सांप काटने का इलाज कैसे करें? जानिए फर्स्ट ऐड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सांप काटना एक दुखद घटना है। भारत में सांप काटने का इलाज कम जागरुकता के कारण नहीं हो पाता है। आज भी भारत में लोग सांप काटने पर झाड़-फूंक पर विश्वास करते हैं, और इस अंधविश्वास के चलते अपनी जान गंवा बैठते हैं। सांप काटने पर फर्स्ट एड अगर समय रहते कर दिया जाए तो पीड़ित के बचने का चांस 70 फीसदी तक बढ़ जाता है। इस आर्टिकल में हम सांप काटने पर फर्स्ट एडे और सांप काटने का इलाज जानेंगे।

और पढ़ें : कांच लगने पर उपाय क्या करें?

सांप का काटना क्या है?

सांप काटने का इलाज - snake bite first aid

स्नेक बाइट यानी या सांप का काटना नाम से ही स्पष्ट है कि सांप द्वारा किसी को काटना। जब सांप खुद को बचाने की कोशिश करता है तो अपने दांतों से अपने शत्रु को काट लेता है। सांप के दांतों में मौजूद जहर काटते वक्त व्यक्ति के खून में चला जाता है। जिससे व्यक्ति की मौत तक हो सकती है। ज्यादातर सांप जहरीले नहीं होते हैं, लेकिन कुछ सांप जो जहरीले होते हैं, वे 50 से 70 फीसदी मालों में जहर छोड़ते हैं। 

सांप काटने का इलाज अगर समय पर नहीं किया गया तो व्यक्ति की मौत हो सकती है। व्यक्ति की मौत होगी या सिर्फ सीरियस इंजरी होगी, ये बात सांप के जहर पर निर्भर करती है। अलग-अलग प्रजाति के सांपों के जहर या वेनम विभिन्न प्रकार के होते हैं। सांप के वेनम को कई कैटेगरी में बांटा गया है :

  • साइटोटॉक्सीन (Cytotoxins) : एक ऐसा वेनम होता है जो इंसान के शरीर में सूजन और टिश्यू को डैमेज कर सकता है। 
  • हैमरेगिंस (Haemorrhagins) : इस वेनम से ब्लड वेसेल्स में ब्लड रुक जाता है। 
  • एंटी-क्लॉटिंग एजेंट : खून के जमने से रोकता है।
  • न्यूरोटॉक्सिंस : इस वेनम से व्यक्ति पैरालाइज्ड हो जाता है और नर्वस सिस्टम डैमेज हो जाता है। 
  • मायोटॉक्सिंस (Myotoxins) : मांसपेशियों में ब्रेक डाउन हो जाता है। 

और पढ़ें : घाव का प्राथमिक उपचार क्या है, जानिए फर्स्ट ऐड से जुड़ी सारी जानकारी यहां

सांप का काटना कितना सामान्य है?

सांप काटने का इलाज

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक भारत में हर साल लगभग 83,000 लोगों को सांप काटते हैं, जिसमें से 11,000 लोगों की सांप काटने के कारण मौत हो जाती है। वहीं, ये बात भी सामने आई है कि भारत में जहरीले सांपों की संख्या बहुत कम है, लेकिन सांप काटने के बाद लोगों को इतना डर जाते हैं या पैनिक हो जाते हैं कि वे सदमे में हार्ट फेल होने के कारण मर जाते हैं। 

भारत में सांप की 236 प्रजातियां हैं। जिसमें से ज्यादातर सांप जहरीले नहीं हैं। अगर वे सांप किसी को काट लें तो सिर्फ पैनिक रिएक्शन होता है और जरा सी चोट होती है। जबकि सांप की मात्र 13 प्रजातियां ही हैं जो जहरीली होती हैं। जिनमें से चार प्रजातियों के सांपों का नाम काफी कॉमन हैं :

  1. काबोरा (Naja naja)
  2. रुसेल्स वाइपर (Dabiola russelii)
  3. सॉ स्केल करैत (Echis carinatus) 
  4. करैत (Bungarus caeruleus)

उपरोक्त बताए गए सांप भारत में मौतों के लिए जिम्मेदार होते हैं। 

और पढ़ें : बेहोशी छाने पर क्या प्राथमिक उपचार करना चाहिए?

सांप काटने के लक्षण क्या हैं?

सांप काटने के लक्षणों के आधार पर ही सांप काटने का इलाज किया जा सकता है, लेकिन सांप काटने का इलाज करने के लिए भी सांप की प्रजाति के बारे में पता होना चाहिए। हालांकि, सांप काटने के लक्षणों में कुछ बातें सामान्य होती हैं :

  • जहां पर सांप काटता है, वहां पर दो पंक्चर किए हुए घाव रहते हैं। 
  • सांप द्वारा काटे गए स्थान पर बहुत तेज दर्द होता है, लेकिन ये जरूरी नहीं है कि दर्द हर किसी को हो। कुछ मामलों में जब कोरल स्नेक काटता है तो बिल्कुल भी दर्द नहीं होता है, लेकिन यह जानलेवा हो सकता है।
  • सांप द्वारा काटे गए स्थान पर लालिमा, सूजन और टिश्यू का डैमेज होना।
  • असामान्य ब्लीडिंग और खून का जमना।
  • लो ब्लड प्रेशर और शॉक लगना।
  • मितली और उल्टी आना
  • सांस लेने में परेशानी होना
  • धुंधला दिखाई देना
  • मुंह में ज्यादा मात्रा में लार बनना
  • ज्यादा पसीना होना
  • चेहरे और हाथों-पैरों में सुन्नपन महसूस होना

और पढ़ें : तेजाब से जलने पर फर्स्ट एड कैसे करें?

सांप काटने का इलाज कैसे करें?

सांप काटने का इलाज ही सांप काटने का फर्स्ट एड है, इसलिए नीचे बताई गई बातों को बिना समय गंवाए तुरंत करना शुरू करना चाहिए। हमेशा याद रखिए कि सांप काटने का इलाज आप नहीं कर सकते हैं। इसलिए डॉक्टर के पास ले जाकर ही सांप काटने का इलाज कराएं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

सांप काटने का फर्स्ट एड निम्न हैं :

  • जितनी जल्दी हो सके एम्बुलेंस या डॉक्टर को फोन करें।
  • सांप काटने के समय को नोट करें।
  • सांप को पकड़े या मारे नहीं। संभव हो तो सांप का फोटो खींच लें। ऐसा करने से डॉक्टर से सांप काटने का इलाज करने में आसानी होगी। क्योंकि सांप काटने का इलाज अक्सर सांप के एंटीवेनम से ही होता है। 
  • ज्वैलरी या घड़ी अगर सांप काटने वाले स्थान पर हैं या उसके आस-पास हैं तो तुरंत उतार दें। क्योंकि जब त्वचा में सूजन आने लगती है तो उससे त्वचा पर घाव हो सकते हैं।
  • जिस अंग पर सांप ने काटा है, उसे दिल से नीचे की ओर रखें। ताकि ब्लड का फ्लो कम हो जाए और जहर तेजी से ना फैल सके। 
  • मरीज को शांत कराएं। उन्हें नॉर्मल फील करने के लिए कहें। क्योंकि अगर वे पैनिक हो कर हिलने-डुलने लगेंगे तो जहर तेजी से शरीर में फैलेगा। 
  • सांप द्वारा काटे गए स्थान को ढीले और सूखे बैंडेज से कवर करें।
  • सांप काटने के बाद मरीज को चलाए नहीं, उसे एम्बुलेंस द्वारा ही अस्पताल ले कर जाएं।

आपको बता दें कि मरीज को अस्पताल में डॉक्टर द्वारा एंटीवेनम दिया जाएगा। ये एंटीवेनम उसी सांप का जहर होता है। जिसे घोड़े या भेड़ के शरीर में डाल कर इम्यूनाइज किया जाता है। फिर उनके ब्लड सीरम को निकाल लिया जाता है। ये ब्लड सीरम ऐसी एंटीबॉडी से भरपूर होता है, जो वेनम पर प्रभावी हो।

और पढ़ें : फर्स्ट डिग्री से थर्ड डिग्री तक जानिए जलने के प्रकार और उनके उपचार

सांप काटने का फर्स्ट एड से जुड़े मिथ्स 

सांप काटने का फर्स्ट एड से जुड़े मिथ्स जिन्हें हम सांप काटने का इलाज करते समय फॉलो करते हैं। सांप काटने पर निम्न में से कुछ भी ना करें : 

सबसे जरूरी बात है कि सांप के काटने पर घबराएं नहीं और धेर्य के साथ इलाज करवाएं। अंधविश्वास में न पड़ते हुए डॉक्टर के पास जाएं। तभी बेहतर इलाज मिल सकेगा और मरीज की जान बचाई जा सकेगी। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

कोरोना वायरस के टेस्ट को लेकर अगर आपके मन में है सवाल तो जरूर पढ़ें ये खबर

कोविड-19 टेस्ट को लेकर लोगों के मन में शंकाएं हैं। अगर आपको जानकारी नहीं है कि कोरोना वायरस टेस्ट का रिजल्ट कब तक आता है तो यहां पर जानिए।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
कोविड 19 उपचार, कोरोना वायरस अप्रैल 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या आप भी टूथपेस्ट को जलने के घरेलू उपचार के रूप में यूज करते हैं? जानें इससे जुड़े मिथ और फैक्ट्स

जलने के घरेलू उपचार क्या है, जलने के घरेलू उपचार से जुड़े मिथ एंड फैक्ट्स, जलने के प्रकार, Home remedies of burn Burn myth and facts in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

लॉकडाउन में बच्चों को ऑनलाइन रिसोर्स के बारे में जानकारी दें, नहीं महसूस करेंगे अकेलापन

लॉकडाउन में बच्चे ऑनलाइन स्टडी तो कर रहे हैं लेकिन अपनी हॉबी को इनहेंस करने के लिए बच्चे ऑनलाइन रिसोर्स का सहारा भी ले सकते हैं। lockdown me online resources

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
कोविड 19 व्यवस्थापन, कोरोना वायरस अप्रैल 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

जानें बर्न फर्स्ट ऐड क्या है? आ सकता है आपके बहुत काम

बर्न फर्स्ट एड की जानकारी in hindi. बर्न फर्स्ट एड देने से जले हुए व्यक्ति को बहुत राहत महसूस होती है। जले हुए व्यक्ति को बर्न फर्स्ट एड देने के दौरान घरेलू मरहम उपयोग न करें। Burns first aid

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Recommended for you

गृह मंत्री अमित शाह भी आए कोरोना की चपेट में, देश में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार

के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बीटाडीन क्रीम

Betadine Cream: बीटाडीन क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर-Flying with kid

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर करने से पहले जाने ये 10 बातें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Cashless Air Ambulance- कैशलेस एयर एंबुलेंस सेवा

कैशलेस एयर एंबुलेंस सेवा भारत में हुई लॉन्च, कोई भी कर सकता है यूज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें