home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

फार्मा कंपनी ने डोनेट की 34 लाख हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स, ऐसे होगा इस्तेमाल

फार्मा कंपनी ने डोनेट की 34 लाख हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स, ऐसे होगा इस्तेमाल

महामारी कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 (Coronavirus disease COVID- 19) से बचाव व इलाज में कई बार हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन दवा (Hydroxychloroquine) का नाम कई बार सामने आया है। भारत में इसकी जानकारी सामने आने के बाद जनता के बीच इसे लेने की होड़ लग गई थी। हालांकि, बाद में भारत सरकार ने इसकी ओवर द काउंटर बिक्री पर रोक लगाने के साथ ही उचित स्थितियों में इसके उपाय के बारे में निर्देश दिए। लेकिन, अब एक इंडियन-अमेरिकन दवा निर्माता कंपनी ने करीब 34 लाख हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स डोनेट करने का फैसला लिया है। हालांकि, इस डोनेशन की एक बड़ी मात्रा खास मकसद के लिए इस्तेमाल की जाएगी। आइए, जानते हैं कि आखिर यह कंपनी किसको देगी इतनी हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स और किस मकसद के लिए होगा इसका इस्तेमाल।

यह भी पढ़ें: सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज करने से भुगतना पड़ेगा खतरनाक अंजाम

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स (Hydroxychloroquine) किसे की गई डोनेट

न्यूजर्सी स्थित इंडियन-अमेरिकन एमनील फार्मास्युटिकल फर्म ने अमेरिका के न्यूयॉर्क, लुइसियाना और टेक्सास को कुल 34 लाख 200 एमजी हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन सल्फेट टैबलेट्स डोनेट करने का फैसला लिया है। कोरोना प्रभावित न्यूयॉर्क को 20 लाख, टेक्सास को 10 लाख और लुइसियाना को 4 लाख टैबलेट्स का डोनेशन मिलेगा। आपको बता दें कि, एमनील कंपनी अमेरिका की सबसे बड़ी दवा निर्माता कंपनियों में से एक है, जिसे 2002 में चिराग पटेल और चिंटू पटेल ने मिलकर स्थापित किया था। कंपनी ने कहा कि, यह डोनेशन सीधा देश में मौजूद अस्पतालों को दी जाएगी और जरूरत पड़ने पर हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स की और भी डोनेशन दी जा सकती है। कंपनी की तरफ से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि, “कोविड- 19 जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ समाज को मदद प्रदान करने के लिए एमनील समर्पित है। हम देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों और अस्पतालों को मदद मुहैया करवा रहे हैं, ताकि सही समय पर ज्यादा से ज्यादा मरीजों को इलाज मिल सके।”

यह भी पढ़ें: क्या हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, क्या कहता है WHO

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स क्या कोविड -19 से बचाव प्रदान करती है?

अभी तक प्राप्त जानकारी और प्रमाण के मुताबिक, प्रामाणिक तौर पर नहीं कहा जा सकता कि हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स की मदद से कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 का इलाज किया जा सकता है। न ही एफडीए द्वारा इसे कोविड- 19 के इलाज के लिए मंजूर किया गया है। हालांकि, इसे नोवेल कोरोना वायरस के इलाज और बचाव के संभावित रूप में देखा जा रहा है और अमेरिकी गर्वमेंट ने इसकी उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

किस खास मकसद के लिए इस्तेमाल की जाएगी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन

लुइसियाना अटॉर्नी जनरल जेफ लॉन्ड्री ने एमनील का धन्यवाद करते हुए एक विज्ञप्ति जारी की, जिसमें बताया कि हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स की डोनेशन का एक बड़ा भाग खास मकसद के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने आगे बताया कि, लुइसियाना स्टेट यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन कोविड -19 बीमारी में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन के इस्तेमाल से संबंधित दो अलग-अलग क्लिनिकल ट्रायल पर काम कर रहा है। जिसमें पहला, इस दवा से कोविड-19 के मरीजों के इलाज में प्रभाव और दूसरा, कोरोना बीमारी के इलाज में मदद कर रहे हेल्थ वर्कर्स के लिए बचाव के रूप में प्रभाव का पता लगाया जाएगा। अगर, ट्रायल के परिणाम सकारात्मक रहते हैं, तो कोरोनावायरस बीमारी के इलाज और रोकथाम में काफी मदद मिल सकती है।

यह भी पढ़ें: अगर जल्दी नहीं रुका कोरोना वायरस, तो ये होगा दुनिया का हाल

आखिर क्या है हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स और किसलिए आती हैं काम?

दुनिया के लगभग 30 देश भारत से इस दवा को मांग रहे हैं, क्योंकि भारत इस दवा का सबसे बड़ा निर्यातक है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन ड्रग क्या है। दरअसल, यह एफडीए मान्यता प्राप्त एंटीमलेरियल ड्रग है जो कि मुंह द्वारा लिया जाता है। मलेरिया के अलावा, यह रूमेटाइड अर्थराइटिस और ल्यूपस एरिथेमेटोसस (rheumatoid arthritis and lupus erythematosus) बीमारी में भी इस्तेमाल की जाती है। यह कम उम्र के बच्चों के लिए नहीं दी जाती है, इसलिए इस दवा का सेवन सिर्फ डॉक्टर द्वारा बताए गए तरीके से ही करना चाहिए। हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स का गलत इस्तेमाल करने से कई गंभीर दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

कोरोना वायरस अपडेट (latest news on corona)

वर्ल्ड ओ मीटर के मुताबिक 9 अप्रैल 2020 को दोपहर 12 बजे तक दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 15,19,442 हो गई है और इस खतरनाक बीमारी से जान गंवा ने वालों की तादाद 88,543 हो गई है। दुनियाभर में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 3,30,890 पहुंच गई है। सबसे ज्यादा अमेरिका में कोरोन वायरस के मामले मिल रहे हैं, जिस वजह से अमेरिका बार-बार भारत से हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स मांग रहा था।

कोरोना वायरस के भारत में मरीज (How many cases of coronavirus in India?)

भारत के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 9 अप्रैल 2020 को सुबह 8 बजे तक देश में 5095 कोरोना वायरस इंफेक्शन से संक्रमित मरीजों की पहचान कर ली गई है। जिसमें से 472 का इलाज करने के बाद छुट्टी दे दी गई है, वहीं 166 लोगों की जान जा चुकी है। मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक भारत में संक्रमित मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र में हो गई है, जहां 1135 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। इसके बाद तमिलनाडु 738 मामले और दिल्ली 669 केस का नंबर आता है।

यह भी पढ़ें: अगर आपके आसपास मिला है कोरोना वायरस का संक्रमित मरीज, तो तुरंत करें ये काम

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स – कोरोना वायरस से सावधानी

कोरोना वायरस इंफेक्शन से बचने के लिए भारत सरकार ने लोगों के लिए कुछ सलाह दी है। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के साथ इन एहतियात रूपी सलाह को फॉलो करने से आप कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं।

  1. अपने हाथों को दिन में कई बार अच्छे से साफ करें। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हाथों की साफ सफाई का ख्याल रखना बहुत जरूरी है।
  2. बेवजह लोगों से न मिलें, भीड़ न लगाएं।
  3. कोविड-19 से बचने के लिए चेहरे को छूने से बचें।
  4. छींकते या खांसते समय अपने मुंह और नाक को किसी टिश्यू पेपर या फिर कोहनी को मोड़कर ढकें।
  5. यदि आपको कोरोना वायरस के लक्षण जैसे बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलें।
  6. हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स के सेवन के साथ अन्य स्थितियों में भी अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर की हर सलाह मानें और पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।
  7. भारत सरकार का कहना है कि अगर आप मास्क लगा रहे हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
  8. घर से बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छी तरह कवर करें कि उसमें किसी भी तरह का गैप न रहे।
  9. एक बार इस्तेमाल किए गए मास्क को दोबारा इस्तेमाल करने से डॉक्टर मना करते हैं
  10. मास्क को पीछे से हटाएं और उसे इस्तेमाल करने के बाद आगे से टच करने की गलती न करें।
  11. मास्क को इस्तेमाल करने के बाद उसे किसी बंद डस्टबिन में फेंक दें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 9/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 9/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 9/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 79 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200408-sitrep-79-covid-19.pdf?sfvrsn=4796b143_4 – Accessed on 9/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 9/4/2020

Indian-American’s pharma firm donates 3.4 million hydroxychloroquine tablets – https://www.tribuneindia.com/news/diaspora/indian-americans-pharma-firm-donates-3-4-million-hydroxychloroquine-tablets-68347 – Accessed on 9/4/2020

Hydroxychloroquine, Oral Tablet – https://www.healthline.com/health/hydroxychloroquine-oral-tablet – Accessed on 9/4/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x