home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

'फिट इंडिया मूवमेंट' में दिखा लोगों का उत्साह

'फिट इंडिया मूवमेंट' में दिखा लोगों का उत्साह

हार्ट केयर फाउडेंशन ऑफ इंडिया, CMAAO, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन और पद्म अवार्डी डॉक्टर्स फोरम की ओर से 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में फिट इंडिया मूवमेंट का आयोजन किया गया। इस दौरान दो किलोमीटर लंबी पैदल यात्रा का भी आयोजन किया गया। आयोजन में करीब 2000 लोगों ने हिस्सा लिया।आयोजन में खेल मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने भी अगुवाई की। खेल राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने कार्यक्रम फिट इंडिया मूवमेंट को हरी झंडी दिखाई। कार्यक्रम का आयोजन नई दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम से शुरू किया गया।

यह भी पढ़ेंः स्वास्थ्य सेवाओं में कारगर कदम उठाने के लिए दुनिया भर में भारत की सराहना

https://www.instagram.com/p/B3G95K6BqpH/

बॉलीवुड एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा भी हुईं शामिल

फिट इंडिया मूवमेंट के कार्यक्रम में बॉलीवुड एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा, फिल्म नर्माता ऐश्वर्या धनुष, गायिका शिबानी कश्यप, डांसर उमा शर्मा और प्रसिद्ध कवि अशोक चक्रधर भी शामिल हुए। पद्म श्री अवार्डी, एचसीएफआई और सीएमएएओ के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा कि, ‘हम फिट इंडिया अभियान का हिस्सा बनने और आईएमए के माध्यम से तीन लाख से अधिक डॉक्टरों के इस आयोजन से जुड़ने से खुश हैं। प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन और प्लास्टिक के अधिक प्रयोग के कारण वातावरण में फैल रहे प्रदूषण को खत्म करने के लिए ये एक अच्छी पहल है। फिट इंडिया मूवमेंट स्वच्छ भारत की ओर बढ़ते हुए कदम हैं। आप बिना किसी चिंता के अच्छे स्वास्थ्य के लिए दो किलोमीटर तक दौड़ सकते हैं। दौड़ना हार्ट के लिए अच्छा होता है। Plogging यानी जॉगिंग करने के साथ ही कूड़े को भी साथ उठा के चलना होता है। ये काम सबसे पहले स्वीडन में शुरू हुआ था। बाद में बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए पूरे विश्व में शुरू कर दिया गया।’

फिट इंडिया मूवमेंट पर गर्व है

आईएमए के महासचिव आर. वी. असोकन ने कहा कि ‘आईएमए हमेशा से ही उन पलों का हिस्सा रहा है जब देश या पर्यावरण को साफ रखने की बात की जाती है। फिट इंडिया मूवमेंट इस कदम की ओर पहल करता है। फिट इंडिया मूवमेंट की शुरूआत के जरिए हम सब को जरूर एक सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे।’ वहीं डीएमए के अध्यक्ष गिरीश त्यागी ने कहा कि ‘हम सभी प्रधानमंत्री के दृष्टीकोण फिट इंडिया मूवमेंट पर गर्व करते हैं। फिट इंडिया मूवमेंट पहल स्वच्छ भारत अभियान को आगे बढ़ाने का काम करती है।’

बता दें कि, भारत में 2 अक्टूबर से सभी एकल उपयोग वाले प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य निकट भविष्य में प्लास्टिक के उपयोग को पूर्ण रूप से बंद करने का था। 18 से 20 अक्टूबर तक आयोजित किए जा रहे परफेक्ट हेल्थ मेला में इस तरह की गतिविधि जारी रहेंगी।

यह भी पढ़ेंः यूं ही नहीं हैं देश के प्रधान एकदम फिट, जानिए टाइम मैनेजमेंट से लेकर फिटनेस तक का फंडा…

जानिए फिट इंडिया मूवमेंट की शुरुआत से जुड़ी कुछ जरूरी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट की शुरुआत करते हुए लोगों को स्वास्थ्य के लिहाज से जुड़ी कई जरूरी बातों की जानकारी दी थी, जिसे लेकर उनका कहना था कि,

  • जिस खेल में मन लगे, वही खेलना चाहिए
  • शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वास्थ्य रहने के लिए हर दिन खेल खेलना चाहिए
  • जब भी मौका मिले पैदल चलें, पैदल चलने से शरीर फिट रखता है
  • सभी स्कूल और कॉलेज को खेल खेलने के लिए कम से कम एक घंटे का समय जरूर देना चाहिए
  • खेलना एक व्यायाम है, सभी स्टूडेंट्स को खेलना चाहिए
  • खेलने से कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है
  • खेल में रूचि दिखाने के बाद ही खिलाड़ियों की संख्या में इजाफा होगा।

खेल भी रख सकता है आपको बीमारियों से दूर

फिट इंडिया मूवमेंट की शुरूआत से आप खुद को कई तरह की बीमारियों से दूर रख सकते हैं। अगर आपके पास हर रोज एक्सरसाइज करने या योग करने का समय नहीं है, तो खेल खेलना आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने का सबसे आसान तरीका हो सकता है। जानिए खेल किस तरह से आपको फिट रख सकता हैः

1. तनाव और डिप्रेशन करे दूर

तनाव और डिप्रेशन की समस्या एक स्वस्थ्य मन और शरीर को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं। अगर आपको भी तनाव और डिप्रेशन को मात देना है, तो किसी न किसी तरह के शारीरिक खेल में अपनी रूचि जगाएं। जब हम शारीरिक तौर पर किसी काम को करते हैं, तो हमारा मन दैनिक काम के तनावों से खुद को फ्री महसूस करता है जिससे मन में आने वाले नकारात्मक विचार भी दूर होते हैं।

यह भी पढ़ेंः शिल्पा के इस योग को देखकर हैरान रह जाएंगे आप, देखें वीडियो

2.मूड फ्रेश करे

अगर आप किसी काम के तनाव या किसी बात की उलझन की वजह से परेशान हैं, तो बेहतर होगा कि आप किसी तरह का खेल खेल लें। खेल खेलने से आपका मूड फ्रेश होता है। जिसके बाद आप एक फ्रेश माइंड से अपने काम को नए तरीके से पूरा कर सकेंगे।

3.फिट इंडिया मूवमेंट से वजन नियंत्रित करे

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) वजन बढ़ाने या वजन घटाने के लिए एक स्वस्थ्य तरीके के लिए खेल खेलने पर जोर देता है। व्यक्तिगत खेल खेलना, जैसे कि दौड़ना, साइकिल चलाना और भार उठाना जैसे खेल जिनमें विशेष रूप से कैलोरी बर्न होती है, ये वजन को नियंत्रित रखने के लिए कारगर होते हैं। अगर आप एक शारीरिक तौर पर एक्टिव रहेंगे, तो डायबिटीज (मधुमेह), हाई कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम होने की संभावना को कम कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः क्या ऑफिस वर्क से बढ़ रहा है फैट? अपनाएं वजन घटाने के तरीके

4.लीडरशिप का विकास करे

कई अध्ययनों में भी इस बात का दावा किया जा चुका है कि समूह वाले खेल, जैसे- फुटबॉल, बेसबॉल या बास्केटबॉल खेलने से नेतृत्व और लीडरशिप का विकास हो सकता है। साथ ही, ग्रुप वाला खेल खेलने से टीम में दूसरे साथियों के साथ एक तालमेल के साथ काम करने की बेहतर भावना का भी विकास होता है।

5.फिट इंडिया मूवमेंट से दिमाग को बेहतर बनाए

अध्ययनों के मुताबिक ऐसे छात्र जो शारीरिक और व्यक्तिगत तौर पर किसी न किसी खेल में हिस्सा लेते रहते हैं, उनका शैक्षणिक स्तर पर अन्य छात्रों के मुकाबले बेहतर होता है। खेल खेलने से छात्रों के मन में परीक्षा का स्ट्रेस कम होता है। उनका दिमाग शांत और फ्रेश रहता है, जो उनके ब्रेन को बेहतर बनाने में मदद करता है।

ऊपर दी गई सलाह किसी भी चिकित्सा को प्रदान नहीं करती हैं। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

और पढ़ेंः-

मोदी के फिटनेस मूवमेंट पर लटकती तलवार

एक हिम्मत भरा हग देता है मानसिक राहत, पीएम मोदी ने इसरो अध्यक्ष को लगाया गले

अंतरराष्ट्रीय विकलांगता दिवसः स्कूल जाने से कतराते है दिव्यांग बच्चे, जानें कुछ चौकाने वाले आंकड़ें

प्लॉगिंग के समय प्रधानमंत्री ने की स्वच्छता की अपील

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Prime Minister Narendra Modi launches ‘Fit India Movement’,  says it will lead India towards healthy future. https://timesofindia.indiatimes.com/sports/more-sports/others/prime-minister-narendra-modi-launches-fit-india-movement-says-it-will-lead-india-towards-healthy-future/articleshow/70887445.cms. Accessed on 23 December, 2019.

The Top 7 Mental Benefits of Sports. https://www.healthline.com/health/mental-benefits-sports. Accessed on 23 December, 2019.

The Benefits of Playing Sports Aren’t Just Physical!. https://health.gov/news/blog/2012/05/the-benefits-of-playing-sports-arent-just-physical/. Accessed on 23 December, 2019.

Sport and health. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/19718895. Accessed on 23 December, 2019.

Journal of Sport and Health Science. https://www.sciencedirect.com/journal/journal-of-sport-and-health-science. Accessed on 23 December, 2019.

All about PM Modi’s Fit India Movement. https://www.hindustantimes.com/india-news/all-about-pm-modi-s-fit-india-movement/story-gXZrt8M84lKTdcSkZ7vZcP.html. Accessed on 23 December, 2019.

लेखक की तस्वीर
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/12/2019 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x