home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

भारत में कोरोना के मामलों में इजाफा, देश में अलर्ट जारी

भारत में कोरोना के मामलों में इजाफा, देश में अलर्ट जारी
एक जहरीली हवा की तरह कोरोना न केवल हमारे देश में बल्कि पूरी दुनिया में अपने डर से लोगों को भयभीत करके रखा है। समय ऐसा हो गया है की हमें अपने बच्चों को स्कूल जाने के लिए नहीं बल्कि न जानें के लिए मनाना पड़ रहा है। आज हम अपने बच्चों की फिक्र उसके करियर को लेकर नहीं बल्कि ये सोचकर करते हैं की कहीं किसी हवा की तरह उनको कोरोना न लग जाये। जैसा कि हम सभी जानते हैं की इसकी शुरुआत चाइना से हुई थी। लेकिन धीरे-धीरे ये पूरी दुनिया में फ़ैल गया। देखते ही देखते लोग इसके शिकार होने लगे।आप शायद इस बात से अंजान होंगे कि कोरोना वायरस बहुत सूक्ष्म लेकिन प्रभावी वायरस है। कोरोना वायरस मानव के बाल की तुलना में 900 गुना छोटा है, लेकिन कोरोना का संक्रमण दुनिया भर में तेजी से फैल रहा है। भारत में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है।

भारत में कोरोना मरीजों की संख्या

आपको बता दें की भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या में कमी आने के बजाय बढ़ी ही जा रही है। अब तक भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 43 हो गई है। लोगों के अंदर का डर तब भयानक रूप ले लिया खबर ये आई की केरला के एक ही परिवार के पांच सदस्यों को कोरोना टेस्ट में पॉज़िटिव पाया गया।अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 3200 से अधिक हो चुकी है।तो वहीं ईरान में अब तक कोरोना से 92 और दक्षिण कोरिया में 32 लोगों की मौत हो चुकी है। केवल इटली में ही अब तक कोरोना से 366 लोगों की मौत हो चुकी है।
दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1,00,000 के पार हो गयी है।आज की ताजा मरीजों की लिस्ट में दो मरीज लद्दाख का है तो वहीं दूसरा मरीज तमिलनाडु का है। खबरों की मानें तो लद्दाख के दोनों मरीज हाल ही में ईरान से लौटें है। तो तमिलनाडु का मरीज ओसाम से लौटा है तो ऐसा भी माना जा रहा है की इनको इस बिमारी ने यहाँ आने से पहले ही घेर लिया था। जहां एक तरफ लोग कोरोना के डराने से डर से सहम सहम कर जी रहे हैं तो वही दूसरी तरफ हमारे देश के प्रधानमंत्री ने कहा की कोरोना के प्रति बढ़ती अफवाहों से बचने हिदायत दी है।

भारत में कोरोना के लिए कई जगहों पर हाई अलर्ट जारी

मालूम हो की असम सहित कुछ जगहों पर सरकार ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। दरअसल पड़ोसी देश भूटान में अमेरिका से आये एक सैलानी में भारत में कोरोना पाया गया ये व्यक्ति असम में भी कुछ दिन रहा था जिसके कारण उसके संपर्क में कुछ 127 लोगों को सस्पेक्ट माना जा रहा है। ये सबसे बड़ा कारण है जिसकी वजह से यहाँ हाई अलर्ट जारी किया जा रहा है।तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री डॉ सी विजयबास्कर: का कहना है की तमिलनाडु के एक व्यक्ति का कोरोना पॉजिटिव पाया गया लेकिन बा पूरी तरह से साधारण है उसे बुखार भी नहीं है फिलहाल उसे एक अलग वार्ड में रखकर उसकीदेखभल की जा रही है।

विदेशी यात्रियों पर बैन

कोरोना बाहर से कहीं हमारे यहां न आ जाये इस डर से लोगों से विदेशी यात्रियों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया है।पहले तो सिक्किम ने विदेशी यात्रियों पर बैन लगाया था उसके बाद अब अरुणाचल प्रदेश ने भी अपने यहाँ विदेशी यात्रियों पर बैन लगा दिया है।

60 देशों में कोरोना के कहर

कई सालों बाद ऐसी बिमारी के बारे में सुना और देखा गया है जिसका असर इतना घातक है, अब तक 60 देशों में कोरोना फ़ैल चुका है। इसी कारण कोरोना को वैश्विक महामारी घोषित कर दिया गया है।इसी बीच लोग अपने अलग-अलग तरह के जद्दोजहद में लगे हैं की इससे बचने के क्या उपाय है। इसी में से एक शामिल है नॉनवेज क्या वाकई नॉनवेज खाने से कोरोना फ़ैल रहा है। बहुत सारे लोगन ने सोशल मीडिया पर ट्विटर पर तरह तरह के ट्वीट कर रहे हैं जैसे की नो नॉनवेज नो कोरोना लेकिन जब डॉक्टर की सलाह ली गई की क्या वाकई मीट खाने से कोरोना हो सकता है तो इस पर डॉक्टरों का कहना है की नॉनवेज को पूरी तरह से अपने डाइट से हटाने की जरुरत नहीं है। लेकिन कच्चे मांस से साफतौर पर बचना चाहिए। नॉनवेज का प्रयोग करना तब ठीक है जब वो अपने पका दिया हो कच्चे मांस में किसी भी बीमारी का प्रकोप रह सकता है।

कोरोना के लक्षण

आमतौर पर कोरोना के लक्षण काफी साधारण होते हैं जिससे इसे पहचानना थोड़ा मुश्किल हो जाता हैं लेकिन ये कुछ लक्षण है जो आपको किसी में भी दिखाई दे तो आप उसको कोरोना जांच करने की सलाह दे सकते हैं। कोरोना से सावधानी ही इस बीमारी से आपको बचा सकती है। अगर आपको कोई समस्या है तो बेहतर होगा कि कोरोना के बारे में डॉक्टर से जानकारी प्राप्त करें।
जो सबसे सरल और कारगर उपाय है जानने का की आपको कोरोना है या नहीं तो आप एक लम्बी सांस लेकर 10 से 15 सेकंड तक रोके अगर इस बीच आपको खांसी आ जाती है या आपकी किडनी में दर्द होता है तो आपको कोरोना की जांच कराने की जरुरत है।
  • बुखार आना
  • ज्यादा खांसी आना।
  • सर्दी जुकाम होना।
  • सांस लेने में तकलीफ होना।
  • नाक बहना
  • गले में खराश होना।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus disease (COVID-19) advice for the public: When and how to use masks. https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019/advice-for-public/when-and-how-to-use-masks. Accessed on 9/3/2020

.Coronavirus disease (COVID-19) Pandemic
https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019Accessed on 9/3/2020

IndiaFightsCorona COVID-19 –https://www.mygov.in/covid-19

Coronavirus has mutated into more aggressive disease, say scientists Accessed on 9/3/2020

https://www.telegraph.co.uk/science/2020/03/04/coronavirus-has-mutated-aggressive-disease-say-scientists/?utm_content=telegraph&utm_medium=Social&utm_campaign=Echobox&utm_source=Twitter#Echobox=1583342350

 

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/05/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x