home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

'प्लॉगिंग' के समय प्रधानमंत्री ने की स्वच्छता की अपील

'प्लॉगिंग' के समय प्रधानमंत्री ने की स्वच्छता की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समय-समय पर स्वच्छता से जुड़े हुए काम करते रहते हैं। हाल ही उन्हें महाबलीपुरम के समुद्र तट पर प्लॉगिंग (Plogging) यानी जॉगिंग के दौरान सफाई करते हुए देखा गया। देश के प्रधानमंत्री ने प्लॉगिंग के जरिए लोगों को अपने आस-पास सफाई रखने की सलाह दी। आपको बताते चले कि प्रधानमंत्री चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक करने के लिए वहां गए थे। प्रधानमंत्री ने अपने टि्वटर अकाउंट में प्लॉगिंग का वीडियो शेयर किया है। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि प्रधानमंत्री ने क्या खास किया और प्लॉगिंग करते समय किन बातों का ध्यान रखा जाता है।

और पढ़ें : ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ में दिखा लोगों का उत्साह

PM Modi plogging at Mahabalipuram

इस दौरान उन्होंने कुछ फोटो भी शेयर की। इन फोटो में उनके हाथ में लकड़ी जैसी कुछ चीज दिख रही थी। उनके फॉलोवर्स ने इस चीज के बारे में पूछा और प्रधानमंत्री ने लोगों को बताया भी। लोगों की उत्सुकता खत्म करते हुए मोदी ने कहा कि ‘मेरे हाथ में एक्यूप्रेशर रोलर था। इसे मैं ज्यादातर इस्तेमाल करता हूं। ये रोलर मुझे बहुत हेल्पफुल लगता है।’ तस्वीरों में मोदी सुबह की सैर करते हुए नजर आ रहे हैं, साथ ही समुद्र तट से प्लास्टिक के साथ ही कचरा उठाते हुए नजर आ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने लोगों से सार्वजनिक स्थानों को स्वच्छ रखने की अपील की।

PM Modi plogging at Mahabalipuram Explained the Importance of Cleanliness

और पढ़ें : स्वास्थ्य सेवाओं में कारगर कदम उठाने के लिए दुनिया भर में भारत की सराहना

प्लॉगिंग (Plogging) क्या है?

प्लॉगिंग का मतलब होता है टहलते या जॉगिंग करते समय अपने आस-पास की गंदगी को साफ करना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त बनाने के अभियान की घोषणा की थी। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने ‘स्वच्छ भारत अभियान’ से जुड़े कई काम भी किए हैं।

स्वास्थ्य के लिए प्लॉगिंग के फायदे

43 साल की ऐना क्रिस्टोफरसन के मुताबिक वो साफ-सफाई के बहाने अपने स्वास्थ्य का भी ख्याल रख लेती है। प्लॉगिंग के फायदे न सिर्फ उनके घर के आस-पास के पर्यावरण को बल्कि, उनके स्वास्थ्य को भी मिल रहा है। उनके मुताबिक हफ्ते के तीन दिन वो प्लॉगिंग करती है, इस दौरान वे रनिंग के साथ-साथ कूड़ा भी उठाती हैं। उनके साथ इस प्लॉगिंग में उनके छह और दोस्त भी होते हैं।

जॉगिंग के दौरान सफाई : शरीर के निचले हिस्से को एक्टिव बनाएं

प्लॉगिंग के दौरान रनिंग करते हुए कूड़ा उठाना होता है। इससे आपको बार-बार नीचे की तरफ झुकना होता है। ऐसे करने से शरीर के निचले हिस्से की एक्सरसाइज हो जाती है, जिससे निचले हिस्सा फैट बर्न करता है।

और पढ़ें : OMG! केंद्रीय मंत्री के घर पहुंच गए कृत्रिम रंग वाले फल

जॉगिंग का अच्छा विकल्प

अगर आप वजन घटाने के लिए पिछले कई दिनों से जॉगिंग का प्लान कर रहे हैं, तो प्लॉगिंग आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। प्लॉगिंग में आप जितनी देर चाहें और जितनी दूर चाहें उतना दौड़ लगा सकते हैं। इससे आप न सिर्फ शरीर का एक्सट्रा फैट बर्न करते हैं, बल्कि ताजी हवा के संपर्क में आने से मूड भी फ्रेश होता है।

जॉगिंग के दौरान सफाई : रोगों के जोखिम को कम करे

नियमित रूप से अगर आप प्लॉगिंग के लिए जाएंगे, तो शरीर और मन पर कई सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। इस दौरान आप दौड़ने के साथ-साथ बार-बार झुकते भी हैं, जिससे हृदय का स्वास्थ्य भी अधिक बेहतर होता है। प्लॉगिंग की मदद से आप ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं साथ ही, प्लॉगिंग शरीर में ऑक्सीजन की बेहतर पूर्ति भी करता है, जो खून में शुगर की मात्रा को बढ़ने से रोकता है।

कैलोरी बर्न करे

आंकड़ों के मुताबिक, अगर आप 30 मिनट तक प्लॉगिंग करते हैं, तो इस दौरान आपका शरीर कुल 288 कैलोरी की मात्रा बर्न करता है। जिससे आपका वजन जल्दी से घटेगा।

इसके अलावा प्लॉगिंग के कुछ सामाजिक फायदे भी हैं। पहला को यह कि आप अपने शहर और आस-पास के क्षेत्रों को साफ रखने में अपना योगदान देते हैं और दूसरा क इस दौरान आप नए-नए लोगों से भी मिलते रहते हैं। जिससे आपका सामाजिक दायरा भी बढ़ता है, जो आपको स्ट्रेस फ्री रहने में भी मदद कर सकता है।

और पढ़ें : हाइपरटेंशन से बचाव के लिए जरूरी है लाइफस्टाइल में ये बदलाव

क्या प्लॉगिंग के अन्य फायदे भी हैं?

स्वास्थ्य के अलावा प्लॉगिंग के अन्य फायदे भी हैं, जैसेः

आस-पास के जानवर स्वस्थ रहते हैं

अक्सर ऐसे कई मामले देखे जाते हैं, जिसमें जानवरों की मौत कूड़-कचरा खाने के कारण होती है। अगर आप खुले में पड़े कूड़ा-कचरा साफ रखते है, तो आपके आस-पास के जानवर भी सुरक्षित और स्वस्थ रहते हैं।

जॉगिंग के दौरान सफाई : बच्चों को मिले अच्छी सीख

आप अपने बच्चों में प्लॉगिंग की आदत एक खेल खेलने के तौर पर डाल सकते हैं। इससे बच्चे एक्टिव भी रहेंगे और उनमें साफ-सफाई की एक अच्छी आदत बनाए रखने की सीख भी मिलेगी। बच्चे अगली बार किसी को भी रास्ते में या कहीं और कचरा फैलाते देखेंगे तो उन्हें ऐसा करने से रोकेंगे। आप ये मान सकते हैं कि प्लॉगिंग एक चैन की तरह से है, जिससे लोग हमेशा जुड़ते रहेंगे और सफाई में मदद करेंगे।

गलती करने वाले ले सकते हैं सीख

अगर आप दो खाली बैग लेकर प्लॉगिंग के केवल 30 मिनट के लिए बाहर निकलते हैं तो यकीन मानिए कि आपका पूरा बैग भर जाएगा। इन बैग्स में आपको कुछ कॉमन चीजें जैसे कि फूड पैकिंग, चॉकलेट रैपर, चिप्स रैपर्स, फूड पैकिंग, चाय-कॉफी कप यादि होगें। अब तो आप समझ ही गए होंगे कि ये कूड़ा रोजाना लोग लापरवाही के साथ सड़क पर फेंक देते हैं। भले ही कितने ही डस्टबिन लगा दिए जाए, लेकिन कुछ लोगों की आदत कचरा फैलाने की होती है और वो लोग सड़क किनारे या फिर समुद्र के किनारे कचरा फेंक देते हैं, जो कि जानवरों के लिए हानिकारक होता है। अगल आप प्लॉगिंग करेगें तो उन लोगों को खासतौर पर संदेश मिल जाएगा जो लोग कूड़े को उसके स्थान में नहीं डालते हैं।

