home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या वीगन डायट फर्टिलिटी बढ़ाती है?

क्या वीगन डायट फर्टिलिटी बढ़ाती है?

डायट और लाइफस्टाइल च्वाॅइस फर्टिलिटी प्रभावित करती है। आप खाने में जो कुछ भी ले रहे हैं, वो आपकी फर्टिलिटी को बढ़ाने या घटाने का काम कर सकता है। सात लोगों में से एक व्यक्ति को इनफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है। ऐसे में फर्टिलिटी को बढ़ाने के लिए डायट में बदलाव करना बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है। फर्टिलिटी और वीगन डायट (Fertility and Vegan Diet) या फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए डायट को एक-दूसरे से जोड़ कर देखा जाता है। फर्टिलिटी के लिए वीगन डायट अपनाई जा सकती है। आपको वीगन डायट अपनानी है या फिर नहीं, ये आपका निजी फैसला है। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि किस तरह से वीगन डायट अपनाकर फर्टिलिटी को बढ़ा सकते हैं।

और पढे़ें :प्रेग्नेंट होने के लिए सेक्स के अलावा इन बातों का भी रखें ध्यान

फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए डायट: क्या होती है वीगन डायट?

जीव-जंतुओं से मिलने वाले किसी भी प्रोडक्ट को न यूज करने वाले लोग वीगन्स कहलाते हैं। वीगन डायट में फल, सब्जी और पेड़ से मिलने वाले प्रोडक्ट को शामिल किया जाता है। वीगन डायट में मीट, एग और डेयरी प्रोडक्ट, शहद आदि को शामिल नहीं किया जाता है। नैतिक, स्वास्थ्य या पर्यावरणीय कारणों से वीगन्स पशु उत्पादों से बचते हैं। वीगन्स खाने में मुख्य रूप से अलग-अलग आहार लेते हैं जिनमें फल, सब्जियां, साबुत अनाज, फलियां, नट, बीज और इन खाद्य पदार्थों से बने उत्पाद शामिल हैं।

और पढे़ें :इन सेक्स पुजिशन से कर सकते है प्रेंग्नेंसी को अवॉयड

फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए डायट: फर्टिलिटी और वीगन डायट का क्या है संबंध?

ये सच है कि हम जो भी खाते हैं उसका असर हमारी फर्टिलिटी में पड़ता है। गैर ध्रूमपान करने वालों की तुलना में ध्रूमपान करने वालों में इनफर्टिलिटी की संभावना 60 प्रतिशत रहती है। उसी तरह से आप क्या आहार ले रहे हैं, उसका असर फर्टिलिटी पर पड़ता है। फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए पौष्टक आहार की जरूरत होती है। पौष्टिक शाकाहारी आहार में कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन, ओमेगा 3 और 6 गुड फैट्स, विटामिन और खनिज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। वीगन डायट में वो सभी चीजें शामिल होती हैं जो शरीर और मस्तिष्क के पोषण के लिए जरूरी हैं। यही कारण है कि वीगन डायट को फर्टिलिटी बढ़ाने वाली डायट के नाम से भी जाना जाता है।

फर्टिलिटी और वीगन डायट (Fertility and Vegan Diet) : ये भी जान लें

नॉनवेज डायट में सैचुरेटेड एनिमल फैट, कोलेस्ट्रॉल, कॉन्संट्रेटेड पेस्ट्रीसाइड्स, कैंसर प्रमोटर्स, डाइऑक्सिन और मरकरी पाए जाने की संभावना अधिक होती है। फिश में मुख्य रूप से मरकरी पाई जाती है। ये सभी फर्टिलिटी को घटाने का काम करती हैं। कुछ लोगों का ये मत है कि गाय के दूध में 35 हाॅर्मोन पाए जाते हैं। इनमे 11 ग्रोथ फैक्टर्स भी होते हैं जो ब्रेस्ट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर के लिए जिम्मेदार होते हैं।

और पढे़ें : हेल्थ इंश्योरेंस से पर्याप्त स्पेस तक प्रेग्नेंसी के लिए जरूरी है इस तरह की फाइनेंशियल प्लानिंग

फर्टिलिटी और वीगन डायट (Fertility and Vegan Diet): वीगन डायट फर्टिलिटी बढ़ाने लिए है सही?

वीगन डायट प्लांट बेस्ड होती है। ये शरीर के लिए हेल्दी भी होती है। यही कारण है कि ये फर्टिलिटी के लिए बेस्ट है। वीगन डायट में कई फूड्स को हटा दिया जाता है जिस कारण विटामिन की कमी हो सकती है। अगर आप वीगन डायट अपना रहे हैं तो बैलेंस डायट चार्ट जरूर बनाएं।

यूरोपीय वीगन्स की सबसे बड़ी स्टडी के दौरान ये बात सामने आई कि हजारों मांस खाने वाले लोग शाकाहारियों की तुलना में अधिक मोटे निकले। इस दौरान व्यायाम , धूम्रपान और अन्य जीवन शैली कारकों में अंतर को भी शामिल किया गया। इस दौरान केवल 2% से कम शाकाहारी लोग मोटे पाए गए। इस बात से ये साबित होता है कि वीगन डायट इंसान में अतिरिक्त चर्बी इकट्टठा नहीं होने देती है। फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए हेल्दी होना बहुत जरूरी है।

वीगन फर्टिलिटी डायट और फूड्स

फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए वीगन डायट लेते समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। किस फूड में कौन सा न्यूट्रिएंट्स मिलेगा, इसकी जानकारी होनी चाहिए।

और पढे़ें : हमारे ऑव्युलेशन कैलक्युलेटर का उपयोग करके जानें अपने ऑव्युलेशन का सही समय

फर्टिलिटी और वीगन डायट (Fertility and Vegan Diet): जिंक

रिप्रोडक्शन के लिए जिंक बहुत जरूरी होता है । पुरुष में जिंक की कमी सीमन के वॉल्यूम को घटा देती है। महिलाओं में हार्मोन के बैलेंस, एग के डेवलपमेंट और एग के इप्लांटेशन के लिए जिंक बहुत जरूरी है।

जिंक के सोर्स

जिंक के मुख्य स्त्रोत एवाकाडो, ब्लैकबेरी, रास्पबेरी, एस्परगस फ्रेंच बीन्स, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, दालें, साबुत अनाज ( ब्राउन राइस, साबुत अनाज, जई, राई), हरी पत्तेदार सब्जीयाें, नट्स जैसे मूंगफली, कद्दू के बीज, तिल के बीज, तुलसी, अजवायन के फूल में पाया जाता है।

फोलिक एसिड

फोलिक एसिड प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत जरूरी होता है। ये न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट और स्पाइना बिफिडा जैसी समस्याओं से बचाने का काम करता है। फोलिक एसिड की कमी से गर्भपात हो सकता है।

और पढे़ें :प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले इंफेक्शन हो सकते हैं खतरनाक, न करें इग्नोर

फोलिक एसिड का सोर्स

जामुन, आम, अनानास, एवेकाडो, हरी पत्तेदार सब्जियां, फूलगोभी, शतावरी, अजवायन के फूल, दालें (जैसे मटर, छोले, किडनी बींस, ब्लैक आई पी, सोया उत्पाद जैसे टोफू, दाल ) , ब्राउन राइस, सूरजमुखी के बीज में पाया जाता है।

फर्टिलिटी और वीगन डायट के बारे में हमने आपके साथ कुछ जानकारी शेयर की। अगर आप भी वीगन डायट फॉलो करते हैं तो फर्टिलिटी को बढ़ाने और कंसीव करने के बाद कौन सी डायट लेनी है, इसके बारे में डॉक्टर से संपर्क करें।

यहां हम आपको वीगन डायट से जुड़े कुछ निम्नलिखित मिथक भी बता रहे हैं। जिन्हें लोग सच मानते हैं।

1. वीगन डायट फॉलो करने वाले लोग केवल कच्ची सब्जियां खाते हैं!

ऐसा बिलकुल नहीं है। कुछ वीगन अपनी मर्जी से कच्ची सब्जियां खाना शुरू करते हैं। कई अलग-अलग प्रकार के व्यंजन हैं, जो वीगन खा सकते हैं और वे सिर्फ टोफू (tofu), सैतेन (seitan) और टेम्पेह (tempeh) नहीं खाते, लजानिया (lasagna) जैसे स्वादिष्ट व्यंजन भी वीगन तरीके से बनाए जा सकते हैं।

2. वीगन्स को जरूरी प्रोटीन नहीं मिलता!

प्रोटीन का एकमात्र स्रोत जानवर नहीं है, वास्तव में इसमें फैट और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा होती है और साथ ही इसमें हृदय रोग का भी खतरा होता है, लेकिन, प्लांट प्रोटीन में पर्याप्त फाइबर, लो फैट होता है। साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल मुक्त होता है।

आधा कप छोले, टोफू और वेज बर्गर में एक दिन के लिए पर्याप्त प्रोटीन होता है और वे फिट रहने के लिए किसी भी अतिरिक्त विटामिन की खुराक का सेवन नहीं करते हैं।

और पढ़ें- गर्भावस्था के दौरान बच्चे के वजन को बढ़ाने में कौन-से खाद्य पदार्थ हैं फायदेमंद?

3. वीगन्स के पास एक मैन्यूल होता है, जिसे वो खाने से पहले देखते हैं!

जरुरी नहीं!

यह एक मिथक है, जिसमें माना जाता है कि वीगन्स के लिए नियमों की एक लंबी लिस्ट होती है। वीगन्स के लिए केवल एक नियम है कि किसी जानवर का मांस खाने से या उसके शरीर से मिलने वाले किसी भी उत्पाद को इस्तेमाल करने से बचें।

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। फर्टिलिटी और वीगन डायट के बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Vegan Nutrition for Mothers and Children: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6356233/Accessed on 19/11/2019

Vegan Diet during Pregnancy   https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6470702/Accessed on 19/11/2019

Vegetarian Pregnancy https://www.nal.usda.gov/fnic/vegetarian-pregnancyAccessed on 19/11/2019

Pregnancy and diet https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/pregnancy-and-dietAccessed on 19/11/2019

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/10/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड