शॉवरिंग के दौरान बचें इन गलतियाें से, ध्यान रखें इन बातों का

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट September 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

शॉवरिंग करना किसे पसंद नहीं? बहुत से लोग ज्यादा समय तक इसका आनंद लेते हैं। बच्चों से लेकर बुजुर्गों को तक सभी लोग नहाते समय कुछ सामान्य गलतियां करते हैं, जिससे उनकी त्वचा, बाल और आखों को नुकसान होने की संभावना होती हैं। ऐसे में आपको इन बातों का ध्यान रखना जरुरी हैं।

और पढ़ेंः अपनी मेकअप किट में जरूर रखें ये 10 जरूरी चीजें

शॉवरिंग करते समय किन बातों का रखना चाहिए ध्यान?

शॉवरिंग करते समय यानी नहाते समय आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिनमें शामिल हैंः

शॉवरिंग के समय ज्यादा देर गर्म पानी से नहाना

सर्दियों के दिनों में गर्म पानी से नहाने का आनंद कुछ और ही है। लेकिन क्या आपको पता है ज्यादा देर गर्म पानी से नहाने से त्वचा रूखी और बेजान हो सकती है। गर्म पानी से नहाना त्वचा के लिए नुकसान देह हो सकता है। क्योंकि, अधिक समय तक गर्म पानी में नहाने से शरीर का ऑयली पन भी साफ हो जाते हैं। जिससे त्वचा में ड्राईनेस और खुजली की समस्या हो सकती है। साथ ही, यह एक्जिमा या सोरायसिस जैसी त्वचा की गंभीर स्थितियों का भी कारण बन सकता है। इसलिए नहाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल सिर्फ 5 से 10 मिनट तक के लिए ही करें।

और पढ़ेंः आपकी खूबसूरती को बिगाड़ सकते हैं स्ट्रॉबेरी लेग्स, जानें इसे दूर करने के घरेलू उपाय

ज्यादा समय तक नहाना

चाहे पानी ठंडा हो, लेकिन ऐसे में आप ज्यादा देर नहाने से परहेज करें। यह भी आपकी त्वचा के लिए हानिकारक है। इस कारण त्वचा की नमी कम हो जाती है।

शॉवरिंग में गलत साबुन का इस्तेमाल करना

नहाते समय साबुन को शरीर से गंदगी और तेल निकलने के लिए इस्तेमाल किया जाता है और पानी से यह साफ किया जाता है। आमतौर पर लोग किसी अच्छी सुंगध वाले साबुन का इस्तेमाल नहाने के लिए करते हैं। लेकिन नहाने के लिए साबुन का इस्तेमाल हमेशा शरीर के बैक्टीरिया को मारने के लिए किया जाता है। अच्छी खुशबु के चक्कर में लोग अक्सर खराब गुणवत्ता वाले साबुन का इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा बहुत ज्यादा कठोर साबुन आपकी त्वचा को ड्राई कर सकता है। जिसके कारण त्वचा रूखी और बेजान हो सकती है। इससे बचने के लिए शॉवरिंग के लिए हमेशा एंटीबायोटिक युक्त मॉइस्चराइजर वाले साबुन का ही इस्तेमाल करें।

और पढ़ेंः झुर्रियों से निजात पाने का ट्रीटमेंट कराने से पहले जान लें बोटोक्स और डर्मल फिलर्स में अंतर

शॉवरिंग के तुरंत बाद मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल न करना

शॉवरिंग के तुरंत बाद मॉइस्चराइजर न लगाने से आपकी त्वचा की नमी कम हो जाती है। मॉइस्चराइजिंग लोशन लगाने से रूखी और बेजान त्वचा से राहत पा सकते हैं। अगर आपको किसी तरह के लोशन से एलर्जी है, तो आपको उसका भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। आप चाहें, तो नहाने के बाद सरसों का तेल, नारियल का तेल या बादाम का तेल भी हल्के मात्रा में शरीर पर लगा सकते हैं। ये प्राकृतिक तौर पर आपके शरीर को मॉइस्चराइज करते हैं।

हर रोज बाल धोना

आप एक हफ्ते में  कितनी बार बाल धोते हैं? अगर आप दो बार बाल धो रहे हैं तो ये अच्छी बात है, लेकिन अगर आप रोज बाल धो रहे हैं, तो आप ऐसे न करें। बाल रोज धोने से कमजोर हो जाते हैं, और टूट जाते हैं। रोज-रोज बाल धोने से सिर की त्वचा यानी स्कैल्प बहुत ज्यादा ड्राई हो सकती है और त्वचा की प्राकृतिक तेल भी कम हो सकता है। जिससे डैंड्रफ और बालों के झड़ने की समस्या हो सकती है। हालांकि, गर्मियों के दिनों में आप बालों को हर दिन साफ पानी से धो सकते हैं। लेकिन हर बार शैंपू का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

बाल धोते वक्त स्कैल्प को जोर से रगड़ना

बाल धोते वक्त सर के स्कैल्प को जोर से रगड़कर न धोएं, जिससे वह बालों को कमजोर कर देती है और साथ ही बालों को ज्यादा मात्रा में खराब करती है। जिस तरह हल्के हाथों से आप सिर की त्वचा और बालों में तेल से मशाज करते हैं, ठीक उसी तरह से आपको सिर और बालों में शैंपू भी करनी चाहिए। आप चाहे बहुत रूखे स्वाभाव से बालों को शैंपू करें या नाजुक हाथों से शैंपू दोनों ही स्थिति में एक तरह से ही कार्य करती है।

और पढ़ेंः माथे की झुर्रियां कैसे करें कम? जानिए इस आर्टिकल में

एक ही शैम्पू का इस्तेमाल लंबे समय तक करना

जैसे आपकी उम्र के साथ आपकी त्वचा अधिक नाजुक और शुष्क हो जाती है, वैसे ही आपके बाल  भी कमजोर और शुष्क हो जाते है। 50 और उससे अधिक उम्र के लोगों के बालों के लिए अधिक देखभाल की जरुरत होती है। जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, बाल प्रोटीन, लोच और घनत्व खो देते हैं। सल्फेट मुक्त शैंपू का उपयोग करके अपने बालों को सुरक्षित रखें और भंगुरता से बचाएं। इसके अलावा, आपको अपने बालों की प्राकृति के अनुसार ही शैंपू का इस्तेमाल करना चाहिए।

अपने बॉडी पफ को समय पर न बदलना

हालांकि एक्सफोलीएटिंग टूल आपकी त्वचा के लिए आंतरिक रूप से खराब नहीं हैं, फिर भी लंबे समय तक एक ही लूफै़ण या बॉडी पफ का उपयोग करना स्किन के लिए अच्छा नहीं है। पफ्स और लूफै़ण बैक्टीरिया और मोल्ड बढ़ा सकते हैं इसलिए उन्हें कुछ हफ्तों बाद इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। जब आप उनका उपयोग करते हैं, तो उन्हें सूखने दें क्योंकि नमी देने से बैक्टीरिया और फंगल विकास को बढ़ावा मिलेगा।

तौलिए को नियमित रूप से न धोना

अधिकतर लोग करीब 15 दिनों या महीने में एक बार ही अपने नहाने के तौलिए को धुलना पसंद करते हैं। याद रखें कि एक नमी युक्त आपका तौलिया बैक्टीरिया, फंगस, मोल्ड और वायरस के लिए एक प्रजनन भूमि हो सकता है। गंदे तौलिए का इस्तेमाल करने से टोनल फंगस, जॉक इंच, एथलीट फुट और मस्से की समस्या हो सकती है। इसलिए इससे बचने के लिए, सप्ताह में कम से कम एक बार अपने तौलिये को जरूर धोएं। हर बार तौलिए का इस्तेमाल करने के बाद उसे धूप में सूखा करें। ताकि, तौलिए की नमी खत्म हो जाए और उसमें किसी तरह का फंसग न लगे। इसके अलावा, गर्मियों के मौसम में आपको हर दिन अपने नहाने के तौलिए को धुलना चाहिए।

लूफा को नियमित न धोना

लूफा का इस्तेमाल बदन को रगड़ कर धोने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि किटाणुओं के छिपे होने की खास जगहों में से लूफा भी एक है। ऐसे में आपको सप्ताह में एक बार कम से कम लूफा को डायलूटेड ब्लीच से जरूर धोना चाहिए। वहीं इसे अच्छे से रगड़कर किसी सूखे स्थान में रखना चाहिए। ताकि उसके अंदर का पानी व तरल निकल जाए। प्राकृतिक लूफा को हर तीन से चार सप्ताह और प्लास्टिक के लूफा को हर दो महीने में बदलना चाहिए। 

शॉवरहेड को नियमित तौर पर न धोना

आपके शॉवरहेड में काफी संख्या में बैक्टिरिया छिपे हो सकते हैं। यह छोटे-छोटे अंधेरे होल में छिपे हो सकते हैं। ऐसे में जब भी आप शॉवर लेते हैं तो संभव है कि पानी के साथ बैक्टीरिया भी शरीर में आ जाए। शॉवरहेड से बैक्टीरिया को हटाना काफी मुश्किल हो सकता है। लेकिन आप गर्म पानी से बैक्टीरिया को मार सकते हैं। गीजर ऑन कर आप शॉवरहेड में पल रहे बैक्टीरिया को मार सकते हैं। इसके अलावा नहाने से पहले कुछ देर तक आप शॉवरहेड के पानी को ड्रेन करें ताकि गंदा पानी निकल जाए और आपको किसी बैक्टीरिया जनित रोग न हो।

नहाने के दौरान माइनर कट को कवर करें

हमेशा आपकी कोशिश होनी चाहिए कि आप नहाने के पहले अपने माइनर कट को कवर करें ताकि किटाणु उसके जरिए आपके शरीर में न जाए। आप घाव को अच्छे से बैंडेज करके रखें, गर्म पानी और साबुन से नियमित घाव को साफ करें। वहीं यदि घाव गहरा है तो उसकी देखरेख को लेकर डॉक्टरी सलाह लें

ऐसी गलतियों को न दोहराएं, जो आपकी स्किन और बालों को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

अगर चाहिए पिगमेंटेशन (झाइयां) से मुक्त त्वचा, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय,पिगमेंटेशन (झाइयां) के कारण, पिगमेंटेशन के बारे में पूरी जानकारी पाएं, Pigmentation home remedies, Pigmentation

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

मॉनसून में स्किन केयर से आप अपनी बढ़ती उम्र पर काबू पा सकती हैं, जानें कैसे

Monsoon Skin Care Tips: जिस तरह सर्दी के मौसम में त्वचा ड्राय हो जाती है वैसे ही मॉनसून में भी त्वचा बीमार होती है। बारिश के मजे लेने के साथ त्वचा का ख्याल रखने के लिए मॉनसून स्किन केयर टिप्स फॉलो करें।

के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal

हर्बल बाथ के फायदे: बॉडी रिलैक्स से लेकर मेंटल स्ट्रेस तक

अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है, तो हर्बल बाथ के फायदे आपके लिए काफी लाभकारी हो सकते हैं। साथ ही, स्ट्रेस कम करने के लिए भी आप हर्बल टी बाथ ले सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

रखें इन जरूरी बातों का ध्यान तो कम हो जाएंगी स्किन प्रॉब्लम्स

स्किन प्रॉब्लम्स से खुद की त्वचा को बचाए रखने के लिए आपको हेल्दी डायट के साथ-साथ हेल्दी और हाइजिनिक लाइफ स्टाइल का भी ध्यान रखना चाहिए।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Recommended for you

सर्दियों में त्वचा हो जाती है बेजान, इन टिप्स को अपनाकर डाल सकते हैं नई जान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ November 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
विटिलिगो के घरेलू उपाय,Home remedies for vitiligo

क्या सफेद दाग का इलाज संभव है, जानें विटिलिगो के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ August 12, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
डर्मिकेम ओसी क्रीम

Dermikem OC Cream : डर्मिकेम ओसी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
क्लोबेन जी क्रीम

Cloben G Cream : क्लोबेन जी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 10, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें