home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट लेने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट लेने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

रोज-रोज के मेकअप के झंझट से तंग आ गई हैं! कभी-कभी दिल में ख्याल आता होगा कि काश! ये मेकअप परमानेंट हो जाएं। तो यूं समझ लीजिए कि आपकी सोच हकीकत में बदल गई है। आजकल परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट का चलन बढ़ गया है। परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट करवाकर आप रोज-रोज मेकअप करने की झंझट से छुटकारा पा सकते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट किसे लेना चाहिए, परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट के फायदे और नुकसान क्या हैं? परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर कैसे किया जाता है?

यह भी पढ़ें : ”लड़की 28 की हो गई” क्या ऐसा सुनकर लेना चाहिए शादी का फैसला?

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट क्या है?

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट एक कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट है। जिसमें कॉस्मेटिक टैटूइंग की जाती है। परमानेंट मेकअप को माइक्रोपिग्मेंटेशन, माइक्रोपिग्मेंट इम्प्लांटेशन या डर्माग्राफिक्स कहा जाता है। परमानेंट मेकअप की प्रक्रिया में कॉस्मेटिक इम्पालांटेशन टेक्निक के द्वारा कलर पिग्मेंट को त्वचा के अपर रेटिकुलर लेयर में डाला जाता है

परमानेंट मेकअप कराने के लिए आपको कॉस्मेटिक मेकअप सेंटर में अपॉइन्टमेंट लेना होता है। वहां जाने के बाद आपके कॉस्मेटिक इम्प्लांटेशन टेक्निक में लगभग तीन से चार घंटे का समय लगता है। कई तरह की डिवाइस, जैसे- टैटू कॉयल मशीन, पेन या रोटरी मशीन और किसी हैंड डिवाइस से त्वचा में पिग्मेंटेशन का काम किया जाता है। परमानेंट मेकअप के लिए आपको एक बार से ज्यादा बार कॉस्मेटिक मेकअप सेंटर जाना पड़ सकता है।

परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर चेहरे और शरीर के निम्न भागों का किया जाता है :

यह भी पढ़ेंः कैसे जानें आपकी गर्लफ्रेंड/बॉयफ्रेंड ही है आपका सही लाइफ पार्टनर

परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर की जरूरत किन्हें होती है?

परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर करना व्यक्ति की अपनी च्वॉइस हो सकती है, लेकिन फिर भी निम्न लोगों को परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर की जरूर हो सकती है :

यह भी पढ़ें : स्किन एलर्जी से राहत पाने के 4 आसान घरेलू उपाय

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट कराने के फायदे क्या हैं?

परमानेंट मेकअप के कई फायदे हैं :

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट के साइ़ड इफेक्ट्स क्या हैं?

एलर्जिक रिएक्शन

कॉस्मेटिक प्रोसीजर में ऑर्गेनिक पिग्मेंट्स का इस्तेमाल किया जाता है। इसके कारण एलर्जी की प्रतिक्रिया होना तो लगभग न के बराबर होता है, लेकिन फिर भी कुछ मामलों में देखा गया है कि परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर कराने के बाद एलर्जिक रिएक्शन हुआ है। इसलिए जो भी आपके परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर को करेगा, उससे एक बार सुनिश्चित कर लें कि वो किस तरह के पिग्मेंट का इस्तेमाल कर रहा है। इसके साथ ही आपको किन-किन चीजों से एलर्जी है, इस बारे में कॉस्मेटोलॉजिस्ट को जरूर बता दें।

इंफेक्शन

कॉस्मेटिक प्रोसीजर करने में कई बार स्किन ब्रेक हो जाती है। इससे गंभीर ट्रांसमिशन इंफेक्शन संबंधी बीमारियां हो सकती हैं, जैसे- एचआईवी और बैक्टीरियल स्किन इंफेक्शन। अनस्टेराइल टूल्स और अन्य उपकरणों से ट्रांसमिटिंग इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए आपके लिए जिस भी इक्विपमेंट का इस्तेमाल किया जा रहा है, उसके साफ-सफाई के प्रति सजग रहें। इसके अलावा अगर परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर में कोई नीडिल का प्रयोग होता है तो ये सुनिश्चित कर लें कि वह सुई आपके सामने ही पैकेट से बाहर निकाली गई है।

यह भी पढ़ेंः अगर चाहते हैं सस्ती और बेस्ट डेट पर जाना, तो अपनाएं ये टिप्स

सेमी परमानेंट

परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर के दौरान अगर हल्की सी भी गड़बड़ी हुई तो उसकी भरपाई करना बहुत मुश्किल होता है। उदाहरण के तौर पर आप परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर आईब्रो के लिए ले रही हैं। इसमें अगर कॉस्मेटोलॉजिस्ट द्वारा जरा सा भी कलर पिग्मेंट इधर-उधर गया तो चेहरा देखने में खराब लगने लगेगा। इसके बाद उसे ठीक करने के लिए भी अलग से आपको पैसे देने होंगे। इसलिए किसी लाइसेंस्ड कॉस्मेटोलॉजिस्ट को ही चुनें।

इन सभी समस्याओं के अलावा निम्न परेशानियां भी हो सकती हैं :

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट की कीमत क्या है?

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट फिलहाल भारत में बहुत ज्यादा प्रचलित नहीं है, लेकिन फिर भी कुछ ब्यूटी सैलून हैं, जो परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर करते हैं। पहली बार परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर की कीमत लगभग 30,000 रुपए है। इसके बाद अगर आपको कॉस्मेटोलॉजिस्ट कई बार परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर के लिए बुलाता है तो हर बार लगभग 10,000 रूपए आपको अदा करने होंगे।

यह भी पढ़ें : घर पर बनाएं ये व्हाइटहेड्स मास्क, चेहरा हो जाएगा खिला खिला

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट कैसे किया जाता है?

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट कराने से पहले, कराने के दौरान और उसके बाद कई बातों का ध्यान रखना होता है :

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट कराने से पहले क्या करना चाहिए?

परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर कराने से पहले आपको कॉस्मेटोलॉजिस्ट से परामर्श लेना चाहिए। साथ ही आपको अपने डॉक्टर को परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर के बारे में बताना चाहिए। कॉस्मेटोलॉजिस्ट से अपने मनपसंद मेकअप, रंग और चेहरे का आकार के बारे में सारी बातें स्पष्ट रूप से कर लें। इसके अलावा समय लें और सोचें कि परमानेंट मेकअप में क्या कराना जरूरी है और क्या नहीं। इसके अलावा आपको पिग्मेंट से कोई एलर्जिक रिएक्शन न हो इसलिए पैच टेस्ट जरूर कराएं।

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट के दौरान क्या होता है?

परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर के दौरान कॉस्मेटोलॉजिस्ट त्वचा पर लोकल एनेस्थेटिक क्रीम लगाकर त्वचा को सुन्न करता है। इसके बाद त्वचा पर सर्जिकल पेन से लाइन ड्रॉ की जाती है, जहां पर पिग्मेंटेशन करना होता है। एक साफ-सुथरी नई सूई को पिग्मेंटेड ग्रैन्यूल्स के साथ त्वचा के अपर लेयर में डाला जाता है। ये पिग्मेंटेड ग्रैन्यूल्स आयरन ऑक्साइड के होते हैं। जिससे किसी भी तरह की एलर्जी नहीं होती है।

इस पूरी प्रक्रिया को करने में लगभग 4 से 5 घंटे का वक्त लगता है। वहीं, 4 से 6 हफ्ते बाद फिर से कॉस्मेटिक प्रोसीजर को दोहराने की जरूरत पड़ती है। वहीं, 2 से 3 साल बाद फिर से इस प्रक्रिया को टॉप-अप के रूप में कराना पड़ता है। जिसके लिए सैलून अलग से पैसे लेता है।

यह भी पढ़ेंः डेटिंग टिप्स : अगर शर्मीले हैं तो ध्यान दें ये बातें

परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट के बाद ध्यान कैसे रखें?

  • परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर होने के बाद कॉस्मेटोलॉजिस्ट आपको एक बैरियर क्रीम देगा। जिसे आपको दिन में दो बार 14 दिनों तक लगाना होगा। इसके अलावा क्रीम को तब तक भी लगाने के लिए कहा जा सकता है, जब तक कि त्वचा पूरी तरह से ठीक न हो जाएं। आपको बता दें कि त्वचा ठीक होते समय उसमें हल्की खुजली हो सकती है।
  • त्वचा में डाले गए पिग्मेंट थोड़े गाढे़ हो सकते हैं, जो कि चार हफ्तों बाद सामान्य रंग में आ जाते हैं।
  • परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर के बाद त्वचा पर सूजन और लालिमा हो सकती है।
  • परमानेंट कॉस्मेटिक प्रोसीजर के कुछ दिनों बाद तक त्वचा को पानी में जाने से बचाना चाहिए। वरना पिग्मेंट निकल सकते हैं और इसके अलावा इंफेक्शन होने का खतरा भी बढ़ सकता है।
  • जब तक त्वचा पूरी तरह से ठीक न हो जाए तब तक आप धूप में जाने से बचें।
  • कॉस्मेटोलॉजिस्ट द्वारा दी गई सलाह को जरूर फॉलो करें।

अब तो आप समझ ही गईं होंगी कि परमानेंट मेकअप ट्रीटमेंट क्या है और इसे कराना चाहिए या नहीं?अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई मेडिकल जानकारी नहीं दे रहा है।

और पढ़ें :

कुछ इस तरह दें अपने पार्टनर को सरप्राइज

डेटिंग टिप्स : अगर शर्मीले हैं तो ध्यान दें ये बातें

क्या डेटिंग साइट्स से सच में मिलता है प्यार?

इस साल ऑनलाइन गेम के चलते कई लोग हुए मौत के शिकार, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

(Accessed on 13/4/2020)

Permanent make-up https://www.nhs.uk/conditions/cosmetic-procedures/permanent-make-up/

The Pros and Cons of Permanent Makeup https://www.shape.com/lifestyle/beauty-style/pros-and-cons-permanent-makeup

Severe unexpected adverse effects after permanent eye makeup and their management by Q-switched Nd:YAG laser https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4136952/

All you need to know about microblading https://www.medicalnewstoday.com/articles/320200

How Safe Is Permanent Makeup? https://www.webmd.com/beauty/features/how-safe-permanent-makeup#4

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/04/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड