home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

शरीर के वजन से 3 गुणा अधिक भारी थे ब्रेस्ट, गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी के कारण करानी पड़ी ब्रेस्ट सर्जरी

शरीर के वजन से 3 गुणा अधिक भारी थे ब्रेस्ट, गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी के कारण करानी पड़ी ब्रेस्ट सर्जरी

लड़कियों और महिलाओं के ब्रेस्ट सामान्य से काफी बड़े हो सकते हैं, जो बहुत ही सामान्य है, क्योंकि इसके पीछे उनका खानपान और हॉर्मोंस एक कारण हो सकता है। लेकिन, अगर अचानक स्तनों का आकार अचानक से बढ़ने लगे, तो सतर्क हो जाएं, क्योंकि यह किसी गंभीर बीमारी के लक्षण हो सकते हैं। हाल ही में दिल्ली के एक अस्पताल में डॉक्टरों ने एक महिला के ब्रेस्ट से 11 किलो कम किए हैं। एक अखबार की खबर के अनुसार, दिल्ली के डॉक्टरों ने 56 साल की एक महिला के ब्रेस्ट की सर्जरी की। सर्जरी के दौरान डॉक्टर्स की टीम में महिला के स्तनों से टिश्यू हटाए, जिनका वजन 11 किलो था।

Breast hypertrophy Gigantomastia - गिगैंटोमेस्टीआ (गिगैंटोमेस्टीआ)

जानिए क्या था कारण

महिला की सर्जरी करने वाले डॉक्टर अजय कश्यप का कहना है “महिला गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) नाम की बीमारी से पीड़ित थी। इस तरह की बीमारी में ब्रेस्ट के टिश्यू काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं। ब्रेस्ट रिडक्शन को अक्सर लोग एक कॉस्मेटिक प्रक्रिया मान लेते हैं। लेकिन, इस कंडिशन में स्तनों में भारीपन के साथ ही बहुत ज्यादा दर्द रहता है। स्तनों के आकार बढ़ने के कारण पीठ और कंधों में भी दर्द होता है। उन्हें सीधे चलने में भी परेशानी होती है।”

और पढ़ें : टीथिंग के दौरान ब्रेस्टफीडिंगः जब बच्चे के दांत आने लगें, तो इस तरह से कराएं स्तनपान

क्या है गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) की कंडिशन?

स्तनों में होने वाले गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) की कंडिशन को ब्रेस्ट हाइपरट्रॉफी के नाम से भी जाना जाता है। इस तरह की बीमारी बहुत ही रेयर होती है। इसमें ब्रेस्ट के टिश्यू नॉर्मल स्टार से काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं। इसकी स्थिति में शरीर के कुल वजन के तीन फीसदी से ज्यादा ब्रेस्ट का वजन हो जाता है। मान लीजिए, अगर आपका वजन 70 किलो है, तो ब्रेस्ट का वजन 2.1 किलो से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

और पढ़ें : इंटिमेसी की स्टेज से समझें कब करें पहली बार सेक्स, जानिए किस स्टेज पर हैं आप

जेनेटिक भी है गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) का कारण

वैसे तो गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) की बीमारी बहुत ही रेयर होती है। लेकिन, यह जेनेटिक और हॉर्मोनल दोनों ही हो सकती है। इसका खतरा प्रेग्नेंसी के दौरान और भी ज्यादा बढ़ सकता है। कई मामलों में ऐसा देखा गया है कि लड़कियों के पहले पीरियड्स के समय अचानक उनके स्तनों का आकार बहुत बढ़ जाता है।

गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी आननुवांशिक भी हो सकती है। इसके अलावा कुछ और कारण भी है, जिसकी वजह से महिलाएं इस बीमारी की चपेट में आ जाती है, जैसेः

और पढ़ें : 5 Steps: ब्रेस्ट कैंसर की जांच ऐसे करें

गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी के लक्षण क्या हो सकते हैं?

गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी होने पर निम्नलिखित लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जिनमें शामिल हैंः

  • अचानक से स्तनों के आकार में बहुत ज्यादा वृध्दि होना
  • स्तनों में अचानक दर्द होना
  • कंधे, पीठ और गर्दन में दर्द होना
  • स्तनों के नीचे लालिमा, खुजली और बहुत ज्यादा पसीना होना
  • स्तोनं के नसों में दर्द और इंफेक्शन होना
  • स्तनों की त्वचा में संक्रमण या फोड़े निकलना
  • निप्पल में झुनझुनाहट महसूस करना।

जापान में देखा गया था गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) का मामला

इससे पहले जापान में एक 12 साल की बच्ची के साथ गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) का मामला देखा गया था। उसके पीरियड्स शुरू होने के आठ महीनों के अंदर ही उसके स्तनों का आकार काफी बढ़ गया था, जिसकी वजह से उसकी रीढ़ की हड्डी भी झुक गई थी। इसके बाद उसे सर्जरी करवानी पड़ी थी। पहले पीरियड्स और प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन, प्रोलैक्टिन जैसे हॉर्मोन्स काफी बनते हैं। अगर इनकी मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाए या असंतुलित हो जाए, तो इसका खतरा बढ़ जाता है।

और पढ़ें : योनि से जुड़े तथ्य, जो हैरान कर देंगे

किसी भी उम्र में हो सकती है गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी

गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी किसी भी उम्र में किसी भी लड़की या महिला को हो सकती है। मौजूदा मामलों में अभी तक गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी का केस सबसे कम उम्र की लड़की जिसकी उम्र 12 साल थी और सबसे अधिक उम्र की महिला जिसकी उम्र 37 साल है, में देखी गई है। इस बीमारी के लक्षण बहुत तेजी से फैलते हैं, और बहुत ही कम समय में शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित कर सकता है। गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी के कारण स्तनों का आकार बहुत ज्यादा बढ़ जाता है, जिसकी वजह से रीढ़ की हड्डी तक मुड़ जाती है। जिससे चले-फिलने और झुकने में भी परेशानी हो सकती है। गिगैंटोमेस्टीआ की बीमारी के कारण स्तनों का वजन शरीर के कुल वजन से 3 फीसदी तक अधिक हो सकता है।

और पढ़ें : हर पुरुष के लिए परफेक्ट हैं ये 8 बीयर्ड स्टाइल, जरूर फॉलो करें

कैसे होता है गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) का इलाज

गिगैंटोमेस्टीआ (Gigantomastia) का इलाज स्तनों को टिश्यू पर निर्भर करता है कि ये कितने अधिक बढ़े हुए हैं। अगर बहुत ज्यादा ग्रोथ है और ये शरीर की सेहत पर असर डाल रही है, तो सर्जरी की मदद ली जा सकती है। इसके अलावा, हॉर्मोनल ट्रीटमेंट भी इसके लिए मददगार हो सकता है। इसलिए, प्रेग्नेंसी के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं के बारे में बहुत सतर्क होना चाहिए क्योंकि, दवाओं के इस्तेमाल से भी हॉर्मोन बदल सकते हैं।

हालांकि, प्रेग्नेंसी और पीरियड्स के शुरुआती दिनों में स्तनों के आकार में थोड़ा-बहुत बदलाव होना आम होता है लेकिन, अगर किसी तरह के अनचाहे लक्षण दिखाई दें, तो तुरंत अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Gigantomastia. https://rarediseases.info.nih.gov/diseases/9450/gigantomastia. Accessed on 07 February, 2020.

A case of gestational gigantomastia in a 37-years-old woman associated with elevated ANA: a casual linkage?. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579424/. Accessed on 07 February, 2020.

What Is Gigantomastia?. https://www.healthline.com/health/gigantomastia. Accessed on 07 February, 2020.

Gigantomastia. https://www.malacards.org/card/gigantomastia. Accessed on 07 February, 2020.

Gigantomastia. https://radiopaedia.org/articles/gigantomastia. Accessed on 07 February, 2020.

Gestational gigantomastia: Asystematic review of case reports. http://www.jmidlifehealth.org/article.asp?issn=0976-7800;year=2017;volume=8;issue=1;spage=40;epage=44;aulast=Mangla. Accessed on 07 February, 2020.

Gestational Gigantomastia. http://www.thejournalofbreasthealth.com/en/gestasyonel-gigantomasti-13497. Accessed on 07 February, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड