आखिर कैसे स्विमिंग से पहले नहाना आपको स्किन इंफेक्शन से बचाता है?

    आखिर कैसे स्विमिंग से पहले नहाना आपको स्किन इंफेक्शन से बचाता है?

    कई लोगों को स्विमिंग करना पसंद होता है। खाली समय मिलने पर वे स्विमिंग करने निकल जाते हैं, लेकिन स्विमिंग से पहले नहाना क्यों जरूरी है इसके बारे में कम लोग जानते हैं। स्विमिंग से पहले नहाना या स्विमिंग के बाद नहाना दोनों ही फायदेमंद होता है, लेकिन इसके पीछे एक बड़ी वजह है। स्विमिंग के फायदे भी कई हैं। स्विमिंग से जुड़े मिथक को हमारे डॉक्टर करेंगे दूर।

    यह भी पढ़ें- सिर्फ डायट बढ़ाने से नहीं बनेगी बात, वेट गेन करना है तो ऐसा भी करें

    सवाल

    स्विमिंग क्लास शुरू करने के बाद मेरे कोच ने मुझे कहा कि स्विमिंग पूल में आने से पहले नहाना जरूरी होता है, क्या इसकी कोई साइंटिफिक वजह है?

    जवाब

    आपका सवाल एकदम सही है। बहुत से लोगों के दिमाग में इसको लेकर मिथक हैं कि स्विमिंग से पहले नहाएं या न नहाएं। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention (CDC)) के मुताबिक स्विमिंग पूल में उतरने से पहले आपको साबुन लगाकर नहाना जरूरी है। हालांकि लोग इसका विश्वास नहीं करते।

    जानें स्विमिंग से पहले नहाना क्यों फायदेमंद हैः

    इसके अलावा स्विमिंग के बाद भी नहाना उतना ही जरूरी है जितना स्विमिंग से पहले नहाना। ऐसा करने से आपको इंफेक्शन और बॉडी रैश होने का खतरा कम हो सकता है। इसलिए नहाने से हम अपने साथ-साथ दूसरों को भी इंफेक्शन से बचा सकते हैं।

    यह भी पढ़ेंः बेहतर नींद के लिए नहाना है कितना फायदेमंद ?

    जानें स्विमिंग के बाद नहाना क्यों जरूरी है?

    स्विमिंग पूल एक्सरसाइज और रिलेक्सेशन दोनों के लिए बहुत अच्छा हैं, लेकिन अगर ठीक से रख-रखाव नहीं किया जाता है तो यह रोगाणुओं का घर बन सकता है। यही कारण है कि स्विमिंग से पहले नहाना और बाद में नहाना बहुत जरुरी है। स्विमिंग पूल में दूषित पानी के संपर्क में आने से पानी की बीमारियां जैसे कि त्वचा संक्रमण, पैरासाइट्स, स्वीमिंग पूल के पानी को निगलने से अलग-अलग बीमारियां हो सकती है।

    स्विमिंग से पहले नहाना और बाद में नहाना वास्तव में खुद को और दूसरों को बीमारी से बचाने के लिए सबसे अच्छे और आसान तरीकों में से एक है। जल गुणवत्ता और स्वास्थ्य परिषद (Water Quality and Health Council) के अनुसार किसी और का स्विमिंग पूल इस्तेमाल करने से पहले या बाद में ना नहाना इंफेक्शन का कारण बनता है।

    अगर आप स्विमिंग के बाद नहाते हैं तो वे किसी भी दूषित पदार्थों को निकालते हैं जो आपकी त्वचा के संपर्क में पूल में नहाने के दौरान आया था। यह शरीर से क्लोरीन, क्लोरैमाइन और बैक्टीरिया को भी हटाता है। अगर पूल की गंदगी आपकी त्वचा पर रह जाती है तो वे लाल चकत्ते या स्किन पर जलन पैदा कर सकते हैं।

    स्विमिंग से पहले नहाना आपको इन बीमारियों से बचाता है

    अगर आप स्विमिंग से पहले नहीं नहाते हैं तो इससे फिकल मैटेरियल पूल के पानी के साथ मिल जाता है। हैरानी की बात है हम सभी के शरीर पर हमेशा थोड़ी मात्रा में फिकल पदार्थ होते हैं। औसतन यू.एस. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ( U.S. Center for Disease Control and Prevention ) का अनुमान है कि लोगों के शरीर में दिन भर में 0.14 ग्राम मल पदार्थ मौजूद होता हैं। फिकल पदार्थ के साथ पानी की थोड़ी मात्रा को भी निगलने से आपके बीमार होने की संभावना है।

    जब स्विमर स्विमिंग से पहले नहाता हैं तो वे पानी में पैदा होने वाली बीमारियों के जोखिम को रोकते हैं जो दस्त, स्किन इंफेक्शन और आंख में इंफेक्शन का कारण बनते हैं।

    पूल के कीटाणुनाशक (Disinfectants) जैसे क्लोरीन जलजनित कीटाणुओं से रक्षा और रोकथाम करते हैं। हालांकि क्लोरीन सभी कीटाणुओं को तुरंत नहीं मारता है। क्लोरीन असर करने के लिए कुछ मिनट से लेकर कई दिनों तक का समय ले जा सकता है और पूल कीटाणुनाशक कभी-कभी हर स्थितियों में काम नहीं करते हैं। पानी में मौजूद हानिकारक क्रिप्टोस्पोरिडियम पैरासािट्स (Cryptosporidium parasite) को मारने में हाई क्लोरीन लेवल एक सप्ताह तक का समय लगा सकता है। अगर पूल को ठीक तरह से मैनेज नहीं किया जाता है और इसमें अधिक मात्रा में अशुद्धियां हैं तो क्लोरीन के लिए पानी में मौजूद कीटाणुओं को मारना कठिन होगा।

    यह भी पढ़ेंः बच्चों की रूखी त्वचा से निजात दिला सकता है ‘ओटमील बाथ’

    स्विमिंग से पहले नहाना आपकी सेहत से कैसे जुड़ा है?

    साबुन, मॉइश्चराइजर, पसीना, डिटर्जेंट और फिकल मैटर में ऑर्गेनिक कंपाउंड पाए जा सकते हैं। जब ऑर्गेनिक कंपाउंड को क्लोरीनयुक्त पानी के साथ मिलाया जाता है तो बाय-प्रोडक्ट बन जाते हैं। ये बाय-प्रोडक्ट क्लोरैमाइन नामक गैसें हैं। क्लोरैमाइन से क्लोरीन की खुशबु निकलती है जिसे हम वास्तव में एक साफ पूल का संकेत मानते हैं। क्लोरैमाइन की खूशबु एक इशारा है कि पानी की क्वालिटी को ठीक से मेनटेन नहीं किया गया है। एक अच्छी तरह से मैनेज पूल में क्लोरीन की खूशबु कम नहीं होनी चाहिए।

    स्विमिंग से पहले नहाना आपके शरीर में मौजूद ऑर्गेनिक कंपाउंड को साफ कर देता है और इसका मतलब क्लोरीन और पूल फिल्ट्रेशन सिस्टम को लोगों को बीमारियों से बचाने के लिए कम मेहनत करनी पड़ेंगी।

    यह भी पढ़ेंः सर्दी-जुकाम की दवा ने आपकी नींद तो नहीं उड़ा दी?

    स्विमिंग पूल से संबंधित टिप्स

    स्विमिंग पूल की बीमारियों से बचने के लिए यहां कुछ और सुझाव दिए गए हैं:

    • स्विमिंग से पहले नहाएं और साबुन का उपयोग करें। खासकर अपने हाथों और पैरों के पीछे।
    • अगर आप टॉयलेट जाने के लिए पूल से बाहर निकलते है, तो टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद एक बार फिर से नहाएं
    • पूल का पानी कभी न निगलें

    स्विमिंग से पहले नहाना आपकी सेहत के साथ दूसरों की सेहत के लिए भी अच्छा है। इसलिए इस बात का ध्यार रखें और अपने दोस्तों को भी इस बारे में जागरुक करें कि स्विमिंग से पहले नहाना कितना जरूरी है। स्किन इंफेक्शन का इलाज बेक्लोमेटासन+ नोमयकिन + क्लोट्रिमेजोल से भी किया जाता है। इस दवा के साथ-साथ अन्य स्किन एलर्जी से बचने के लिए दवा प्रिस्क्राइब की जा सकती है

    हम उम्मीद करते हैं कि आपको अपने सवालों के जवाब मिल गए होंगे। अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं।

    और पढ़ें-

    जानें क्यों रोज नहाना है जरूरी, नहीं नहाएंगे तो क्या होगा?

    बेहतर नींद के लिए नहाना है कितना फायदेमंद ?

    बीच के किनारे जाने से पहले क्यों जरुरी है ट्रेवल किट में सनस्क्रीन क्रीम

    जानें क्यों रोज नहाना है जरूरी, नहीं नहाएंगे तो क्या होगा?

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Lucky Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/12/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement