home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अकेले खुश रहना कैसे सीखें?

अकेले खुश रहना कैसे सीखें?

हम सभी की खुशी को लेकर अपनी अलग-अलग परिभाषाएं हैं। आपके जीवन में क्या चैलेंजेस चल रहे हैं, लाइफस्टाइल में कैसे बदलाव आ रहे हैं, पर दिन के अंत में आप कितने खुश हैं यही सबसे ज्यादा अहमियत रखता है। आपकी खुशी ही असल में सबसे अधिक जरूरी है। ऐसे में चाहे आप किसी रिलेशनशिप में हों, बूढ़े हों या बच्चे हों, व्यस्त जीवन हो या अच्छा-बुरा समय हों, अकेले खुश रहना हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है।

अकेले खुश रहना क्यों जरूरी है?

आपका घर से दूर रहने का कारण नौकरी, करियर, सेल्फ एक्सप्लोरेशन या कुछ और भी हो सकता है। घर से दूर, किसी दूजे शहर अकेले रहना बहुत ही मुश्किल होता है। इस दौरान कभी न कभी आपको होम सिकनेस की शिकायत जरूर होती है। अपनों से दूर रहना जहां शारीरिक और आर्थिक रूप से कठिन है वहीं इन सब से कहीं ज्यादा मानसिक रूप से ये दूरी आपको कमजोर कर देती है।

अपनों के साथ आपका हंसना-रोना सब शेयर हो जाता है। पर अकेले रहने पर आपके लिये ये बहुत जरूरी हो जाता है कि, आप किस प्रकार अकेले रहने पर खुश रहें। यहां हम हेल्थ और लाइफ स्टाइल एक्स्पर्ट्स द्वारा बतायी गयी टिप्स पर नजर डालेंगे।

और पढ़ें: दीपिका पादुकोण ने कैसे पाया डिप्रेशन पर काबू?

कुछ आदतें जिनसे आप अकेले खुश रहना सीख सकते हैं:

1. आप सभी अपने आप को समझें

सबसे पहले आपको अपने आपको समझना होगा। आप एक मूल्यवान व्यक्ति हैं और आपको इसके लिए किसी और के अनुमोदन की आवश्यकता नहीं है कि यह सच हो। जब आप अकेले हों, तो अपने आप को याद दिलाएं कि आप ऐसा होना चाहते हैं। यह वास्तव में एक विकल्प है। हर एक व्यक्ति के पास एक आंतरिक आवाज होती है जो सभी दिनों के सभी घंटों में उनसे बात करती है। इसलिए आप अपने आप से बात करते हैं जब कोई और नहीं होता है।

और पढ़ें: डब्लूएचओ ने बताएं मेंटल हेल्थ और कोरोना वायरस के चौंका देने वाले आंकड़े

2. सबसे पहले खोजें कि आपको कौन सी चीज सच में खुश रखती है?

अकेले खुश रहना आपको यह मालूम करने का शानदार मौका देता है कि वास्तव में कौन सी चीज आपको खुशी देती है और आपको अपने आप को बेहतर तरीके से जानने का पूरा मौका मिलता है। अकेले रहने से आपको समय और स्वतंत्रता मिलती है। अब आप जो भी अपने स्वयं के हिसाब से करना चाहते हैं वो कर सकते हैं। जिन चीजों को दूसरे के होने के कारण आपको करने का समय नहीं मिलता था यहीं वो समय है जब आप उन सभी कामों को कर सकें। इससे आपको अकेले रहने के साथ खुशी महसूस होगी। इस प्रक्रिया में आप उन चीजो को नोट करें जिनसे आपको ज्यादा और लंबे समय तक रहने वाली खुशी मिलती है।

