home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

परिवार का साथ नाश्ता करना बच्चों के लिए क्याें है जरूरी?

परिवार का साथ नाश्ता करना बच्चों के लिए क्याें है जरूरी?

सुबह का नाश्ता स्वास्थ्य के लिहाज से दिन का सबसे जरूरी आहार माना जाता है। साथ ही इसके स्वास्थ्य लाभों से भी हम सभी अच्छे से वाकिफ हैं। लेकिन, क्या आप यह जानते हैं कि बच्चों का परिवार के साथ नाश्ता करना उन पर काफी असर डालता है। बीते दिनों हुई एक रिसर्च की मानें, तो परिवार के साथ नाश्ता करने से बच्चों और टीनएजर्स पर काफी सकारात्मक पड़ता है।

परिवार के साथ नाश्ता करने को लेकर क्या कहते हैं शोध के नतीजे

शोधकर्ताओं के अनुसार, कई कारणों से टीनएजर्स सोशल मीडिया के दवाब में रहते हैं। इसके चलते कई बार खाने-पीने से जुड़ी गलत जानकारी को भी सही समझ लेते हैं। इससे उन्हें ईटिंग डिसॉर्डर जैसी समस्याएं हो जाती हैं। यह अध्ययन सोशल वर्क इन पब्लिक हेल्थ नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ था। इसमें मिसौरी कोलंबिया विश्वविद्यालय, टेनेसी-नॉक्सविले विश्वविद्यालय और वाशबर्न विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में 12,000 से अधिक छात्रों की खाने की आदतों का रिकॉर्ड रखा गया। शोधकर्ताओं ने परिवार का साथ खाना से जुड़े विषयों पर अध्ययन में पाया कि इन छात्रों में से 50% से अधिक ने सप्ताह में पांच दिन ठीक से नाश्ता किया, 30% से अधिक ने कम नाश्ता किया और लगभग 17% ने पूरे हफ्ते कभी भी नाश्ता ही नहीं किया, जो बच्चे नियमित रूप से नाश्ता करते हैं, उनमें सकारात्मक उर्जा होने की संभावना अधिक होती है, खासकर यदि वे नियमित रूप से परिवार के साथ नाश्ता करते हैं।

यह भी पढ़ें : बच्चे को ब्रश करना कैसे सिखाएं ?

परिवार का साथ नाश्ता करना बच्चों के लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

  • माता-पिता के लिए यह सुनना कोई नई बात नहीं है कि बच्चे के विकास के लिए संतुलित भोजन आवश्यक है। एक परिवार के रूप में नाश्ते का रुटीन फॉलो करने के कई लाभ हैं। इससे आपस में आपके रिश्तों को मजबूत होने में मदद मिलती है।
  • इसके अलावा, जो बच्चे अपने परिवार के साथ नाश्ता करते हैं, “वे विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थ खाते हैं और जंक फूड का सेवन कम करते हैं।” जिन घरों में बच्चों के साथ तीनों समय खाना खाया जाता है उनके बच्चे बाहर का खाना कम खाते हैं। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि भूख के समय उनका पेट घर पर ही भर जाता है।
  • पूरे परिवार का साथ खाना/नाश्ता करने से न केवल बच्चों के शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार होता है, बल्कि उनकी मानसिक स्थिति में भी सुधार होता है। विकास और व्यवहार बाल रोग जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जो बच्चे लंच और डिनर ज्यादातर घर पर ही करते हैं, उनमें अपने शरीर को लेकर आत्मविश्वास भी महसूस करते हैं। क्योंकि वे जानते हैं कि घर का हेल्दी खाना खाने से उनका शरीर मजबूत होता हैं और इन्हें स्वास्थ्य समस्याएं भी कम होती हैं।

यह भी पढ़ें : नवजात शिशु को घर लाने से पहले इस तरह तैयार करें शिशु का घर

परिवार के साथ नाश्ता करने को डेली रूटीन कैसे बनाएं

नाश्ते को पारिवारिक डेली रूटीन बनाना एक चुनौती हो सकती है। जैसा कि डॉ विंटर ने मिसौरी विश्वविद्यालय के एमयू न्यूज ब्यूरो के लिए एक वीडियो में कहा, “ब्रेकफास्ट का समय दिन का एक व्यस्त समय होता है, क्योंकि इस समय माता-पिता खुद काम पर जाने के लिए तैयार हो रहे होते हैं। साथ ही इस समय ही बच्चे स्कूल जाने की तैयारी कर रहे होते हैं। जल्दबाजी में सबका एक समय पर एक साथ बैठकर नाश्ता करना कई बार संभव नहीं हो पाता है।

किशोर बच्चों को पहले जागने के लिए प्रोत्साहित करें

रोजाना दस मिनट पहले जागने से परिवार का साथ नाश्ता करने का एक रुटीन बन सकता है। अपने बच्चों को अलार्म लगाकर सोने और जल्दी उठने के लिए प्रोत्साहित करें। इसके अलावा, उन्हें जल्दी तैयार होकर कपड़े बदलने की आदत डलवाएं।

यह भी पढ़ें : क्या आप अपने बच्चे को खिलाते हैं ये कलरफुल सुपरफूड ?

बच्चे का पसंदीदा भोजन तैयार करें

ब्रेकफास्ट में अपने बच्चे को उसका पसंदीदा खाना बनाकर दें। बच्चे को नाश्ते कराने का ये सबसे बेस्ट तरीका है। आप चाहें, तो सैंडविच या पैन केक बना सकते हैं। ये हेल्दी के साथ-साथ टेस्टी भी होते हैं। इससे आपका बच्चा न सिर्फ अपना पसंदीदा खाना खाएगा साथ ही दिन भर एनर्जेटिक भी रहेगा। ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर परिवार के साथ करने से बच्चे को खाने को लेकर सही जानकारी होगी और वो बाहर के खाने की तरफ कम आकर्षित होगा।

यह भी पढ़ें: आसानी से बनाएं ये पांच हेल्दी ब्रेकफास्ट; करेगा आपकी सेहत को काफी अपलिफ्ट

मदद करने की आदत बनाएं बच्चों में

परिवार के साथ नाश्ता करने से बच्चों को पोषण और अच्छी आदतों के बारे में मालूम होता है। सिर्फ साथ में खाना खाना ही नहीं अगर आप हर दिन की एक्टीविटी जैसे खरीदारी और कुछ स्पेशल बनाने में भी बच्चों को शामिल करेंगे, तो इससे उनमें उत्सुकता जागेगी।

यह भी पढ़ें: बच्चे की उम्र के अनुसार क्या आप उसे आवश्यक पोषण दे रहे हैं ?

सुबह का नाश्ता शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है। यह दिनभर एनर्जेटिक रखता है। दिन की शुरुआत परिवार के साथ ब्रेकफास्ट करने से बच्चों में सकारात्मक सोच पैदा होती हैपरिवार के साथ में खाना खाने से बच्चे व अन्य सदस्यों में भी पॉजिटिव एनर्जी आती है।

दिन का सबसे अहम भोजन होता है ब्रेकफास्ट

नाश्ता दिन का सबसे अहम भोजन माना जाता है। हेल्दी ब्रेकफास्ट करने से आप की सेहत और वजन दोनों कंट्रोल में रह सकते हैं। रिसर्च में सामने आया है कि नाश्ता न करने वालों की तुलना में रोजाना हेल्दी ब्रेकफास्ट करने वालों को वजन कम करने में आसानी होती है। हेल्दी ब्रेकफास्ट न सिर्फ आपके शरीर और दिमाग को ही ऊर्जा नहीं देता साथ ही पुरे दिन तरोताजा रहने की ताकत भी देता है।

नाश्ता करने वालों को दिन की शुरुआत में ही विटामिन और मिनरल्स जैसे अधिक महत्वपूर्ण पोषक तत्व मिल जाते हैं जो आगे चल कर आपको सेहतमंद रहने में मदद करते हैं। कई रिसर्च ने साबित किया है कि हेल्दी ब्रेकफास्ट दिल कि बीमारियां, डायबिटीज और अधिक वजन के कारण होने वाली बीमारियों के खतरे को टालता है।

नाश्ता मेटाबोलिज्म को तेज करता है जिससे दिन भर में अधिक कैलोरीज कम करने में मदद मिलती है। आमतौर पर, नाश्ते में अनाज, प्रोटीन, कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट्स, फल और सब्जियां जैसे विभिन्न खाद्य पदार्थ शामिल होने चाहिए।

और पढ़ें :

बच्चों की स्वस्थ खाने की आदतें डलवाने के लिए फ्रीज में रखें हेल्दी फूड्स

एआरएफआईडी (ARFID) के कारण बच्चों में हो सकती है आयरन की कमी

बच्चों के लिए सिंपल बेबी फूड रेसिपी, जिन्हें सरपट खाते हैं टॉडलर्स

बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

25 Healthy Breakfast Ideas for Kids- https://www.healthline.com/nutrition/healthy-breakfast-for-kids – accessed on 13/01/2020

Why should kids eat breakfast? – https://www.webmd.com/food-recipes/qa/why-should-kids-eat-breakfast – accessed on 13/01/2020

Quick, Kid-Friendly Breakfasts – https://www.health.com/food/quick-kid-friendly-breakfasts –  accessed on 13/01/2020

Eating Breakfast as a Family Routine Has a Lifelong Impact on Your Child/https://www.smartparenting.com.ph/parenting/tweens-teens/family-breakfast-body-positivity-a00286-20190507-lfrm/Accessed on 13/12/2019

Healthy eating for children/https://www.nidirect.gov.uk/articles/healthy-eating-children/Accessed on 13/12/2019

COULD FAMILY BREAKFAST GIVE KIDS GOOD BODY IMAGE?/https://www.futurity.org/breakfast-families-children-body-image-2015072-2//Accessed on 13/12/2019

The Benefits of Eating Together For Children and Families/https://www.healthlinkbc.ca/healthy-eating/eating-together/Accessed on 13/12/2019

Family Meals and Child Academic and Behavioral Outcomes/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3498594//Accessed on 13/12/2019

 

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Abhishek Kanade के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nikhil Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 07/10/2019
x