home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें, किन तरीकों से कर सकते हैं टाइप 2 मधुमेह का उपचार?

जानें, किन तरीकों से कर सकते हैं टाइप 2 मधुमेह का उपचार?

टाइप 2 मधुमेह एक पुरानी बीमारी है। यह रक्त में शर्करा के उच्च स्तर की विशेषता है। टाइप 2 डायबिटीज को टाइप 2 डायबिटीज मेलेटस और एडल्ट-ऑनसेट डायबिटीज भी कहा जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह लगभग हमेशा मिडिल एज और वयस्कता के बाद में शुरू होता था। हालांकि,आजकल अधिक से अधिक बच्चे और किशोर में यह बीमारी जल्दी ही देखी जा रही हैं। टाइप 2 मधुमेह टाइप 1 मधुमेह की तुलना में बहुत ही अधिक सामान्य है, और वास्तव में एक अलग बीमारी है। लेकिन यह टाइप 1 मधुमेह उच्च रक्त शर्करा के स्तर, और उच्च रक्त शर्करा की जटिलताओं को बढ़ाने का कार्य करता है। लेकिन टाइप 2 मधुमेह का उपचार कई तरीकों से किया जा सकता है।

  • टाइप 2 डायबिटीज तब होता है जब आपके शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के सामान्य प्रभाव का विरोध करती हैं, जो कि रक्त में ग्लूकोज को कोशिकाओं के अंदर पहुंचाता है। इस स्थिति को इंसुलिन प्रतिरोध कहा जाता है। परिणामस्वरूप, रक्त में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। इस आर्टिकल में हम जानेगें टाइप 2 मधुमेह का उपचार कैसे कर सकते हैं।

और पढ़ें: जानें कैसे स्वेट सेंसर (Sweat Sensor) करेगा डायबिटीज की पहचान

  • आपके पास मधुमेह का उपचार करने के लिए बहुत सारे विकल्प हैं। भोजन, व्यायाम और दवा आपके ब्लड शुगर को नियंत्रण में लाने के लिए एक साथ काम करते हैं। इसलिए आपका डॉक्टर आपको यह पता लगाने में मदद करेगा कि क्या आपको दवा लेने की जरूरत है, आपके लिए कौन सा प्रकार सही है, और आपको इसे कितनी बार लेना चाहिए।टाइप 2 मधुमेह का उपचार करने के लिए उसके कारण को जानना आवश्यक है, इसलिए पहले चिकित्सक द्वारा इसके होने का सही कारण जान लें।

और पढ़ें: डायबिटीज के कारण होने वाले रोग फोरनिजर्स गैंग्रीन के लक्षण और घरेलू उपाय

टाइप 2 मधुमेह के कारण

  • वजन ज्यादा होना
  • चीनी और कार्बोहाइड्रेट वाले बहुत सारे खाद्य पदार्थ या पेय पदार्थ का सेवन करना जैसे,मिठाई,चीनी वाला सोडा, चीनी वाले खाद्य पदार्थ।
  • गतिविधि का अभाव (गतिहीन व्यवहार)
  • व्यायाम की कमी
  • तनाव हार्मोन
  • जेनेटिक्स

टाइप 2 मधुमेह के लक्षण

  • अधिक प्यास लगना
  • बहुत पेशाब करना
  • बहुत अधिक भूख लगना
  • अनायास ही वजन बढ़ना या कम होना
  • कांख, ठुड्डी या कमर के नीचे की डार्क स्किन
  • थकान
  • मूत्र से असामान्य गंध
  • धुंधली दृष्टि

और पढ़ें: Quiz : डायबिटीज के पेशेंट को अपने आहार में क्या शामिल करना चाहिए और क्या नहीं?

टाइप 2 मधुमेह का उपचार

टाइप 2 मधुमेह का उपचार दवाओं द्वारा किया जा सकता है। जो इस प्रकार से हैं।

मेटफोर्मिन (ग्लूकोफेज, ग्लुमेत्जा, अन्य)Metformin (Glucophage, Glumetza, others)

आमतौर पर, मेटफॉर्मिन टाइप 2 मधुमेह का उपचार करने के लिए निर्धारित की गई पहली दवा है।यह बिग्वेनाइड्स फैमिली का ड्रग है। यह लिवर में ग्लूकोज उत्पादन को कम करके और इंसुलिन के लिए आपके शरीर की संवेदनशीलता में सुधार करने का काम करता है ताकि आपका शरीर इंसुलिन का अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग कर सके। मतली और दस्त मेटाफॉर्मिन के कुछ संभावित दुष्प्रभाव हैं। ये दुष्प्रभाव दूर हो सकते हैं क्योंकि आपका शरीर दवा के लिए आदती हो जाता है या यदि आप भोजन के साथ दवा लेते हैं, तो आप के इसके दुष्प्रभाव नहीं दिखाई देते हैं। यदि मेटफॉर्मिन लेने और जीवन शैली में परिवर्तन आपके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त नहीं हैं, तो अन्य मौखिक या इंजेक्शन वाली दवाएं लेने की सिफारिश की जा सकती हैं।

डीपीपी -4 अवरोधक(DPP-4 inhibitors)

ये दवाएं सिटाग्लिप्टिन (जानुविया), सैक्सग्लिप्टिन (ओन्ग्लीजा) और लिनाग्लिप्टिन (ट्रेडजेंटा) – रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करती हैं, लेकिन बहुत मामूली प्रभाव डालती हैं। वे वजन बढ़ने का कारण नहीं बनते हैं, लेकिन जोड़ों के दर्द का कारण बन सकते हैं और अग्नाशयशोथ के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

और पढ़ें: डायबिटीज में डायरिसिस स्वास्थ्य को कैसे करता है प्रभावित? जानिए राहत पाने के कुछ आसान उपाय

जीएलपी -1 रिसेप्टर एगोनिस्ट(GLP-1 receptor agonists)

ये इंजेक्शन वाली दवाएं पाचन को धीमा करती हैं और रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करती हैं। उनका उपयोग अक्सर वजन घटाने से जोड़ा गया है। इसके संभावित दुष्प्रभावों में मतली और अग्नाशयशोथ का एक बढ़ा जोखिम शामिल है। एक्सैनाटाइड (बाइटा, बायड्योरन), लिराग्लूटाइड (विक्टोजा) और सेमाग्लूटाइड (ओजम्पिक) जीएलपी -1 रिसेप्टर एगोनिस्ट के उदाहरण हैं। एक शोध से पता चलता है कि लिराग्लूटाइड और सेमाग्लूटाइड उच्च जोखिम वाले लोगों में दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को कम कर सकते हैं।

SGLT2 अवरोधक(SGLT2 inhibitors)

ये दवाएं किडनी के बल्ड में दोबारा शुगर अवशोषित होने से रोकती हैं। इसके बजाय, मूत्र में शुगर को उत्सर्जित किया जाता है। उदाहरणों में कैनाग्लिफ्लोजिन (इनोकाना), डापाग्लिफ्लोजिन (फार्क्सिगा) और एम्पाग्लिफ्लोजिन (जार्डन) शामिल हैं। यह दवा उच्च जोखिम वाले लोगों में दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को कम कर सकता है। साइड इफेक्ट्स में वजाइना में फंगल, मूत्र मार्ग में संक्रमण, निम्न रक्तचाप और मधुमेह केटोएसिडोसिस का उच्च जोखिम शामिल हो सकता है।

और पढ़ें: क्या है इंसुलिन पंप, डायबिटीज से इसका क्या है संबंध, और इसे कैसे करना चाहिए इस्तेमाल?

सल्फोनिलयूरिया (Sulfonylureas)

ये दवा आपके शरीर को अधिक इंसुलिन देने में मदद करती हैं। इसके उदाहरणों में ग्लाइबुराइड (डायबेटा, ग्लीनेज), ग्लिपीजाइड (ग्लूकोट्रॉल) और ग्लिम्पिराइड (एमारिल) शामिल हैं। संभावित दुष्प्रभावों में निम्न रक्त शर्करा और वजन बढ़ना शामिल है।

मेगालिटिनाइड्स(Meglitinides)

ये दवाएं जैसे कि रेपग्लिनाइड (प्रैंडिन) और नगेटलाइड (स्टारलिक्स) अधिक इंसुलिन स्रावित करने के लिए अग्न्याशय को उत्तेजित करके सल्फोनीलुरेस की तरह काम करती हैं, लेकिन आपके शरीर में उनके प्रभाव की अवधि कम है। उन्हें कम रक्त शर्करा और वजन बढ़ने का भी खतरा होता है।

थियाजोलिंडेडियोन (Thiazolidinediones)

मेटफॉर्मिन की तरह, ये दवाएं जिसमें रोसिग्लिटाजोन (अवांडिया) और पियोग्लिटाजोन (एक्टोस) शामिल हैं। ये शरीर के ऊतकों को इंसुलिन के प्रति अधिक संवेदनशील बनाते हैं। इन दवाओं को वजन बढ़ने और अन्य अधिक-गंभीर दुष्प्रभावों से जोड़ा गया है, जैसे कि हार्ट फेल और एनीमिया का खतरा होना। इन जोखिमों के कारण, ये दवाएं आम तौर पर पहली पसंद के उपचार नहीं हैं।

अल्फाग्लूकोज

अल्फा ग्लूकोज, ग्लूकोज का एक विशिष्ट आइसोमर होता है। ग्लूकोज विभिन्न आणविक आकृतियों की एक प्रकार में मौजूद हो सकता है, प्रत्येक में अद्भूत गुण होते हैं। कुछ का आकार स्वाभाविक होता हैं, अन्य सिंथेटिक प्रयोगशाला प्रतिक्रियाओं के उत्पादक होते हैं। सबके अलग-अलग नाम होते हैं। हालांकि, सभी ग्लूकोज अणुओं में 6 कार्बन परमाणु होते हैं, और एकल मोनोसैकराइड होते हैं।

और पढ़ें : रिसर्च: हाई फाइबर फूड हार्ट डिसीज और डायबिटीज को करता है दूर

ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। हैलो स्वास्थ्य किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

वेट लॉस सर्जरी

टाइप 2 मधुमेह का उपचार करने के लिए वेट लॉस सर्जरी भी बहुत उपयोगी होता है। वजन घटाने की सर्जरी से अधिक से अधिक फैट से छुटकारा मिल सकता है,और यह अकेले ही आपके रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। लेकिन यह आपके आंत में हार्मोन के स्तर को भी बढ़ाता है जिसे इंस्टेंस कहा जाता है। ये आपके अग्न्याशय को इंसुलिन बनाने के लिए कहते हैं। इस दौरान समय के साथ, आपको कम दवा लेनी पड़ती है। हालांकि यह सभी के लिए उपयोगी नहीं है। डॉक्टर आमतौर पर केवल उन पुरुषों के लिए वजन घटाने की सर्जरी की सलाह देते हैं जो कम से कम 100 पाउंड अधिक वजन वाले और कम से कम 80 एक्सट्रा पाउंड वाली महिलाएं हैं।

इंसुलिन

कुछ लोग जिन्हें टाइप 2 मधुमेह है, उन्हें इंसुलिन थेरेपी की आवश्यकता होती है। बहुत समय पहले इंसुलिन थेरेपी का उपयोग अंतिम उपाय के रूप में किया जाता था, लेकिन आज यह अक्सर इसके लाभों के कारण जल्द ही निर्धारित किया जाता है। निम्न रक्त शर्करा (हाइपोग्लाइसीमिया) इंसुलिन का एक संभावित दुष्प्रभाव है। मुंह द्वारा लिए गए इंसुलिन पाचन संबंधी समस्या पैदा करते हैं।इसलिए इंसुलिन को इंजेक्ट किया जाना चाहिए। आपकी आवश्यकताओं के आधार पर, आपका डॉक्टर दिन और रात में उपयोग करने के लिए इंसुलिन प्रकारों का मिश्रण लिखता है। इंसुलिन के कई प्रकार होते हैं, और वे प्रत्येक कार्य अपना कार्य अलग तरीके से करते हैं।

और पढ़ें : Diabetes insipidus : डायबिटीज इंसिपिडस क्या है ?

अक्सर, टाइप 2 मधुमेह वाले लोग में लांग एक्टिंग शॉट के साथ इंसुलिन का उपयोग किया जाता हैं, जैसे इंसुलिन ग्लार्गिन (लैंटस) या इंसुलिन डिटैमर (लेवमीर)। अपने चिकित्सक के साथ विभिन्न दवाओं के बारे में ठीक प्रकार से चर्चा करें। इसका उपयोग आप कई तरीकों से कर सकते हैं:

  • एक सुई और सिरिंज के साथ इंजेक्शन
  • इंसुलिन पेन
  • इन्हेलर
  • इंजेक्शन पोर्ट
  • इंसुलिन पंप
  • जेट इंजेक्टर

टाइप 2 मधुमेह का निवारण

  • अपने शरीर के सामान्य वजन को बनाए रखना।
  • नियमित रूप से व्यायाम करना 30 मिनट में 1-2 मील की तेज वॉक करना – सप्ताह में कम से कम पांच बार, भले ही इसका परिणाम आपको एक आदर्श वजन प्राप्त करने में न हो। ऐसा इसलिए है क्योंकि नियमित व्यायाम इंसुलिन प्रतिरोध को कम करता है, भले ही आपका वजन कम न हो।
  • स्वस्थ आहार का सेवन करना।
  • एक अच्छी नींद लेना

और पढ़ें : बढ़ती उम्र और बढ़ता हुआ डायबिटीज का खतरा

टाइप 2 मधुमेह का उपचार करते समय ये चेकअप कराते रहे

  • रक्त शर्करा की देखभाल के लिए आप अपने रक्त शर्करा की जांच समय-समय पर कराते रहें या स्वंय ही करते रहे।
  • नियमित रूप से जांच कराएं की आपके HbA1c और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कितना है, साथ ही यह सुनिश्चित करने के लिए परीक्षण करेंगे कि आपके थायरॉइड, लीवर और किडनी सभी काम कर रहे हैं जैसे आपको करना चाहिए।
  • आंखों की नियमित जांच कराएं, रेटिनोपैथी के संकेतों की जांच कराएं, मधुमेह के कारण आपकी आंख को तंत्रिका क्षति हो सकती है।
  • अपने पैरों की नियमित जांच कराएं इसमें आपके पैरों को तंत्रिका क्षति के लिए जांच की जाती है।
  • आपके रक्त ग्लूकोज का नंबर बताता है कि आपका उपचार कितना अच्छा हो रहा है। आपका डॉक्टर आपको बताएगा कि आपको दिन में कितनी बार इसकी जांच करने की आवश्यकता है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कौन-सी मधुमेह की दवाएं ले रहे हैं।

और पढ़ें : जानें कैसे स्वेट सेंसर (Sweat Sensor) करेगा डायबिटीज की पहचान

टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए आहार और व्यायाम

ज्यादातर मामलों में, टाइप 2 मधुमेह का उपचार, आहार और व्यायाम और वजन में कमी के साथ शुरू होता है। मधुमेह वाले व्यक्ति के लिए एक स्वस्थ आहार है,

  • कम वसा और कोलेस्ट्रॉल कम
  • बिना किसी ट्रांस वसा के आहार
  • कुल कैलोरी में कमी
  • संतुलित मात्रा में साबुत अनाज से बने खाद्य पदार्थ
  • संतुलित मात्रा में मोनोअनसैचुरेटेड तेल
  • संतुलित मात्रा में फल और सब्जियां
  • मधुमेह वाले अधिकांश लोगों के लिए एक दैनिक मल्टीविटामिन की सिफारिश की जाती है।

नोट:कुछ लोगों के लिए, टाइप 2 मधुमेह को सिर्फ आहार और व्यायाम से नियंत्रित किया जा सकता है। भले ही दवाओं की आवश्यकता होती है, मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए आहार और व्यायाम महत्वपूर्ण हैं।

ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Type 2 Diabetes Life doesn’t end with type 2 diabetes.   https://www.diabetes.org/diabetes/type-2   Accessed on 07-08-2020

About Diabetes https://www.idf.org/aboutdiabetes/prevention.html?gclid=CjwKCAjw1K75BRAEEiwAd41h1IUFOmMYv-advlNQq4D8wz4ydl8XqUX3LY0N15S9ynciJvfAN7fKEBoCYwQQAvD_BwE  Accessed on 07-08-2020

Type 2 Diabetes Mellitus  https://www.health.harvard.edu/a_to_z/type-2-diabetes-mellitus-a-to-z  Accessed on 07-08-2020

Insulin, Medicines, & Other Diabetes Treatments https://www.niddk.nih.gov/health-information/diabetes/overview/insulin-medicines-treatments Accessed on 07-08-2020

Update on the treatment of type 2 diabetes mellitus   https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5027002/ Accessed on 07-08-2020

Type 2 Diabetes: How Is It Treated? https://kidshealth.org/en/teens/treating-type2.html  Accessed on 07-08-2020

About Prediabetes & Type 2 Diabetes  https://www.cdc.gov/diabetes/prevention/about-prediabetes.html?CDC_AA_refVal=https%3A%2F%2Fwww.cdc.gov%2Fdiabetes%2Fprevention%2Flifestyle-program%2Fabout-prediabetes.htmlAccessed on 07-08-2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
shalu द्वारा लिखित
अपडेटेड 07/08/2020
x