home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss) सामान्य है या नहीं?

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss) सामान्य है या नहीं?

गर्भावस्था यानी प्रेग्नेंसी का दौर कुछ महिलाओं के लिए सुखद होता है, वहीं कुछ महिलाओं को कई तरह के उतार-चढ़ाव से गुजरना पड़ता है। अधिकतर महिलाएं इन नौ महीनों में जिस चीज से सबसे अधिक परेशान रहती हैं, वो है बढ़ता हुआ वजन। प्रेग्नेंसी में वजन का बढ़ना स्वभाविक है। लेकिन, कुछ महिलाएं प्रसव से कुछ समय पहले वेट लॉस की समस्या भी अनुभव कर सकती हैं। हालांकि, ऐसा होना सामान्य नहीं है। लेकिन, इसके बारे में जानकारी आवश्यक है। आज हम प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) के बारे में बात करने वाले हैं। जानिए प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) के क्या कारण क्या हो सकते हैं और इस समस्या को मैनेज करने के तरीके कौन से हैं?

क्या प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस सामान्य है? (Is Weight Loss at the End of Pregnancy common)

सामान्यतया वजन के कम होने का पैटर्न फर्स्ट ट्रायमेस्टर या इसके बाद सेटल हो जाता है। सेकंड और थर्ड ट्रायमेस्टर वो समय होता है, जब गर्भवती महिला का वजन तेजी से बढ़ता है। क्योंकि, इस दौरान गर्भ में शिशु की ग्रोथ और विकास तेजी से हो रहा होता है। सामान्यतया सेकंड और थर्ड ट्रायमेस्टर में महिला का हर ट्राइमेस्टर के दौरान चार से पांच किलो वजन बढ़ सकता है। इस समय वजन का बढ़ना गर्भवती महिला के कैलोरी इंटेक (Calorie intake), मेटाबॉलिज्म और फूड हैबिट्स पर निर्भर करता है।

अगर आपका तीसरा ट्रायमेस्टर चल रहा है और आप प्रसव के नजदीक हैं, तो आप अक्सर अपने वजन में बढ़ोतरी महसूस करेंगी। क्योंकि इस समय शिशु का विकास तेजी से हो रहा होता है। लेकिन, अगर इस कंडिशंस में आपका वजन कम होने लगे, तो इसे नोटिस करना बेहद जरूरी है। इस दौरान वजन न बढ़ना या रुक जाना इस बात का संकेत हो सकता है कि आप प्रसव के लिए तैयार हैं। लेकिन, अगर वजन कम हो रहा हो तो ऐसे में जांच कराना जरूरी है। क्योंकि, इसके कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं।

जैसे इस दौरान कुछ गर्भवती महिलाओं को डायरिया की या उन्हें भूख कम लगने की समस्या हो सकती है, जो वजन के कम होने का कारण बन सकती हैं। प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) होने को गंभीरता से लेना चाहिए। अगर सही से न कुछ न खा पाना या भूख न लगना इसका कारण है, तो इसके बारे में डॉक्टर से बात करनी चाहिए। आइए, अब प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) के कारणों के बारे में जानने की कोशिश करते हैं।

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं गर्भावस्था के दौरान शहद का इस्तेमाल कितना लाभदायक है?

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस के कारण क्या हैं? (Causes of Weight Loss at the End of Pregnancy)

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) हो रहा है या नहीं यह जानना आपके लिए मुश्किल हो सकता है। इसके लिए नियमित वजन की जांच कराना जरूरी है। प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस के कुछ कारण इस प्रकार हो सकते हैं:

अतिरिक्त फ्लूइड का शरीर से निकलना (Removal of excess fluid from body)

जैसे ही प्रसव का समय नजदीक होता है, हमारा शरीर खुद को प्रसव के लिए तैयार करता है और कुछ अतिरिक्त फ्लूइड को शरीर से बाहर निकालता है। पसीना, लूज बॉवेल मूवमेंट और मूत्र त्याग का अधिक होना आदि प्रेग्नेंसी के अंतिम दिनों में सामान्य है। यह भी इस दौरान वजन के कम होने का कारण हो सकते हैं। इसके साथ ही होने वाली मां शिशु और नए जीवन के लिए कई तरह की तैयारियां करने में व्यस्त रहती है। जिससे आप पहले की तुलना में अधिक कैलोरी बर्न कर रही होती है। अधिक कैलोरी बर्न से भी वजन कम हो सकता है।

एमनियॉटिक फ्लूइड (Amniotic fluid)

प्रेग्नेंसी के दौरान एमनियॉटिक फ्लूइड (Amniotic fluid) कम होना शुरू हो जाता है। ऐसा उस स्थिति से भी पहले होता है, जब वॉटर बैग ब्रेक होता है। ऐसे में एमनियॉटिक फ्लूइड (Amniotic fluid) के कम होने का अर्थ है शरीर से वॉटर का वजन कम होना। इस दौरान आपको बार-बार बाथरूम जाने की इच्छा हो सकती है क्योंकि गर्भ में शिशु का सिर ब्लेडर को प्रेस करता है। जिससे आपको बार-बार बाथरूम जाना पड़ता है। यह भी आपके वजन कम होने की एक वजह हो सकती है।

और पढ़ें: मूड स्विंग्स केवल गर्भावस्था ही नहीं, बल्कि टाइप 1 डायबिटीज का संकेत भी हो सकता है

बदलती ईटिंग हैबिट्स (Changing eating habits)

बहुत सी गर्भवती महिलाएं थर्ड ट्रायमेस्टर के दौरान अपनी ईटिंग हैबिट्स में बदलाव महसूस करती हैं। जैसे ही भ्रूण विकसित होता है, इससे होने वाली मां का स्टमक प्रेस होता है। जिससे वो कई बार भूख में कमी या थोड़ी मात्रा में खाने के बाद ही पेट के भरे होना को महसूस करती हैं। ऐसे में अगर आप जरूरत से कम कैलोरीज का सेवन करती हैं, तो इसकी वजह से भी वजन कम हो सकता है। ऐसे मैं रोजाना स्मॉल मील्स और स्नैक्स लेकर इस बात को सुनिश्चित करना चाहिए कि आपका शिशु पर्याप्त पोषण प्राप्त कर रहा है।

प्रसव के समीप के दिनों में आपको बार-बार अपने डॉक्टर से मिलने और जांच की जरूरत होती है। इस दौरान आप अपने डॉक्टर से वजन कम होने के बारे में भी बात करें। आपके डॉक्टर जांच के बाद आपको यह बता सकते हैं कि इस दौरान आपका वजन कम होना सामान्य है या नहीं? अगर आपके वजन के कम होने का कारण आपकी भूख में कमी है, तो वो आपको इसके बारे मे भी कुछ खास टिप्स दे सकते हैं।

अगर आपके मन में यह सवाल है कि क्या प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) का प्रभाव शिशु पर पड़ सकता है? तो इसका उत्तर है नहीं। इस दौरान वजन के कम होने का आपके शिशु पर कोई भी बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन, फिर भी अगर इस समय वजन कम होता है तो डॉक्टर से बात अवश्य करें। अब जानिए इस कंडिशन में वजन के कम होने की समस्या से छुटकारा पाने के तरीकों के बारे में।

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस

और पढ़ें: गर्भावस्था के लिए आवश्यक हैं गोनाडोट्रॉपिन्स, जानिए इनके प्रकार के बारे में

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस की समस्या से राहत कैसे पाएं?

मेडलाइनप्लस(MedlinePlus) के अनुसार प्रेग्नेंसी में आप अपना खास ध्यान रख कर अनावश्यक वेट लॉस की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। हेल्दी रह कर और पर्याप्त आराम करने से आप कई अन्य परेशानियों से भी राहत पा सकते हैं। इससे अर्ली पोस्टपार्टम वीक्स (Early Postpartum Weeks) में होने वाले स्ट्रेन को भी कम किया जा सकता है। जानिए इन तरीकों के बारे में विस्तार से:

हेल्दी आहार का सेवन करें (Healthy food)

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) की समस्या से छुटकारा पाने के लिए बहुत जरूरी है सही आहार का सेवन करना। इस दौरान आपको अधिक मिर्च-मसालों, भारी, तले हुए खाद्य-पदार्थों को नजरअंदाज करना चाहिए। इसकी जगह संतुलित और हल्के फूड्स को प्राथमिकता दें। ध्यान रहे, इस दौरान आप कम मात्रा में लेकिन हेल्दी आहार का ही सेवन करें।

बॉडी मास इंडेक्स के बारे में जानें (Know Your Body Mass Index)

अपने आहार में बदलाव करने के लिए आपको अपने BMI यानी बॉडी मास इंडेक्स के बारे में भी पता होना चाहिए। अगर आपका BMI सामान्य(18.5 से 24.9 के बीच में) है, तो प्रेग्नेंसी के दौरान आपका वजन दस से बारह किलोग्राम से अधिक नहीं बढ़ना चाहिए। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से बात अवश्य करें।

और पढ़ें: सावधान! गर्भावस्था में है थैलेसिमिया, तो लापरवाही आपको पड़ सकती है भारी!

अपने विटामिन्स अवश्य लें (Don’t Miss Your Vitamins)

इस दौरान नियमित रूप से प्रीनेटल विटामिन्स (Prenatal vitamins) और आयरन व कैल्शियम सप्लीमेंट्स (Vitamin Supplements) लेने जरूरी है। यह न केवल शिशु के लिए जरूरी हैं बल्कि इससे आपका वजन भी संतुलित रहेगा।

प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस में व्यायाम (Exercise)

अगर आपका प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) हो रहा है, तो हो सकता है आपका किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि को करने की इच्छा न हो रही हो। लेकिन, आपको केवल वजन कम करने के लिए ही व्यायाम करने की जरूरत नहीं होती बल्कि इससे आपका स्टैमिना भी मेंटेन रहता है और आप कई अन्य समस्यों से भी छुटकारा पा सकते हैं।

सावधान रहें (Be Aware)

प्रेग्नेंसी के दौरान अपने शरीर के बारे में सतर्क रहना बेहद जरूरी है। जहां पहले ट्रायमेस्टर में वेट लॉस सामान्य है, वहीं प्रेग्नेंसी के आखिर पड़ाव में वजन का कम होना गंभीर समस्या भी हो सकती है। इस स्थिति में मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है।

Quiz: प्रेग्नेंसी के बारे में कितना जानते हैं आप?

(function() { var qs,js,q,s,d=document, gi=d.getElementById, ce=d.createElement, gt=d.getElementsByTagName, id="typef_orm", b="https://embed.typeform.com/"; if(!gi.call(d,id)) { js=ce.call(d,"script"); js.id=id; js.src=b+"embed.js"; q=gt.call(d,"script")[0]; q.parentNode.insertBefore(js,q) } })()
powered by Typeform

और पढ़ें: गर्भावस्था में अंडे खाने से पहले जरूर जानें, गर्भावस्था में अंडा खाना सही या गलत ?

यह तो थी प्रेग्नेंसी के आखिरी पड़ाव में वेट लॉस (Weight Loss at the End of Pregnancy) के बारे में जानकारी। प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में वजन के कम होने को सामान्य माना जाता है। लेकिन, प्रसव के नजदीक ऐसा होना कॉमन नहीं है। इसका कारण चाहे कुछ भी हो, अगर आप इस दौरान अपने वजन में बदलाव का अनुभव करें, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। प्रेग्नेंसी के इस चरण में आपके शिशु को पर्याप्त पोषण की जरूरत होती है। ऐसे में ,वजन का कम होना किसी गंभीर समस्या का संकेत भी हो सकता है।

आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Sayali Chaudhari द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/10/2021 को