home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बेबी ऑयल का चुनाव करने में हो रही है दिक्कत, तो जरूर लें ये जानकारी!

बेबी ऑयल का चुनाव करने में हो रही है दिक्कत, तो जरूर लें ये जानकारी!

बेबी मसाज के कई फायदे होते हैं। बच्चे को मसाज के बाद रिलेक्स फील होता है। बेबी की ग्रोथ और डेवलपमेंट के लिए मसाज अहम रोल अदा करती है। आपने खुद ही महसूस किया होगा कि बच्चे मसाज के बाद आराम से सो जाते हैं। इंटरनेशनल असोसिएशमन ऑफ इंफेंट मसाज (International Association of Infant Massage) की मानें तो, बेबी मसाज सर्कुलेटरी और डायजेस्टिव सिस्टम को स्टिमुलेट करने का काम करता है। मसाज करने से बच्चों में गैस की समस्या, क्रैम्प्स, कोलिक या कॉस्टिपेशन जैसी समस्या से राहत मिलती है। मसाज बच्चों में मस्कुलर टेंशन को भी कम करने में मदद करता है। इस संबंध में अभी अधिक रिसर्च की जरूरत है। मसाज के दौरान तेल का चयन भी अहम होता है। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बेबी के लिए मसाज ऑयल (Massage oil for baby) के बारे में जानकारी देंगे और साथ ही इससे जुड़ी अहम बातें भी बताएंगे।

और पढ़ें : बच्चों के लिए बेस्ट वेजिटेबल्स : समझें बच्चों की जरूरतों को!

बेबी के लिए मसाज ऑयल (Massage oil for baby) का कैसे करें चुनाव?

बेबी की मसाज से संबंधित जो अहम प्रश्न मां के मन में आता है, वो ये हैं कि आखिर कब से बच्चों की मालिश शुरू करनी चाहिए। इंटरनेशनल असोसिएशमन ऑफ इंफेंट मसाज के अनुसार बच्चों के जन्म के बाद ही मसाज शुरू कर देनी चाहिए। स्किन टू स्किन कंगारू केयर यानी बच्चे को छाती में लिटाकर या फिर पैरो में लिटाकर भी मालिश की जाती है। बेबी को मसाज के दौरान कंफर्टेबल महसूस होना चाहिए। अगर मसाज के दौरान बच्चा बहुत रो रहा है, तो आपको ध्यान देना चाहिए कि कहीं बच्चे को कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है। जानिए कुछ फेमस बेबी ऑयल के बारे में।

और पढ़ें : बच्चों के लिए पोलियो वैक्सीन : इस्तेमाल करने से पहले जान लें इससे जुड़ी जानकारी

हिमालया बेबी मसाज ऑयल (Himalaya baby massage oil)

आप बेबी के लिए मसाज ऑयल के रूप में (Massage oil for baby) हिमालया बेबी मसाज ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस ऑयल में ऑलिव ऑयल, एलोवेरा (Aloe vera) और चेरी होती है। हेल्दी स्किन के लिए आप इस तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। हर्ब की पॉवर से युक्त इस ऑयल में विटामिन ई (Vitamin E) की प्रोटक्शन के साथ ही अश्वगंधा भी होती है, जो स्किन टोन को इम्प्रूव करने में मदद करती है। इसमें मिनरल ऑयल या फिर एनिमल फैट नहीं होता है। ये ऑयल क्लीनकिली टेस्टेड है। बच्चे को नहलाने से करीब आधे घंटे पहले मसाज करनी चाहिए। हिमालया बेबी मसाज ऑयल की कीमत 313 रु है।

सेबमेड सूदिंग मसाज ऑयल (Sebamed soothing massage oil)

सेबमेड सूदिंग मसाज ऑयल न्यूबॉर्न बेबी के लिए गुड च्वाइज हो सकता है। बच्चों की सेंसिटिव स्किन (Sensitive skin) के लिए ये ऑयल चूज किया जा सकता है। इस ऑयल में नैचुरल सोया ऑयल, ग्रोथ और डेवलपमंट के लिए विटामिन एफ (Soya oil composite) होता है, जो आपके बच्चे की त्वचा की सहनशीलता को मजबूत बनाने में मदद करता है।सेबमेड सूदिंग मसाज ऑयल की 150ml की कीमत 1,134 रु है।

और पढ़ें : बच्चों में हो जाए कॉमन न्यूट्रिएंट्स डिफिशिएंसी, तो ऐसे कर सकते हैं उन्हें पूरा!

बेबी डव ऑयल (Baby Dove oil)

अगर आपके बच्चे की स्किन ऑयली है और आप किसी ऐसे तेल का चुनाव करना चाहते हैं, जिसमें ज्यादा चिपचिपाहट न हो, तो आप बेबी डव ऑयल का चुनाव कर सकते हैं। ये नॉन ग्रीसी ( non-greasy) ऑयल त्वचा की परत में आसानी से अवशोषित हो जाता है और स्किन को ग्लोइंग बनाता है। ये ऑयल मां के साथ ही बच्चे को भी बेहतर महसूस कराता है। त्वचा को मॉस्चराइज करने के साथ ही ये ऑयल डीपली नरिश भी करता है। 200 एमएल ऑयल की कीमत 224 रु है।

फिगारो ऑलिव ऑयल (Figaro Olive Oil)

ऑलिव ऑयल जहां एक ओर खाने के लिए बेस्ट ऑप्शन माना जाता है, वहीं ये मसाज के लिए भी बेहतर है। बेबी के लिए मसाज ऑयल (Massage oil for baby) के लिए आप फिगारो ऑलिव ऑयल (Figaro Olive Oil) का चुनाव कर सकते हैं। ये नॉन इरिटेंट ऑयल ( Non-irritant oil) है और स्किन को हायड्रेट करने में मदद करता है। ये ऑयल सभी प्रकार की स्किन के लिए चुना जा सकता है। रिच ऑक्सीडेंट ऑलिव ऑयल (Olive Oil) मल्टीपरपज ऑयल है। ये ऑयल आपको आसानी से मार्केट या ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा।

और पढ़ें : बच्चों के लिए मल्टीविटामिन्स ढूंढ रहे हैं, तो यहां मिल सकती है आपको हेल्प!

लोटस बेबी मसाज ऑयल (Lotus baby massage oil)

अगर आप बेबी के लिए हर्ब के साथ ही डिफरेंट फ़्रेग्रन्स का कॉम्बिनेशन चाहते हैं, तो बेबी के लिए मसाज ऑयल (Massage oil for baby) में लोटस बेबी मसाज ऑयल का चयन कर सकते हैं। इस ऑयल में किसी प्रिजर्वेटिव या आर्टिफिशियल फ्रेगरेंस का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। यानी आपको इस ऑयल का चुनाव करने से हार्मफुल कैमिकल से छुटकारा मिलता है। आप चाहे तो मालिश के लिए तेल का चुनाव करने से पहले बच्चों के डॉक्टर (Paediatrician) से भी राय ले सकती हैं। 200 एमएल बॉटल की कीमत 334 रु है।

डाबर लाल तेल (Dabur Lal tail)

डाबर लाल तेल के नाम से शायद ही कोई अनजान हो। बेबी ऑयल के लिए ये ब्रांड पुराना और भरोसेमंद माना जाता है। बच्चों को इस तेल से मालिश करने के बाद आराम का अनुभव होता है और उन्हें अच्छी नींद भी आती है। तेल जहां एक ओर फिजिकल प्रोग्रेस में मदद करता है, वहीं दूसरी ओर ये मानसिक स्वास्थ्य (Mental health) के लिए भी बेहतर है। तेल में शंखपुष्पी (Shankpushpi), रतनजोत (Ratyanjot) और अश्वगंधा (Ashwagandha) मुख्य इंग्रीडिएंट के रूप में होते हैं, जो बोंस को मजबूती देने के साथ ही मसल्स को भी स्ट्रेंथ देते हैं।

और पढ़ें : छोटे बच्चों के लिए मेलाटोनिन सप्लिमेंट आखिर क्यों होते हैं जरूरी? पाइए इस सवाल का जवाब यहां!

द मॉम्स को नैचुरल मसाज ऑयल (The Moms Co Natural Massage Oil)

इस ऑयल में उपस्थित नैचुरल इंग्रीडिएंट स्किन को नमी प्रदान करते हैं और साथ ही स्किन को हेल्दी बनाते हैं। टॉक्सिन फ्री इस ऑयल में 10 पावरफुल ऑयल जैसे कि तिल (Sesame), एवोकैडो ( Avocado), ऑर्गेनिक बादाम (Organic Almond) , ऑर्गेनिक जोजोबा (Organic Jojoba), ऑर्गेनिक कैमोमाइल (Organic Chamomile) और प्राकृतिक विटामिन ई (Natural Vitamin E) होता है।

मसाज के समय इन बातों का रखें ध्यान

  • बच्चे की मसाज करते समय शांत वातावरण का चुनाव करें।
  • बच्चे की मालिश की शुरुआत हल्के हाथों से करें और फिर हाथों को हल्की ताकत के साथ बच्चे के शरीर में घुमाएं।
  • मसाज के बाद अगर बच्चे को अच्छा महसूस हो रहा है, तो आप दोबारा पूरे शरीर में हल्की मसाज कर सकते हैं।
  • मसाज करते समय आप बच्चे से बातें भी कर सकते हैं या फिर कोई गाना गुनगुना सकते हैं। ऐसा करने से बच्चों को अच्छा महसूस होता है।
  • बच्चे की स्किन सेंसिटव है, तो पहले थोड़े से ऑयल को स्किन में टेस्ट करके देख लें और फिर मसाज करें।
  • मसाज के आधे से एक घंटे बाद बच्चे को नहलाएं और आप चाहे तो बच्चे को फीड करा दें। बच्चे को इसके बाद आसानी से नींद आ जाती हैं।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बेबी के लिए मसाज ऑयल (Massage oil for baby) के बारे में जानकारी मिल गई होगी। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/08/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x