home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सहवाग ने किया डेंगू कैंपेन को सपोर्ट, जानें डेंगू से निपटने के घरेलू नुस्खे

सहवाग ने किया डेंगू कैंपेन को सपोर्ट, जानें डेंगू से निपटने के घरेलू नुस्खे

टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली सरकार द्वारा चलाए जा रहे डेंगू के खिलाफ कैंपेन का सर्मथन किया है। वीरू क्रिकेट से संन्यास के बाद आजकल सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर काफी एक्टिव रहते हैं। इस बार भी भारतीय ओपनर ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर कर ’10 हफ्ते 10 बजे 10 मिनट कैंपेन’ का सपोर्ट किया है।

दिल्ली सरकार का यह कैंपेन डेंगू और मच्छरों के कारण फैलने वाली अन्य बीमारियों के खिलाफ चलाया जा रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा इसकी शुरुआत सितंबर में की गई थी। इस कैंपेन के तहत लोगों से अपील की गई है वे हर रविवार सुबह 10 बजे 10 हफ्तों तक यह सुनिश्चित करें कि उनके आसपास कहीं भी पानी जमा न हो। इस तरह जमा हुए पानी में भी मच्छर पनपते हैं।

और पढ़ें: डेंगू और स्वाइन फ्लू के लक्षणों को ऐसे समझें

डेंगू (Dengue) से लड़ने के लिए कई चैंपियन की जरूरत

वीरेंद्र सहवाग डेंगू कैंपेन के सपोर्ट में जारी किए गए वीडियो में कहते नजर आ रहे हैं कि जिस तरह चैंपियन बनने के लिए टीम वर्क की जरुरत होती है, उसी तरह डेंगू से लड़ने के लिए कई चैंपियन्स की जरुरत है। वहीं सहवाग ने अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस कैंपेन का हिस्सा बने।

डेंगू कैंपेन को लेकर केजरीवाल का जवाब

वीरेंद्र सहवाग के वीडियो के जवाब में अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर वीरेंद्र सहवाग का आभार व्यक्त किया है। केजरीवाल ने लिखा कि वीरू के सपोर्ट के बाद यूथ और भी ज्यादा जोश के साथ इस कैंपेन में जुड़ेंगे।

डेंगू के लक्षण

डेंगू बुखार तेजी से फैलने वाली एक वायरल बीमारी है, जो संक्रमित एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलती है। डेंगू के कारण अचानक तेज बुखार, सिरदर्द, जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, थकान, उल्टी, त्वचा पर चकत्ते और हल्का रक्तस्राव हो सकता है। डेंगू के लक्षण अक्सर फ्लू या वायरल संक्रमण होते हैं। यदि किसी शख्स में इस तरह के लक्षण पाए जाते हैं, तो उन्हें तुरंत ब्लड टेस्ट कराने की जरूरत है।

डेंगू से निपटने के घरेलू नुस्खे

भारत में साल दर साल डेंगू की स्थिति गंभीर होती जा रही है। ऐसे में जरूरी है बारिश का मौसम आने और मच्छरों के पनपने के कारणों का पहले से पता करके ही इनको खत्म करने की जरूरत होती है। डेंगू से पीड़ित इंसान को बुखार के साथ-साथ जोड़ों में भी तेज दर्द हो सकता है। इसके अलावा इन लोगों को बार-बार चक्कर भी आ सकते हैं। इसके अलावा डेंगू में लोगों की प्लेटलेट्स की संख्या भी बहुत तेजी से गिरती हैं। ये कई बार इंसान की मौत का कारण भी बन सकता है। प्लेटलेट्स की संख्या शरीर में कम होने पर अस्पताल में भर्ती भी रहना पड़ सकता है। यहां डॉक्टर्स मरीज को ग्लूकोज और एंटीबॉडी देते हैं। इसके अलावा कुछ घरेलू उपचार भी हैं जिनकी मदद से डेंगू से पीड़ित मरीज की प्लेटलेट्स को नॉर्मल स्तर तक लाया जा सकता है।

औसतन एक मनुष्य के शरीर में 1.5 लाख से 4 लाख तक प्लेटलेट्स होती हैं। साथ ही जब इनकी संख्या 50 हजार के नीचे चली जाए, तो यह मनुष्य की जान के लिए खतरा बन सकता है। ऐसे में मरीज को तुरंत अस्पताल में भर्ती करके किसी और की प्लेटलेट्स चढ़ाने की जरूरत पड़ती है। ऐसे में कई बार प्लेटलेट्स को कुछ फूड से मेंटेन किया जा सकता है। ऐसे ही कुछ फूड हैें :

जौ का रस

व्हीट ग्रास जिसे जौ भी कहा जाता है डेंगू के कारण प्लेटलेट्स कम होने पर काफी मदद कर सकता है। जौ के रस यानि कि गेहूं की ताजा घास के जूस को पीने से मरीज की प्लेटलेट्स को नियंत्रित किया जा सकता है। एक दिन में इस जूस को 100-150 एमएल पीने मरीज को आराम मिल सकता है।

कद्दू

विटामिन-के की कमी को पूरा करने के लिए कद्दू एक अच्छा विकल्प है। इसमें काफी मात्रा में विटामिन-के मौजूद होता है। विटामिन-के भी प्लेटलेट्स की तरह ही ब्लड क्लॉट बनाने में मदद करता है। कद्दू के रस को शहद में मिलाकर पीने से प्लेट्लेट्स को नियंत्रित किया जाता है। रोजाना 150 एमएल कद्दू के रस को शहद में मिलाकर पीने से डेंगू से जूझ रहे लोगों को मदद मिल सकती है।

पपीता

डेंगू के कारण प्लेटलेट्स के कम होने पर पपीता आपके काम आ सकता है। प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए पपीते को एक अच्छा विकल्प माना जाता है। साल 2009 में मलेशिया में किए गए एक शोध में पाया गया कि डेंगू के कारण शरीर में आई कमजोरी और दूसरी कमियों के लिए पपीता एक रामबाण इलाज साबित हो सकता है। पपीते के पत्तों का रस निकालकर रोजाना 10-20 एमएल पीने से प्लेटलेट्स की कमी पर काबू पाया जा सकता है।

चुकंदर

चुकंदर में काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। चुकंदर को रेगुलर डायट में शामिल करने से हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स काउंट्स में सुधार हो सकता है। सलाद के अलावा इसकी सब्जी भी बनाई जा सकती है। दिन में चुंकदर का 10 एमएल ताजा जूस भी प्लेटलेंट्स की कमी में मरीज को आराम दिला सकता है।

गिलॉय के पत्ते

डेंगू से बचने के लिए गिलॉय के पत्तों का नियमित रूप से इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा गिलॉय के कुछ टुकड़ों को पानी में अदरक और अजवायन के साथ उबाल कर पीने से भी डेंगू के बुखार में राहत मिल सकती है। इसे डेंगू के मरीज को खाली पेट पीने की सलाह दी जाती है।

कीवी

कीवी में काफी मात्रा में विटामिन-सी और विटामिन-ई मौजूद होता है। दिन में दो कीवी खाने से प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से बढ़ती है। साथ ही कीवी से कॉलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है।

अनार

अनार में काफी मात्रा में आयरन होता है। यह हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स की मात्रा बढ़ाने में कारगर साबित होता है। अनार का जूस नियमित रूप से पीने से डेंगू से पीड़ित लोगों को फायदे देखे जा सकते हैं।

पानी

प्लेटलेट्स बनने के लिए शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा का होना जरूरी है। डेंगू से जूझ रहे इंसान को पानी की कमी मौत के करीब ले जा सकती है। व्यक्ति को रोजाना 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए।

  • इसके अलावा सब्जियों का रस पोषक तत्वों से भरपूर होता है और डेंगू से जल्दी ठीक होने में मदद कर सकता है।
  • डेंगू बुखार के लिए नारियल पानी भी एक घरेलू उपाय है। यह आपको हाइड्रेटेड रखने के लिए बेहतर विकल्प है। डेंगू में तेजी से रिकवरी के लिए हर दिन दो से तीन गिलास नारियल पानी पीने की कोशिश करें।
  • चाय जैसे कि अदरक की चाय, इलायची की चाय और दालचीनी की चाय आपको डेंगू से उबरने में मदद कर सकती है।
  • नीम के पत्ते की औषधीय प्रकृति है, यह डेंगू बुखार के रोगियों के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। नीम के पत्ते वायरस को बढ़ने से कंट्रोल कर सकते हैं। ये डेंगू के लिए एक प्रभावी उपाय हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Dengue Fever – https://www.healthline.com/health/dengue-fever – accessed on 18/12/2019

How to Prevent and Treat Dengue: 6 Home Remedies/https://food.ndtv.com/opinions/how-to-prevent-and-treat-dengue-6-home-remedies-1212223/Accessed on 13/12/2019

Dengue Fever/https://www.webmd.com/a-to-z-guides/dengue-fever-reference#1/Accessed on 13/12/2019

Dengue fever – https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/dengue-fever/symptoms-causes/syc-20353078 – Accessed on 13/12/2019

Dengue and severe dengue – https://www.who.int/health-topics/dengue-and-severe-dengue#tab=tab_1 – Accessed on 13/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Govind Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 14/10/2019
x