backup og meta

आंखों के लिए बेस्ट हैं योगासन, फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 16/05/2021

आंखों के लिए बेस्ट हैं योगासन, फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे

हम अपनी पर्सनैलिटी व लुक को लेकर हमेशा जागरूक रहते हैं। हमारे बाल सेट हों, पेट अंदर हो, चेहरा चमक रहा हो, यानी छोटी-छोटी बातों का हम पूरा ख्याल रखते हैं लेकिन अपने शरीर के सबसे मुख्य भाग यानी आंखों को हमेशा भूल जाते हैं। आजकल अधिकतर लोग कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल फोन पर पूरा दिन अपनी आंखे गड़ाए बैठे रहते हैं। इससे न केवल हमारी खूबसूरत आंखे थक जाती हैं बल्कि, इनकी रोशनी पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। लोग हर चीज के लिए योग करते हैं लेकिन आंखों के लिए योग पर ध्यान नहीं देते।

और पढ़ें : त्वचा चाहते हैं तो जरूर करें ये योग

तनाव से भी हमारी आंखों की समस्याएं बढ़ जाती हैं। बड़े ही नहीं बल्कि बच्चे भी इन सब चीजों से अछूते नहीं हैं। समय से पहले ही अपनी आंखों को किसी भी परेशानी से बचाने के लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। इन योग क्रियाओं और योगासनों से न केवल आपकी आंखों को आराम मिलेगा बल्कि, उनकी रोशनी भी बढ़ेगी। जानिए आंखों को आराम देने के लिए आंखों के लिए योग किस तरह कर सकते हैं।

ये हैं स्वस्थ आंखों के लिए योग

1. योग क्रिया 1

आंखों के लिए योग की इन क्रियाओं को करने से आपकी आंखों का अच्छे से व्यायाम होगा। इससे आंखों को स्वस्थ रखने में मदद मिलेगी। यही नहीं, इन्हें करने में भी बहुत कम समय लगेगा। दिन में केवल कुछ समय निकाल कर आप अपनी आंखों को निरोगी बना सकते हैं।

आंखों के लिए योग कैसे करें?

  • किसी शांत जगह पर योगमैट या दरी पर आराम से बैठ जाएं।
  • अपनी आंखों को खुला रखें।
  • अब करीब 10 से 15 बार आपको अपनी पलकों को बहुत तेजी से झपकाना है।
  • इसके बाद, कुछ सेकेंड आंखों को बंद रहने दें और गहरी सांसे लें और उसे बाहर छोड़ें।
  • इस क्रिया को लगभग पांच बार करें।

2. योग क्रिया 2

  • दूसरी क्रिया को करने के लिए सबसे पहले आराम से जमीन पर बैठ जाएं।
  • अपने चेहरे और आंखों को एक जगह टिका कर रखें।
  • अब पलकों को न झपकाएं और ऊपर की तरफ तब तक देखें, जब तक आपकी आंखों से पानी न आ जाए।
  • ऐसा ही नीचे या दांए-बाएं देखते हुए भी करें।
  • इस क्रिया को दोहराने से आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे।

3. योग क्रिया 3

  • किसी शांत जगह पर बैठकर अपनी आंखों को बंद कर लें।
  • अपनी हथेलियों को आपस में तब तक रगड़ें जब तक वो गर्म न हो जाएं।
  • अब इन गर्म हथेलियों को अपनी बंद आंखों के ऊपर रखें।
  • ऐसा करने से हथेलियों की गर्मी आपकी आंखों में जाएगी, जिससे आंखों को आराम मिलेगा।
  • अपने हाथों को तब तक अपनी आंखों के ऊपर रखें जब तक आपके हाथों की गर्मी पूरी तरह से आंखों में न चली जाए।
  • अब अपने हाथों को नीचे कर लें।
  • फिर से हाथों को रगड़ें और प्रक्रिया को दोहराएं।

आंखों के लिए योग 4. सर्वांगासन

आंखों के लिए योग में सर्वांगासन करना न केवल हमारी आंखों के लिए बल्कि पूरे शरीर के लिए लाभदायक है। इस योगासन से शरीर के सभी अंगों का व्यायाम होता है। इसलिए, इसका नाम सर्वांगासन है। मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी यह आसन लाभदायक है।

और पढ़ें : वेट लॉस से लेकर जॉइंट पेन तक, जानिए क्रैब वॉकिंग के फायदे

कैसे करें?

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले किसी शांत जगह पर योगमैट या दरी बिछाएं।
  • उस पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • अपने पैरों को जोड़ कर रखें और हाथों को शरीर के साथ चिपका कर जमीन पर रखें।
  • अब सांस अंदर लें और अपने पैरों को धीरे-धीरे ऊपर की तरफ उठाएं।
  • अपने पैरों को 120 डिग्री तक ले जाएं और अगर हो सके तो 90 डिग्री तक भी ले जा सकते हैं।
  • इसके लिए, आप अपने हाथों की मदद भी ले सकते हैं। बस अपनी कोहनियों को जमीन पर लगा कर रखें।
  • अपने पैरों को सीधा रखें।
  • अपने हाथों के सहारे अपने शरीर का संतुलन बनाए रखें।
  • कुछ देर इसी पोजीशन में रहने के बाद सांस छोड़ते हुए इस आसन से बाहर आ जाएं।
  • ऐसे ही इस योगासन को दोहराएं।

आंखों के लिए योग 5. भ्रामरी प्राणायाम

भ्रामरी प्राणायाम आंखों की रोशनी को बढ़ाने का अच्छा तरीका है। इससे दूर और पास की दृष्टि के दोष दूर हो जाते हैं। यहां भ्रामरी का अर्थ है मधुमक्खी क्योंकि, इस योग को करते हुए सांस जब छोड़ते हैं, तो मधुमक्खी जैसी आवाज निकलती है। इस योग से तनाव भी दूर होता है

कैसे करें?

  • भ्रामरी प्राणायाम करते हुए सबसे पहले एक आसन पर आराम से बैठ जाएं।
  • अपने दोनों हाथों को अपने कानों के पास ले आएं और आंखों को बंद कर लें।
  • अब हाथों के अंगूठों से अपने दोनों कानों को बंद कर लें।
  • इस आसन को करते हुए कमर, गर्दन और सिर सब सीधे होने चाहिए।
  • अब अपने हाथों की एक उंगली को अपने माथे पर भोहों के ऊपर रख दें और बाकी बची उंगलियों को आंखों पर रखें।
  • ध्यान रहे कि आपकी उंगलियों का दबाव अधिक न हो।
  • अब अपनी आंखों पर रखी उंगलियों से नाक को हल्का से दबाएं और नाक से सांस अंदर लें।
  • अब धीरे-धीरे सांस बाहर छोड़ें।
  • सांस बाहर छोड़ते हुए मधुमक्खी जैसी आवाज आएगी।
  • इस आसन से बाहर आएं और दोहराएं।

और पढ़ें : MRI Test : एमआरआई टेस्ट क्या है?

आंखों के लिए योग 6. शवासन

शवासन करना बहुत ही आसान है क्योंकि, इसमें एक जगह केवल लेटना ही होता है। इस आसन को करने वाले की पोजीशन मृत शरीर की तरह होती है इसलिए, इसका नाम शवासन है। आंखों की रोशनी के साथ-साथ हमारे मस्तिष्क के लिए भी यह आसन उपयोगी है।

कैसे करें?

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले किसी शांत जगह पर दरी बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं
  • अपने मन को शांत रखें और पैरों के बीच थोड़ा फासला रखें।
  • अपने हाथों को अपने शरीर के बगल में रख लें।
  • आपका शरीर इस दौरान पूरा ढीला होना चाहिए।
  • इस आसन के दौरान आपको बिलकुल भी हिलना-डुलना नहीं है।
  • कुछ देर के लिए इसी मुद्रा में रहे और उसके बाद इससे बाहर आ जाएं।

आंखों के लिए योग 7. त्राटक

आंखों के लिए योग में इस व्यायाम को करने के लिए आप एक मोमबत्ती के आगे ध्यान की मुद्रा में बैठ जाएं। मोमबत्ती को अपनी छाती जितनी ऊंचाई के बराबर और सामने की दिशा में एक हथेली की दूरी पर रखें। इसकी लौ स्थिर होनी चाहिए। कुछ देर तक इस लौ को एकाग्रता से देखें और फिर धीरे से अपनी आंखें बंद कर लें। अब उस तस्वीर पर अपना ध्यान केंद्रित करें ,जो बंद आंखों से आपके सामने बन रही हो। इस व्यायाम को तीन बार दोहराएं। आप त्राटक का अभ्यास काले कागज पर सफेद पॉइंट या सफेद कागज पर काले पॉइंट के साथ भी कर सकते हैं। यह व्यायाम आंखों को साफ़ करता है और इसके साथ ही आंखों की मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं। आंखों की रोशनी और याददाश्त बढ़ाने में भी यह व्यायाम काफी कारगर है। इससे एकाग्रता बढ़ती है इसलिए स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए यह व्यायाम विशेष रूप से लाभदायक है।

इन योग क्रियाओं और योगासनों के अलावा अनुलोम-विलोम प्रणायाम भी आंखों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। इन सबसे आंखों की मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं। आंखों के स्वास्थ्य के लिए अपने आहार पर भी ध्यान दें। आपकी आंखों को कोई नुकसान न हो, इसके लिए पूरी सावधानियां बरतें क्योंकि स्वस्थ आंखों से हम इस खूबसूरत दुनिया को देख सकते हैं।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 16/05/2021

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement