home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पूरे देश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन लॉकडाउन जोन में बांट सकती हैं सरकार?

पूरे देश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन लॉकडाउन जोन में बांट सकती हैं सरकार?

Coronavirus: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पीएम मोदी ने बेहद जरूरी कदम उठाते हुए लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया है। हालांकि, उन्होंने इस बीच ये भी कहा कि संक्रमित रहित क्षेत्रों को सशर्त कुछ छूट भी दी जा सकती है। ऐसे में एक्सपर्ट्स कयास लगा रहे हैं कि लॉकडाउन बढ़ाने के साथ-साथ सरकार पूरे देश को तीन लॉकडाउन जोन यानी रेड, ऑरेंज और ग्रीन में बांटने का प्लान बना सकती है। आइए, जानते हैं कि किस क्षेत्र को किस जोन में बांटा जाएगा और ऐसा क्यों किया जा रहा है।

लॉकडाउन जोन (Lockdown Zones) क्या हैं?

कोरोना वायरस को रोकने के लिए तीन लॉकडाउन जोन बनाए जा सकते हैं, जिसमें पूरे देश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटा जाएगा। रेड जोन में यह सभी क्षेत्र शामिल होंगे, जहां सबसे ज्यादा कोरोना की बीमारी कोविड- 19 के मामले देखने को मिल रहे हैं। रेड जोन में लॉकडाउन को इसी रूप में सख्त रखा जाएगा और लोगों को घर से बाहर निकलने की भी शायद छूट न दी जाए, क्योंकि इन इलाकों में संक्रमित लोगों की संख्या काफी अधिक है। इसके बाद ऑरेंज लॉकडाउन जोन में देश के वह इलाके आएंगे, जहां कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के कम मामले सामने आए हैं और फिलहाल वहां कोई भी नया मामला सामने नहीं आ रहा है। ऐसे क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फसलों को काटने और सीमित पब्लिक ट्रांसपोर्ट को अनुमति दी जा सकती है।

यह भी पढ़ें: अगर आपके आसपास मिला है कोरोना वायरस का संक्रमित मरीज, तो तुरंत करें ये काम

ग्रीन जोन

इसके बाद ग्रीन जोन में देश के वह इलाके आएंगे, जहां अभी तक कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 का कोई मामला नहीं मिला है। इन इलाकों में सीमित ट्रांसपोर्ट के साथ सरकार सोशल डिस्टेंसिंग की शर्त पर कुछ लघु उद्योगों को खोलने की इजाजत दे सकती है, लेकिन कर्मचारियों को फैक्ट्रियां या कंपनी के अंदर ही रहना होगा और उन्हें बाहर निकलने की इजाजत नहीं होगी। सरकार की तरफ से पहले ही संकेत दिए जा रहे हैं कि पूरे देश में एक जैसा लॉकडाउन नहीं किया जाएगा और ऐसे में इन लॉकडाउन जोन का इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

लॉकडाउन जोन क्यों बना सकती है सरकार?

आपको बता दें कि, 11 अप्रैल को पीएम मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की, जिसमें सभी मुख्यमंत्रियों ने एक साथ लॉकडाउन बढ़ाने की इच्छा जारी की और 14 को इसे लागू भी कर दिया। लेकिन, सरकार कुछ राहत देने पर विचार कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक के बाद संदेश दिया कि, ‘पहले हमारा मंत्र था जान है तो जहान है, मगर अब मंत्र हो गया है जान भी, जहान भी। जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था, तो शुरू में बल दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत आवश्यक है।

उद्योगों को मिल सकती है राहत

देश के अधिकतर लोगों ने बात को समझा और घरों में रहकर दायित्व निभाया। मगर अब भारत के उज्जवल भविष्य, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए जान भी जहान भी, दोनों पहलुओं पर ध्यान आवश्यक है। अब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा।’ ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि, मोदी सरकार ग्रीन लॉकडाउन जोन में कुछ फैक्ट्रियों और उद्योगों को छूट दे सकती है।

यह भी पढ़ें: अगर जल्दी नहीं रुका कोरोना वायरस, तो ये होगा दुनिया का हाल

कोरोना वायरस अपडेट (latest news on corona)

वर्ल्ड ओ मीटर के मुताबिक 14 अप्रैल 2020 को दोपहर 2 बजे तक दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 19 लाख 30 हजार के पार हो गई है और इस खतरनाक बीमारी से जान गंवाने वालों की तादाद 1 लाख 19 हजार हो गई है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के 80 प्रतिशत मरीजों को पता भी नहीं चलता, वो कब संक्रमित हुए और कब ठीक हो गए

कोरोना वायरस महामारी को देश से खत्म करने के लिए आपको लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही मास्क व पर्सनल हाइजीन जैसी सावधानियों का पालन करना होगा। इसके अलावा, सिर्फ सरकार या हेल्थ एक्सपर्ट द्वारा दी गई जानकारी पर ही विश्वास करें।

कोरोना से सावधानी है जरूरी

  • कोरोना से सावधानी के लिए अपने हाथों को रोजाना धुलें।
  • कोरोना से बचाव के लिए मास्का का प्रयोग अवश्य करें।
  • अगर आप डिस्पोजल मास्क का यूज कर रहे हैं एक बार यूज कर उसे फेंक दें।
  • कोरोना से बचाव के लिए घर से बाहर जाने पर ग्लव्स का प्रयोग जरूर करें।
  • कोरोना महामारी से अवेयरनेस जरूरी है, इसलिए सरकार की ओर से जारी अपडेट्स पर नजर रखें।
  • कोरोना महामारी की जानकारी के लिए आप डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं।
  • अगर आपके घर में सैनिटाइजर नहीं है तो उसे घर में बनाकर भी यूज किया जा सकता है।
  • घर में सब्जियां लाने पर उन्हें अच्छे से धुले।
  • घर में बुजुर्गों और बच्चों का विशेष ख्याल रखें।
  • अगर आपके पास मास्क नहीं है तो कॉटन हैंकी का यूज भी किया जा सकता है।
  • कोरोना के लक्षणों को अनदेखा न करें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • कोरोना महामारी से बचने के लिए हाइजीन का विशेष तौर पर ख्याल रखें।
  • बिना डॉक्टर की सलाह से किसी भी प्रकार की दवा न खाएं।

कोरोना वायरस से बचने के लिए अवेयरनेस बहुत जरूरी है। कोरोना से सावधानी ही इस बीमारी का इलाज है। सही जानकारी को दूसरों के साथ भी साझा करें और साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल भी रखें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 13/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 13/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 13/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 83 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200412-sitrep-83-covid-19.pdf?sfvrsn=697ce98d_4 – Accessed on 13/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 13/4/2020

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Surender aggarwal द्वारा लिखित
अपडेटेड 14/04/2020
x