जॉगिंग के दौरान सफाई : इन चीजों को रखें अपने साथ

आप जब भी प्लॉगिंग के बाहर जाए तो कुछ चीजों को याद से अपने साथ जरूर रख सकते हैं। आपको अपने साथ ग्लव्स, रबिश बैग, हो सके तो मुंह ढकने के लिए मास्क आदि का प्रयोग जरूर करें। ऐसा करने से हाइजीन भी मेंटेन रहेगी और आप सफाई के साथ ही लोगों को पॉजिटिव मैसेज भी दे सकेंगे। जब भी कचरे को उठाने के लिए झुके तो तेजी से झटका न दें, वरना आपको मसल्स में प्रॉब्लम हो सकती है। अगर आप सड़क के बीच से कचरा उठाने जा रहे हैं तो पहले चेक कर ले कि कोई गाड़ी तो नहीं आ रही है। आप अगर इस दौरान सावधानी नहीं रखेगें तो बड़ा खतरा आपके सामने आ सकता है।

प्लॉगिंग कैसे शुरू करें?

प्लॉगिंग की शुरूआत करना बहुत ही आसान है। इसके लिए आपको किसी भी तरह के जिम उपकरण या अन्य वस्तुओं की जरूरत नहीं होती है। प्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको सिर्फ दो कैरी बैग की जरूरत होगी, जिसमें आप कचरा इक्ठ्ठा करेंगे।

  • कैरी बैग आपको हाथों में ही रखना है।
  • घर से निकलने के दौरान ही आपको रनिंग शुरू कर देनी है। इस दौरान आपको अपने रास्ते में जो भी कचरा दिखाई दे, उसे उठा कर आपको उस कैरी बैग में रखना होगा। जिसे बाद में आप कूड़ेदान में डाल सकते हैं।
  • ध्यान रखना है कि दोनों हाथों में आपको एक-एक कैरी बैग पकड़ना है और कूड़ा उठाते समय दोनों बैग में कूड़े की मात्रा बराबर रखनी है, ताकि आपके दोनों हाथों में भार एक जैसा ही हो।
  • जब भी कूड़ा उठाने के लिए झुके तो दोनों पैरों को सीधा रखें और स्क्वैट की तरह कूड़ा उठाएं। अगर आप झुककर कूड़ा उठाएंगे तो बैक पेन की समस्या हो सकती है।
  • कोशिश करें कि सड़क के किनारों से दूर रहें। ताकि आप ट्रैफिक से सुरक्षित रहें।
  • अगर आप बीच या पानी वाली जगह रनिंग कर रहे हैं, तो किनारे पर ही रहें। पानी के ज्यादा अंदर न जाएं। क्योंकि, पानी के लहरें आमतौर पर शाम या सुबह के समय ज्यादा तेज हो सकती हैं।

ऊपर दी गई प्लॉगिंग से जुड़ी सलाह किसी भी चिकित्सा को प्रदान नहीं करती हैं। प्लॉगिंग के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप एक्सपर्ट से भी राय ले सकते हैं। अगर आपको स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी चाहिए तो आप हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं और साथ ही आप हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज के माध्यम से भी अपडेट रह सकते हैं। किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या होने पर तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

“Plogging” https://fitindia.gov.in/events/fit-india-plogging-run-1253/. Accessed on  23 December, 2019.

‘Plogging’ Might Just Be The Best Fitness Trend Yet. https://www.wandsworth.gov.uk/news/january-2020/get-fit-help-the-environment-and-get-plogging/. Accessed on  23 December, 2019.

As PM Modi video-plogs, hundreds participate in Mumbai beach clean-up. https://timesofindia.indiatimes.com/india/pm-modi-urges-citizens-to-participate-in-plogging-run-on-october-2/articleshow/71358921.cms. Accessed on  23 December, 2019.

Follow Natural Resources SAMDB’s lead and try plogging  https://www.environment.sa.gov.au/the-weekly/articles/plogging Accessed on  23 December, 2019.

 

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित
अपडेटेड 13/10/2019
x