इन 3 सप्लिमेंट्स का करके इस्तेमाल, रखें अपने दिल को हेल्दी!

    इन 3 सप्लिमेंट्स का करके इस्तेमाल, रखें अपने दिल को हेल्दी!

    अगर पौष्टिक आहार का सेवन करना हार्ट के लिए सही है, तो आपको यह जानकर भी हैरानी होगी कि कुछ न्यूट्रिशनल सप्लिमेंट्सको भी हार्ट के लिए हेल्दी माना जाता है। यह कार्डियोवैस्कुलर डिजीज से भी हमारी सुरक्षा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि कई न्यूट्रीशनल सप्लिमेंट्स हार्ट हेल्थ (Heart health) को सुधारते हैं। लेकिन, ऐसा नहीं है। केवल, तीन सप्लिमेंट्स हार्ट का पोषण करने के लिए पर्याप्त माने जाते हैं। आज हम इन हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) के बारे में बात करने वाले हैं। आइए जानें हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) के बारे में विस्तार से। सबसे पहले जानते हैं कि हार्ट के लिए सप्लिमेंट्स के क्या फायदे हैं?

    हार्ट के लिए सप्लिमेंट्स के क्या फायदे हैं?

    ऐसा माना जाता है कि बहुत से सप्लिमेंट्स हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन, क्या सच में इनमें से कोई लाभदायक होता है? कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ पर कई सप्लिमेंट्स के प्रभाव पर शोध किया गया है। हालांकि, इनके परिणाम अक्सर स्पष्ट नहीं होते हैं क्योंकि जो लोग अधिकतर सप्लिमेंट्स का उपयोग करते हैं, ऐसा पाया गया है कि वो अधिकतर हेल्दी डायट और जीवन शैली का पालन भी करते हैं। डाइटरी सप्लीमेंट हार्ट हेल्थ (Heart health) में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। लेकिन इसकी पुष्टि या खंडन करने के लिए और अधिक शोध की आवश्यकता है। जब तक हम और अधिक नहीं जानते, तब तक सप्लिमेंट्स को केवल डॉक्टर की देखरेख में, हार्ट-हेल्दी लाइफस्टाइल के साथ लिया जाना चाहिए, न कि हार्ट हेल्थ (Heart health) लिए प्राथमिक उपचार के रूप में। अब जानते हैं हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) के बारे में।

    और पढ़ें: Ways to Prevent Heartburn and Acid Reflux: कैसे बचें हार्टबर्न और एसिड रिफ्लक्स से?

    हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart)

    हार्ट डिजीज (Heart disease) उन समस्याओं को कहा जाता है जिनसे हमारा दिल प्रभावित होता है। यह कंडिशंस गंभीर भी हो सकती हैं। इनसे बचाव के लिए हार्ट हेल्दी डायट के साथ ही कई अन्य चीजों की भी सलाह दी जाती है। आइए जानें हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) कौन से हैं:

    हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स (Omega-3 fatty acids)

    ओमेगा-3 फैटी एसिड्स को हार्ट के लिए फायदेमंद माना जाता है। रिव्युड स्टडीज में से पहला ओमेगा -3 फैटी एसिड एस्टर (Omega-3 fatty acid esters) यानी (O3AEE). से संबंधित है। O3AEE,ओमेगा-3 फैटी एसिड्स का वो वर्जन हैं जिसकी सलाह दी जाती है। इसे फूड और ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा हाय ट्राइग्लिसराइड्स (High triglycerides) के उपचार के लिए अप्रूव किया गया है। ऐसा पाया गया है कि इस हार्ट सप्लिमेंट्स से हार्ट अटैक का जोखिम 28 प्रतिशत,और टोटल कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary heart disease) का जोखिम 17 प्रतिशत कम किया जा सकता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड्स को ओवर-द-काउंटर फिश आयल प्रेपराशंस के रूप में लिया जा सकता है। इसके साथ ही फैटी फिश का सेवन करने भी आपको यह प्राप्त हो सकता है।

    और पढ़ें: टॉप पोस्टनेटल कोलीन सप्लिमेंट्स: डिलीवरी के बाद यह सप्लिमेंट्स हैं बेहद फायदेमंद!

    कोएंजाइम Q10 (Coenzyme Q10)

    कोएंजाइम Q10 के इस्तेमाल के लिए कई स्टडीज की गयी हैं, प्राइमरी रूप से दो कंडिशंस के लिए एक स्टैटिन-एसोसिएटेड मायोपैथी सिंड्रोम (Statin-associated myopathy syndrome) और दूसरा कंजेस्टिव हार्ट फेलियर (Congestive heart failure) के लिए। आइए जानते हैं इनके बारे में विस्तार से:

    SAMS के लिए कोएंजाइम Q10 (Coenzyme Q10 for SAMS)

    SAMS का अर्थ है स्टैटिन-एसोसिएटेड मायोपैथी सिंड्रोम (Statin-associated myopathy syndrome)। SAMS वो कंडीशन है जो उन लोगों को होती है, जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को लो करने के लिए स्टेटिंस का इस्तेमाल करते हैं। जिन लोगों को यह समस्या है, उन्हें मसल में दर्द, क्रैम्प्स, मसल वीकनेस जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं। अधिकतर स्टडीज से इस बात का प्रमाण मिला है कि यह सप्लीमेंट SAMS के उपचार और इससे बचाव में प्रभावी है। हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) के बारे में यह जानकारी महत्वपूर्ण है।

    हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स, Supplements Beneficial for Heart.

    और पढ़ें: लिकी गट सप्लिमेंट्स : ये सप्लिमेंट्स सुधार सकते हैं लिकी गट की हेल्थ

    हार्ट फेलियर के लिए कोएंजाइम Q10 (Coenzyme Q10 for heart failure)

    कंजेस्टिव हार्ट फेलियर (Congestive heart failure) वो कंडिशन है, जिसमें हार्ट उस तरह से ब्लड को पंप नहीं कर पाता है, जैसे उसे करना चाहिए। इसके लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं

    • सांस लेने में समस्या (Difficulty breathing)
    • थकावट (Tiredness)
    • कमजोरी (Weakness)
    • फ्लूइड रिटेंशन (Fluid retention)
    • इर्रेगुलर हार्टबीट (Irregular heartbeat)
    • खांसी (Cough)
    • यूरिनेशन में बढ़ोतरी (Increased urination)
    • भूख में कमी (Loss of appetite)
    • जी मिचलाना (Nausea)
    • कंसंट्रेशन में समस्या (Problems with concentration)
    • छाती में दर्द (Chest pain)

    हार्ट फेलियर वाले लोगों के ब्लड और हार्ट मसल टिश्यू में कोएंजाइम Q10 की कमी होती है। चूंकि कोएंजाइम Q10 एटीपी यानी एडेनोसिन ट्रायफॉस्फेट (Adenosine triphosphate) उत्पादन और सेलुलर ऊर्जा को बढ़ाता है, इसलिए यह हार्ट फेलियर की स्थिति में मददगार है।

    और पढ़ें: हार्ट अटैक और हार्टबर्न (Heart attack and Heartburn) दोनों में होता है सीने में अंतर, कैसे करें अंतर

    हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) में रेड राइस यीस्ट (Red rice yeast)

    हाय टोटल कोलेस्ट्रॉल और हाय एलडीएल यानि बैड कोलेस्ट्रॉल को कोरोनरी हार्ट डिजीज (Coronary Heart disease) के विकास में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। हार्ट डिजीज के रिस्क को कम करने के लिए और व्यक्ति के कोलेस्ट्रॉल प्रोफाइल को सुधरने के लिए डॉक्टर कुछ दवाईयों की सलाह देते हैं, जिन्हें स्टेटिंस कहा जाता है। लेकिन, एक ओवर-द-काउंटर सप्लीमेंट भी है, जो हाय कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम कर सकता है। इसे रेड राइस यीस्ट के नाम से जाना जाता है। रेड राइस यीस्ट (Red rice yeast) में एक सब्सटांस होता है जिसे मोनाकोलिन के (Monacolin K) कहा जाता है। मोनाकोलिन के (Monacolin K) में प्रिस्क्रिप्शन स्टैटिन लवास्टैटिन (Lovastatin) के समान केमिकल स्ट्रक्चर है, हालांकि इसके फार्माकोकाइनेटिक्स प्रोफाइल (Pharmacokinetic profiles) और बायोअवेलेबिलिटी (Bioavailability) कुछ अलग हैं।

    जब मोनाकोलन को रोजाना इस्तेमाल किया जाता है, तो यह छह से आठ हफ्तों में बैड कोलेस्ट्रॉल को पंद्रह से पच्चीस प्रतिशत तक कम कर सकता है। यही नहीं, यह टोटल कोलेस्ट्रॉल को भी इसी मात्रा में कम कर सकता है। यह उन लोगों के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी पूरक माना जाता है, जिनके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में हल्के से मध्यम वृद्धि होती है और कोई अन्य हार्ट डिजीज (Heart disease) रिस्क फैक्टर नहीं होता है।

    यह तो थी जानकारी हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) के बारे में। अब जानिए उन सप्लिमेंट्स के बारे में जो हार्ट डिजीज (Heart disease) में काम नहीं करते हैं।

    और पढ़ें: रात में हार्ट पेल्पिटेशन के लक्षण क्या हैं? जानिए इसका उपचार भी यहां….

    सप्लिमेंट्स जो हार्ट डिजीज (Heart disease) में प्रभावी नहीं हैं

    ऐसा माना जाता है कि हार्ट डिजीज से बचाव के लिए लोग कई तरह के विटामिन्स और मिनरल्स का इस्तेमाल करते हैं। जब शोधकर्ताओं ने मल्टीविटामिन और मल्टीमिनरल, एंटीऑक्सीडेंट, फोलिक एसिड, विटामिन ई, नियासिन और बीटा कैरोटीन से संबंधित रिसर्च की , तो उन्हें हार्ट डिजीज (Heart disease) को रोकने या इलाज करने में कोई वास्तविक लाभ नहीं मिला। लेकिन, ऑब्ज़र्वेशनल डाटा का एक बड़ा हिस्सा यह दर्शाता है कि विटामिन डी के लो सीरम लेवल, हार्ट डिजीज (Heart disease) के बढ़ते जोखिम से जुड़े हुए हैं, हाल के अध्ययनों ने पुष्टि नहीं की है कि यह सप्लिमेंट्स किसी भी लाभ के हैं।

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज डायट में आप शामिल कर सकते हैं ये हार्ट हेल्दी फूड्स!

    उम्मीद है कि हार्ट के लिए फायदेमंद सप्लिमेंट्स (Supplements Beneficial for Heart) के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। सही आहार के साथ ही सप्लिमेंट्स भी हेल्थ और हार्ट के लिए लाभदायक हो सकते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार तीन सप्लिमेंट्स हार्ट हेल्थ को सुधारने में अधिक प्रभावी हैं। हालांकि, इन्हें बिलकुल सुरक्षित माना जाता है, लेकिन इनके कई जोखिम भी हैं। इसलिए, किसी भी सप्लीमेंट को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। अगर इसके बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है तो उसे भी डॉक्टर से अवश्य जानें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/04/2022

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement