home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

एयर प्यूरिफायर्स को लेकर फैले ये मिथक हैं बिल्कुल गलत

एयर प्यूरिफायर्स को लेकर फैले ये मिथक हैं बिल्कुल गलत

पिछले कुछ सालों में एयर प्यूरीफायर्स की मांग दुनिया भर में बहुत बढ़ गई है। खासकर उत्तर भारत में हवा की गुणवत्ता सर्दियों की शुरुआत के साथ ही घट जाती है। जबकि एयर प्यूरीफायर घर के अंदर के प्रदूषण से लड़ने के लिए सबसे प्रभावी उपाय माने जाते हैं। लेकिन, भारत में इसके उपयोग के बारे में लोगों के जेहन में कई संदेह रहते हैं। इसके अलावा एयर प्यूरीफायर को लेकर अलग-अलग राय होने के कारण भी लोग एयर प्यूरीफायर्स का उपयोग कम ही करते हैं। ऐसा माना जाता है कि जब आप एयर प्यूरिफायर के पास बैठते हैं, तभी यह प्रभावी होता है। इसी तरह के कई मिथक एयर प्यूरीफायर्स के बारे में फैले हुए हैं। हम भारत में एयर प्यूरिफायर्स को लेकर फैली हुए कुछ सबसे आम धारणाओं के बारे में आपको बताएंगे।

ये भी पढ़ें- वायु प्रदूषण बन सकता है डिप्रेशन का कारण!

अगर बाहरी हवा प्रदूषित है इंडोर एयर प्यूरिफायर बेअसर है

बाहरी प्रदूषण के उच्च स्तर की स्थिति में एयर प्यूरिफायर आपके कमरे में हवा साफ रखने में मदद कर सकता है। यह आपको बाहर की प्रदूषित हवा से बचाता है और यह प्रभावी साबित होता है, ”प्योरलॉजिक लैब्स इंडिया और AQI इंडिया के संस्थापक रोहित बंसल ने कहा कि एयर प्यूरिफायर एक अच्छा विकल्प हैं। जबकि हम बाहर प्रदूषण के बारे में चिंतित हैं, बहुत कम लोग समझते हैं कि घर के अंदर की हवा ज्यादा प्रदूषित है। एयर प्यूरीफायर की प्रभावशीलता के बारे में कोई संदेह नहीं है।

खिड़कियां खुली होने पर एयर प्यूरिफायर काम नहीं करता

यह पूरी तरह से हवा की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। अगर बाहर हवा प्रदूषित हैं, तो दरवाजे और खिड़कियां बंद रखने की सलाह दी जाती है। हालांकि, खाना पकाने के दौरान, डस्टिंग या जब कमरे के अंदर कुछ धुआं होता है जैसे अगरबत्ती या सिगरेट से तो शुद्ध हवा की प्रभावशीलता को बढ़ावा देने के लिए खिड़कियां खुली रखने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा लंबे समय तक दरवाजे और खिड़कियां बंद रखने से कमरे के अंदर कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर में बढ़त होगी। चूंकि एयर प्यूरीफायर कार्बन डाइऑक्साइड को नहीं हटाते हैं, इसलिए खिड़कियों को कभी-कभार खोलना बेहद जरूरी है।

ये बिल्कुल सही बात है कि खिड़की दरवाजे खोलने से एयर प्यूरिफायर का असर कम हो जाता है, लेकिन फिर भी इस बात की सलाह दी जाती है कि बंद कमरे में एयर प्यूरिफायर के साथ ज्यादा देर तक रहना सुरक्षित नहीं है क्योंकि वह कार्बन डाइऑक्साइड को नहीं हटाता है।

ये भी पढ़ें- चीन की तरह भारत भी दे सकता है प्रदूषण को मात, उठाने होंगे ये कदम

एयर प्यूरिफायर बदबू भी हटाता है

ये बिल्कुल सच नहीं है। स्वच्छ हवा से गंध का कोई लेना देना नहीं है। यह पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस प्रकार के फिल्टर का उपयोग कर रहे हैं। अगर फिल्टर में एक्टिव कार्बन है, तो आप कुछ अंतर की उम्मीद कर सकते हैं, वरना सामान्य रूप से एयर प्यूरिफायर बदबू को निजात दिलाने के लिए नहीं होते हैं।

अगर आपके एयर प्यूरिफायर मॉडल में कार्बन फिल्टर है और यह बदबू हटाने की सुविधा देता है, तो इसे आदर्श रूप से काम करना चाहिए। हालांकि, ज्यादातर एयर प्यूरिफायर बदबू नहीं हटाते हैं।

एयर प्यूरीफायर तभी प्रभावी होते हैं जब आप उनके पास बैठें

बिल्कुल नहीं। हर एक एयर प्यूरिफायर मॉडल के लिए एक स्वच्छ वायु वितरण दर (Clean Air Delivery Rate,CADR) है, जो एक निश्चित आकार के पूरे कमरे में पहुंचती है। आप एयर प्यूरिफायर का फायदा उठाने के लिए उस कमरे के अंदर कहीं भी हो सकते हैं।

“ये बिल्कुल सही नही है। एयर प्यूरीफायर के CADR के आधार पर डिवाइस बताए गए आकार के पूरे कमरे के लिए काम करता है और इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसके आस-पास हैं या नहीं।

ये भी पढ़ें- प्रदूषण से भारतीयों की जिंदगी के कम हो रहे सात साल, शिशुओं को भी खतरा

एसी कमरों में एयर प्यूरीफायर की आवश्यकता नहीं होती है

बिल्कुल गलत। एयर कंडीशनर केवल कमरे के अंदर हवा के तापमान को नियंत्रित करता है। प्रदूषकों को हटाने में इसकी कोई भूमिका नहीं है। एसी छोटे कणों के लिए असरदार नहीं होते और एसी कमरों को प्रदूषकों को फिल्टर करने के लिए एयर प्यूरीफायर की आवश्यकता होती है।

आप फिल्टर बदलने के बजाय एयर प्यूरिफायर के फिल्टर को साफ कर सकते हैं

हर एक फिल्टर की अपनी क्षमता होती है। आप फिल्टर की बाहरी सतह को ब्रश से साफ कर सकते हैं लेकिन, अंदर फंसे हुए कण हवा के शुद्ध होने की क्षमता को कम कर देते हैं। एयर फिल्टर को ब्रश से साफ करने से कुछ हद तक मदद मिल सकती है, लेकिन यह एयर प्यूरिफायर के प्रभावशीलता को बहुत कम कर देगा।

सीलिंग फैन को बंद करने पर एयर प्यूरीफायर बेहतर काम करता है

जब दरवाजे और खिड़कियां बंद हो जाती हैं और अगर छत के पंखे को चालू किया जाता है, तो एक सकारात्मक दबाव बनता है जो दरवाजे और खिड़कियों के गैप से हवा और प्रदूषकों को बाहर निकालता है। इस गैप से अंदर आने वाली हवा प्रदूषक को काम करते हैं और एयर प्यूरिफायर कमरे के अंदर की हवा को साफ करने में अधिक समय लेता है।

जब छत के पंखे को चालू किया जाता है, तो कमरे के अंदर हवा शुद्ध करने वाले एयर प्यूरिफायर को साफ करने में अधिक समय लगता है क्योंकि यह शुद्ध करने के लिए हवा के फ्लो को प्रभावित करता है। इसका मतलब यह नहीं है कि जब छत के पंखे चालू होते हैं तो एयर प्यूरीफायर अप्रभावी होता है, बस ऐसे में इसे हवा को साफ करने में अधिक समय लगता है।

ये भी पढ़ें- प्रदूषण से बचने के लिए आजमाएं यह हर्बल ‘मैजिक लंग टी’

महंगे एयर प्यूरीफायर खरीदने का कोई मतलब नहीं है,सभी एक समान हैं

बिल्कुल सच नहीं है। एयर प्यूरीफायर अलग-अलग कैपेसिटी और फिल्टर क्वालिटी में आते हैं। एक छोटे कमरे के लिए एक एयर प्यूरीफायर मॉडल बड़े या कई कमरों के लिए प्रभावी नहीं होगा। साथ ही, एयर प्यूरीफायर की क्वालिटी बहुत मायने रखती है।

यह पूरी तरह से फीचर, फिल्टर क्वालिटी पर निर्भर करता है और यह कीटाणुओं, बैक्टीरिया और अन्य वायु जनित वायरस को मार सकता है या नहीं। सामान्य तौर पर, एयर प्यूरीफायर बस पार्टिकुलेट मैटर को फिल्टर करता है। कुछ ऐसे एयर प्यूरीफायर हैं, जो ट्यूबरक्यूलोसिस के जीवाणुओं को भी मारते हैं, इन पर अधिक पैसा खर्च करना होगा।

और पढ़ें- नॉर्थ इंडिया में है आपका बसेरा तो जानें प्रदूषण से बचने के उपाय

अस्थमा और हार्ट पेशेंट के लिए जरूरी है पूरे साल फेस मास्क का इस्तेमाल

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Lucky Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 06/11/2019
x