home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

इस नवरात्र गरबा और डांडियों से पाएं सेहत का तोहफा

इस नवरात्र गरबा और डांडियों से पाएं सेहत का तोहफा

कैसे गरबा और डांडिया डांस करता सेहत पर असर?

क्या आप जानते हैं नवरात्रि का गरबा भी बन सकता है सेहतमंद एक्ससरसाइज!

नवरात्रि शुरू हो गई है और सभी घरों में पूजा अर्चना से लेकर गरबा और डांडिया की ड्रेस की तैयारी भी जरूर हो गई होगी। त्योहारों की धूम में कहीं आपकी सेहत न बिगड़ जाए इसका ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि आपके लिए व्यायाम का काम करती है। फिर चाहे वो एक लंबी सैर हो या फिर डांस। जब आप गरबा डांस करते हैं तो आपके शरीर के सभी अंग सक्रिय हो जाते हैं जिससे शरीर में फुर्ती आती है। मांसपेशियों में अकड़न और बढ़े हुए वजन को धीरे -धीरे लेकिन मजेदार तरीके से कम करने का भी एक कारगर तरीका है।
इसके साथ ही गानों का भी मूड से गहरा ताल्लुक है। साइंस के कई शोधों में भी पाया गया है कि अगर आप अच्छा म्यूजिक सुनते हैं और डांस करते हैं तो आपके शरीर के साथ आपका मन भी खुश और स्वस्थ रहता है। डांस फॉर्म भारतीय गरबा या डांडिया हो या फिर अंग्रेजी बॉल डांस दोनों ही आपकी सेहत की रिदम को सुधार सकते हैं।

  • डॉक्टर यह भी मानते हैं कि नृत्य करने से आपको हृदय में कोलेस्ट्रॉल आदि की समस्या नहीं होती है। शरीर अधिक सुगठित और लचीला बनता है।
  • बढ़ती उम्र के साथ जोड़ों के दर्द और ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) की परेशानी हो सकती है। अगर आप शुरू से ही ध्यान रखें और सक्रिय रहें तो आप इन बीमारियों से भी खुद को बचा सकते हैं।
    इसके अलावा कई लोग आत्मविश्वास की कमी और फुर्ती की समस्या से भी गुजरते हैं। डांस करने से आप एक नई प्रतिभा सीखते हैं जिसकी वजह से आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होती है।

आखिर क्यों है गरबा और डांडिया स्पेशल?

खुशी के मौके पर भले ही आपको नाचना न आता हो लेकिन गाने बजते ही कदम थिरकने लगते हैं। नवरात्रि के त्यौहार में भी डांस का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग रहा है। नवरात्रों के दौरान डांडिया और गरबा को माता की आराधना करने का एक मुख्य भाग कहते हैं। रंग बिरंगी डांडिया और चमकती हुई पोशाक पहने सभी उम्र के लोग इस त्यौहार में पूरे हर्षोउल्लास के साथ गरबा और डांडिया करते हैं।

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के कला संकाय में पढ़ रही बबिता थपलियाल कहती हैं कि वैसे तो वे भरतनाट्यम सीखती हैं लेकिन नवरात्रि में गरबा और डांडिया करने के लिए वो हर साल नई पोशाक खरीदती हैं और बड़े उल्लास के साथ इसमें भाग भी लेती हैं।

नवरात्रि का अर्थ है नौ रातों का समूह, इस त्यौहार में दुर्गा की पूजा की जाती है और अलग -अलग तरीकों से नौ रातों को मनाया जाता है। नवरात्रि की धूम खासतौर से गुजरात और महाराष्ट्र में अधिक होती है। इस त्यौहार में व्रत, पूजन, खाने -पीने के साथ गरबा और डांडिया का खास महत्त्व है।

गरबा और डांडिया नृत्य होने के साथ ही एक्ससरसाइज का भी बहुत कारगर तरीका है। हैलो हेल्थ से बातचीत के दौरान कई लोगों ने बताया कि गरबा और डांडिया करने से उन्हें इस व्रत के दौरान और अधिक ऊर्जा और खुशी का एहसास होता है।

यह भी पढ़ें : मनोरंजन के साथ फिट रहने का आसान तरीका है ज़ुंबा डांस वर्कआउट (Zumba Dance Workout)

कैसे है डांडिया गरबा से अलग है?

सबसे मुख्य अंतर है डांडिया में रंगीन स्टिक्स का उपयोग जबकि गरबा में बिना स्टिक्स के हाथों से ही नृत्य किया जाता है। एक और महत्वपूर्ण अंतर जो दिखाई देता है वो ये है कि गरबा आमतौर से आरती के पहले किया जाता है जबकि डांडिया हमेशा आरती के बाद किया जाता है। इसके अलावा अगर आप गरबा कर रहें है तो आपको बहुत सारे लोगों की जरूरत नहीं है लेकिन अगर आप गरबा कर रहे हैं तो आपको दोस्तों की जरूरत पड़ेगी।

कैसा होता है पहनावा?

नवरात्रि के समय आपने बाजारों में चनिया चोली और रंग बिरंगे पोशाकों को तो देखा ही होगा। ये सभी कॉस्ट्यूम्स खासतौर से गरबा और डांडिया खेलने के लिए खरीदे जाते हैं। अहमदाबाद में मिलने वाली चनिया चोली दुनिया भर में मशहूर हैं। बच्चे, बड़े और बुजुर्ग सभी इन पोशाकों को पहनकर गरबा और डांडिया खेलते हैं।

कौन से प्रॉप्स होते हैं इस्तमाल!

दिया : हर पर्व में अग्नि का खास महत्त्व होता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए कई बार गरबा डांसर दीयों को अपने सिर पर रख कर नृत्य करते हैं। नए जमाने में कुछ मॉडिफिकेशन के चलते आजकल LED दिया का भी उपयोग किया जाता है।

डांडिया : डांडिया यानी एक खूबसूरत स्टिक। कई बार ये लकड़ी, मेटल या सिल्वर से भी बनी हुई हो सकती है। आजकल लोग इस टिक के अलग – अलग अवतार बाजार में लेकर आए हैं। ये डांडिया कई आकर्षक आकारों में उपलब्ध है।

मंजीरा : इसकी आवाज से हर पर्व रोशन हो उठता है।

छतरी

मटका

मांडवी

इन सभी प्रॉप्स के साथ और भी कई चीजों का इस्तमाल किया जाता है।

आशा करते हैं इस बार की नवरात्रि आपके लिए भी रंगीन हो और आप गरबा और डांडिया का लुफ्त उठा पाएं। सेहतमंद रहें और हमेशा थिरकते रहें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/06/2021 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x