home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

घमोरियां मिटाने के नुस्खे, जो इस गर्मी में आपको देंगे राहत

घमोरियां मिटाने के नुस्खे, जो इस गर्मी में आपको देंगे राहत

मार्च आते ही गर्मियां अपने तेवर दिखाना शुरू कर देती हैं और गर्मी आते ही घमोरियों की समस्या शुरू हो जाती है। ऐसे में लोग घमोरियाें से परेशान होने लगते हैं। कुछ लोग घमोरियां मिटाने के नुस्खे (Prickly heat) भी अपनाने लगते हैं लेकिन वो असरदार नहीं होते। ऐसे में ये आर्टिकल आपकी मदद कर सकता है। यहां आप जानेंगे घमोरियां मिटाने के नुस्खे, इसके कारण व लक्षण।

घमोरियां मिटाने के नुस्खे से पहले जानें घमोरी (Prickly Heat) क्या है?

घमोरी को इंग्लिश में प्रिकली हीट कहते हैं, इसके अलावा यह हीट रैश या स्वेट रैश के नाम से भी जाना जाता है। घमोरी अक्सर पसीने की ग्रन्थियों के पोर्स बंद होने के कारण होती हैं। घमोरी छोटे-छोटे लाल दाने के आकार में होती हैं, जिनमें खुजली और जलन होती रहती है। यह पीठ, छाती, बगल व कमर के आसपास ज्यादा होती हैं। घमोरी किसी भी उम्र में हो सकती है।

prickly heat घमोरियां

वाराणसी के कबीरचौरा स्थित जिला अस्पताल के चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ. अरविंद सिंह ने हैलो स्वास्थ्य को बताया कि “घमोरियां होना गर्मियों में आम समस्या है। लेकिन जब हम घमोरियों को आम बात मान कर नजरअंदाज करते हैं, तो यह गंभीर हो सकता है। इसलिए घमोरियां होने पर अपने शरीर की सफाई रखना इसका प्राथमिक इलाज है। घमोरियों को खुजलाना नहीं चाहिए। इससे नाखून लगने से त्वचा में बैक्टीरियल इंफेक्शन होने का खतरा रहता है। इसके अलावा घमोरी से बचने के लिए हमें अपने शरीर को ठंडा रखने की कोशिश करनी चाहिए।”

घमोरियां मिटाने के नुस्खे से पहले जानें घमोरी के लक्षण क्या हैं?

घमोरी के लक्षण बहुत सामान्य से हैं। आप किसी की त्वचा पर भी देख कर पहचान सकते हैं कि ये दानें घमोरी ही हैं। घमोरी में त्वचा पर छोटे-छोटे लाल रंग के दानें निकल जाते हैं। इन दानों में खुजली और जलन शुरू हो जाती है। खुजली करने पर यह दाने फूट जाते हैं। जिसके बाद पसीना होने इन दानों में जलन शुरू हो जाती है।

घमोरी होने के कारण क्या हैं?

घमोरी अक्सर गर्म दिनों में या गर्मियों के मौसम में होती है। घमोरी होने के लिए स्वेट डक्ट यानी कि पसीने के छिद्र जिम्मेदार होते हैं। छोटे बच्चों में रोम छिद्र पूरी तरह से विकसित नहीं होते हैं। जिससे घमोरी बच्चे की त्वचा को आसानी से प्रभावित कर देती है। पसीने की ग्रन्थियों का मुंह बंद रहता है, जिससे त्वचा के अंदर ही पसीना रह जाता है। इसलिए घमोरियां हो जाती हैं।

और पढ़ें : सूखी खांसी को टिकने नहीं देंगे ये घरेलू उपाय

घमोरियां मिटाने के नुस्खे क्या हैं?

घमोरियां मिटाने के घरेलू नुस्खे अपना कर आप इस गर्मी में घमोरियों को ‘बाय’ कह सकते हैं।

ओटमील बाथ लें

घमोरियां मिटाने के नुस्खे

घमोरियां मिटाने के नुस्खे (Prickly heat) में ओटमील बाथ का जिक्र जरूर आता है। लेकिन लोग कंफ्यूज रहते हैं कि ओटमील बाथ तैयार कैसे करते हैं। ओटमील बाथ तैयार करने के लिए आप एक या दो कप ओटमील लें और उसे गुनगुने पानी में 15 से 20 मिनट के लिए भिगा दें। फिर इसे घमोरी से प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दो से तीन दिनों तक करने से प्रभावी परिणाम मिलेंगे। ओटमील ब्लॉक हुई पसीने की ग्रंथियों को खोलने में मदद करती हैं। जिससे खुजली और जलन से भी राहत मिलती है।

और पढ़ें: बच्चे के मुंह में छाले से न हों परेशान, इसे दूर करने के हैं 11 घरेलू उपाय

कूल बाथ लें

कूल बाथ लेने से आपकी त्वचा भी ठंडी रहेगी जिससे आपके रोम छिद्र खुल जाएंगे और इससे हीट रैश में आराम मिलेगा। इसके अलावा आप कूलर, एसी या किसी ठंडी जगह पर रहें, ताकि आपको घमोरियां न हों।

कॉटन के कपड़े पहनें

घमोरियां मिटाने के नुस्खे (Prickly heat) में सबसे अव्वल है कॉटन का कपड़ा। जब आप कोई अन्य फैब्रिक के कपड़े पहनेंगे तो वह आपके शरीर का पसीना नहीं सोखेंगे। लेकिन कॉटन में पसीना सोखने के गुण हैं, जिसके कारण यह घमोरियों होने से बचाता है। गर्मी के मौसम में सिंथेटिक, पॉलिस्टर, रेयॉन, जॉर्जेट आदि फैब्रिक के कपड़े नहीं पहनने चाहिए। कॉटन के कपड़े पहनने का एक सबसे बड़ा फायदा यह है कि वह हमारी त्वचा को सांस लेने में मदद करता है।

और पढ़ें : पिंपल ने अब पीठ का भी कर दिया है बुरा हाल? तो करना होगा ये उपाय

घमोरियां मिटाने के नुस्खे – एलोवेरा का करें इस्तेमाल

घमोरियां मिटाने के नुस्खे

एलोवेरा तो सैकड़ों समस्याओं का समाधान है तो घमोरियां मिटाने के नुस्खे (Prickly heat) में इसका नाम शामिल न हो, ऐसा नहीं हो सकता। एलोवेरा में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। जो त्वचा को ठंडा रखता है और इसके साथ ही घमोरियों को फैलने से रोकता है। साथ ही त्वचा को डिहाइड्रेट होने से बचाता है। गर्मियों में एलोवेरा का प्रयोग दिन में दोबार करें। इससे घमोरियां नहीं होंगी।

मुल्तानी मिट्टी (Multani mitti) से घमोरियों में मिलेगी राहत

multani mitti - मुल्तानी मिट्टी

घमोरियां मिटाने के लिए आप मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। तीन से चार चम्मच मुल्तानी मट्टी में थोड़ा सा गुलाब जल मिलाएं। इस लेप को घमोरियों से प्रभावित स्थान पर लगाएं। फिर 20 मिनट बाद ठंडे पानी से धुल दें। मुल्तानी मिट्टी के इस लेप को घमोरियां होने पर रोज लगाएं। लेकिन जब एक बार घमोरियां ठीक हो जाएं तो आप इसे एक दिन छोड़ कर तीसरे दिन लगाएं। मुल्तानी मिट्टी लगाने से त्वचा के रोम छिद्र खुल जाते हैं और त्वचा को ठंडक महसूस होती है।

और पढ़ें: दांतों से टार्टर की सफाई के आसान 6 घरेलू उपाय

घमोरियां मिटाने के नुस्खे – शहद से दूर भागेंगी घमोरियां

घमोरियां मिटाने के नुस्खे

शहद को सीधे घमोरियों से प्रभावित स्थान पर लगाएं। फिर इसे 15-20 मिनट बाद धुल दें। एशियन कल्चर में शहद (Honey) को एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण त्वचा पर इस्तेमाल करने का चलन है। शहद खुजली और जलन को दूर करने में मदद करता है। साथ ही त्वचा को पोषित (Nourish) भी करती है।

खीरे के स्लाइस (Cucumber slices) आंखों के साथ घमोरियों पर भी रखें

खीरे को छील कर उसे पतला-पतला काट लें। इसके बाद इसे घमोरियों से प्रभावित स्थान पर रखें। खीरा त्वचा को ठंडक देने का काम करता है। जिसकी ठंडक से घमोरियां जल्द ही ठीक हो जाती हैं।

प्रिकली हीट टैल्कम पाउडर का करें इस्तेमाल

घमोरियां मिटाने के नुस्खे (Prickly heat) में हर कोई टैल्कम पाउडर (talcum powder) का इस्तेमाल करता है। लेकिन, अगर आपने सिर्फ अच्छी महक वाले टैल्कम पाउडर का इस्तेमाल किया तो आपको घमोरियों से राहत नहीं मिलेगी। इसलिए रोज सुबह नहाने के बाद और रात में सोने से पहले खासतौर पर घमोरियों के लिए बने टैल्कम पाउडर का इस्तेमाल करें।

नारियल (Coconut) का तेल देगा राहत

घमोरियां मिटाने के नुस्खे

नारियल (Coconut) का तेल त्वचा के लिए सबसे बेस्ट तेल माना जाता है। इसलिए घमोरियां होने पर रात में सोने से पहले आप वर्जिन नारियल का तेल लगाएं। नारियल तेल के एंटीबैक्टीरियल गुण हीट रैशेज को जल्द ठीक करने में मदद करेंगे।

कपूर लगाएं (Apply camphor)

घमोरियां मिटाने के घरेलू नुस्खे की लिस्ट में कपूर (Apply camphor) को जरूर शामिल करें। कपूर की एक गोली लें उसे अच्छे से पीस कर पाउडर बना लें। इसमें नीम के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं। जिससे ये एक पेस्ट के रूप में तैयार हो जाएगा। इस लेप को घमोरियों से प्रभावित स्थान पर लगाएं। इसके आधे घंटे बाद कपूर ठंडे पानी से धुल दें। कपूर और नीम तेल के लेप को रोजाना नहीं बल्कि एक दिन छोड़ कर हर तीसरे दिन लगाएं। कपूर में ठंडक देने वाले गुण मौजूद हैं। जिससे यह घमोरियों को ठीक करने में मददगार साबित होता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Heat rash (prickly heat) – https://www.nidirect.gov.uk/conditions/heat-rash-prickly-heat Accessed on 26/2/2020

Heat rash – https://www.healthdirect.gov.au/heat-rash Accessed on 26/2/2020

Heat rash (prickly heat) – https://www.nhs.uk/conditions/heat-rash-prickly-heat/ Accessed on 26/2/2020

PRICKLY HEAT – https://www.doh.gov.ph/Health-Advisory/Prickly-Heat Accessed on 26/2/2020

Prickly Heat – https://www.urmc.rochester.edu/encyclopedia/content.aspx?contenttypeid=85&contentid=P00307 Accessed on 26/2/2020

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड