भारत में कोरोना के 10 हजार मामले होने में लगे कितने दिन, दूसरे देशों के मुकाबले कहां हैं हम

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 की वजह से दुनिया को प्रभावित हुए तीन महीने से ऊपर हो गए हैं। तीन महीने से ज्यादा समय के दौरान दुनियाभर में कोविड- 19 से संक्रमित होने वाली मरीजों की संख्या 20 लाख के पार जा चुकी है। वहीं, भारत में हाल ही में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के आंकड़े ने 10 हजार की सीमा पार की है। लेकिन, भारत से पहले भी 20 से ज्यादा देश इस आंकड़े को छू चुके हैं। तो आइए, जानते हैं कि दूसरे देशों के मुकाबले भारत में कोरोना वायरस के स्थिति और मरीजों की संख्या क्या कहती है। क्या भारत दूसरे देशों के मुकाबले कोरोना वायरस को रोकने में सफल हुआ है या असलियत कुछ और है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के मुश्किल समय में जीवन रक्षक बन रही है भारतीय डाक सेवा

भारत में कोरोना : संक्रमित मरीजों के मामले में 21वे नंबर पर इंडिया

कोविड- 19 इंफेक्शन से संक्रमित मरीजों के मामले में वर्ल्ड ओ मीटर के मुताबिक 16 अप्रैल की शाम 6 बजे तक भारत 21वे पायदान पर था, जहां, 12,456 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। भारत के आसपास साउथ कोरिया, स्वीडन, आयरलैंड, इजरायल, पेरु आदि का नंबर आता है और यह सभी देश भी 10 हजार कोरोना केस का आंकड़ा पार कर चुके हैं। इस लिस्ट में चीन जहां से इस महामारी की शुरुआत हुई थी, अब 82,341 कोविड- 19 मामलों के साथ 7वे स्थान पर आ चुका है और उससे आगे यूके, जर्मनी, फ्रांस, इटली, स्पेन, अमेरिका का नंबर आता है। कोरोना वायरस इंफेक्शन से बीमार व्यक्तियों की बात करें तो इस लिस्ट में अमेरिका सबसे ऊपर है, जहां 6,44,348 संक्रमित मरीजों के मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें: गांजे से कोरोना वायरस: गांजा/बीड़ी/सिगरेट पीने वालों को कोरोना से ज्यादा खतरा

कोरोना मामलों को 10 हजार पहुंचने में कितना समय लगा

SARS-CoV-2 की शुरुआत आधिकारिक तौर पर पिछले साल दिसंबर 2019 के अंत में चीन के वुहान शहर से मानी जाती है। हालांकि, चीन की सरकार का कहना है कि इसका पहला मामला नवंबर में देखा गया था। दिसंबर के अंत में चीन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को निमोनिया के मरीजों के बारे में जानकारी दी, जिनका इलाज नहीं हो पा रहा था। बाद में डब्ल्यूएचओ ने इस बीमारी को निमोनिया की जगह नोवेल कोरोना वायरस से होने वाला इंफेक्शन बताया और चीन में युद्ध स्तर पर कोरोना के खिलाफ लड़ाई शुरू की गई।

भारत में पहला केस

हालांकि, भारत में कोविड- 19 का पहला केस 30 जनवरी को दर्ज किया गया और 74 दिन बाद 13 अप्रैल को भारत में नोवेल कोरोना वायरस के मरीजों का आंकड़ा 10 हजार के पार गया। अगर दूसरे देशों की बात करें, तो साउथ कोरिया में भी 10 हजार कोरोना केस पहुंचने में 74 दिनों का समय लगा था और अगर चीन द्वारा दी गई नवंबर वाली जानकारी पर विश्वास किया जाए, तो वहां भी 10 हजार कोविड- 19 केस होने में 73 दिन लगे थे। स्वीडन को यह आंकड़ा छूने में 72 दिन लगे। हालांकि, इन सभी देशों ने महामारी पर काबू पाना शुरू कर दिया है। लेकिन, दूसरे देशों की बात करें, तो यह आंकड़ा छूने में अमेरिका को 53 दिन, यूके को 55 दिन, स्पेन को 46 दिन और इटली को 40 दिन लगे थे।

यह भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ भारत के एक्शन पर WHO ने की वाहवाही

कितनी लोगों की गई जान

भारत में 10 हजार कोरोना वायरस के पेशेंट्स में से करीब 358 लोगों ने अपनी जान गंवाई है, जो कि अन्य देशों के मुकाबले कम नहीं कही जा सकती। हालांकि, इसके पीछे मरीजों की उम्र, मेडिकल हिस्ट्री आदि हो सकती है। लेकिन, 10 हजार मरीजों का आंकड़ा छूने पर सबसे बेहतर परिणाम जर्मनी की तरफ से देखने को मिले थे, जहां सिर्फ 28 लोगों की मृत्यु हुई थी। वहीं, इस आंकड़े तक पहुंचने पर साउथ कोरिया में 174, यूके में 578, स्पेन में 553, इटली में 631, अमेरिका में 309, चीन में 259 और स्वीडन में 887 लोगों की जान जा चुकी है। आपको बता दें कि, स्वीडन को किसी भी महामारी के खिलाफ तैयारी में सबसे ज्यादा एडवांस माना जाता है, लेकिन वहां अभी तक लॉकडाउन नहीं किया गया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के इलाज में प्रभावी हो सकती है रेमडेसिवीर दवा, जानें इसके बारे में

देशों की सरकार द्वारा SARS-CoV-2 के खिलाफ उठाए गए कदम

कोविड- 19 के खिलाफ लड़ने के लिए हर देश की सरकार ने लॉकडाउन, टेस्टिंग, इलाज आदि से संबंधित कदम उठाए हैं। भारत के प्रधानमंत्री ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का ऐलान करने के बाद 24 मार्च की आधी रात से 21 दिन के लॉकडाउन की घोषण कर दी थी और फिर 14 अप्रैल से और आगे बढ़ाकर 3 मई तक के लॉकडाउन 2.0 की घोषणा कर दी है। लेकिन, लॉकडाउन का कदम उठाने में भारत को कोरोना वायरस का पहला केस मिलने से 54 दिन का समय लगा। वहीं, यूके में 52 दिनों के अंदर लॉकडाउन कर दिया था और स्पेन ने 44 व इटली ने 37 दिनों के अंदर देशव्यापी लॉकडाउन किया था। वहीं, स्वीडन, अमेरिका जैसे कुछ देशों ने कई मामले मिलने के बाद भी अभी तक लॉकडाउन नहीं किया है।

साउथ कोरिया, सिंगापुर, वियतनाम, ताईवान आदि ने मास टेस्टिंग, ट्रैवल रेस्ट्रिक्शन, क्वारेंटाइन आदि तरीकों से बहुत जल्दी ही कोरोना वायरस के कर्व को घटा दिया है, जिस वजह से हर जगह उनकी तारीफ हो रही है। चीन में लॉकडाउन हटाने के बाद फिर से SARS-CoV-2 के नए मामले सामने आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: कोविड-19: दिन रात इलाज में लगे एक तिहाई मेडिकल स्टाफ को हुई इंसोम्निया की बीमारी

कोविड-19 की ताजा जानकारी
देश: भारत
आंकड़े

1,435,453

कंफर्म केस

917,568

स्वस्थ हुए

32,771

मौत
मैप

कोरोना वायरस अपडेट (latest news on corona)

वर्ल्ड ओ मीटर के मुताबिक 16 अप्रैल 2020 को शाम 6 बजे तक दुनियाभर में कोविड- 19 से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 20,99,594 हो गई है और इस खतरनाक बीमारी से जान गंवाने वालों की तादाद 1,36,030 हो गई है। दुनियाभर में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 5,23,753 पहुंच गई है।

कोरोना वायरस महामारी को देश से खत्म करने के लिए आपको लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही मास्क व पर्सनल हाइजीन जैसी सावधानियों का पालन करना होगा। इसके अलावा, सिर्फ सरकार या हेल्थ एक्सपर्ट द्वारा दी गई जानकारी पर ही विश्वास करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

कोविड-19 की ताजा जानकारी
देश: भारत
आंकड़े

1,435,453

कंफर्म केस

917,568

स्वस्थ हुए

32,771

मौत
मैप

और पढ़ें :-

कोरोना के दौरान सोशल डिस्टेंस ही सबसे पहला बचाव का तरीका

कोविड-19 है जानलेवा बीमारी लेकिन मरीज के रहते हैं बचने के चांसेज, खेलें क्विज

ताली, थाली, घंटी, शंख की ध्वनि और कोरोना वायरस का क्या कनेक्शन? जानें वाइब्रेशन के फायदे

कोराना के संक्रमण से बचाव के लिए बार-बार हाथ धोना है जरूरी, लेकिन स्किन की करें देखभाल

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोरोना का वैक्‍सीनेशन (COVID-19 vaccine), सरकार ने दिया ग्रीन सिग्नल

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोविड-19 वैक्सीन प्रोग्राम। गवर्मेंट ने दी ग्रीन सिग्नल। UK has become the first country in the world to approve the Pfizer/BioNTech coronavirus vaccine

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
कोविड 19 की रोकथाम, कोविड-19 दिसम्बर 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 और सीजर्स या दौरे पड़ने का क्या है संबंध, जानिए यहां

कोविड-19 और सीजर्स का संबंध: कोविड-19 के पेशेंट में दौरे के लक्षण देखने को मिले हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस दिमाग पर अटैक कर रहा है, जिस कारण सीजर्स के लक्षण देखने को मिल रहे हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
कोविड-19, कोरोना वायरस नवम्बर 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

इस दिवाली घर में जलाएं अरोमा कैंडल्स, जगमगाहट के साथ आपको मिलेंगे इसके हेल्थ बेनिफिट्स भी

इस दिवाली में अरोमा कैंडल से घर को करें रोशन करें। ऐसा करने से अच्छी खुशबू के साथ ही आपको रिलेक्स भी महसूस होगा। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए अरोमा कैंडल के फायदे।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन नवम्बर 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

जो लोग नियमित हाथों की सफाई रखते हैं उन्हें कोल्ड और फ्लू की समस्या कम होती है। जानिए हाथों की सफाई क्यों है जरूरी। HAND WASH

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अक्टूबर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

कोरोना वायरस वैक्सीनेशन (Coronavirus Vaccination)

क्यों कोरोना वायरस वैक्सीनेशन हर एक व्यक्ति के लिए है जरूरी और कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ जनवरी 11, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोविड-19 वैक्सीनेशन

अधिकतर भारतीय कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए हैं तैयार, लेकिन कुछ लोग अभी भी करना चाहते हैं इंतजार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ जनवरी 8, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोविशील्ड वैक्सीन - Covishield vaccine

नए साल की पहली खुशखबरी: कोविड-19 वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) को आपातकालीन स्थिति में उपयोग करने की मिली मंजूरी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ जनवरी 2, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
यूके में मिला कोरोना वायरस-Coronavirus new variant found in United Kingdom

यूके में मिला कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, जो है और भी खतरनाक! 

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें