं है कि टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल नहीं किया जा सकता, बल्कि टाइप 2 डायबिटीज के मेडिकेशन के अलावा डॉक्टर्स डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) लेने की भी सलाह दे सकते हैं। भारत में डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन से जुड़ी जानकारियों से पहले डायबिटीज टाइप 2 के लक्षणों को समझ लेते हैं।

और पढ़ें : बच्चों में यह लक्षण हो सकते हैं टाइप 2 डायबिटीज का संकेत, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी!

डायबिटीज टाइप 2 के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Diabetes type 2)

डायबिटीज टाइप 2 के लक्षण निम्नलिखित हैं। जैसे:

ये लक्षण डायबिटीज टाइप 2 (Diabetes type 2) की ओर इशारा करते हैं। हालांकि ऐसा क्यों होता है इसके भी कई कारण हो सकते हैं, जिसके बारे में आगे समझेंगे।

और पढ़ें : ओरल हायपोग्लाइसेमिक ड्रग्स: टाइप 2 डायबिटीज के ट्रीटमेंट में हैं उपयोगी, उपयोग का तरीका है आसान

डायबिटीज टाइप 2 के कारण क्या हैं? (Cause of Diabetes type 2)

डायबिटीज टाइप 2 के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

  • जिन (Gen)- हर व्यक्ति में डीएनए अलग-अलग तरह का होता है, जो शरीर में इंसुलिन को प्रभावित करता है।
  • वजन बढ़ना (Weight gain)- शरीर का वजन बढ़ने से इंसलुनि कम मात्रा में बनने लगता है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार कमर के आसपास अधिक फैट जमा होने के कारण टाइप 2 डायबिटीज की समस्या हो सकती है।
  • मेटाबोलिक सिंड्रोम (Metabolic syndrome)- इंसुलिन रेजिस्टेंस व्यक्ति की वजह से हाय ब्लड शुगर (High Blood sugar), हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure), कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ना और ट्राइग्लिसराइड और कमर के आसपास अधिक फैट जमा होने सहित कई तरह के मेटाबोलिक सिंड्रोम होने की वजह से टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes type 2) की संभावना को बढ़ा देता है।

डायबिटीज के लक्षणों और कारणों को समझकर हेल्थ एक्सपर्ट डायबिटीज की दवा या डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) लेने की सलाह दे सकते हैं।

और पढ़ें : जब ना खुले ‘हाय ब्लड प्रेशर’ का ताला, तो आयुर्वेद की चाबी दिखाएगी अपना जादू

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2)

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2)

कहते हैं डायबिटीज राज रोग है, लेकिन कोई भी बीमारी राज रोग तब हो सकती है, जब हम बीमारी के प्रति लापरवाही करें। डायबिटीज टाइप 1 हो या डायबिटीज टाइप 2 ही क्यों ना हो, ऐसी स्थिति में डॉक्टर मधुमेह की दवा या डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन लेने की भी सलाह दे सकते हैं। इसलिए आर्टिकल में भारत की जानीमानी डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन के बारे में समझेंगे।

1. एल्बिग्लूटाइड (Albiglutide)

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन एल्बिग्लूटाइड (Albiglutide) डायबिटीज मरीजों के लिए लाभकारी माना जाता है। एल्बिग्लूटाइड (Albiglutide) डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन सप्ताह में एक बार लिया जा सकता है या डॉक्टर आपके हेल्थ और बीमारी की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए इंजेक्शन की डोज प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। वैसे एल्बिग्लूटाइड (Albiglutide) को खाने से पहले या बाद में भी लिया जा सकता है। इस 50mg इंसुलिन इंजेक्शन की कीमत 100 रुपय बताई जा रही है।

2. डुलाग्लूटाइड (Dulaglutide)

डुलाग्लूटाइड (Dulaglutide) डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन पेशेंट को तब प्रिस्क्राइब की जाती है, जब हेल्दी डायट एवं डायबिटीज मरीजों के लिए एक्सरसाइज भी ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस बनाने में सक्षम नहीं हो पाते हैं। जरूरत पड़ने पर डुलाग्लूटाइड (Dulaglutide) को अन्य ग्लूकोज कम करने वाली दवाओं के साथ एड-ऑन थेरिपी के रूप में भी दी जा सकती है। भारतीय बाजार में डुलाग्लूटाइड (Dulaglutide) की कीमत 4998 रुपय बताई जा रही है।

3. इंसुलिन स्मार्ट (Insulin aspart)

इंसुलिन स्पार्ट (Insulin aspart) तेजी से काम करने वाला इंसुलिन है, जिसे त्वचा के नीचे इंजेक्ट किया जाता है। इंसुलिन स्पार्ट (Insulin aspart) डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन दो अलग-अलग विकल्पों में उपलब्ध हैं। इंसुलिन स्पार्ट (Insulin aspart) इंजेक्शन की एक डोज खाने से 5 से 10 मिनट पहले ली जाती है, वहीं दूसरे विकल्प में मौजूद इंसुलिन स्पार्ट डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन खाने से 15 मिनट पहले या बाद में ले सकते हैं। हालांकि इंसुलिन स्पार्ट (Insulin aspart) के डोज से जुड़ी जानकारी डॉक्टर से लें। इंसुलिन स्पार्ट (Insulin aspart) के 3 ml की कीमत 572 रुपय बताई गई है।

और पढ़ें : अनियंत्रित डायबिटीज से जुड़ी स्थिति डायबिटिक कोमा का इस तरह से संभव है सही उपचार!

4. विक्टोजा (Victoza)

वयस्कों में होने वाले टाइप 2 डायबिटीज की समस्या को दूर करने के लिए या ब्लड शुगर लेवल बैलेंस रखने के लिए विक्टोजा (Victoza डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) प्रिस्क्राइब की जाती है। डायबिटीज टाइप 2 की दवाओं के साथ-साथ विक्टोजा (Victoza) इंजेक्शन लेने की भी सलाह दी जाती है। इस इंजेक्शन को खाने से पहले या बाद में भी लिया जा सकता है। 6mg/Ml विक्टोजा (Victoza) की कीमत 4259 रुपय है।

5. ह्यूमिनसुलिन (Huminsulin)

भारत की जानीमानी डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन ह्यूमिनसुलिन (Huminsulin) तब लाभकारी मानी जाती है, जब पैंक्रियाज इंसुलिन बनाने में असमर्थ हो जाता है। बॉडी में इंसुलिन लेवल बिगड़ते ही ग्लूकोज लेवल भी बिगड़ना तय होता है। इसलिए डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन ह्यूमिनसुलिन (Huminsulin) लेने से ज्यादा वक्त तक शरीर में ब्लड शुगर लेवल बैलेंस रखने में सहुलियत मिलती है। ह्यूमिनसुलिन (Huminsulin) 100IU/Ml 441 रुपय में उपलब्ध है।

6. इंसुलिन लिस्प्रो (Insulin lispro)

रेपिड-एक्टिंग ह्यूमन इंसुलिन एनालॉग (Rapid-acting human insulin analog) एवं भारतीय डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) इंसुलिन लिस्प्रो (Insulin lispro) क्रोनिक डायबिटीज पेशेंट को डॉक्टर्स द्वारा लेने की सलाह दी जाती है। दरअसल इंसुलिन लिस्प्रो (Insulin lispro) तेजी से काम करने वाली इंजेक्शन है। 100IU/Ml इंसुलिन लिस्प्रो (Insulin lispro) की कीमत 655 रुपय है।

7. हुमुलीन (Humulin)

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन हुमुलीन (Humulin) ब्लड शुगर लेवल बैलेंस रखने में डायबिटीज मरीजों के लिए लाभकारी माना जाता है। हुमुलीन (Humulin) इंजेक्शन लेने से पहले इसे अच्छी तरह से मिक्स करने की सलाह दी जाती है। इस इंजेक्शन को मिक्स करने के बाद यह क्लाउडी (Cloudy) या दूध की तरह सफेद (Milky) दिखने लगते हैं, लेकिन अगर मिक्स करने के बाद लिक्विड का कलर चेंज ना, तो इसे बॉडी में इंजेक्ट नहीं करने की सलाह दी जाती है। 3ml हुमुलीन (Humulin) डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन की कीमत 354 रुपय है।

