home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्वास्थ्य सेवाओं में कारगर कदम उठाने के लिए दुनियाभर में भारत की सराहना

स्वास्थ्य सेवाओं में कारगर कदम उठाने के लिए दुनियाभर में भारत की सराहना

संयुक्त-राष्ट्र महासभा (world health organisation) के 74वें अधिवेशन की सामान्य बहस न्यूयॉर्क के संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय (UN assembly) में आयोजित की गई। इसमें भारत के स्वास्थ्य संबंधी कार्यों की प्रशंसा की गई। विश्व स्वास्थ्य संगठन की दक्षिण-पूर्व एशिया की रीजनल डायरेक्टर पूनम खेत्रपाल ने भारत में स्वास्थ्य पर किए जा रहे कामों की सराहना की। उन्होंने कहा भारत आयुष्मान भारत योजना के तहत लगभग 1.5 लाख स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्रों का विकास किया जाएगा। इसके माध्यम से प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं देने का लक्ष्य है। यह दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस योजना है।

अधिवेशन में मुख्य तौर पर स्वास्थ्य के पूर्ण कवरेज और मानव जाति के सामने मौजूद प्रमुख खतरे और चुनौतियों का मुकाबला करने की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया। सम्मेलन में स्वास्थ्य कवरेज पर संयुक्त राष्ट्र राजनीतिक घोषणा पत्र पारित किया गया। स्वास्थ्य विषयों पर इस तरह की चर्चा अपने आप में एक बड़ा कदम है। आप भी जानिए भारत की कुछ स्वास्थ्य योजना और सेवाओं के बारे में।

स्वास्थ्य योजना के तहत 2030 तक घर-घर तक पहुंचेगी स्वास्थ्य सेवाएं

अधिवेशन में कई देशों के उच्च प्रतिनिधि मौजूद हैं। भारत समेत कई देशों ने फाइनेंशियल और पॉलिटिकल आधार पर स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ावे का आश्वासन दिया। लक्ष्य में हर व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं आसानी से पहुंचाने, अच्छी और सस्ती मेडिसिन वैक्सीन मुहैया कराना है। पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन के प्रेसिडेंट डॉ श्रीकांत रेड्डी ने कहा कि यूएचसी (universal health coverage) वह मंच है जहां हर व्यक्ति को सुविधा मुहैया कराने का हमारा लक्ष्य पूरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि भारत को एक सुविधा संपन्न हेल्थ सिस्टम की जरूरत है, ताकि 2030 तक सभी तक सेवाएं पहुंच सके। यह एक राजनैतिक समझौता है। इसलिए बड़े पैमाने पर निवेश की जरूरत पड़ेगी।

और पढ़ें: अब फेसबुक पर लगा इस ऐप के साथ मिलकर स्वास्थ्य से संबंधित पर्सनल इंफॉर्मेशन लीक करने का आरोप

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि लोगों के हितों को प्राथमिकता देनी चाहिए। लोगों की इच्छाएं और अधिकार यूएन के काम का आधार हैं। उन्होंने कहा समान हितों को बढ़ावा देते हुए, हमें अपनी सामान्य मानवता और मूल्यों का पालन करना चाहिए। गुटेरेस ने कहा कि यह घोषणा पत्र भविष्य के दस सालों में पूरी दुनिया में मजबूत और लचीली स्वास्थ्य व्यवस्था स्थापित करेगा। संयुक्त-राष्ट्र महासभा अधिवेशन के अध्यक्ष तजनी मुहम्मद-बंदे ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से कई समान चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए सहयोग करने की अपील की। ताकि विकास का लक्ष्य पूरा करने में आसानी हो। उन्होंने कहा कि शांति और सुरक्षा को आगे बढ़ाना संयुक्त राष्ट्र का मुख्य कार्य है। सभी देशों के नेताओं को रोकथाम कार्य को पहले स्थान पर रखना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक तेद्रोस ऐढानोम गेब्रेयेसुस ने कहा कि स्वास्थ्य का पूर्ण कवरेज अनवरत विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

और पढ़ें : बजट 2020 : भारत को 2025 तक टीबीमुक्त कराने का संकल्प, जानें हेल्थ से जुड़ी अन्य घोषणाएं

भारत में स्वास्थ्य सेवाओं को घर-घर तक पहुंचाने की मुहिम की सराहना दुनिया भर में हो रही है। चाहे वह इंद्रधनुष के तहत मुफ्त में वेक्सिनेशनन या स्वच्छ भारत के तहत सेनेटरी पेड वितरित करना। हाल ही में बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्वच्छ भारत मिशन के लिए गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स पुरस्कार से भी सम्मानित किया। इसे उन्होंने 2 अक्टूबर 2014 को शुरू किया था। महत्त्वाकांक्षी मिशन का लक्ष्य देशभर में स्वच्छता को बढ़ावा देना है।

और पढ़ें : जानिए हेल्थ इंश्योरेंस के होते हैं कितने प्रकार और आपको कौनसा लेना चाहिए

स्वास्थ्य योजना: जानिए आयुष्मान योजना के तहत क्या क्या मिलेंगे फायदे :

  • इस योजना के तहत हर परिवार के सदस्यों को पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा दिया जाएगा।
  • मोदीकेयर में पुरानी चली आ रही बीमारियों को भी कवर किया जाएगा।
  • अगर कोई व्यक्तिअस्पताल में भर्ती होता है, तो उसे भर्ती होने के दौरान का और भर्ती होने के बाद तक का खर्चा दिया जाएगा।
  • बीमारी की जांच, इलाज, ऑपरेशन के बाद, आदि PM Jay के तहत कवर किया जाएगा।
  • इस योजना में कवर होने वाले किसी भी अस्पताल में इलाज कराने के लिए कोई खर्चा नहीं देना पड़ेगा।
  • इस योजना के तहत अस्पताल में एक हेल्प डेस्क भी होगा जो दस्तावेज चेक करने, स्कीम में नामांकन के लिए वेरिफिकेशन में मदद करेगा। आयुष्मान भारत योजना में शामिल व्यक्ति देश के किसी भी सरकारी या पैनल में शामिल निजी अस्पताल में इलाज करा सकेगा।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयुष्मान भारत योजना में 1354 पैकेज शामिल किए हैं।
  • आयुष्मान भारत योजना में शामिल होने के लिए परिवार के आकार और उम्र का कोई बंधन नहीं है।
  • ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और कानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि खुद आयुष्मान भारत योजना में शामिल हो जाएंगे।
  • आयुष्मान भारत योजना में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ग्रामीण इलाके में कच्चा मकान होना चाहिए, परिवार में किसी वयस्क (16-59 साल) का नहीं होना।
  • इस योजना के तहत सभी लाभार्थियों के हित में सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के लिए एक हेल्पलाइन नंबर (14555) जारी किया गया है, जिस पर आप कभी भी कॉल कर सकते हैं। इस नंबर पर कॉल करके आप इस योजना से जुड़ी सभी जानकारियां पा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत क्या क्या कवर होगा और कैसे आप इसका लाभ उठा सकते हैं, इन सभी की जानकारी आपको आयुष्मान भारत योजना के इस हेल्पलाइन नंबर पर मिल सकती है।

और पढ़ें :कोरोना के बाद चीन में सामने आया नया फ्लू वायरस, दे रहा है महामारी का संकेत

स्वास्थ्य योजना: आयुष्मान भारत योजना के तहत किया गया ये काम

साल 2020 स्वास्थ्य के लिहाज से कई सारी परेशानियां लेकर आया। कोरोना महामारी से साल 2020 में न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में अपना कोहराम मचाया। भारत में इस महामारी के कारण लाखों लोग संक्रमित हुए साथ ही मौंत के आंकड़ें भी लोगों को परेशान करने वाले हैं। ऐसे में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत लोगों को हॉस्पिटल में निशुष्क इलाज की सुविधा भी प्रदान की गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रधिकरण के अंतर्गत लोगों को सहायता प्रदान की गई ताकि लोग फोन कर जानकारी ले सके और उनके किसी भी प्रश्न का आसान उत्तर दिया जा सके।

लोगों को फोन के जरिए ही कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जरूरी जानकारी भी उपलब्ध कराई गई। इस योजना के तहत लोगों ने न सिर्फ कोरोना का टेस्ट कराया बल्कि कोरोना का ट्रीटमेंट का भी निशुल्क लाभ उठाया। गरीब लोगों को इस योजना के तहत प्रति परिवार हर साल पांच लाख रुपय का हेल्थ कवर मुहैया कराया जा रहा है। इस बारे में अगर किसी को जानकारी नहीं है तो वे पास के सरकारी अस्पताल से भी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

डब्लूएचओ ने भी की स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत की तारीफ

कोरोना महामारी के दौरान डब्लूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडहानोम गेब्रेयेसुस ने भारत की स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सकारात्क बयान दिया। उन्होंने कहा कि भारत की हेल्थ कवर प्लान आयुष्मान भारत कोरोना काल में लोगों को स्वास्थ्य समस्या से उबारने का काम कर सकती है। भारत में इस स्वास्थ्य सेवा का लाभ कई गरीब तबके के लोग अब तक उठा चुके हैं और साथ ही अन्य लोगों को भी इसके बारे में अवेयर किया जा रहा है।

अगर आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानी है तो आप अपने नजदीकी अस्पताल में परामर्श करें। अगर आपने स्वास्थ्य बीमा ले रखा है तो इस बारे में हॉस्पिटल को जानकारी दें। सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं का लाभ लेने के लिए आप सरकारी वेबसाइट पर विजिट करें और जानकारी प्राप्त करें। आप चाहे तो टोल फ्री नंबर पर कॉल कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपका कोई जानकार व्यक्ति इन स्वास्थ्य योजनाओं से जुड़ा है तो बेहतर होगा कि आप उससे जानकारी लें।

आशा करते हैं कि आपको इस आर्टिकल की जानकारी पसंद आई होगी और आपको भारत की स्वास्थ्य सेवाओं और योजनाओं से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अगर आपके मन में स्वास्थ्य संबंधी किसी भी जानकारी को लेकर प्रश्न हैं तो हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं। हेल्थ से रिलेटेड न्यूज से अपडेट रहने के लिए हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

AYUSHMAN BHARAT – https://mera.pmjay.gov.in/search/login   Accessed on 13/12/2019

Swachh Bharat Abhiyan  https://swachhbharatmission.gov.in//Accessed on 13/12/2019

GENERAL ASSEMBLY OF THE UNITED NATIONS/https://www.un.org/en/ga/74/agenda/Accessed on 13/12/2019

74th Session of the UN General Assembly/https://www.unscn.org/en/news-events/upcoming-events?idnews=1955/Accessed on 13/12/2019

PM Modi receives Global Goalkeeper award for Swachh Bharat Abhiyan, says people in India behind its success/https://www.indiatoday.in/india/story/pm-modi-receives-global-goalkeeper-award-for-swachh-bharat-abhiyan-1602843-2019-09-25/Accessed on 13/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/08/2020 को
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x