home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

30 अप्रैल तक जारी रहेगा महाराष्ट्र में लॉकडाउन, आगे भी बढ़ सकता है

30 अप्रैल तक जारी रहेगा महाराष्ट्र में लॉकडाउन, आगे भी बढ़ सकता है

कोरोना वायरस की वजह से भारत में 24 मार्च की रात से कंप्लीट लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया था और यह कुल 14 अप्रैल तक 21 दिनों के लिए चलना था। लेकिन, भारत में कोरोना वायरस के मामलों और उससे होने वाली मौतों के कारण इसे आगे बढ़ाने की चर्चा चल रही थी और अब इस चर्चा पर कुछ राज्यों की तरफ से मोहर लगा दी गई है। जिसमें महाराष्ट्र, पंजाब, ओड़िसा और राजस्थान का नाम शामिल है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने 30 अप्रैल तक महाराष्ट्र में लॉकडाउन (Lockdown in Maharashtra) जारी रखने की बात कही है और उनका कहना है कि, अगर स्थिति नियंत्रण में नहीं आई तो यह लॉकडाउन और भी आगे बढ़ाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: क्या हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, क्या कहता है WHO

30 अप्रैल तक महाराष्ट्र में लॉकडाउन (Lockdown in Maharashtra)

शनिवार को कोरोना वायरस की स्थिति और लॉकडाउन पर पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की थी। जिसके बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शाम के समय राज्य में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रखने का ऐलान किया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि, राज्य इस कठिन समय में भी देश को रास्ता दिखाएगा। ठाकरे के मुताबिक, लॉकडाउन में कुछ क्षेत्रों में ढील दी जा सकती है, वहीं कुछ क्षेत्रों में और सख्ती की जा सकती है। महाराष्ट्र के अलावा, ओड़िशा, पंजाब और राजस्थान की राज्य सरकारें पहले ही 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रखने का ऐलान कर चुकी हैं। इसके अलावा, पीएम के साथ सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक के बाद सभी मुख्यमंत्रियों की तरफ से ऐसे संकेत मिल रहे हैं, कि भारत में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ सख्ती पर ऑक्सफोर्ड ने जारी की रिपोर्ट, भारत ने किया टॉप

महाराष्ट्र में लॉकडाउन- वीडियो कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी ने गमछे से बनाया मास्क

शनिवार को देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चल रही वीडियो कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी ने गमछे को मास्क की तरह लगा रखा था। इस मीटिंग में सभी राज्यों के सीएम ने देश में लॉकडाउन जारी रखने की बात कही। इसी के साथ कुछ मुख्यमंत्रियों ने राज्य में हो रहे आर्थिक नुकसान के लिए भी मदद मांगी। बैठक के बाद सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की तरफ से देश में लॉकडाउन बढ़ने के संकेत दिए गए, जिसमें दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी शामिल हैं। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके जानकारी दी कि, “देशभर में लॉकडाउन की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ाई जानी चाहिए। क्योंकि, अगर इस समय लॉकडाउन हटा लिया गया तो जल्दी लॉकडाउन लगाने का सारा फायदा चला जाएगा और किसी एक राज्य में लॉकडाउन लगाने से फायदा नहीं होगा। इसलिए सकारात्मक परिणाम के लिए पूरे देश में लॉकडाउन बढ़ाया जाना चाहिए। महाराष्ट्र में लॉकडाउन की घोषणा से पहले पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी पंजाब में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था।”

यह भी पढ़ें: भारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन की जानकारी गलत, जानें क्या है इसका मतलब

