home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं, तो उससे होने वाले नुकसान समझ लें

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं, तो उससे होने वाले नुकसान समझ लें

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना नुकसानदायक हो सकता है?

इन दिनों नूडल्स प्रेमियों की कमी नहीं है। वर्ल्ड इंस्टेंट नूडल्स असोसीएशन के अनुसार भारत विश्व का चौथा सबसे बड़ा नूडल्स मार्केट है। साल 2017 में मैगी की 5.4 Bn खपत हुई थी। ऐसे में यह जानना दिलचश्प होगा की प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहिए या नहीं? वैसे भी प्रेग्नेंसी के दौरान खाने-पीने की अलग-अलग इच्छा होती है। ऐसे में प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना बेहतर विकल्प हो सकता है! यह अवश्य ध्यान रखें की प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिला जैसे आहार का सेवन करेगी उसका सीधा असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ेगा।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में रागी को बनाएं आहार का हिस्सा, पाएं स्वास्थ्य संबंधी ढेरों लाभ

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान इंस्टेंट नूडल्स खाना बेहतर आइडिया लगता हो लेकिन, यह गर्भावस्था के लिए नुकसानदायक हो सकता है। नूडल्स में कोई भी पौष्टिक तत्व मौजूद नहीं होते हैं यह सिर्फ आपकी भूख को मिटाने के लिए काफी है। इंस्टेंट नूडल्स में मौजूद MSG भी हेल्थ के लिए सही नहीं माना जाता है। इसलिए बेहतर होगा की इसका सेवन गर्भावस्था के दौरान न करें। वैसे अगर आप भी नूडल्स प्रेमियों में से एक हैं और गर्भवती हैं तो आपके लिए एक विकल्प है। प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं तो आटा नूडल्स खाया जा सकता है।

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं, तो उससे होने वाले नुकसान समझ लें
प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं, तो उससे होने वाले नुकसान समझ लें

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना क्यों हानिकारक हो सकता है?

गर्भावस्था के दौरान नूडल्स का सेवन निम्नलिखित कारणों से हानिकारक हो सकता है। इन कारणों में शामिल है-

1. नूडल्स में मौजूद मैदा

मैदा पाचन शक्ति पर नकारात्मक प्रभाव डालता है, जिस कारण डायजेशन बिगड़ सकता है। डायजेशन की समस्या होने पर गर्भवती महिला की परेशानी बढ़ सकती है और खाने-पीने की इच्छा कम हो सकती है। इस दौरान डायट बिगड़ने के कारण सीधे गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु पर सीधा पड़ता है।

2. नूडल्स में मौजूद नमक

प्रत्येक 100 ग्राम नूडल्स में 2500mg सोडियम इंस्टेंट नूडल्स में मौजूद होता है। गर्भावस्था के दौरान ज्यादा नमक के सेवन से हाइपरटेंशन की परेशानी हो सकती है। दरअसल अगर गर्भवती महिला पहले से हाइपरटेंशन की समस्या से पीड़ित हैं तो प्रेग्नेंसी के दौरान इसे क्रोनिक हाइपरटेंशन कहते हैं। गर्भावस्था के दौरान शरीर में सोडियम की मात्रा ज्यादा होने से इसका नकारात्मक असर शिशु पर भी पड़ता है।

और पढ़ें:क्या पुदीना स्पर्म काउंट को प्रभावित करता है? जानें मिथ्स और फैक्ट्स

3. प्रीजर्वेटिव

इंस्टेंट नूडल्स में आर्टिफिशियल फूड कलर और इसे टेस्टी बनाने के लिए अलग-अलग तरह के फ्लेवर का इस्तेमाल किया जाता है। आर्टिफिशियल फूड कलर और फ्लेवर फीटस के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

4. MSG (मोनोसोडियम ग्लूटामेट)

नूडल्स में मोनोसोडियम ग्लूटामेट (MSG) सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। MSG का नुकसान मां और शिशु दोनों के लिए हो सकता है क्योंकि शरीर से खुद भी नमक बनता है और MSG दोनों मिलकर गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों को शारीरिक नुकसान पहुंचा सकते हैं।

5. ट्रांस फाइट

गर्भावस्था में ट्रांस फूड (ओवन में बेक किया हुआ खाद्य पदार्थ जैसे केक, पफ आदि) का सेवन नहीं करना चाहिए। इन खाद्य पदार्थों में मौजूद ऑयल काफी हानिकारक होते हैं और कॉलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसलिए प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना सही विकल्प नहीं माना जाता है।

और पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान बच्चे के वजन को बढ़ाने में कौन-से खाद्य पदार्थ हैं फायदेमंद?

नूडल्स में मौजूद मैदा और MSG जैसे हानिकारक तत्वों के साथ-साथ इसमें मौजूद TBHQ (टेरिटरी बटयाल हाइड्रोक्वीनाइन) भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। TBHQ एक तरह का केमिकल है जिसे फ्रोजन फूड या स्नैकस-क्रैकर्स जैसे खाद्य पदार्थों में मौजूद होता है। दरअसल TBHQ (टेरिटरी बटयाल हाइड्रोक्वीनाइन) रंग, कॉस्मेटिक और पेस्टिसाइड्स में मिलाया जाता है। TBHQ सामान्य अवस्था और यहां तक की बच्चों की सेहत के लिए भी हानिकारक होता है। इसलिए प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना नहीं चाहिए। गर्भावस्था के दौरान इससे होने वाले नुकसान निम्नलिखित हैं।

इन परेशानियों के साथ-साथ ज्यादा नूडल्स के सेवन से हार्ट और डायबिटीज की बीमारी का भी खतरा बढ़ सकता है। वैसे अगर आप नूडल्स बहुत पसंद करती हैं तो कभी-कभी इसे खा सकती हैं। इसलिए नूडल्स को हेल्दी बनाने के लिए आप इसे हरी सब्जियों के साथ बना सकती हैं और अगर आप नॉन-वेजिटेरियन पसंद करती हैं तो इसे अंडे के साथ बना कर खा सकती हैं लेकिन, बेहतर होगा की इसे नियमित रूप से न खाएं। इन विकल्पों के साथ ही आप प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं तो न्यूट्रिशन एक्सपर्ट से सलाह ले सकती हैं।

और पढ़ें: गर्भवती आहार : प्रेग्नेंसी में सबसे पौष्टिक आहार है साबूदाना

प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाना चाहती हैं तो इसका सेवन कर सकती हैं लेकिन, इसके साथ ही पौष्टिक आहार का सेवन करना अनिवार्य है।

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को मल्टीग्रेन आंटे से बनी रोटी, गेंहू का पास्ता, दलिया, ब्राउन राइस अपने आहार में रोजना शामिल करना चाहिए। दरअसल प्रेग्नेंसी डायट प्लान में साबुत अनाज का सेवन अवश्य करें। इसके सेवन से आपके साथ-साथ आपके पेट में पल रहे शिशु की सेहत के लिए भी अच्छा है।

गर्भावस्था में नूडल्स का सेवन न करें, डायट में शामिल करें ये

गर्भावस्था डायट प्लान में डेयरी प्रोडक्ट का चयन करते समय दही, दूध और पनीर को अवश्य शामिल करना चाहिए। यह मां और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के लिए अच्छा विकल्प है। ये आपके बच्चे की हड्डियों के लिए आवश्यक कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन डी प्रदान करते हैं। प्रेग्नेंसी डायट प्लान में डेयरी प्रोडक्ट शामिल करें जो कैल्शियम देता है। बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है इसलिए मां का डेयरी प्रोडक्ट खाना हमेशा फायदेमंद होता है।

गर्भ में शिशु के विकास के लिए भी कैल्शियम अत्यधिक जरूरी होता है। डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं की जांच कर कैल्शियम की उचित मात्रा लेने की सलाह देते हैं। अगर गर्भवती महिला में कैल्शियम की कमी है तो आप कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए अपनी डायट में सुधार कर इसकी मात्रा बढ़ा सकते हैं।

मल्टीग्रेन चपाती, गेहूं का पास्ता, दलिया, गेहूं की रोटी और भूरे चावल को डायट में शामिल करें। कार्बोहाइड्रेट लेने के लिए ऐसे अनाज का प्रयोग करना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहेगा। प्रेग्नेंसी डायट प्लान में साबुत अनाज को जोड़े। ये आपके साथ-साथ आपके पेट में पल रहे बच्चे के लिए भी अच्छा है।

उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल की जानकारी पसंद आई होगी और आपको प्रेग्नेंसी में इंस्टेंट नूडल्स खाने से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Human myometrium during pregnancy contains and responds to V1 vasopressin receptors as well as oxytocin receptors/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/2156888/Accessed on 26/11/2019

FOOD SAFETY DURING PREGNANCY/http://www.foodauthority.nsw.gov.au/Accessed on 26/11/2019

Determinants of dietary practices during pregnancy: A longitudinal qualitative study in Niger/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6175447/Accessed on 26/11/2019

Eating right during pregnancy/https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000584.htm/Accessed on 26/11/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 28/12/2019
x