उबकाई/डकार (Belching) क्यों आती है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट January 20, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

क्या है उबकाई (Belching)?

जब पाचन तंत्र के ऊपरी हिस्से में अतिरिक्त हवा होती है जमा हो जाती है तो ये डकार या उबकाई के रूप में मुंह से बाहर निकलती है। अधिकांश  हुए पेट अधिक हवा निगलने के कारण ही होते है। खाने-पीने के दौरान ये हवा पेट में चली जाती है या फिर जमी ही रहती है। डकार (Belching) या उबकाई (Passing Gas)  शरीर में होने वाली बहुत ही आम क्रिया है। साधारण तौर पर ये जीवनशैली को प्रभावित नहीं करती है। मोटापे या बड़े पेट की वजह से आंतों में सूजन या दर्द अपके दैनिक जीवन में समस्या बढ़ा सकता है। इस वजह से आपको शर्मिंदा भी होना पड़ सकता है।

जब बढ़ने लगती है उबकाई की समस्या

उबकाई की समस्या से ज्यादा परेशानी न होने के कारण अक्सर लोग घरेलू उपाय से उपचार कर लेते हैं। जब डकार या उबकाई की समस्या बढ़ जाती है तो पेट में दर्द या सूजन की वजह से परेशानियों का सामना करना पड़ता है । अगर आपको इस प्रकार की समस्या है तो निम्नलिखित तरीकों से आप इसे कम कर सकते हैं।

और पढ़ें : आंतों की समस्याएं जो आपको पता होनी चाहिए

कैसे पाएं उबकाई से छुटकारा?

खानपान के दौरान हवा सीधे पेट में चली जाती है। भोजन करते समय, कैंडीज खाते समय, कर्बोनेटेड पेय पदार्थ, धूम्रपान के दौरान, च्युइंगम चबाते समय लोग अधिक मात्रा में हवा को निगल लेते हैं। कुछ लोग नर्वस हैबिट की वजह से भी अधिक हवा निगल लेते हैं। ऐसे लोगों में बिना खाए पिए ही गैस अधिक मात्रा में शरीर में पहुंच जाती है। इसे एरोफैगिया कहा जाता है।

Acid reflux or gastroesophageal reflux disease (GERD) के कारण डकार और पेट फूलने की समस्या होती है। जीर्ण पेट की परत में सूजन (gastritis) या Helicobacter pylori के साथ संक्रमण से संबंधित हो सकती है।  ये जीवाणु पेट में अल्सर के लिए भी जिम्मेंदार होता है।  इस प्रकार की समस्या में पेट में जलन और दर्द हो सकता है।

और पढ़ें : खाने के बाद क्यों आती है डकार ? जानिए डकार के पीछे के विज्ञान को

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

डकार या उबकाई (Belching) को ऐसे करें दूर

आप डकार या उबकाई की समस्या को इस तरीकों को अपनाकर दूर कर सकते हैं…

खाना धीमें खाएं

आप जब भी खाना खाएं , जल्दबाजी न करें । जल्दी-जल्दी खाना खाने से मुंह से अधिक मात्रा में हवा निगल लेते हैं। तनावग्रस्त होनें पर भी आप अधिक मात्रा में वायु निगल लेते हैं।

और पढ़ें : पेट की एसिडिटी को कम करने वाली इस दवा से हो सकता है कैंसर

कार्बोनेटेड ड्रिंक्स न लें

कार्बोनेटेड ड्रिंक्स में CO2 अधिक मात्रा में होती है। कार्बोनेटेड ड्रिंक्स या बीयर से बचें।

हार्ड कैंडी या गम न खाएं 

हार्ड कैंडी या गम चूसने से शरीर में अधिक मात्रा में हवा पहुंचती है।

और पढ़ें : पेट के कीड़ों से छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खे

स्मोकिंग से बचें

स्मोकिंग के दौरान अतिरिक्त हवा शरीर के अंदर चला जाता है।

डेन्चर की जांच करें

खराब फिटिंग वाले डेन्चर की वजह से आप खाने-पीने के दौरान अधिक मात्रा में हवा निगल लेते हैं।

वॉक करें

खाने के बाद बैठें नहीं। खाना खाने के बाद चलना-फिरना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

और पढ़ें : हेल्दी गट के लिए इन फूड को खाने में करें शामिल

हार्टबर्न का इलाज करें

हार्टबर्न का इलाज करें। जब कभी छाती में दर्द की समस्या हो तो उसका उपचार करें। GERD का उपयोग भी कर सकते हैं।

पेट फूलना : आतों में गैस का निर्माण

कोलन  में गैस का निर्माण खाने के डायजेशन के समय या फिर अपच खाने के फरमन्टेशन के समय होता है। कोलन में उपस्थित बैक्टीरिया जब प्लांट फाइबर या शुगर (कार्बोहाइड्रेड) का पाचन नहीं कर पाते हैं तो गैस उत्पन्न होती है।

इंटेस्टाइनल गैस के अन्य कारण

  • कोलन में खाद्य अवशेष
  • छोटी आंत के बैक्टीरिया में बदलाव
  • कार्बोहाइड्रेड का कम अवशोषण, इस कारण पाचन में सहायक बैक्टीरिया के कार्य में बांधा
  • कब्ज की समस्या के कारण
  • अधिक समय तक कोलन में पड़े खाने का किण्वन
  • पाचन में विकार
  • लेक्टोज और फ्रकटोज असहिष्णुता के कारण सिलिएक रोग

और पढ़ें : Intestinal Ischemia: जानें इंटेस्टाइनल इस्किमिया क्या है?

गैस की अधिकता से बचने के लिए ये करें

इन खाद्य पदार्थों से बचें

अगर आपको गैस की समस्या है तो कुछ खाद्य पदार्थों से दूरी बना लें। जैसे सेम,दाल, ब्रोकली, मशरूम, बीयर, फूलगोभी प्याज आदि।  आप धीरे -धीरे कर इन्हें कम कर सकते हैं और गैस की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

और पढ़ें : जानिए गट से जुड़े मिथ और उसके तथ्य

लेबल्स को पढ़े

कई बार डेयरी प्रोडक्ट्स से समस्या हो जाती है। गैस से बचने के लिए लेक्टोज फ्री प्रोडेक्ट या लो लेक्टोज प्रोडेक्ट का उपयोग करें। शुगर फ्री फूड(sorbitol, mannitol and xylitol) में भी अनडायजेस्ट कार्बोहाइड्रेड पाए जाते हैं। ये भी गैस की समस्या को बढ़ाते हैं।

कम फैटी फूड खाएं

फैटी फूड डायजेशन के टाइम को बढ़ा देते है। ऐसे फूड से बचें।

अधिक फाइबर फूड से बचें

फाइबर फूड खाना सेहत के लिए अच्छा होता है लेकिन फूड में अधिक मात्रा में फाइबर होने से गैस की समस्या बढ़ सकती है। समय के अन्तराल के साथ फाइबर फूड  का सेवन करें।

कुछ ऐसे प्रोडेक्ट होते हैं जो लेक्टोज को डायजेस्ट करने में हेल्प करते हैं। सिमेथेनिक (गैस एक्स, मायलंटा गैस) वाले उत्पाद मददगार साबित नहीं होते हैं लेकिन कई लोगों को ये फायदा पहुंचाते हैं। कई फलियां भी गैस की समस्या से निजात दिलाती है।

और पढ़ें : क्या एंटीबायोटिक्स कर सकती हैं गट बैक्टीरिया को प्रभावित?

क्या है ब्लोटिंग (BLOATING) 

ब्लोटिंग (पेट का भारी या भरा हुआ लगना) की समस्या में पेट में भारीपन लगता है। ऐसा लगता है जैसे खूब सारा खाना खा लिया हो। कई बार मल त्याग या गैस के निकलने के बाद भी राहत नहीं मिलती है।

आंतों की गैस और सूजन के बीच अभी तक मुख्य अंतर को समझा नहीं जा सका है। ब्लोटिंग की समस्या और आंतो की सूजन में कई बार लोगों को समझने में दिक्कत हो जाती है। जिन्हें गैस की समस्या नहीं भी होती है ऐसे में चिड़चिड़ाहट या आंत के सिन्ड्रोम के लिए अधिक संवेदनशील हो सकती है।

ब्लोटिंग की समस्या को आहार परिवर्तन और व्यवहार के परिवर्तन से कम किया जा सकता है। इससे पेट भी कम हो जाएगा और राहत भी मिलेगी।

अपने डॉक्टर को कब दिखाना है ?

जब कभी पेट भरा हुआ महसूस हो, पेट में दर्द, आंतों में सूजन की समस्या हो और ये अपनेआप न सही हो तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यदि आप ये लक्षण महसूस करते हैं तो डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं…

  • दर्द
  • पेट में गंभीर दर्द
  • मल में खून
  • मल के रंग में परिवर्तन
  • वजन का अचानक से कम होना
  • बेचैनी होना
  • भूख कम लगना औऱ पेट भरा हुआ महसूस होना

ब्लोटिंग यानी उबकाई होने पर इस प्रकार के लक्षण दिख सकते हैं। आंतों में सूजन होने पर भयानक लक्षण दिख सकते हैं। अपने डॉक्टर से संर्पक कर आप समस्या का निदान पा सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

कॉन्स्टिपेशन और बढ़ता वजन, क्या पहली मुसीबत दूसरी का कारण बन सकती है?

कब्ज के कारण वजन बढ़ना ये पढ़कर आपको लग सकता है कि क्या फालतू बात है, लेकिन ये सच है। कॉन्स्टिपेशन वेट गेन का कारण हो सकता है। जानना चाहते हैं कैसे तो पढ़ें ये लेख

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
स्वस्थ पाचन तंत्र, कब्ज January 18, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें

पीरियड्स और कॉन्स्टिपेशन: जैसे अलीबाबा के चालीस चोरों की बारात हो! 

पीरियड्स और कॉन्स्टिपेशन (Periods and constipation) कई बार ये दोनों एक साथ हमला बोल देते हैं। इससे बचने के लिए आपको क्या करना चाहिए जानिए इस लेख में ।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
स्वस्थ पाचन तंत्र, कब्ज January 18, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें

सर्दियों में पीरियड्स पेन को कहें बाय और अपनाएं ये उपाय

सर्दियों में पीरियड्स पेन की तकलीफ क्यों होती है? सर्दियों में पीरियड्स पेन को दूर करने का क्या है आसान तरीका? Home remedies for periods pain during winter in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha

जब कब्ज और एसिडिटी कर ले टीमअप, तो ऐसे जीतें वन डे मैच!

कब्ज के कारण गैस कब्ज एसिडिटी की तकलीफ हो, तो आपको पेट में जलन, खट्टी डकारें (acid reflux), डिस्कम्फर्ट और मोशन में गड़बड़ी की दिक्कत होने लगती है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod

Recommended for you

सर्जरी के बाद कब्ज से कैसे बचें? Constipation after surgery

सर्जरी के बाद हो सकती है एक दूसरी परेशानी जिसका नाम है ‘कब्ज’, जानिए बचने के तरीके

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ February 5, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
एच पाइलोरी संक्रमण के लक्षण,H pylori infection symptoms

पेट दर्द का कारण बन सकता है ये बैक्टीरिया, जानिए इससे बचने के उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 4, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कब्ज के कारण पीठ दर्द (Constipation and back pain)

कॉन्स्टिपेशन और बैक पेन! कहीं आपकी परेशानी ये दोनों तो नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 1, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
Yoga for constipation - पेट की समस्या में योग

जानें पेट की इन तीन समस्याओं में राहत देने वाले योगासन, जो आपको चैन की सांस दे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ January 31, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें