home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सुंदर त्चचा के लिए करें मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल

सुंदर त्चचा के लिए करें मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल

सुंदर, साफ और चमकदार त्चचा हर किसी को पसंद होती है। लेकिन, इसे बनाए रखने के लिए त्वचा की खास देखभाल की जरूरत होती है। चमकदार त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी (Multani Mitti) काफी प्रभावकारी है। वैसे तो मुल्तानी मिट्टी आपके लिए कोई नया शब्द नहीं है, इसका इस्तेमाल सदियों से त्वचा की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए किया जाता है। सबसे अच्छी बात यह है कि मुल्तानी मिट्टी बहुत आसानी से उपलब्ध होती है और इस्तेमाल में भी आसान है। जानें मुल्तानी मिट्टी कैसे आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद है। लेकिन इससे पहले जानिए कि मुल्तानी मिट्टी है।

मुल्तानी मिट्टी (Fuller’s Earth) क्या है?

मुल्तानी मिट्टी को अंग्रेजी में फुलर्स अर्थ (Fuller’s Earth) कहा जाता है। बात की जाए इसके गुणों की, तो इसमें मैग्नीशियम, सोडियम और कैल्शियम जैसे गुण होते हैं। यह हाइड्रेटेड एल्यूमीनियम सीलिकेट्स का एक रूप ही है। इस मिट्टी में हैं। इस मिट्टी में मोंटमोरिल्लोनाइट के अलावा एटापुलगाइट और पैलगोरोसाइट जैसे जरूरी मिनरल्स भी पाए जाते हैं। इतने सारे गुणों से भरपूर मुल्तानी मिट्टी त्वचा से गंदगी दूर कर के त्वचा में निखार लाती है।

और पढ़ें : Witch Hazel: वीच-हेजल क्या है?

मुहांसों की समस्या के लिए फायदेमंद है मुल्तानी मिट्टी

चेहरे पर मुहांसे निकलने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि तैलीय (ऑयली) त्वचा, खानपान में बदलाव, नींद की कमी और शरीर में हार्मोनल असंतुलन आदि। मुल्तानी मिट्टी के नियमित इस्तेमाल से मुहांसों की समस्या को कम किया जा सकता है। इतना ही नहीं, उसे दोबारा आने से भी रोका जा सकता है। प्राकृतिक सुंदरता पाने के लिए मुल्तानी मिट्टी और गुलाबजल का फेस पैक लगाएं।

चमकदार त्वचा के लिए फायदेमंद है मुल्तानी मिट्टी

चमकदार और सुंदर त्वचा पाना हर लड़की की तमन्ना होती है, अगर यह घर बैठे-बैठे मुमकिन है, तो क्यों न इस फेस पैक का उपयोग किया जाए। हर किसी की त्वचा चमक सकती है, बस फर्क इतना होता है कि कई बार चेहरे की त्वचा की उपरी परत पर मृत त्वचा जम जाती है। जिसके कारण चेहरे पर प्राकृतिक चमक दिखाई नहीं देती है। मुल्तानी का फेस मिट्टी फेस पैक चमकती त्वचा पाz`ने के लिए एक बहुत ही आसान तरीका है। मुल्तानी मिट्टी चेहरे की मृत त्वचा को दूर करता है और खुले हुए रोमछिद्रों को बंद करता है।

कैसे इस्तेमाल करें?

चमकदार त्वचा पाने के लिए आप एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी का पाउडर, एक चम्मच चंदन पाउडर, एक चम्मच हल्दी पाउडर और एक चम्मच टमाटर का रस लेकर सभी चीजों को एक कटोरी में डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें और पेस्ट बना लें। फिर चेहरा अच्छी तरह साफ करके इसे अपने चेहरे पर लगा लें। फिर इसे सूखने के लिए छोड़ दें। जब ये फेस पैक सूख जाए, तो अपने चेहरे को गुनगुने पानी से साफ कर लें। इसके बाद चहरे पर नॉर्मल फेस क्रीम लगा लें। इसे सप्ताह में दो बार अपने चेहर पर लगाएं। यह पैक आपके चेहरे से डेड सेल्स हटाता है और त्वचा को चमकदार बनाने में मदद करता है। यही नहीं, यह आपके चेहरे के रोमछिद्रों को खोलकर गंदगी भी बाहर निकालता है।

और पढ़ें : स्किन टाइटनिंग के लिए एक बार करें ये उपाय, दिखने लगेंगे जवान

ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स की समस्या के लिए फायदेमंद है मुल्तानी मिट्टी

हमारे चेहरे की त्वचा में बहुत बारीक-बारीक रोम छिद्र होते हैं, जिनका मुख्य काम होता है चेहरे की त्वचा को ऑक्सिजन यानी त्वचा को सांस लेने में भी मदद करते हैं। अगर इनकी सही तरीके से देख-रेख न की जाए, तो उसमें गंदगी भर जाती है। जिसका परिणाम होता है, ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स। अगर इन सबको त्वचा से हटाया न जाए तो यह चेहरे पर भद्दे दिखते हैं। मुल्तानी मिट्टी के पैक से इन ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स को बहुत ही आसानी से निकाला जा सकता है, बगैर किसी त्वचा को नुकसान पहुंचाकर।

कैसे इस्तेमाल करें?

मुंहासे दूर करने के लिए आप दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी पाउडर, एक चम्मच शहद, आधा चम्मच हल्दी पाउडर और थोड़ा सा गुलाब जल लें। फिर एक कटोरी में इन सभी चीजों को मिक्स कर के स्मूद पेस्ट बना लें। फिर इसे अपने चेहरे पर लगाएं। जब तक ये फेस पैक सूख न जाए, इसे चेहरे पर लगा रहने दें। फिर फेस पैक सूखने के बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें। इससे आपकी त्वचा की गंदगी तो बाहर निकलती ही है, साथ ही मुंहासों के फिर से होने की आशंका कम हो जाती है। इसमें मौजूद हल्दी एंटीसेप्टिक, एंटी-ऑक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लमेटरी गुण से भरपूर होती है, जो मुंहासों की समस्या दूर करने में मदद करती है।

और पढ़ें : Aceclofenac : एसिक्लोफेनाक क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

टैनिंग की समस्या के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे

धूप में अधिक रहने के कारण त्वचा में टैनिंग की समस्या हो जाती है। चेहरे की टैनिंग को कम करने के लिए मुल्तानी मिट्टी काफी प्रभावकारी है। त्वचा पर दाग-धब्बों के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि मुहांसे के दाग, टैनिंग के दाग या किसी चोट के दाग आदि। मुल्तानी मिट्टी के निय​मित इस्तेमाल से चेहरे के दाग कुछ समय बाद हल्के हो जाते हैं और पूरी तरह चले भी जाते हैं।

ऑयली त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे

मुल्तानी मिट्टी न सिर्फ चेहरे को मुहांसों को दूर करता है, बल्कि त्वचा में मौजूद अतिरिक्त ऑयल को भी नियंत्रित करता है, जिससे त्वचा ऑयली नहीं लगती है। ऑयली त्वचा वालों को इसका नियमित इस्तेमाल करना चाहिए। इससे त्वचा को कई लाभ आते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल?

अगर आपकी ऑयली स्किन है, तो आप मुल्तानी मिट्टी का फेस पैक बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप जरूरत के अनुसार मुल्तानी मिट्टी का पाउडर लें और इसमें गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बना लें। फिर इस पेस्ट को ब्रश या हाथ की मदद से अपने चेहरे पर लगाएं (ध्यान रहे कि आप मुल्तानी मिट्टी को अपनी आंखों पर न लगाएं)। फिर इसे सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। आप इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहरा सकते हैं। ऐसा नियमित रूप से करने से ऑयली स्किन की समस्या धीरे-धीरे कम होने लगेगी।

तो अगर आप भी चाहते हैं कि आपकी स्किन हेल्दी और फ्लॉलेस बने, तो स्किन पर मुल्तानी मिट्टी जरूर ट्राई करें। ध्यान रहे कि हर एक की त्वचा अलग हो सकती है, इसलिए कभी-कभी किसी सेंसेटिव त्वचा पर इससे एलर्जी भी हो सकती है। इसलिए अगर आपको इसे लगाकर जलन से त्वचा का लाल होने जैसे लक्षण महसूस हों, तो इसका सेवन न करें।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Sushmita Rajpurohit द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/12/2020 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x