अगर आपके वजायना से आती है बदबू तो हो जाएं सावधान

By Medically reviewed by Dr. Pranali Patil

क्या आपने कभी नोटिस किया है कि आपके योनि मतलब वजायना से बदबू आती है। क्या वो महक कुछ अजीब तरह की होती है। अगर हां, तो इसके पीछे कई बड़े कारण हो सकते हैं, जैसे कि बैक्टीरियल इंफेक्शन, यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, पसीना या आनुवंशिक कारण आदि। वजायना से आने वाली महक पीरियड्स में आने वाली स्मेल से अलग होती है। वहीं,अगर अजीब महक के साथ ही वजायना में खुजली, जलन या लालपन है तो ये गंभीर बात हो सकती है। 

यह भी पढ़ें : यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन से बचने के 8 घरेलू उपाय

वजायना से बदबू आने के लक्षण क्या हैं?

वजायना से बदबू के साथ अगर आपको निम्न लक्षण महसूस हो तो डॉक्टर से मिलें :

डिस्चार्ज

वजायना से ग्रे, सफेद, हरे-पीले या सफेद रंग का डिस्चार्ज निकलना संक्रमण के लक्षण हैं। इस डिस्चार्ज के कारण वजायना से बदबू आती है। इसके साथ ही खुजली भी होती है। इस स्थिति में आप डॉक्टर से मिलें। 

यह भी पढ़ें : क्या आप जानते हैं कि फीमेल कॉन्डम इन मामलों में है फेल

यूरिन से मछली जैसी गंध आना

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTIs) के कारण पेशाब से मछली जैसी महक आती है। यूटीआई के संक्रमण के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया का नाम इश्चीरिया कोलाई (Escherichia coli) है। ये बैक्टीरिया हमारे आंतों में रहता है। फिर यह हमारे मलाशय (rectum) से गुदा (Anus) तक पहुंचता है। फिर वजायना से होते हुए मूत्रमार्ग तक बैक्टीरिया पहुंच जाता है। फिर हमारे यूरिनरी ब्लैडर  को प्रभावित कर देता है। जिससे ये संक्रमण हो जाता है। जिस कारण वजायना से बदबू आती है। इसके अलावा कुछ फूड्स के कारण भी यूरीन से गंध आती है। 

सेक्स के बाद यूरिन से बदबू आना

अगर सेक्स के बाद पेशाब से मछली जैसी बदबू आती है तो ये वजायनाइटिस के लक्षण हो सकते हैं। सेक्स करने से संक्रमण और भी ज्यादा हो सकता है। अगर ऐसा है तो डॉक्टर से तुरंत मिलें और जब तक लक्षणों में कमी नहीं होती है तब तक सेक्स न करें।

खुजली या जलन होना

वजायना से बदबू आने के साथ ही टॉयलेट करने पर जलन महसूस होना और खुजली भी होती है। अगर आपको पेशाब करने में दर्द होता है तो डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए। 

यह भी पढ़ें : अब सिर्फ 1 रुपए में मिलेगा सैनिटरी पैड, सरकार ने लॉन्च की ‘सुविधा’

वजायना से बदबू आने का कारण क्या है? 

वजायनाइटिस (Vaginitis)

वजायनाइटिस वजायना में होने वाला इंफेक्शन है, जिसमें योनि में जलन और दर्द होता है। वजायनाइटिस होना बहुत सामान्य है। जिस कारण वजायना से बदबू आती है। वहीं, यीस्ट इंफेक्शन या सेक्सुअल ट्रांसमिटेड इंफेक्शन/ट्राइकोमोनाइसिस के कारण भी वजायना से बदबू आने की समस्या होती है। 

बैक्टीरियल वजायनॉसिस (Bacterial vaginosis)

बैक्टीरियल वजायनॉसिस वजायना में बैक्टीरिया की वृद्धि के कारण होने वाली समस्या है। सेक्स करने से भी बैक्टीरियल वजायनॉसिस होता है और ये उन्हें भी हो सकता है जो लोग सेक्सुअल एक्टिव नहीं होते हैं। मेनोपॉज और हॉर्मोनल बदलावों के कारण भी बैक्टीरियल वजायनॉसिस हो जाता है। जिसके कारण भी वजायना से बदबू आती है।

यह भी पढ़ें : स्ट्रेस कहीं सेक्स लाइफ खराब न करे दे, जानें किस वजह से 89 प्रतिशत भारतीय जूझ रहे हैं तनाव से

ट्राइकोमोनाइसिस (Trichomoniasis)

ट्राइकोमोनाइसिस यौन संक्रमण से फैलने वाली समस्या है। जिसके लिए परजीवी जिम्मेदार होता है और यही कारण है कि वजायना से मछली जैसी बदबू आती है। 

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (Urinary tract infection)

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) महिलाओं में होने वाली सबसे सामान्य बीमारी है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के रिपोर्ट के अनुसार तकरीबन 50 प्रतिशत महिलाओं को कभी ना कभी यूरिन इंफेक्शन की परेशानी हुई है। जिसमें योनि व मूत्रमार्ग में जलन और दर्द भी हो सकता है। जिसमें योनि और पेशाब से अजीब सी बदबू आती है। 

पीरियड ब्लड या टैम्पोन  के कारण आने वाली गंध

पीरियड में ब्लड के कारण कई तरह की महक आती है। लेकिन, जब टैम्पाेन या पैड को ज्यादा समय तक लगाए रखा जाता है तो वजायना से अजीब सी गंदी महक आने लगती है।

पसीना भी है कारण

गर्मी, एक्सरसाइज या किन्हीं अन्य कारणों से वजायना में पसीना होता है। जिससे वजायना और उसके आसापास से अजीब सी गंध आने लगती है। ऐसे में अगर आने वाली गंध बहुत बुरी हो तो डॉक्टर से मिलें। 

यह भी पढ़ें : तरह-तरह के कॉन्डम फ्लेवर्स से लगेगा सेक्स लाइफ में तड़का

कैसे करें वजायना से आने वाली गंध का निदान?

वजाना से  आने की शिकायत पर डॉक्टर पहले आपसे मेडिकल और सेक्सुअल हिस्ट्री और अन्य समस्याएं पूछेंगे। जरूरत पड़ने पर आप वजायनल डिस्चार्ज के बारे में भी पूछेंगे। फिर उसे लैब टेस्टिंग के लिए भेज करते हैं। साथ ही आपका यूरीन टेस्ट भी कराएंगे, ताकि इंफेक्शन होने के कारणों का पता लगाया जा सके। जिसके आधार पर आपका इलाज किया जाता है।

आपको डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए?

वजायना में निम्न लक्षण सामने आने के बाद आप को डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए :

वजायना से आने वाली गंध का इलाज क्या है?

वजायना से बदबू आने जैसी समस्या का इलाज उसके लक्षणों और कारणों के आधार पर होता है:

बैक्टीरियल वजायनॉसिस (Bacterial vaginosis)

डॉक्टर आपके कमर के निचले हिस्से और गुप्तांगों की जांच करते हैं और सैंपल लेकर लैब में भेजते हैं। अगर बैक्टीरियल वजायनॉसिस का रिजल्ट पॉजिटिव आता है तो डॉक्टर एंटीबायोटिक्स से संक्रमण का इलाज करते हैं। जैसे- मेट्रॉनिडाजोल टैबलेट या क्लिंडामायसीन मलहम दे कर बैक्टीरियल वजायनॉसिस का इलाज किया जाता है।

यह भी पढ़ें : पीरियड्स के दौरान योनि में जलन क्यों होती है? जानिए इसके कारण और इलाज

यीस्ट इंफेक्शन

यीस्ट इंफेक्शन होने पर एंटीफंगल दवाओं से इलाज किया जाता है। माइकॉनाजेल या टायोकॉनाजोल जैसी दवाओं को डॉक्टर यीस्ट इंफेक्शन में देते हैं। लेकिन, ये दवाएं बिना डॉक्टर के परामर्श के न खाएं। 

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन 

यूरिनरी ट्रैक्ट संक्रमण को कम करने के लिए लो डोज की एंटीबायोटिक्स ले सकती हैं। जैसे- नाइट्रोफ्यूरैनटॉइन, ट्राइमेथॉप्रिम-सल्फामेथॉक्साजोल और सिफैलेक्सिन को आप यूटीआई दोबारा होने पर ले सकते हैं। 

वजायना से बदबू खत्म करने के घरेलू उपाय

  • रोज दो से तीन लीटर पानी और जूस पीने की आदत डालें। 
  • ज्यादा पानी पिएंगे तो पेशाब बार-बार आएगी। तो पेशाब को रोके नहीं इससे भी इंफेक्शन होता है। 
  • साफ-सफाई का ख्याल रखें और कॉटन (सूती) अंडरगारमेंट ही पहनें।
  • उन फल और सब्जियों का सेवन करें, जिनमें विटामिन-सी की मात्रा अधिक होती है। विटामिन-सी यूरिन इंफेक्शन पैदा करने वाले बैक्टेरिया को खत्म करने में मदद करता है। 
  • औषधियों में शामिल आंवले के पाउडर और इलायची पाउडर को एक साथ मिलाकर इस मिश्रण को पानी में मिक्स कर के पीने से फायदा मिलता है। 
  • महिला हों या पुरुष दोनों को ही अपने प्राइवेट पार्ट की सफाई का ध्यान रखना चाहिए। यूरिन इंफेक्शन हाइजीन नहीं रखने की वजह से भी होता है। 
  • क्रैनबेरी यानी कि करौंदा यूटीआई में बहुत फायदेमंद औषधि है। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन में लोग करौंदे को घरेलू उपाय के तरह प्रयोग करते हैं। करौंदे का जूस बना कर पीने से संक्रमण ठीक होता है। आप एक दिन में 750 मिलीलीटर से 1 लीटर तक क्रैनबेरी जूस ले सकते हैं। इसे एक साथ न पी कर आप तीन से चार बार में पिएं। इससे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के बैक्टीरिया फ्लश हो कर बाहर निकल जाएगा। लेकिन, अगर आपके परिवार में किसी को किडनी से संबंधित समस्या है तो आप भी करौंदे का जूस न पिएं। 
  • प्रोबायोटिक्स का सेवन करने से गट और वजायना के बैक्टीरिया खत्म हो जाएंगे और संक्रमण से राहत मिलेगी। जिससे वजायना से बदबू आने की समस्या भी ठीक हो जाएगी। 
  • कुछ फूड्स भी वजायना से आने वाली बदबू के लिए जिम्मेदार होतै हैं, जैसे- ब्रॉकली, लहसुन, प्याज और कुछ मछलियां

ध्यान रखने योग्य बातें

वजायना से आनवे वाली बदबू को रोकने के लिए कुछ बातों का ध्यान देना जरूरी है : 

  • वजायना पर साबुन न लगाएं
  • किसी भी तरह के केमिकल का प्रयोग न करें
  • टाइट अंडरवियर न पहनें
  • बिना लैटेक्स के कॉन्डम का प्रयोग न करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें : 

क्यों होता है सेक्स के बाद योनि में इंफेक्शन?

लेडीज! जानिए सेक्स के बाद यूरिन पास करना क्यों जरूरी है

ये हैं वजायना में होने वाली गंभीर बीमारियां, लाखों महिलाएं हैं ग्रसित

पब्लिक टॉयलेट यूज करने पर होने वाली वजायनल खुजली से कैसे बचें?

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख दिसम्बर 4, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया दिसम्बर 4, 2019

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे