home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

कुत्ता काटने पर क्या करें और क्या न करें?

कुत्ता काटने पर क्या करें और क्या न करें?

कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार बेहद ही महत्वपूर्म हो जाता है। कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) लेने से बैक्टीरियल इंफेक्शन को फैलने से रोका जा सकता है। कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार लेने में आप घाव की गंभीरता का आंकलन करके उसके अनुसार फर्स्ट ऐड ले सकते हैं।

कई मामलों में आप कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) खुद ले सकते हैं, लेकिन कुछ मामलों में आपको तुरंत चिकित्सा की आवश्यकता होती है। भले ही कुत्ता आपका हो या किसी अन्य व्यक्ति का, कुत्ते के काटने के बाद आपको एक सदमे जैसा महसूस होता है। कुत्ते के काटने के बाद यदि आपको तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता पड़ती है तो खुद अस्पताल भागने के बजाय गाड़ी चलाकर खुद डॉक्टर के पास या अस्पताल जाने के बजाय फोन करके सहायता मांगे।

और पढ़ेंः कीड़े का काटना या डंक मारना कब हो जाता है खतरनाक? क्या है बचाव का तरीका

पालतू कुत्ते के काटने की स्थिति में प्राथमिक उपचार

वैक्सीनेशन हिस्ट्री की जानकारी जुटाएं:

  • डॉग बाइट या कुत्ते का काटने के तुरंत बाद सबसे पहले आपको अपने और कुत्ते के बीच में एक दूरी बनानी है। इससे कुत्ते के दोबारा आपको काटने की संभावना कम हो जाती है। यदि आपको तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता नहीं है तो यह सुनिश्चित करें कि कुत्ते के मालिक ने उसका उचित टीकाकरण या वैक्सीनेशन कराया है या नहीं।
  • यदि कुत्ते का मालिक आसपास रहता है तो उससे कुत्ते को लगाए गए रैबीज इंजेक्शन की हिस्ट्री अवश्य पूछें। इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि आप कुत्ते के मालिक का नाम, मोबाइल नंबर और कुत्ते के डॉक्टर का मोबाइल या फोन नंबर अवश्य लें। कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) की स्थिति में यदि कुत्ता अकेला है तो आसपास किसी भी व्यक्ति को गवाही के लिए तैयार करें, जो घटना का प्रत्यक्षदर्शी रहा हो। ऐसा उन्हीं लोगों के मामले में संभव है जो कुत्ते के मालिक और उसके पते से परिचित हों।
  • कई मामलों में आपका खुद का कुत्ता ही आपको काट लेता है। इस स्थिति में यह और भी महत्वपूर्ण है कि आप अपने कुत्ते का रैबीज का वैक्सीनेशन जरूर कराएं। कई बार फ्रेंडली, शांत जानवर भी गलती से आपको काट सकते हैं।

कुत्ते के काटने से क्या होता है?

कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) की स्थिति में कई बार बैक्टीरिय घाव या बॉडी में रह जाता है। इस प्रकार की डॉग बाइट स्थिति में यह बैक्टीरिया टेटनस, रैबीज या सेपसिस का कारण बन सकता है। कई मामलों में यह इंफेक्शन बॉडी के अन्य हिस्सों में भी फैल जाता है। कुत्ते के काटने से यदि आपकी स्किन छिल जाती है या मांस दिखने लगता है तो इस स्थिति में आपकी मासपेशियों की कोशिकाएं और ऊत्तक छतिग्रस्त हो जाते हैं। यह मामले बेहद ही गंभीर होते हैं। इन परिस्थितियों में आपको एंटीबायोटिक्स या वैक्सीनेशन की जरूरत होती है, जिससे इंफेक्शन का इलाज किया जा सके। डॉग बाइट के 50 प्रतिशत मामलों में स्टेफायलोकोकस (staphylococcus), स्ट्रेप्टोकोकस (streptococcus) और पास्टेयुरेला (pasteurella) के साथा-साथ केप्नोसाटोफागा (capnocytophaga) बैक्टीरिया आ जाते हैं। यह मामले ज्यादातर आवारा और जिन कुत्तों का वैक्सीनेशन नहीं हुआ होता है, उनमें सामने आते हैं।

और पढ़ेंः बच्चों को मच्छरों या अन्य कीड़ों के डंक से ऐसे बचाएं

कुत्ते के काटने पर क्या करें?

कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites)

कई मामलों में कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार घर पर ही दिया जा सकता है। यदि आपको कोई अनजान कुत्ता, गहराई से काटे या कुत्ते के काटने पर ब्लीडिंग रुक न रही हो तो ऐसे मामलों में आपके लिए तत्काल डॉग बाइट फर्स्ट ऐड की जरूरत होती है। इसके अतिरिक्त इंफेक्शन के संकेत के रूप में यदि त्वचा पर लालिमा, सूजन, गर्माहट, पस जैसी स्थिति पैदा होती है तो इससे इंफेक्शन फैल सकता है। इस स्थिति में डॉक्टर उचित तरीके से आपका उपचार कर सकता है।

ऐसे करें घर पर कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites)

  • कई मामलों में कुत्ता मासपेशियों में अपने दांतों को इतनी गहराई से घुसा देता है, जिससे मासपेशियों की कोशिकाओं और उत्तकों को भारी नुकसान पहुंचता है। इसकी वजह से तेज ब्लीडिंग होने लगती है। इस ब्लीडिंग को तत्काल रोकने की आवश्यकता होती है। इस स्थिति में घाव पर एक साफ तौलिया रखें, जिससे ब्लीडिंग को रोकने में मदद मिलेगी।
  • घर पर कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) में आपके लिए यह बेहद ही जरूरी है कि जिस हिस्से पर कुत्ते ने काटा है, उसे ऊंचा रखें।
  • हल्के गुनगुने पानी और साबुन से घाव सावधानी पूर्वक धो लें।
  • घर पर कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार करने के लिए घाव को साबुन और पानी से धोने के बाद आप उस पर एक स्ट्राइल बैंडेड लगा लें।
  • कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार के रूप में आप प्रतिदिन घाव पर एक ओइंटमेंट (मलहम) जरूर लगाएं।

कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार में डॉक्टर पूछ सकता है निम्नलिखित सवाल:

  • डॉक्टर आपसे कुत्ते के मालिक के बारे में पूछ सकता है।
  • यदि आप जानते हैं तो क्या कुत्ते का उस तारीख रैबीज को मिलाकर वैक्सीनेशन हुआ है या नहीं।
  • क्या कुत्ते को उकसाने के बाद उसने आपका काटा या बगैर उकसाए कुत्ते ने आपको काटा।
  • क्या आपको किसी भी प्रकार की हेल्थ कंडिशन्स हैं? जैसे डायबिटीज, लिवर की बीमारी, ऐसी बीमारी जो इम्यून सिस्टम को कम करती हो और अन्य कोई ऐसी बीमारी जो इंफेक्शन की गंभीरता को बढ़ा सकती है।

और पढ़ेंः कीड़े-मकौड़ों का डर कहलाता है एंटोमोफोबिया, कहीं आपके बच्चे को तो नहीं

कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) के लिए डॉक्टर के पास कब जाएं?

निम्नलिखित स्थितियों में कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) लेने के लिए डॉक्टर के पास जाना चाहिए:

  • यदि इंफेक्शन का खतरा हो।
  • यदि घाव में कुत्ते का टूटा हुआ दांत या अन्य बाहरी पदार्थ रह जाए (जिससे इंफेक्शन होने की संभावना हो।)
  • यदि नर्व या रक्त वाहिकों के क्षतिग्रस्त होने का शक हो।
  • यदि घायल का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है तो टेटनस का खतरा रह सकता है, इस स्थिति में डॉक्टर के पास जाना जरूरी है।

निम्नलिखित स्थितियों डॉग बाइट से गंभीर इंफेक्शन की संभावना रहती है, ऐसे में तुरंत चिकित्सा की आवश्यकता होती है:

  • कुत्ते ने बॉडी पर इस तरह से काटा हो, जिसमें स्किन या मांसपेशियां बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई हों। कई बार ऐसे मामलों में मास फटकर बाहर आ जाता है।
  • यदि कुत्ता बॉडी के संवेदनशील हिस्सों जैसे चेहरे और जांघ पर काट ले और डॉग आवारा है तो इस स्थिति में आपको डॉग बाइट फर्स्ट ऐड के लिए डॉक्टर के पास जाना बेहद ही जरूरी है। कई बार कुत्ते में अनेकों प्रकार की बीमारियां होती हैं, जो उनके काटने से मनुष्यों की बॉडी में प्रवेश कर जाती हैं।
  • कुत्ते के काटने के बाद यदि आपको बुखार आ जाए।
  • यदि क्षतिग्रस्त हिस्सा लाल पड़ जाता है या सूजन आ जाती है या घाव में दर्द होता है।
  • यदि आपको घाव में गर्माहट का अहसास होता है।
  • यदि आपको गहरा घाव हुआ है और आपने पिछले पांच वर्षों में टेटनस का इंजेक्शन न लिया हो।
  • यदि आपको लगता है कि कुत्ते के काटने से आपकी नर्व या हड्डी को नुकसान पहुंचा है तो इस स्थिति में आपातकालीन चिकित्सा लेना अति आवश्यक है।
  • यदि आपके अन्य हिस्से में इंफेक्शन फैलने की स्थिति में भी आपातकालीन चिकित्सा जरूरी हो जाती है।
  • यदि कुत्ता आवारा हो और वह अचानक आकर आपको काट ले तो इस स्थिति में तत्काल चिकित्सा अनिवार्य हो जाती है।

और पढ़ेंः सांप काटने का इलाज कैसे करें? जानिए फर्स्ट ऐड

कुत्ते के काटने के बाद कौन सी समस्याएं हो सकती हैं?

कुत्ते के हाथ या पैरों पर काटने से इंफेक्शन की संभावना बढ़ जाती है। डॉग बाइट से होने वाले कुछ इंफेक्शन काफी गंभीर हो सकते हैं, जो आपके लिए समस्याएं खड़ी कर सकते हैं। इनका इलाज न करने से इंफेक्शन जानलेवा हो सकता है।

केप्नोसाटोफागा (capnocytophaga) बैक्टीरिया

यदि किसी व्यक्ति को कुत्ते के काटने से केप्नोसाटोफागा इंफेक्शन होता है तो उसमें निम्नलिखित लक्षण नजर आ सकते हैं:

यह लक्षण एक से 14 दिन के बीच में नजर आ सकते हैं। निम्नलिखित कारक इंफेक्शन के खतरे को और बढ़ा सकते हैं:

  • अत्यधिक एल्कोहॉल का सेवन करना
  • ऐसी कोई भी हेल्थ कंडिशन जो आपके इम्यून सिस्टम को प्रभावित करती है या ऐसी किसी दवा जैसे कीमोथेरीप लेने से जो कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती हो।

केप्नोसाटोफागा का इलाज न करने से निम्नलिखित खतरे हो सकते हैं:

सेपसिस (Sepsis)

  • कुत्ते के काटने पर यदि आप उचित चिकित्सा नहीं लेते हैं तो आपको सेपसिस हो सकता है। सेपसिस इंफेक्शन से होने वाली एक गंभीर समस्या है, जो जानलेवा हो सकती है। सेपसिस में निम्नलिखित लक्षण नजर आते हैं:
  • शरीर के तापमान का ज्यादा या कम होना
  • भ्रम पैदा होना
  • दिन में अधिक सोना
  • गंभीर दर्द या असहजता

यदि आपको भी उपरोक्त लक्षणों का अनुभव होता है तो आप कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) के लिए डॉक्टर से तत्काल सलाह लें।

रैबीज

  • कुत्ते के काटने पर रैबीज के निम्नलिखित लक्षण नजर आते हैं:
  • सिर दर्द, बुखार और फ्लू जैसे लक्षण
  • कमजोरी
  • घाव के आसपास खुजली का अहसास

यदि इसका इलाज न किया जाए तो यह जानलेवा हो सकती है। यदि आपको लगता है कि कुत्ते के काटने से आपको रैबीज के लक्षण नजर आ रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

और पढ़ेंः फर्स्ट डिग्री से थर्ड डिग्री तक जानिए जलने के प्रकार और उनके उपचार

टेटनस

  • कुत्ते के काटने से आपकी बॉडी में टेटनस के बैक्टीरिया आ सकते हैं।
  • टेटनस में निम्नलिखित लक्षण नजर आते हैं:
  • दाड़ में ऐंठन
  • मांसपेशियों में जकड़न
  • निगलने में परेशानी
  • मांसपेशियों में स्टिफनेस

टेटनस एक गंभीर इंफेक्शन है। टेटनस के किसी भी प्रकार के लक्षण नजर आते ही तत्काल चिकित्सा सहायता ली जानी चाहिए। ऐसे में मामलों में एंटीबायोटिक्स के साथ-साथ टेटनस का वैक्सीनेशन लेने की जरूरत होती है।

अंत में हम कहेंगे कि कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार (First aid on dog bites) लेना अति आवश्यक है। आवश्यकता पड़ने पर आपको चिकित्सा सहायता भी जरूर लेनी चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड