home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

किडनी डैमेज होने के कारण और 8 संकेत

किडनी डैमेज होने के कारण और 8 संकेत 

किडनी हमारी शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। बॉडी के सुचारु ढंग से काम करने के लिए इसका स्वस्थ रहना बेहद जरूरी है। शरीर के अंदरूनी हिस्सा होने के कारण हमें इसकी खराबी के बारें में पता नहीं चल पाता। कई बार किडनी डैमेज होने की शुरुआती स्टेज में कोई परेशानी नहीं आती। यहां ​​तक की एडवांस स्टेज में भी कई बार इस बारे में पता नहीं चलता। ज्यादातर लोगों में इसके लक्षण जल्दी दिखाई नहीं देते हैं। ऐसा होना खतरनाक है क्योंकि, डैमेज के बारे में आपको पता ही नहीं चलता। अगर किडनी डैमेज होना शुरु हो गई है तो आपको कुछ संकेत दिखाई देने लगते हैं। आइए जानते हैं, उनके बारें में।

1-अक्सर उल्टी जैसा महसूस होना ।

2- सामान्य से ज्यादा या कम पेशाब आना।

3- एड़ियों और आंखों के आस-पास सूजन।

4- हमेशा थका हुआ फील होना और सांस लेने में परेशानी होना।

5- मसल्स क्रैम्प होना, खास तौर पर पैरों में।

6- शुष्क त्वचा और खुजली होना।

7- नींद कम आना।

8- बिना किसी कारण के वजन कम होना।

यह भी पढ़ें : Chrysanthemum : गुलदाउदी क्या है?

डॉक्टर से कब कॉन्टैक्ट करें

यदि आपको ऊपर दिए गए लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो डॉक्टर से मिलें। इनके अलावा, अन्य संभावित कारण भी हो सकते हैं, लेकिन आपको यह जानने के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करना होगा कि समस्या क्या है और आपको किस तरह के ट्रीटमेंट की आवश्यकता है। अगर आपको हाई ब्लडप्रेशर या डायबटीज है, या यदि आपके परिवार में किसी को किडनी की बीमारी है तो अपने डॉक्टर से पूछें कि आपको कौन सा टेस्ट कितनी बार करवाना होगा। ऐसा करना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि किडनी सही तरीके से काम कर सके।

ज्यादातर केस में किडनी फेलियर दूसरी हेल्थ प्रॉब्लम्स की वजह से होता है, जो धीरे- धीरे समय के साथ उसे पूरी तरह से डैमेज कर देती हैं। जब ये डैमेज हो जाती है तो वे उस तरह काम नहीं करती जैसे उसे करना चाहिए। अगर यह डैमेज बढ़ता जाता है तो किडनी काम करना बंद कर देती है। किडनी फेल होना क्रोनिक डिसीज की लास्ट स्टेज है। इसलिए किडनी फेलियर को एंड स्टेज रेनल डिसीज (ESRD ) कहा जाता है।

किडनी फेल होने के कारण

डायबटीज किडनी फेल होने का सबसे आम कारण है। उसके बाद नंबर आता है हाई ब्लड प्रेशर का। इसके आलावा, किडनी फेल होने के कुछ कारण होते हैं। जैसे :

  1. ऑटोइम्यून डिजीज, जैसे ल्यूपस और आईजीए नेफ्रोपैथी,
  2. जेनेटिक डिजीज (आप जिन रोगों के साथ पैदा हुए हैं)
  3. नेफ्रोटिक सिंड्रोम
  4. यूरिनरी ट्रैक्ट प्रॉब्लम

कभी-कभी किडनी अचानक से (दो दिन के अंदर) काम करना बंद कर देती है। इस टाइप के किडनी फेलियर को एक्यूट किडनी इंज्युरी या एक्यूट रेनल फेलियर कहते हैं।

एक्यूट रेनल फेलियर के कारण

हार्ट अटैक,

-ड्रग का उपयोग,

-किडनी में पर्याप्त रक्त का संचलन नहीं होना,

यूरिनरी ट्रैक्ट प्रॉब्लम्स ,

इस प्रकार का किडनी फेलियर हमेशा स्थायी नहीं होता है। आपकी किडनी, ट्रीटमेंट से नार्मल हो सकती है, यदि आपको अन्य गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं नहीं हैं।

यह भी पढ़ें:

किडनी स्टोन (Kidney Stone) होने पर डायट में शामिल न करें ये चीजें

जानिए डायबिटीज के प्रकार, लक्षण, कारण और उपचार विधि

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Manjari Khare द्वारा लिखित
अपडेटेड 28/08/2019
x