home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस का कहर, डब्ल्यूएचओ ने घोषित की 'महामारी'

कोरोना वायरस का कहर, डब्ल्यूएचओ ने घोषित की 'महामारी'

कोरोना वायरस (COVID-19) दुनियाभर में कहर बरपाता जा रहा है। लोग इसके चंगुल में फसते जा रहे हैं और सबसे मुश्किल बात यह है कि अभी तक इसका कोई इलाज नहीं मिल पाया है। ये लक्षण महामारी का संकेत है। इसलिए ही वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने कोरोना वायरस को ‘महामारी’ घोषित कर दिया है। डब्लयूएचओ की मानें तो महामारी कोरोना वायरस (2019-nCoV) दुनिया के करीब 113 देशों में पैर पसार चुका है। इसके अलावा, इस खतरनाक वायरस की काट अभी तक कोई भी वैज्ञानिक या एक्सपर्ट खोज नहीं पाया है। इसी वजह से इससे मरने वालों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रही है। भारत में भी महामारी कोरोना वायरस ने कई लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। भारत में लोगों के बीच इस महामारी का डर इतना फैल गया है कि सुबह उठते ही अखबारों या न्यूज चैनलों पर कोरोना वायरस के बढ़ते मरीजों की संख्या देखना अधिकतर लोगों ने डेली रुटीन बना लिया है। आइए, जानते हैं कि महामारी कोरोना वायरस को लेकर डब्लयूएचओ और भारतीय सरकार की क्या अपडेट है।

यह भी पढ़ेंः कोविड-19 और मानसिक स्वास्थ्य : महामारी में नशीले पदार्थों से बचना बेहद जरूरी

महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus; COVID- 19) : डब्ल्यूएचओ की राय

डब्ल्यूएचओ लगातार कोरोना वायरस की गंभीरता और फैलाव पर नजर बनाए हुए है। इसके शिकार और मरने वाले लोगों की संख्या को बढ़ता हुआ देख वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने इसे महामारी घोषित करने का बड़ा कदम उठाया है। संगठन का कहना है कि पिछले दो हफ्तों में कोरोना वायरस लगभग तीन गुना देशों में फैल चुका है और हजारों लोगों की जान जा चुकी है। रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट को प्रभावित करने वाले इस वायरस के बारे में यूनिसेफ का कहना है कि, “डब्ल्यूएचओ के द्वारा कोरोना वायरस को महामारी घोषित करना यह मतलब नहीं है कि, इसका स्तर काफी जानलेवा हो गया है। बल्कि इसे कई देशों में फैल जाने की वजह से एक अलार्म के रूप में किया गया है। बच्चों में यह वायरस फैलने की आशंका के बाद हम दुनियाभर में कोरोना वायरस के खतरे को कम करने के लिए तैयार हैं और कार्य कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस (Coronavirus) से जुड़ चुके हैं कई मिथ, न खाएं इनसे धोखा

महामारी कोरोना वायरस अपडेट्स (Pandemic Coronavirus Updates)

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की 11 मार्च 2020 को जारी सिचुएशन रिपोर्ट 51 के मुताबिक अबतक दुनियाभर में महामारी कोरोना वायरस के शिकार लोगों की संख्या 1,18,326 तक पहुंच गई है, जिसमें से 4627 लोग पिछले 24 घंटे में शिकार बने हैं। इसके साथ ही, नोवेल कोरोना वायरस से जान गंवाने वाले लोगों का आंकड़ा दुनियाभर में 4292 हो गया है, जिसमें से 280 लोगों ने पिछले 24 घंटे में जान गंवाई है।

भारतीय राज्यों में महामारी कोरोना वायरस

भारत के स्वास्थ्य एवं कल्याण मंत्रालय की 12 मार्च 2020 को सुबह 11 बजे जारी रिपोर्ट में देश में कुल 73 लोगों के इस महामारी के चपेट में आने की जानकारी दी गई है। भारत के 12 राज्यों में कोरोना वायरस के मरीजों से संबंधित भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में अबतक 6 भारतीयों, हरियाणा में 14 फॉरेन नेशनल (वो लोग जो देश के स्थाई नागरिक या मूल नागरिक नहीं है, लेकिन कार्य, पढ़ाई या अन्य कारणों के चलते देश में काफी समय से रह रहे हैं), केरल में 17 भारतीयों, राजस्थान में 1 भारतीय और 2 फॉरेन नेशनल, तेलंगाना में 1 भारतीय, उत्तर प्रदेश में 10 भारतीय और 1 फॉरेन नेशनल, केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख में 3 भारतीय, तमिलनाडु में 1 भारतीय, केंद्रशासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में 1 भारतीय, पंजाब में 1 भारतीय, कर्नाटक में 4 भारतीय और महाराष्ट्र में 11 भारतीय लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है।

यह भी पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

महामारी कोरोना वायरस का डेटा हर दिन नहीं किया जाए जारी

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सरकार ने रिक्वेस्ट की है कि वह नोवेल कोरोना वायरस यानी कोविड- 19 से संबंधित आंकड़ों को रोजाना जारी न करें। संगठन का कहना है कि, बेशक वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है, लेकिन रोजाना इसके शिकार लोगों का आंकड़ा जारी करने से लोगों में डर और घबराहट की स्थिति बढ़ जाएगी। आईएमए के अध्यक्ष डॉ. राजन शर्मा ने कहा कि, “हम लोगों को डर से दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। हर दिन आंकड़े जारी करने से लोगों के बीच डर और घबराहट का माहौल बनेगा। बल्कि इन आंकड़ों को अलग करने और निदान के लिए उचित कदम उठाने के लिए हम सरकार से अपील करते हैं।” इसके साथ ही हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि, कोरोना वायरस को हरियाणा में महामारी घोषित कर दिया है और लोगों से इस वायरस के लिए जरूरी एहतियात बरतने की अपील की जा रही है।

महामारी कोरोना वायरस के लक्षण

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के मुताबिक महामारी कोरोना वायरस के आम लक्षणों में बुखार, थकान और सूखी खांसी दिख सकती है। कुछ मरीजों में शारीरिक दर्द, नाक बंद, नाक बहना, गले में सूजन व डायरिया की समस्या भी दिख सकती है। शुरुआत में यह लक्षण माइल्ड लेवल के होते हैं और धीर-धीरे गंभीर होने लगते हैं। वर्तमान में अगर किसी को भी बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत महसूस होती है, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर परामर्श करें।

यह भी पढ़ें- दिल्ली में कोरोना वायरस के 2 मामले, पांच बच्चों के भी लिए गए सैंपल

महामारी कोरोना वायरस को लेकर भारत सरकार की सलाह

हर व्यक्ति अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोएं। कोई भी व्यक्ति कहीं भी बेवजह घर से न निकलें और भीड़ न लगाए। अपने आंखों, नाक और मुंह को छूने से पहले हाथों को धोएं। छींकने व खांसने से पहले टिश्यू की सहायता से नाक और मुंह को ढकें। अपने डॉक्टर से पूरी जानकारी प्राप्त करें और उसकी हर सलाह का पालन करें। इसके अलावा आपको बुखार, सांस की समस्या या खांसी हो रही हो तो जल्दी डॉक्टर से मिलें। मास्क लगाने से पहले अपने हाथों को साबुन से धोएं अथवा एल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइजर से हाथों को साफ करें। मास्क लगाते समय मुंह और नाक को अच्छी तरह कवर करें, कोई गैप न रहे। जब भी मास्क को एक बार इस्तेमाल कर लिया हो, तो दोबारा उसका उपयोग न करें। जब मास्क को उतारें तो पीछे से हटाएं, आगे की तरफ से न छूएं। उतारने के बाद मास्क को एकदम बंद डस्टबिन के अंदर फेकें। कोरोना से बचने का एकमात्र उपाय सिर्फ बचाव है, इसलिए कोरोना से बचाव के तमाम तरीके अच्छी तरह फॉलो करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें :

इलाज के बाद भी कोरोना वायरस रिइंफेक्शन का खतरा!

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

….जिसके सेवन से नहीं होगा कोरोना वायरस?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus disease (COVID-19) advice for the public – https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019/advice-for-public – Accessed on 12/3/2020

About Coronavirus Disease 2019 (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/about/index.html – Accessed on 12/3/2020

Novel Corona Virus – http://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 12/3/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 51 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200311-sitrep-51-covid-19.pdf?sfvrsn=1ba62e57_4 – Accessed on 12/3/2020

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 12/3/2020

Q&A on coronaviruses (COVID-19) – https://www.who.int/news-room/q-a-detail/q-a-coronaviruses – Accessed on 12/3/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x