3. स्वयं को प्यार करें

हम दूसरों से प्यार करते हैं लेकिन इन सब में हम खुद को प्यार करना ही भूल जाते हैं। इस लिस्ट में आपको सबसे पहले स्वयं को रखना चाहिए। खुद को प्यार करना दरअसल वो स्थिति है जो इन कार्यों से बढ़ती है जो हमारे शारीरिक, आध्यात्मिक और मानसिक विकास को बढ़ावा देते हैं। जब आप अपनी खुशी के लिये किसी बाहरी की प्रसंशा पर निर्भर नहीं रहते और स्वयं को समय-समय पर कॉम्प्लिमेंट देते हैं तब आप असल में सेल्फ-लव को समझते हैं।

और पढ़ें: चिंता और निराशा दूर करने का अचूक तरीका है गार्डनिंग

4. व्यायाम से स्वस्थ जीवन शैली का निर्माण करें

स्वस्थ तन एक स्वस्थ मन का घर होता है। जब आप अपने मन को खुश रखने के लिये तन को स्वस्थ रखते हैं तो आपके शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। एक नया व्यायाम स्केड्युल बनायें जो आपके शरीर को स्वस्थ आकार में लाने में मदद करेगा। इससे आप अपने शरीर के बारे में अच्छा महसूस करेंगे। इसके लिए आप चाहे तो जुम्बा क्लास भी जॉइन कर सकते हैं। इससे आपमें खुद को लेकर आत्मविश्वाश पैदा होगा। आप खुद महसूस कर सकेंगे कि आखिर क्यों अकेले खुश रहना जरूरी है।

व्यायाम करने से शरीर में एंडोर्फिन हार्मोन रिलीज होता है ,यह आपके मस्तिष्क में उन न्यूरोट्रांसमीटर को रिलीज करने में मदद करता है जो आपको खुश महसूस करवा सकते हैं। व्यायाम करने से आपके शरीर में एनर्जी आती है और आप दिनभर तरोताजा महसूस करते हैं। इस तरह आप सब काम बहुत आसानी से पूरे कर सकते हैं।

5. अपने कम्फर्ट की चादर छोड़ें

आप ज्यादा से ज्यादा उन चीजों को करने की कोशिश करें, जो आपने पहले कभी नहीं की हैं। कोशिश करें कि आप पर कोई पाबंदी ना हो और आप सभी संभावनाओं के लिए खुले रहें। अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकलने का एक शानदार तरीका ये भी है कि आप हर हफ्ते कहीं न कहीं कुछ नया और मजेदार करें। बोरिंग व्यक्ति जैसी कोई चीज नहीं होनी चाहिए। यदि आप कभी ऊब गए हैं, तो इसलिए कि आप ध्यान नहीं दे रहे हैं। कुछ नया करने की कोशिश करते रहें। आप सच में अकेले खुश रहना चाहते हैं, तो इससे आपको मदद होगी।

और पढ़ें: लॉकडाउन में स्कूल बंद होने की वजह से बच्चों की मेंटल हेल्थ पर पड़ रहा है असर, जानिए

6. अपने समय का सही उपयोग करें

अपने समय का बहुत ही बुद्धिमानी से उपयोग करें और यह सुनिश्चित करें कि दिन के अंत तक आपने जो कुछ भी किया हो उससे आपको खुशी और संतुष्टि मिले। जब आप स्वयं को अपने काम में पूरी तरह से खो देंगे तब जाकर आप जो भी बनायेंगे, उसपर आपको गर्व होगा और यह आपको संतुष्ट और खुशहाल बनायेगा।

अकेले खुश रहना से हमारा यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि आप दुनिया से खुद को अलग कर दें। इसका तो यह मतलब है कि आप लोगों से घिरे बिना भी खुश रह सकते हैं।

और पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी में सपने कर रहे हैं आपको प्रभावित? तो पढ़ें ये आर्टिकल

7. अपने पैशन को पहचानें और उस पर काम करें

ऐसा कुछ हो जिसे आप हमेशा से करने की चाहत रखते थे। क्यों न उसे अब ट्राय करें? जब आप अकेले होते हैं तो आपके प्लान को बिगाड़ने वाला पास में कोई नहीं होता है। ऐसे में खुद को चैलेंज दें। चाहे वो जो भी हो। बस आपको यह सोचना है कि आप इस चीज को लेकर हमेशा से उत्साहित थे। अगर आप जानवरों से प्यार करते हैं तो क्यों न एक हफ्ता जाकर आप लोकल के सभी जानवरों के लिए जो कर सकते हैं वो करें। इससे आपको अच्छा महसूस होगा और आप खुश रहेंगे। यदि आपको डांस पसंद है तो डांस करें। आपका फोटोग्राफी में इंट्रस्ट है तो फोटोग्राफी करें। किसी एक काम में खुद को फसा कर न रखें।

8. खुद की दूसरों से तुलना न करें

यह कहना बहुत आसान है, लेकिन करना मुश्किल है। कभी भी किसी के साथ अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए, क्योंकि इससे आपका आत्मविश्वास कमजोर होता है। हमें हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हर मनुष्य का दिमाग अलग होता है और उसे अपनी प्रतिभा के अनुसार ही अपने कार्य करने चाहिए। भगवान ने सभी मनुष्यों को कोई न कोई प्रतिभा दी है। हर इंसान को अपनी प्रतिभा को पहचानकर उस पर आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ना चाहिए।

और पढ़ें: संयुक्त परिवार (Joint Family) में रहने के फायदे, जो रखते हैं हमारी मेंटल हेल्थ का ध्यान

9. अपने फोन से दूरी बनाएं

आज के युग में फोन का उपयोग इतना बढ़ गया है कि किसी भी व्यक्ति को खुद के लिए समय निकालना मानो मुश्किल हो गया है। वह किसी न किसी तरह फोन में इतना बिजी रहता है कि सुकून के दो पल भी निकाल पाना उसके लिए नामुमकिन-सा है। यही आज के युग की सबसे बड़ी समस्या है कि लोग खुद के लिए सुकून के दो पल भी नहीं निकाल पाते। यह हमारे मानसिक और शारारिक समस्याओं का मुख्य कारण है। फोन एक ऐसा उपकरण है, जो हर मायने में आपकी उलझनों को बढ़ाता है।

powered by Typeform

10. खुद के साथ डेट पर जाएं

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद के लिए वक्त निकालना ऐसा हो गया है जैसे ‘दांतों तले चने चबाना’। सभी को अपने लिए क्वालिटी टाइम निकालकर जिंदगी में खुश रहना चाहिए। सेल्फ डेट पर जाएं और यह सीखें कि कैसे खुश रहा जा सकता है। आप अकेले रहकर यह जान पाएंगें कि आपकी जिंदगी का महत्व क्या है, आपके जीवन के क्या मायने हैं और आप खुद से क्या ख्वाइश रखते हैं। अगर आपको ये समझने में मुश्किल हो रही है कि खुद को डेट पर कैसे ले जाएं तो ये सोचें कि डेट पर वो क्या चीज है, जो आपको खुशी देती है। ऐसी कौन-सी जगह है, जहां आप खुद को ले जा सकते हैं और क्या आपको स्पेशल महसूस करवाता है।

और पढ़ें: Quiz : क्या आप हैं डेटिंग के बादशाह? क्विज से परखें अपनी नॉलेज

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में अकेले खुश रहना क्यों जरूरी है और खुश रहने के उपाय के बारे में बताया है। इससे जुड़ी यदि आप अन्य कोई जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How To Be Happy Alone and Enjoy Life. https://www.lifehack.org/articles/communication/how-live-happy-life-alone.html Accessed October 4, 2019

The challenges of living alone. https://www.health.harvard.edu/mind-and-mood/the-challenges-of-living-alone. Accessed On 14 September, 2020.

Alone and Without Purpose: Life Loses Meaning Following Social Exclusion. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2717555/. Accessed On 14 September, 2020.

The cost of living alone. https://www.ons.gov.uk/peoplepopulationandcommunity/birthsdeathsandmarriages/families/articles/thecostoflivingalone/2019-04-04. Accessed On 14 September, 2020.

Loneliness: A disease?. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3890922/. Accessed On 14 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित
अपडेटेड 04/07/2019
x