बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स को डेवलप करने के टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

स्वस्थ खाना बच्चों के शारीरिक विकास में बहुत भूमिका निभाता है। ऐसे में सवाल यह आता है कि बच्चों में हेल्दी फूड खाने की आदत को कैसे विकसित किया जाए? क्योंकि बच्चों को खाने के नाम पर केवल जंक फूड ही पसंद आते हैं, हेल्दी फूड को देखते ही वो दूर भागने लगते हैं। बच्चों को हेल्दी फूड खिलाना पेरेंट्स के लिए एक बड़ा टास्क होता है। दरअसल यह एक गंभीर विषय है। क्योंकि जब हम बच्चों में शुरू से ही हेल्दी खाने की हैबिट का विकास करते हैं, तो वह बड़े होने पर उसी हैबिट को फॉलो करते हैं। इसके अलावा जब कोई बच्चा अपनी जरूरत की तुलना में कई गुना अधिक कैलोरी लेता है तब चिंता का विषय हो सकता है। घर में विभिन्न प्रकार के हेल्दी खाने की चीजें उपलब्ध कराएं। यह बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स के विकास में मदद करेगा। चिप्स, सोडा और रस जैसे स्वास्थ्य के लिए अनहेल्दी चीज न खाने दें। बच्चों को धीरे-धीरे हेल्दी खाने के लिए प्रोत्साहित करें। जब बच्चा आराम से खाता है तब भूख और हेल्थ को बेहतर समझता है। स्वस्थ खाना मस्तिष्क को बेहतर विकास करने में भी मदद करता है। बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स को डेवलेप करने के लिए फॉलो करें कुछ टिप्स:

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स का विकास कैसे करें?

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स का विकास करने के ऐसे कई तरीके हैं, जिनकी मदद से आप अपने बच्चों में आसानी से हेल्दी फूड हैबिट‌्स को विकसित कर सकते हैं। कुछ लोग बच्चों को हेल्दी फूड खिलाने के लिए उन्हें डराना या धमकाना सरल उपाय समझते हैं। जबकि ऐसा नहीं है, बच्चों को डराकर या धमकाकर आप लंबे समय तक के लिए उनसे कोई कार्य नहीं करा सकते हैं। उनमें एक अच्छी आदत को विकसित करने के लिए आपको बच्चों के साथ प्यार से पेश आने की जरूरत होती है। उनमें हेल्दी फूड हैबिट्स को विकसित करने के क्या-क्या तरीके हैं, यह जानने के लिए आप नीचे बताई गई बातों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

बच्चाें में स्वस्थ आहार की आदत को विकसित करने के लिए हेल्दी फूड चुनें

बच्चों को किसी प्रकार का लालच या प्रोत्साहन देकर न खिलाएं। अक्सर पेरेंट्स बच्चों द्वारा खाने में कोताही बरतता देख उन्हें तरह-तरह के लालच देते हैं। बच्चों में स्वस्थ खाना की आदत डालने के लिए घर के भोजन को संतुलित रखना चाहिए। बच्चे के स्कूल-लंच के बारे में जानें। इसके अलावा अगर रेस्तरां में भोजन करते हैं तो हेल्दी फूड्स का ही चयन करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें: जानिए कैसा होना चाहिए बच्चों का हेल्दी फूड्स

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स डेवलेप करने के लिए उन्हें पानी पीने को प्रोत्साहित करें

बच्चों में हेल्दी फूड हैबिट्स- healthy food habits for children

शरीर के लिए जल ही जीवन है। इसके द्वारा शरीर को जरूरी मिनरल्स प्राप्त होते हैं। भरपूर पानी पीने से भी शरीर को डिटॉक्सिफाई करने में मदद मिलती है। हालांकि, भोजन के दौरान पानी पीने से बचें क्योंकि, यह पाचन प्रक्रिया को धीमा कर देता है। भोजन से 30 मिनट पहले या बाद में पानी पीना ठीक रहेगा। सही तरीके से पानी पीना हेल्दी फूड हैबिट का एक मजबूत आधार है।

बच्चाें में स्वस्थ आहार की आदत को विकसित करने के लिए खाने में प्रोटीन शामिल करें

प्रोटीन से भरपूर स्वस्थ खाना शरीर के लिए बेहद जरूरी है और इसे आहार में निश्चित रूप से शामिल किया जाना चाहिए। ब्रोकली, सोयाबीन, दाल, और पालक प्रोटीन से भरपूर होते हैं। इन्हें अपने डायट चार्ट में जरूर रखें। कम वसा वाले डेयरी उत्पाद भी प्रोटीन का एक बेहतर विकल्प हैं। इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि आपके शरीर को रोजाना जरूरी मात्रा में प्रोटीन मिलता रहे।

प्रोटीन के स्रोत:

  • अंडा
  • नट्स और बीज
  • चिकन
  • मसूर दाल
  • बादाम
  • ओट्स

और पढ़ें: कैसे बनाएं हेल्दी फूड हैबिट्स? जानिए कुछ आसान तरीके

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स में शामिल है परिवार के साथ खाना खाना

परिवार के साथ ही भोजन करें। ऐसा करने से बच्चों में घर के भोजन के प्रति लगाव बढ़ेगा। द जर्नल ऑफ एपिडिमियोलॉजी एंड कम्यूनिटी हैल्थ स्टडी के अनुसार जो बच्चे हमेशा अपने परिवार के साथ खाना खाते हैं, वे जरूरत के हिसाब से फल-सब्जी का भी इस्तेमाल करते हैं। जो परिवार कभी-कभी ही साथ खाना खाते हैं, वहां भी बच्चों की खुराक की मात्रा तय मात्रा के करीब होती है। मां-बाप और भाई-बहनों को देखने से बच्चे खान-पान की अच्छी आदतें सीखते हैं।

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स के लिए ज्यादा स्नैक्स न दें

पेट भरने के लिए लगातार स्नैक खाना अच्छा विकल्प हो सकता है, लेकिन दिन के दौरान पौष्टिक भोजन का महत्व अलग ही है। स्नैक्स से बच्चों को पोषण नहीं मिल सकता। अगर आप खाने में स्नैक्स को प्राथमिकता देते हैं, तो यह ध्यान रखें कि वह भोजन के समय पौष्टिक आहार का हिस्सा होना चाहिए।

फास्ट फूड का सेवन सीमित करके बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स का होगा विकास

बच्चों में हेल्दी फूड हैबिट्स- healthy food habits for children

कई माता-पिता फास्ट फूड को बच्चों के लिए हेल्दी समझते हैं। लेकिन यहां ध्यान देना चाहिए कि यह स्वस्थ खाना के प्रति गलत दृष्टिकोण बनाता है। क्योंकि यह बच्चों को जंक फूड पर निर्भर कर सकता है। जो आगे चल कर फलों और सब्जियों के नापसंदगी का कारण बन सकता है। फास्ट फूड को केवल तभी विकल्प बनाएं जब आप कभी खाना बनाने की स्थिति में न हों।

और पढ़ें: जानें एक साल के बच्चे के लिए फल और सब्जियों से बनी हेल्दी रेसिपीज

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स के विकास के लिए हेल्दी फूड का स्टॉक रखें

यह कतई जरूरी नहीं कि बच्चे जब भी कभी हल्का-फूलका खाने को मांगे तो आप उन्हें नमकीन या स्नैक्स जैसी चीजें थमा दें। यह आदत बच्चों के स्वास्थ्य पर बहुत ही प्रतिकूल प्रभाव डालता है। इनसे बचने के लिए के लिए फ्रीज में सलाद, मशरूम, केले, फल, जैसी चीजें रखें जो हेल्दी भी हैं और फायदेमंद भी। फलों में बहुत पोषक तत्व पाए जाते हैं, इनसे बच्चों के विकास में वृद्धि होती है।

खाने को चबाकर खाना भी है बच्चों में हेल्दी फूड हैबिट्स में शामिल

बच्चों में हेल्दी हैबिट्स को डेवलेप करने के लिए जरूरी है कि आप बच्चे को यह भी समझाएं कि खाने को ठीक से चबाकर खाना कितना जरूरी है। अक्सर देखा जाता है कि बच्चें भूख लगने पर तेजी से खाना खा लेते हैं और उसे ठीक से चबाते तक नहीं है। अपने बच्चे को दूसरी बार सर्व करने से पहले कुछ समय इंतजार करें और देखें कि वह खाने को ठीक से चबा रहा है कि नहीं और साथ ही उसे वास्तव और भूख है भी है या नहीं। इस समय में मुमकिन है कि बच्चे का दिमाग भी इस चीज को समझ लें कि पेट अब चुका है। इसके अलावा अगर आपको लगता है कि बच्चा अब भी भूखा है, तो इस सर्विंग में बच्चे को और ज्यादा सब्जियां खाने को दें।

और पढ़ें : बच्चों के भूख न लगने से हैं परेशान, तो अपनाएं यह 7 उपाय

बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स डेवलेप करना पेरेंट्स की जिम्मेदारी होती है। बतौर पेरेंट्स कभी भी बच्चे को बिना डिनर किए बेड पर नहीं जाने दें। ऐसा बार-बार करें ताकि बच्चों में भी इसकी आदत लग जाए। साथ ही इस बात का भी खासा ध्यान रखें कि कुछ न खाने की स्थिति में दूसरे खाने की चीजों को एक इनाम के रूप में पेश न करें। इससे बच्चे को इसी आदत लग सकती है, जो उनके सेहत और स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है।

घर पर रखें हेल्दी फूड का स्टॉक 

जब बच्चों को बहुत भूख लगती है, तो वह सबसे पहले किचन में खाने के लिए कुछ ढूंढते हैं। यह लगभग सभी बच्चों की आदत होती है और जब उन्हें घर में कुछ खाने को नहीं मिलता है, तो उसके बाद ही वह जंक फूड के लिए रुख करते हैं। आमतौर पर सभी बच्चों के वही खाने के आसार सबसे ज्यादा होते हैं, जो घर पर पहले से उपलब्ध होता है। यही कारण है कि आपको अपने घर में हेल्दी फूड का एक अच्छा स्टॉक रखना चाहिए। तो आइए जानते हैं कि हेल्दी फूड के स्टॉक में आप क्या-क्या शामिल कर सकते हैं।

इन मूल दिशानिर्देशों का पालन करें:

  • हेल्दी फूड के स्टॉक में आप फल और सब्जियों को दैनिक दिनचर्या में शामिल करें, फल या जूस को अपने फ्रिज में रखें। जब बच्चे को भोजन करने के बाद भूख लगे, तो उसे फल या जूस के साथ एक हेल्दी नाश्ता परोसें। आपको यह सुनिश्चित करना है कि आप लगभग हर भोजन में फल या सब्जियां परोसें।
  • जब भी बच्चों को भूख लगे उनके लिए एक हेल्दी सैंडविच या योगर्ट जैसे विकल्प को तैयार रख सकते हैं। ऐसे ही अन्य अच्छे स्नैक्स में लो फैट वाले दही, पीनट बटर  या ब्राउन ब्रेड और पनीर जैसे आहार शामिल हैं।
  • लीन मीट और प्रोटीन के अन्य अच्छे स्रोत जैसे मछली, अंडे, बीन्स और नट्स परोसें।
  • साबुत अनाज वाली ब्रेड और अनाज चुनें ताकि बच्चों को अधिक फाइबर मिल सके।

और पढ़ें : बच्चों को खड़े होना सीखाना है, तो कपड़ों का भी रखें ध्यान

  • अधिक तले-भुने खाद्य पदार्थों से परहेज करें। इसके अलावा ब्रॉइलिंग, ग्रिलिंग, रोस्टिंग और स्टीमिंग जैसे हेल्दी तरीके से खाना पकाने के तरीकों का चयन करके वसा का सेवन सीमित करें। कम वसा वाले या नॉनफैट डेयरी उत्पादों का चयन करें।
  • फास्ट फूड और कम पोषक तत्वों वाले स्नैक्स जैसे चिप्स और कैंडी को सीमित करें। लेकिन अपने घर से पसंदीदा स्नैक्स पर पूरी तरह से प्रतिबंध न लगाएं। इसके बजाय, उन्हें “एक बार में एक” पसंदीदा स्नैक्स दें। पूरी तरह से उनको उनके पसंदीदा खाने से दूर न रखें।
  • स्वीट ड्रिंक्स जैसे सोडा और फलों के स्वाद वाले पेय पदार्थों को सीमित करें। इसकी जगह पानी और लो फैट वाला दूध परोसें। बच्चों को हेल्दी फूड देने से पहले किसी चिकित्सक या डॉक्टर का परामर्श भी ले सकते हैं। साथ ही अगर आपका इस विषय से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है, तो वो भी हमारे साथ शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बदलते मौसम में बीमारियों को कोसों दूर रखेंगी ये ड्रिंक्स, आज ही आजमाएं

मौसम के बदलाव में कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग सबसे पहले फ्लू और संक्रमण की चपेट में आ जाते हैं। इस लेख में जानते हैं बदलते मौसम के लिए हेल्दी ड्रिंक्स के बारे में...

के द्वारा लिखा गया Mona narang

बचे हुए खाने से घर पर ऐसे बनाएं ऑर्गेनिक कंपोस्ट (जैविक खाद), हेल्थ को भी होंगे फायदे

जैविक खाद घर पर कैसे बनायें? ऑर्गेनिक खाद के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं? कंपोस्टिंग कैसे करते हैं? How to make organic compost in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

एसेंशियल ऑयल के फायदे बेशुमार, तो होते हैं कुछ नुकसान भी

एसेंशियल ऑयल के फायदे क्या हैं? रोज, लेमन, जैस्मिन, चमेली, टी ट्री एसेंशियल ऑयल के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं? एसेंशियल तेल के नुकसान भी हो सकते हैं जैसे एलर्जी रिएक्शन, अस्थमा अटैक....essential oils benefits and side effects in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

नेचुरल डिजास्टर से स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर, हो सकती हैं कई बीमारियां

प्राकृतिक आपदा में स्वास्थ्य बुरी तरह प्रभावित होता है। नेचुरल डिजास्टर के बाद बीमारियों से बचने के उपाय। ...natural disaster's health affects on human

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 12, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

बार-बार तेल गर्म करना

बार-बार तेल गर्म करना पड़ सकता है सेहत पर भारी, जानें कैसे?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ जुलाई 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
क्रेविंग्स

क्रेविंग्स और भूख लगने में होता है अंतर, ऐसे कम करें अपनी क्रेविंग्स को

के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ जुलाई 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Sugarcane Juice - गन्ने का रस

गन्ने का रस देता है कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे, जानें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ मई 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Diet in Piles - पाइल्स में डायट

पाइल्स में डायट पर ध्यान देना होता है जरूरी, इन फूड्स का करें सेवन

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ मई 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें