home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस: क्या थर्ड स्टेज की तरफ बढ़ रहा है भारत?

कोरोना वायरस: क्या थर्ड स्टेज की तरफ बढ़ रहा है भारत?

दहशत का दूसरा नाम बन चुके कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में इतनी तबाही मचाई है, जिसके बारे में किसी ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। चीन के वुहान शहर से फैले इस वायरस ने सिर्फ तीन महीने के अंदर दुनिया के कई देशों में अपनी गिरफ्त में ले लिया है। भारत में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों ने हर किसी की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे में हर किसी को यही डर सता रहा है कि जिस रफ्तार से कोरोना बढ़ रहा है, कहीं भारत की हालत भी तो इटली और स्पेन जैसी नहीं होने वाली? क्या कोरोना की थर्ड स्टेज शुरू हो चुकी है या हम उसकी ओर बढ़ रहे हैं।

कोरोना की थर्ड स्टेज से पहले समझें क्या है लॉकडाउन

दूसरे देशों से सबक लेते हुए भारत के 22 राज्यों के 75 शहरों को लॉकडाउन कर दिया गया है यानी कुछ जरूरी सेवाओं को छोड़कर सबकुछ बंद है। दुकानों से लेकर ऑफिस और पब्लिक ट्रांस्पोर्ट तक सब कुछ बंद। ऐसा करने के पीछे मकसद है कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ना। कोरोना एक संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में प्रेवश कर इसे भी संक्रमित कर देता है और यह वायरस शरीर के बाहर किसी भी ठोस सामान पर कई घंटों/दिनों तक जिंदा रह सकता है, इसलिए यह बहुत ज्यादा खतरनाक है।

नाक, मुंह और आंख से फैलता है संक्रमण

अगर कोई संक्रमित इंसान किसी सामान को छूता है और उसे कोई स्वस्थ इंसान छूता है और इसके बाद अपना मुंह/नाक आदि छूता है तो वह भी तुरंत संक्रमित हो जाता है और इस तरह से यह संक्रमण तेजी से एक से दूसरे में फैलता जाता है। सबसे बड़ी मुश्किल यह है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर लक्षण कुछ दिनों तक दिखते नहीं है और जब दिखते हैं तो वह सामान्य फ्लू वाले ही होते हैं, इसलिए इसकी पहचान और मुश्किल हो जाती है। भारत में मार्च के पहले हफ्ते से कोरोना के मामले सामने आने लगें थे और चौथे हफ्ते तक आंकड़ा 433 हो गया जिसमें 8 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमण को बढ़ता देख ही कई शहरों को लॉकडाउन किया गया है। कोरोना वायरस के कारण कुछ ही दिनों में दुनिया बदल चुकी है।

यह भी पढ़ें: ….जिसके सेवन से नहीं होगा कोरोना वायरस?

कोरोना की थर्ड स्टेज से बचना होगा

कोरोना संक्रमण के कई स्टेज होते हैं और यह तेजी से स्टेज बदलता है। पहले और दूसरे स्टेज तक यदि जरूरी कदम उठाए जाएं तो संक्रमण को तीसरे स्टेज तक पहुंचने से रोका जा सकता है, लेकिन यदि ऐसा नहीं हुआ तो तीसरे स्टेज में पहुंचने के बाद कोरोना पर काबू पाना बेहद मुश्किल हो जाता है। इटली और स्पेन जैसे देश इसका उदाहरण हैं। इटली में कोरोना के कारण मौतों का आंकड़ा 6 हजार के करीब पहुंचने वाला है। कोरोना का केंद्र रहे चीन से कहीं ज़्यादा बदतर हालत हो गई है इटली की। अब तो आलम यह है कि रोगियों को रखने के लिए न तो अस्पताल है और न ही लाशों को दफनाने की जगह है।

जानकारों का मानना है कि कोरोना संक्रमण के पहले और दूसरे चरण में इटली ने इसे बहुत गंभीरता से नहीं लिया और वहां के लोगों को जब घर में रहने के लिए छुट्टी दी गई तो वह पार्टी करने लगे, इसी का नतीजा है कि इटली पूरी तरह से बर्बाद होने की कगार पर है। फ्रांस, स्पेन और अमेरिका में भी कोरोना कहर बरपा रहा है। अमेरिकी में पिछले 24 घंटे में 100 लोगों की मौत हो गई है। ये आंकड़े बेहद डरावने हैं, लेकिन हकीकत यही है।

कोरोना की थर्ड स्टेज से बचने के लिए सरकार की बात मानें

हमारे देश में भी कुछ लोग सरकार द्वारा बार-बार भीड़ न जमा करने और घर में रहने की अपील को गंभीरता से नहीं ले रहे। इतना ही नहीं कई कोरोना मरीज पब्लिक ट्रांस्पोर्ट में सफर करते पकड़े गए। यदि लोगों ने हालात की गंभीरता को नहीं समझा तो भारत में भी कम्यूनिटी ट्रांसमिशन होगा और तब क्या हालात होंगे उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल होगा।

यह भी पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

कोरोना की थर्ड स्टेज : कल का दिन है अहम

ऐसा कहा जा रहा है कि भारत में कोरोना वायरस अपने दूसरे चरण में है, लेकिन यह कभी भी तीसरे चरण में पहुंच सकता है। इस बारे में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के वैज्ञानिक लगातार रिसर्च कर रहे हैं। उनके मुताबिक, आने वाले 24 से 36 घंटों में पता चल जाएगा कोरोना वायरस का भारत में कम्यूनिटी ट्रांसमिशन शुरू हुआ है या नहीं। कम्यूनिटी ट्रांसमिशन यानी कोरोना की थर्ड स्टेज पर वायरस पहुंचा या नहीं।

क्या है कोरोना वायरस की अलग-अलग स्टेज?

कोई भी संक्रमण अचानक से नहीं होता इसकी शुरुआत धीरे-धीरे होती है। इसे ही स्टेज कहा जाता है।

कोरोना वायरस फर्स्ट स्टेज (Corona Virus First Stage)

पहली स्टेज का मतलब है कि बाहर से कोई एक संक्रमति आया और उसके संपर्क में आने से दूसरे बीमार हुए। जैसे कोरोना चीन के वुहान प्रांत से शुरू हुआ और यहां से पूरी दुनिया में फैल गया। यानी चीन से आने वाले लोगों के जरिए ही यह वायरस दूसरे देशों में गया। भारत में भी विदेश से लौटे किसी संक्रमित शख्स के जरिए यह वायरस आया और उस व्यक्ति के संपर्क में आने से यह दूसरे में फैला।

यह भी पढ़ें: इलाज के बाद भी कोरोना वायरस रिइंफेक्शन का खतरा!

कोरोना वायरस सेकंड स्टेज (Corona Virus Second Stage)

इस स्टेज में कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने वाला दूसरे लोग उसके परिवार, दोस्त, यदि पब्लिक सर्विस का इस्तेमाल किया है तो उसके साथ ट्रैवल करने वाले आदि लोग भी संक्रमित हो जाते हैं। यानी दायरा थोड़ा बढ़ जाता है। अभी तक भारत में सिर्फ वही लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जो विदेश से लौटे हैं या संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आए हैं। यह सेकंड स्टेज है जब बीमारी लोकल लेवल पर एक से दूसरे में फैल रही है।

कोरोना की थर्ड स्टेज (Corona Virus Third Stage)

कोरोना की थर्ड स्टेज बेहद खतरनाक है क्योंकि इसमें बिना विदेश से लौटे संक्रमित लोग दूसरों को संक्रमित करने लगते हैं। जैसे विदेश से लौटा कोरोना पॉजिटिव इंसान किसी टैक्सी से सफर करता है और टैक्सी ड्राइवर संक्रमित हो जाता है और आगे टैक्सी ड्राइवर के संपर्क में आने वाले दूसरे लोग संक्रमित हो जाते हैं तो संक्रमण की यह चेन बहुत लंबी चलती रहती है और असल में संक्रमण कहां से हुआ इसका पता नहीं चल पाता है। इटली और स्पेन जैसे देशों में यही हुआ है और भारत में कोरोना की थर्ड स्टेज पर पहुंचने से रोकने की कोशिश भले की जा रही हैं, लेकिन वायरस जिस तेजी से बढ़ रहा है थर्ड स्टेज पर पहुंचने का खतरा अभी बना हुआ है।

इस वायरस के लिए अभी तक कोई दवा या वैक्सीन नहीं बन पाई है ऐसे में इससे बचने का फिलहाल एक ही तरीका है कि आप अपने घर में रहें, जब तक बहुत जरूरी न हो घर से बाहर न जाएं। घर में सब्जियां लाने के बाद उन्हें अच्छे से धुलें। कोरोना के लक्षणों को इग्नोर न करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें :

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

दिल्ली में कोरोना वायरस के 2 मामले, पांच बच्चों के भी लिए गए सैंपल

कोरोना वायरस का शिकार लोगों पर होता है ऐसा असर, रिसर्च में सामने आई ये बातें

कोरोना वायरस (Coronavirus) से जुड़ चुके हैं कई मिथ, न खाएं इनसे धोखा

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus –https://wwwnc.cdc.gov/travel/notices/warning/coronavirus-europe Accessed March 23, 2020

Coronavirus – https://www.niser.ac.in/healthcentre/content/coronavirus-covid-19 Accessed March 23, 2020

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus Accessed March 23, 2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html Accessed March 23, 2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ Accessed March 23, 2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x