नोट: ऊपर बताई गईं 7 डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) की कीमत अलग भी हो सकती है। डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन प्राइस कम या ज्यादा भी हो सकते हैं। इंसुलिन इंजेक्शन के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से अच्छी तरह से समझें और फिर खुद से या घर के किसी सदस्य से इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection) लें। इंजेक्शन के निडिल को सिर्फ एक बार ही यूज करें।

और पढ़ें : Insulin Glargine: इंसुलिन ग्लारजीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

बॉडी में मौजूद सभी सेल्स को काम करने के लिए एनर्जी की जरूरत आवश्यकता पड़ती है। यह एनर्जी मुख्य रूप से ग्लूकोज से आती है, जो कि कार्बोहायड्रेट में पाई जाने वाली एक प्रकार की शुगर है। नीचे दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक कर समझें।

और पढ़ें : भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् और इसके इस्तेमाल की इंफॉर्मेशन है यहां

कैसे लें डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन? (Insulin injection for Diabetes type 2 tips)

डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन लेने से पहले निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

  • सबसे पहले हाथों को हैंड वॉश (Hand wash) से क्लीन करें।
  • इंजेक्शन की शीशी को एल्कोहॉल या स्प्रिट की सहायता से साफ करें।
  • अब सिरिंज में इंजेक्शन की डोज उतनी ही लें, जितनी डॉक्टर से आपको लेने की सलाह दी हो।
  • अब 90 डिग्री का एंगल बनाते हुए फैट वाले जगह पर सिरिंज को इंजैक्ट करें।
  • एक सिरिंज का इस्तेमाल सिर्फ एक बार ही करें।
  • इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection) शरीर के सिर्फ एक ही फैट वाले हिस्से पर हमेशा ना लें।

इन बातों को ध्यान में रखकर इंसुलिन इंजेक्शन ली जा सकती है।

डायबिटीज पेशेंट इम्यूनिटी कैसे बनायें स्ट्रॉन्ग जानिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर।

और पढ़ें : क्या आप जानते हैं वजन, बीपी और कोलेस्ट्रोल बढ़ने से इंसुलिन रेजिस्टेंस भी बढ़ सकता है?

इंसुलिन इंजेक्शन (Side effects if Insulin injection) से होने वाले साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

इंसुलिन इंजेक्शन से निम्नलिखित शारीरिक परेशानी हो सकती है। जैसे:

  • जी मिचलाने (Nausea) की समस्या।
  • उल्टी (Vomiting) आना।
  • डायरिया (Diarrhea) की समस्या।
  • भूख नहीं (Decreased appetite) लगना।

इन शारीरिक परेशानियों के अलावा अन्य परेशानी भी देखी या महसूस की जा सकती है।

अगर आप डायबिटीज टाइप 2 या डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन (Insulin injection for Diabetes type 2) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप डायबिटीज टाइप 2 के शिकार हैं, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन (Health condition) को ध्यान में रखकर और डायबिटीज टाइप 2 में इंसुलिन इंजेक्शन और इसके डोज की सलाह देंगे।

कहते हैं स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है और स्वस्थ रहने के लिए पौष्टिक आहार (Healthy food) का सेवन करना बेहद जरूरी है। इसलिए अगर आप डायबिटिक हैं और अपने डायट का रखते हैं ख्याल, लेकिन क्या आप फॉलो कर रहें हैं हेल्दी डायट? जानने के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और अपना स्कोर जानिये।

powered by Typeform
health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Insulin Therapy for Type 2 Diabetes/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2811456/Accessed on 10/06/2021

Insulin, Medicines, & Other Diabetes Treatments/https://www.niddk.nih.gov/health-information/diabetes/overview/insulin-medicines-treatments/Accessed on 10/06/2021

Diabetes and insulin/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/diabetes-and-insulin#type-2-diabetes/Accessed on 10/06/2021

Insulin Routines/https://www.diabetes.org/healthy-living/medication-treatments/insulin-other-injectables/insulin-routines/Accessed on 10/06/2021

Insulin Therapy for Type 2 Diabetes/https://care.diabetesjournals.org/content/32/suppl_2/S253/Accessed on 10/06/2021

Insulin Therapy/https://familydoctor.org/insulin-therapy/Accessed on 10/06/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड