home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

भारत, थाईलैण्ड लगे कोरोना वायरस की दवा बनाने में, होमियोपैथी, कॉकटेल दवाओं से ठीक करने का है दावा

भारत, थाईलैण्ड लगे कोरोना वायरस की दवा बनाने में, होमियोपैथी, कॉकटेल दवाओं से ठीक करने का है दावा

दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ कोरोना वायरस अब तक भारत में तीन लोगों को अपनी जद में ले चुका है। वहीं, चीन में अब तक लगभग 700 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है। वहीं, थाईलैंड और भारत के डॉक्टर कोरोना वायरस का इलाज ढूंढने में लगे हैं। जहां एक तरफ डॉक्टर्स दवाओं की कॉकटेल बना कर कोरोना वायरस का इलाज कर रहें हैं, तो वहीं भारत में होमियोपैथ और आयुर्वेद में कोरोना वायरस का इलाज होने का दावा किया जा रहा है। आइए जानते हैं कि आखिर क्या है कोरोना वायरस का इलाज?

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

थाईलैंड के डॉक्टर कोरोना वायरस का इलाज करने का ऐसे कर रहें दावा

थाईलैंड हेल्थ मिनिस्ट्री के हवाले से ये बात पता चली है कि थाईलैंड के डॉक्टर्स ने कोरोना वायरस का इलाज करने के लिए एक नई दवा का आविष्कार किया है। कोरोना वायरस का इलाज तीन दवाओं के कॉकटेल से किया जा रहा है। एचआईवी और फ्लू का इलाज करने वाली दवाओं को मिलाकर कोरोना वायरस से पीड़ित महिला को देने पर वह 48 घंटों में रिकवर करने लगी। इस आधार पर थाईलैंड के डॉक्टर्स ने दावा किया है कि कोरोना वायरस का इलाज एंटीवायरल दवाओं के कॉकटेल से किया जा सकता है।

ये भी पढ़े Drug withdrawal: जानें ड्रग विदड्रॉल क्या हैं?

थाईलैंड के डॉ. क्रिआन्गसाक एटिपॉर्नवैनिश ने बताया कि 71 साल की एक चाइनीज महिला में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दिए। उन्हें अस्पताल में भर्ती कर लिया गया और फिर उन्हें एचआईवी की दवाएं- लोपिनैविर (lopinavir) और रिटोनैविर (ritonavir) के साथ एंटी फ्लू दवा ऑसेल्टामिविर (oseltamivir) को मिला कर दिया गया। जिसके 48 घंटे बाद महिला ने 90% तक रिकवर कर लिया। 48 घंटे बाद जब फिर से महिला की जांच की गई तो पाया गया कि उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव से निगेटिव हो गई।

फिलहाल डॉक्टर अभी भी इस कॉकटेल को लेकर रिसर्च कर रहे हैं कि क्या कोरोना वायरस का इलाज करने के लिए दवाओं का कॉकटेल सभी उम्र के लोगों और मरीजों पर कारगर हो सकता है। अगर दवाओं का ये कॉकटेल लैब टेस्ट में सफल रहा तो ये कोरोना वायरस का इलाज करने वाली पहली दवा मानी जाएगी

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस को लेकर लोगों में भ्रम, इसे कोरोना बियर से जोड़कर देख रहे हैं

होमियोपैथी से हो सकता है कोरोना वायरस का इलाज!

भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि पारंपरिक दवाओं और होमियोपैथी से कोरोना वायरस का इलाज संभव हो सकता है। आयुष विभाग का कहना है कि कोरोना वायरस का बचाव ही कोरोना वायरस का इलाज है। सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन होमियोपेथी [Central Council for Research in Homoeopathy (CCRH)] ने रिसर्च में पाया कि आर्सेनिकम अल्बम 30C (Arsenicum album 30C) नामक होमियोपैथी दवा में दो बूंद तिल का तेल मिलाकर रोज सुबह नाक में डालने से कोरोना वायरस से बचाव हो सकता है।

इसके अलावा मुस्‍ता, परपट, उशीर, चंदन, उद‍ीच्‍य और नगर (Musta, Parpat, Usheer, Chandan,Udeechya & Nagar) को पीस लें और इस मिश्रण के 10 ग्राम पाउडर को एक लीटर पानी में तब तक उबालें, जब तक यह आधा न हो जाए। इसके बाद इसे ठंडा होने के लिए रख दें। फिर आपको जब प्यास लगे तब आप इसे थोड़ा-थोड़ा कर के पीते रहें। ऐसा करने से आप कोरोना वायरस से बचाव कर सकेंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा यूनानी दवाओं के इस्तेमाल से भी कोरोना वायरस के लक्षणों को कम किया जा सकता है। अगर आपको बुखार है तो आप हब्ब-ए-लक्सीर की दो गोलियां गुनगुने पानी के साथ दिन में दो बार ले सकते हैं। इसके अलावा जुकाम के लक्षणों में आप रोगन बनफशा को अपनी नाक पर लगा सकते हैं। रोगन बबूना या काफूरी बाम को स्कैल्प और सीने पर लगाने से आपको जुकाम से राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें : भारत में फैल रही हैं कोरोना वायरस की अफवाह, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की हेल्पलाइन

कोरोना वायरस का इलाज करने के लिए दवा का ट्रायल जारी

चीन ने कोरोना वायरस की दवा का क्लीनिकल ट्रायल जारी है। कोरोना वायरस की दवा में एंटी वायरल दवाओं और अन्य उपायों को मिलाकर पीड़ित व्यक्ति का इलाज किया जा रहा है। थाईलैंड के डॉक्टर्स ने दवाओं के कॉकटेल में जो दवा रिटोनैविर का इस्तेमाल किया है, उसका उपयोग एचआईवी के मरीज के लिए किया जाता है। एक्सपेरिमेंटल एंटीवायरल ड्रग रेम्डेसिविर (Remdesivir) को अमेरिका के गिलइएड साइंसेज ने विकसित किया था। इसका उद्देश्य इबोला और सार्स (Sars) जैसे संक्रामक बीमारियों से लड़ना था। पहली बार यह दवा 35 वर्षीय एक पुरुष को दी गई, जिसकी स्थिति में एक दिन के भीतर सुधार देखने को मिला।

यह भी पढ़ें : भारत पहुंच गया कोरोना वायरस, केरल में नोवल कोरोना वायरस का पहला कंफर्म केस

डब्ल्यूएचओ भी ढूंढ रहा है कोरोना वायरस की दवा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) कोरोना वायरस की दवा बनाने के लिए सहयोगियों के साथ काम कर रहा है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि कोरोना के लक्षण निमोनिया जैसे दिखते हैं। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि कोरोना वायरस पर एंटीबायोटिक दवाइयां कार्य नहीं करती हैं। सिर्फ बैक्टीरियल इंफेक्शन से पीड़ित मरीजों को इंफेक्शन के साथ लड़ने के लिए एंटीबायोटिक दवाइयां दी जाती हैं। फिलहाल हम इस महामारी का इलाज करने के लिए दवा ढूंढ रहे हैं।

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस ( 2019-nCoV) को लेकर ग्लोबल इमरजेंसी घोषित, इंडियन आर्मी ने कर ली तैयारी

जर्मनी भी कोरोना का मात देने के प्रयास में लगा है

जर्मनी की लुबेक यूनिवर्सिटी के रॉल्फ हिलेनफील्ड (Rolf Hilgenfeld) कोरोना वायरस की दवा को इजात करने की कोशिश कर रहे हैं। 2002-03 में सार्स (Severe Acute Respiratory Syndrome) के फैलने के बाद उन्होंने इसकी शुरुआत की थी। हिलेनफील्ड कोरोना वायरस से संक्रमित जानवरों में नए वायरस के दो कंपाउंड की जांच करना चाहते हैं। यह संक्रमण कोरोना वायरस से संबंधित है, जो पिछले साल के अंत में सामने आया था। इस दवा के शुरुआती उपयोग के लिए लोग ड्रग कैंडिडेट अपने ऊपर इस्तेमाल करने के लिए राजी नही हैं, लेकिन हिलेनफील्ड जानवरों पर इस दवा का प्रयोग करना चाहते हैं, जिससे वह भविष्य में कोरोना वायरस के फैलने से पहले ही उसे मात दे सकें।

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस(coronavirus) का भारत में तीसरा केस पॉजिटिव, अब तक 362 लोगों की ले चुका है जान

अमेरिका ने कोरोना की दवा जल्द विकसित करने का किया वादा

अमेरिकी फार्मास्युटिकल कंपनी गिलिएड साइंसेज (Gilead Sciences Inc) कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों के लिए एक्सपेरिमेंटल इबोला थेरेपी दे रही है। कंपनी चीन में अपना रिसर्च सेंटर लगाने के लिए तेजी से काम कर रही है। अमेरिकी नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के डॉक्टर एंथनी फेउकी ने कहा था कि वो कोरोना वायरस की दवा के लिए रेमडेसिविर (Remdesivir) दवा का परीक्षण कर रहे हैं।

हालांकि, पिछली बार इस दवा का परीक्षण इबोला के मरीजों में किया गया था, लेकिन यह दवा कारगर साबित नहीं हुई थी। कंपनी ने कहा कि यह दवा सार्स (Severe Acute Respiratory Syndrome) और मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम से संक्रमित जानवरों में सक्रिय पाई गई है। यह बीमारियां काफी करीब से मौजूदा कोरोना वायरस से संबंधित हैं। वहीं, चीन के जिन यिनटान अस्पताल में पहले 41 करोना वायरस के मरीजों का इलाज किया गया है, जिनमें लोपिनाविर और रिटोनाविर को मिलाकर एंटी-एचआईवी दवाओं का ट्रायल शुरू कर दिया गया है।

तो इस तरह से सभी देश कोरोना वायरस का इलाज करने के लिए लगातार प्रयास में जुटे हैं। अगर कोरोना वायरस के कोई भी लक्षण सामने आए तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें। बिना डॉक्टर के परामर्श पर कियी भी तरह की दवा न लें।

#HelloHealthGroup
#HelloSwasthya
#HelloHealthCoronavirus

और पढ़ें:

कोरोना वायरस से बचने के लिए अपनाएं ये 7 टिप्स

तो क्या HIV की इस दवा से होगा कोरोना वायरस का इलाज?

जल्द ही आ सकती है कोरोना वायरस की वैक्सीन

Corona virus: कोरोना वायरस से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Unani Medicines useful in symptomatic management of Corona Virus infection https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1600895 Accessed 08th Feb, 2020

A triple-cocktail to treat Coronavirus? Doctors claim dramatic results https://www.indiatvnews.com/news/world/a-triple-cocktail-to-treat-coronavirus-doctors-claim-dramatic-results-586190 Accessed 08th Feb, 2020

Indian Authorities Propose Use of Homeopathy to Prevent Coronavirus https://www.the-scientist.com/news-opinion/indian-authorities-propose-use-of-homeopathy-to-prevent-coronavirus-67075 Accessed 08th Feb, 2020

Traditional Indian medicine for coronavirus: AYUSH ministry https://www.livemint.com/news/india/traditional-indian-medicine-for-coronavirus-ayush-ministry-11580293683838.html Accessed 08th Feb, 2020

Coronavirus. https://www.scmp.com/news/china/society/article/3048732/china-starts-clinical-trials-new-antiviral-drug-treat Accessed 04th Feb, 2020

Coronavirus. https://www.scmp.com/news/china/science/article/3047709/genetic-and-drug-trail-contain-deadly-coronavirus-china Accessed 04th Feb, 2020

Coronavirus. https://www.nature.com/articles/d41586-020-00190-6 Accessed 04th Feb, 2020

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x