24 मार्च की रात से लगा था पहला लॉकडाउन

आपको बता दें कि, भारत में कंप्लीट लॉकडाउन की शुरुआत 24 मार्च की रात 12 बजे से हुई थी। 24 मार्च की रात 8 बजे अपने संदेश में पीएम मोदी ने कंप्लीट लॉकडाउन का ऐलान किया था और सिर्फ आवश्यक सेवाओं के जारी रखने की ही अनुमति दी थी। जिसमें हेल्थकेयर वर्कर्स, पुलिसकर्मी, मीडियाकर्मी, डिलीवरी बॉय, किराना दुकानें, एलपीजी, सीएनजी और पैट्रोल पंप की सेवाएं जारी रहेंगी। यह लॉकडाउन 21 दिनों तक यानी 14 अप्रैल तक जारी रहना था। आपको बता दें कि, कंप्लीट लॉकडाउन की घोषणा होने से पहले भी 30 मार्च तक महाराष्ट्र में लॉकडाउन कर दिया था।

कोरोना वायरस अपडेट (latest news on corona)

वर्ल्ड ओ मीटर के मुताबिक 11 अप्रैल 2020 को रात 11.30 बजे तक दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 17,61,286 हो गई है और इस खतरनाक बीमारी से जान गंवाने वालों की तादाद 1,07,659 हो गई है। दुनियाभर में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 3,95,665 पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें: अगर आपके आसपास मिला है कोरोना वायरस का संक्रमित मरीज, तो तुरंत करें ये काम

महाराष्ट्र में लॉकडाउन : कोरोना वायरस के भारत में मरीज (How many cases of coronavirus in India?)

भारत के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 11 अप्रैल 2020 को शाम 5 बजे तक देश में 6634 कोरोना वायरस इंफेक्शन से संक्रमित मरीजों की पहचान कर ली गई है। जिसमें से 652 का इलाज करने के बाद छुट्टी दे दी गई है, वहीं 242 लोगों की जान जा चुकी है। मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक भारत में संक्रमित मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र में हो गई है, जहां 1574 मामले दर्ज किए जा चुके हैं और इस वजह से भी महाराष्ट्र में लॉकडाउन की काफी आवश्यकता थी। इसके बाद तमिलनाडु 911 मामले और दिल्ली 903 केस का नंबर आता है।

महाराष्ट्र में लॉकडाउन : डब्ल्यूएचओ के आंकड़े

डब्ल्यूएचओ ने अपनी दैनिक सिचुएशन रिपोर्ट 81 में कोरोना वायरस से जुड़े आंकड़े पेश किए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, 10 अप्रैल 2020 को सुबह 10 बजे तक दुनियाभर में 15,21,252 संक्रमित मरीज पाए जा चुके हैं, जिसमें से 92,798 लोगों की जान जा चुकी है।

कोरोना वायरस से सावधानी

कोरोना वायरस इंफेक्शन से बचने के लिए भारत सरकार ने लोगों के लिए कुछ सलाह दी है। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के साथ इन एहतियात रूपी सलाह को फॉलो करने से आप कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं।

  1. दिन में कई दफा हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह से धोएं
  2. घर से बाहर तभी निकले जब कोई जरूरी काम हो। बेवजह कहीं जाकर भीड़ न लगाएं।
  3. आंखों, नाक और मुंह को टच करने की गलती न करें। चेहरे को छूने से यह वायरस शरीर में प्रवेश कर सकता है।
  4. छींकते या खांसते समय अपने मुंह और नाक को रूमाल या टिश्यू पेपर से ढकें, जिससे यदि आपको वायरस है तो कोई दूसरा इससे संक्रमित न हो।
  5. अगर आपको बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो हो सकता है ये कोरोना वायरस के लक्षण हो। ऐसे में जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से कंसल्ट करें।
  6. महाराष्ट्र में लॉकडाउन का पालन करने के अलावा अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर की हर सलाह मानें और पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।

कोरोना वायरस महामारी को देश से खत्म करने के लिए आपको लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही मास्क व पर्सनल हाइजीन जैसी सावधानियों का पालन करना होगा। इसके अलावा, सिर्फ सरकार या हेल्थ एक्सपर्ट द्वारा दी गई जानकारी पर ही विश्वास करें। हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 11/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 11/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 11/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 81 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200410-sitrep-81-covid-19.pdf?sfvrsn=ca96eb84_2 – Accessed on 11/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 11/4/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Surender aggarwal द्वारा लिखित
अपडेटेड 11/04/2020
x