बुजुर्गों के लिए योगासन, जो उन्हें रखेंगे फिट एंड फाइन

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

महिलाएं हों या पुरुष, बच्चे हों या बुजुर्ग, सभी के लिए फिट रहना जरूरी है। फिटनेस न सिर्फ हमें बीमारियों से दूर रखती है, बल्कि रोजमर्रा के कामों में बेहतर योगदान और प्रदर्शन करने में भी मदद करती है, लेकिन लोगों को या खुद बुजुर्गों को लगता है कि उम्र बढ़ने की वजह से या मसल्स कमजोर हो जाने की वजह से वे एक्सरसाइज या योगा नहीं कर सकते, लेकिन यह जानकारी बिलकुल भ्रामक है, बुजुर्ग भी योगा या एक्सरसाइज कर सकते हैं। बल्कि, आज हमारे सामने ऐसे कई उदाहरण हैं, जो ज्यादा उम्र में भी मस्कुलर बॉडी या फिट बॉडी के मालिक हैं। हालांकि, डॉक्टरों या फिटनेस एक्सपर्ट्स द्वारा बुजुर्गों के लिए योगासन या एक्सरसाइज से संबंधित कुछ सावधानियों को बरतने के बारे में बताया गया है।

और पढ़ें: बुजुर्गों के स्वास्थ्य के बारे में बताता है सीनियर सिटीजन फिटनेस टेस्ट

बुजुर्गों के लिए योगासन की जरूरत?

कहा जाता है कि हम जिस वातावरण में रहते हैं उसका हमारी सेहत पर प्रभाव पड़ता है, इसलिए प्रकृति के बीच में रहने के साथ मित्रता अच्छे लोगों के साथ करनी चाहिए। वहीं उनकी अच्छी आदतों को अपनाना चाहिए। जैसा कि हम सब जानते और देखते आ रहे हैं कि, उम्र के बढ़ने के साथ-साथ डायबिटीज, दिल की बीमारी, अल्जाइमर आदि कई क्रॉनिक बीमारियां लग जाती हैं। बुजुर्गों में ब्लड प्रेशर की दिक्कत और रक्त प्रवाह में असंतुलन आदि भी हो जाता है। ऐसे में उनके लिए सुरक्षित योगासन का अभ्यास करके उनके शरीर को फिट रखा जा सकता है और एजिंग के साथ होने वाली बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। योगासन करने से आपके फेफड़े सही रहते हैं और शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन प्राप्त होती है। इसके अलावा, शरीर में रक्त प्रवाह व रक्तचाप भी संतुलित रहता है, जिससे हर शारीरिक अंग की सक्रियता और मजबूती बनी रहती है। आइए, बुजुर्गों के लिए योगासन के बारे में जानते हैं, जो उनके लिए जरूरी भी हैं और सुरक्षित भी।

बुजुर्गों के लिए आसान योगासन

त्रिकोणासन

Yoga for Senior Citizen- बुजुर्गों के लिए योगासन
Yoga for Senior Citizen- बुजुर्गों के लिए योगासन

त्रिकोणासन काफी प्रभावशाली और आसान योगासन है, जिसे बुजुर्ग आसानी से कर सकते हैं। बुजुर्गों के लिए योगासन में यह आसन इसलिए भी शामिल किया गया है, क्योंकि यह उनमें आमतौर पर होने वाली कूल्हों की दिक्कत और दर्द को दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह ब्लड प्रेशर को सामान्य रखता है। इसे करने के लिए अपने पैरों को कंधों के जितना खोलकर आराम से खड़े हो जाएं। अब दाएं पंजे को थोड़ा बाहर की तरफ ले जाएं और बाएं पंजे को अंदर की तरफ करें। अब दोनों हाथों को दोनों तरफ कंधे की सीध में फैला लें। इसके बाद गहरी सांस लें और फिर सांस बाहर छोड़ते हुए सिर और कमर को सामान्य रखते हुए कूल्हों की तरफ से दाई तरफ झुकें और दाएं हाथ की उंगली को तलवे के पास लगाने की कोशिश करें। अब सांस लेते (ब्रीदिंग टेक्नीक) हुए पिछली अवस्था में लौट आएं। इसके बाद दूसरी तरफ से भी यही प्रक्रिया दोहराएं।

और पढ़ें : Tourette : टॉरेंट सिंड्रोम क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कटिचक्रासन

यह आसन शरीर को सीधा रखने में मदद करता है, क्योंकि इससे स्पाइन सीधी रहती है। इसके अलावा, यह हाथों और पैरों की मसल्स को मजबूती प्रदान करता है। बुजुर्गों के लिए योगासन में यह आसन काफी आसान है और फायदेमंद भी है। इसे करने के लिए पैरों को थोड़ा सा खोलकर आराम से खड़े हो जाएं। इसके बाद अपने हाथों को कंधे की सीध में रखते हुए सामने की तरफ फैला लें। अब लंबी और गहरी सांस लें और सांस छोड़ते हुए जितना हो सके अपनी कमर को दायीं तरफ ले जाएं और सिर को दाएं कंधे की तरफ झुकाएं। अब सांस लेते हुए पिछली वाली पोजीशन में आ जाएं और फिर इस प्रक्रिया को दूसरी तरफ से भी दोहराएं।

बुजुर्गों के लिए योगासन- बद्धकोणासन

बुजुर्गों के लिए योगासन में यह आसन उनकी बॉवेल मूवमेंट को सुधारता है और पाचन क्रिया मजबूत करता है। इसके अलावा, इस आसन से जांघ, घुटने की मसल्स स्ट्रेच होती हैं और जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। इसे करने के लिए कमर को सीधा रखते हुए जमीन पर बैठ जाएं और पैरों को सामने की तरफ फैला लें। अब दोनों घुटनों को मोड़ते हुए उनके तलवे अपने जननांग की तरफ लाएं। अब दोनों पैर के तलवों को एक साथ मिला लें और जितना हो सके जननांगों के पास ले जाएं। अब अपनी जांघों और घुटनों को जमीन पर टिका लें और हाथों से तलवों को पकड़ लें। अब लंबी और गहरी सांस लें और अपनी जांघों को तितली के पंखों की तरह तेज-तेज ऊपर नीचे करें। जब थक जाएं तो सांस छोड़ते हुए पैरों को फैला लें और आराम करें।

और पढ़ेंः स्किन कैंसर के 10 लक्षण, जिन्हें आप अनदेखा न करें

बुजुर्गों के लिए योगासन- शिशुआसन

शिशुआसन शरीर के नर्वस सिस्टम को आराम देता है और कमर की मसल्स को आराम पहुंचाता है, जिससे कमर दर्द में भी राहत मिलती है। इसे करने के लिए पैरों को मोड़कर अपनी एड़ियों के ऊपर बैठ जाएं। कोशिश करें कि आपके कूल्हे आपकी एड़ियों पर आराम से टिके हों। अब हाथ को सामने की तरफ फैलाते हुए सिर को सामने जमीन की तरफ ले जाएं। कोशिश करें कि जमीन पर सिर छूने लगे और हथेलियों को जमीन की तरफ रखें। अब इसी पोजीशन में रहें और धीरे-धीरे वापस वाली अवस्था में लौट जाएं।

भुजंगासन

Yoga for Senior Citizen- बुजुर्गों के लिए योगासन
Yoga for Senior Citizen- बुजुर्गों के लिए योगासन

भुजंगासन करने से बुजुर्गों के शरीर में रक्त प्रवाह सुधरता है और उनकी कमर और कंधों की मसल्स को मजबूती मिलती है। इससे वह काफी ऊर्जावान महसूस करते हैं। इसे करने के लिए जमीन पर पेट के बल लेट जाएं। अब तलवों को रखते हुए एड़ियों को मिलाकर रखें। अब हथेलियों को कंधों के ठीक नीचे रखें और कोहनियों को अपने शरीर के पास रखें। अब गहरी सांस लें और अपनी छाती और सिर को ऊपर की तरफ उठाएं। जितना हो सके अपनी सिर और छाती को पीछे की तरफ खींचे। इसी अवस्था में कुछ सेकेंड रहने की कोशिश करें और फिर सांस छोड़ते हुए आराम से पिछली अवस्था में लौट आएं।

और पढ़ेंः Colorectal Cancer: कोलोरेक्टल कैंसर क्या है?

बुजुर्गों के लिए योगासन- शलभासन

यह योगासन बुजुर्गों की गर्दन और कमर की मसल्स को मजबूत फ्लैक्सिबल बनाता है और उनकी पाचन क्रिया सुधारता है। इस योगासन को करने के लिए पेट के बल जमीन पर लेट जाएं। अब सांस अंदर लेते हुए अपना दायां पैर उठाएं और पैर को सीधा रखें। अब इसी अवस्था में रहें और सांस लेते रहें। सांस छोड़ते हुए दाएं पैर को नीचे रखें। अब अपने बाएं पैर से भी यही प्रक्रिया दोहराएं। इसके बाद सांस अंदर लेते हुए और घुटनों को सीधा रखते हुए कुछ गति के साथ दोनों पैरों को जितना हो सके ऊपर ले जाएं और इसी अवस्था में बने रहने की कोशिश करें। इसके बाद सांस छोड़ें और दोनों पैरों को आराम से नीचे लाएं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

यहां बताए गए योगासन बुजुर्ग आसानी से कर सकते हैं और इस उम्र में भी फिट रह सकते हैं। किसी भी योगासन को शुरू करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर या योगा एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

रोज करेंगे योग तो दूर होंगे ये रोग, जानिए किस बीमारी के लिए कौन-सा योगासन है बेस्ट

योग से रोग निवारण, योग से रोग भगाएं, डायबिटीज के योगासन, रोग अनुसार योगासन, माइग्रेन के योगा पोज, पीसीओएस योगासन, डिप्रेशन के लिए योग, थायरॉइड के योगासन, योग व्यायाम या ब्रीदिंग टेक्निक से कहीं ज्यादा एक इंडियन आर्ट फॉर्म है।...yoga poses for diseases

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

जानें एल्डर एब्यूज को कैसे पहचानें और कैसे इसे रोका जा सकता है

एल्डर एब्यूज एक गंभीर स्थिति है, जिससे बुजुर्गों को काफी मानसिक और शारीरिक पीड़ाओं से गुजरना पड़ता है। लेकिन, आप बुजुर्गों के साथ हो रही हिंसा को पहचानकर इसे रोकने में मदद कर सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय अपनाएं और रहें एक्टिव

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय क्या हैं, बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय कैसे अपनाएं, बड़े-बुजुर्गों को एक्टिव कैसे रखा जा सकता है, जाने पूरी जानकारी।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Shilpa Khopade
सीनियर हेल्थ, एक्टिव एजिंग May 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

बुजुर्गों में डिहाइड्रेशन होने पर करें ये उपाय

बुजुर्गों में डिहाइड्रेशन होने के क्या कारण है? इन परेशानी को एक्सपर्ट की मदद से कैसे किया जा सकता है कम, यदि न सुधार किया जाए तो क्या होगा, जानें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shilpa Khopade

Recommended for you

बुजुर्गों की देखभाल क्विज

बुजुर्गों की देखभाल के समय रखनी पड़ती है सावधानी, अगर आपको है जानकारी तो खेलें क्विज

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ October 29, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
रिटायरमेंट के बाद मेंटल हेल्थ

रिटायरमेंट के बाद बिगड़ सकती है मेंटल हेल्थ, ऐसे रखें बुजुर्गों का ख्याल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ September 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
सीनियर सिटीजन के लिए कोरोना एडवाइजरी

World Senior Citizen day : जानें बुजुर्ग कैसे रख रहे हैं महामारी के समय अपना ध्यान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ August 21, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
dementia symptoms- डिमेंशिया के लक्षण

जानिए डिमेंशिया के लक्षण पाए जाने पर क्या करना चाहिए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ June 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें